POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: बिनु मसि बिनु कागद

Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
1222 1222 1222 1222सियासत की गली बेनूर को पुरनूर करती हैयहाँ तो बदज़ुबानी भी बहुत मशहूर करती हैउखाड़ो फेंक दो काँटा किसी के दर्द का वायसर&... Read more
clicks 112 View   Vote 0 Like   5:14pm 8 Mar 2017 #
Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
ख़ार हो फूल हो हालात पे ग़म क्या करनामैं तो कहता हूँ किसी बात पे ग़म क्या करनाख़ाक को आग बना दे वो अगर चाहे तोख़ाक हो आग हो औकात पí... Read more
clicks 103 View   Vote 0 Like   6:33pm 2 Mar 2017 #
Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
प्रेम पर्व पावन बेला पर, गीत समर्पित करता हूँ।जीवन का क्षण क्षण मैं तुमको, मीत समर्पित करता हूँ।देने को तो शायद तुमकोऔर ... Read more
clicks 104 View   Vote 0 Like   10:39am 14 Feb 2017 #
Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
जौहर की ये राजपुताना परंपरा गौरवशालीक्या जाने इतिहास हमारा कोई मूरख भंसालीस्वाभिमान सम्मान जान से बढ़कर हमको प्यारा ... Read more
clicks 126 View   Vote 0 Like   8:28am 29 Jan 2017 #
Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
वो क्यों बोलने में सँभलते रहेलगा मुझको सच वो निगलते रहेवहाँ ख़ास की पूछ होती रहीमियां आम थे हम तो टलते रहेमिरी ज़िन्दगी कì... Read more
clicks 113 View   Vote 0 Like   6:00pm 1 Jan 2017 #
Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
221 2121 1221 122रिश्तों में रंग फिर से चढ़ा क्यूँ नहीं लेतेगिरते हुए मकाँ को बचा क्यूँ नहीं लेतेवो हँस रहे हैं देख तुम्हें अश्क़ बहाते... Read more
clicks 114 View   Vote 0 Like   7:48pm 29 Dec 2016 #
Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
2222 2222 2222 2लेकर नेक खयाल अगर हम मेहनत करते हैंबेशक़ अपनी शोहरत में हम बरकत करते हैंमंचों पर संजीदा हो कुछ शिरकत करते हैंकुछ ऐसे भ... Read more
clicks 120 View   Vote 0 Like   5:09am 27 Dec 2016 #
Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
मेरी चिता के ऊपर पहचान तब बनाना,जगतारिणी नदी में तब अस्थियां बहाना।लाखों गये डगर से,पर मुश्किलें वहीं हैंबच बच निकल गए ì... Read more
clicks 126 View   Vote 0 Like   7:57pm 18 Dec 2016 #
Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
किस तरह तुमने भला दिल को सँभाला होगा।जब मुझे अपने खयालों से निकाला होगा।दूर वो मुझसे रहे खुश हो ये मुमकिन ही नहीं,दर्द क... Read more
clicks 110 View   Vote 0 Like   5:19am 18 Dec 2016 #
Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
2122 2122 2122 212साथ चल पाये नहीं तो हम किनारे हो गये।और वो लेकर रवानी बीच धारे हो गये।अब अकेले राह चलने का भरोसा आ गया,ख़ैर ये अच्छा रहा ... Read more
clicks 125 View   Vote 0 Like   6:02pm 26 Oct 2016 #
Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
ठग गया विश्वास फिर से क्या कहूँ मैं क्या हुआ।फिर मुझे लगता है मेरे साथ इक धोखा हुआ।बेच मत देना शहीदी खून को इस बार फिर,चुप &... Read more
clicks 131 View   Vote 0 Like   9:52pm 18 Sep 2016 #
Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
चोट से काँच का सामान  बिखर जाता हैवक़्त मुँह मोड़ ले अरमान बिख़र जाता हैऔर तूफ़ान में गिरकर के सँभल भी जायेइश्क़ में  हार के  इ... Read more
clicks 124 View   Vote 0 Like   2:36pm 14 Sep 2016 #
Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
रोज़गार, बिजली,सड़क, पग-पग पर संघर्ष।दर्ज़ कागजों में मिला गाँव वही आदर्श।             :प्रवीण श्रीवास्तव 'प्रसून'         &... Read more
clicks 109 View   Vote 0 Like   4:46am 12 Sep 2016 #
Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
सूरज क़िस्मत का अब बुझने वाला लगता है।उससे लम्बा मुझको उसका साया लगता है।राहु रिजर्वेशन का उसको ढक कर बैठ गया पूरा चंदा ê... Read more
clicks 116 View   Vote 0 Like   2:24pm 11 Sep 2016 #
Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
ये हवा क्यों साथ लायी एक दीवाने कि याददो उँगलियों से उलझती ज़ुल्फ़ सुलझाने की यादआँख के नीचे ये कालापन नहीं कुछ और है,रेत क... Read more
clicks 107 View   Vote 0 Like   5:03pm 8 Sep 2016 #
Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
सबको सरजी मत कहो सरजी शब्द विशेष।सर जी बस वो खास हैं धरे आम जो भेष।            :प्रवीण श्रीवास्तव 'प्रसून'              फत&#... Read more
clicks 124 View   Vote 0 Like   11:23am 8 Sep 2016 #
Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
साठ साल का ठाट ले गयाराज ले गया पाट ले गयासोयेगा ना सोने देगा आम आदमी खाट ले गयापहले सर से ताज उताराफिर ज़मीन से पैर उखाड़ेश&#... Read more
clicks 120 View   Vote 0 Like   3:54am 8 Sep 2016 #
Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
दिल्ली की आज की दो ख़बरों पर  एक हाइकु।यदि लगे कि दोनों स्थितियों पर एक ही हाइकु सटीक है तो लाइक करके आशीष प्रदान करें।हे ... Read more
clicks 166 View   Vote 0 Like   6:11pm 31 Aug 2016 #
Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
रात के बाद ये लगा कुछ कुछअब उजाले से राब्ता कुछ कुछचल पड़ा आज जब अकेला मैं,खुल रहा एक रास्ता कुछ कुछमौत का खौफ़ हो गया जिस शब,ब... Read more
clicks 128 View   Vote 0 Like   5:35am 29 Aug 2016 #
Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
एक इंसान ..डेवलप (?) हो रहे देश मेंअपनी अर्धांगिनी की लाशकाँधों पर ढो रहा हैविकास का सपना पालेआम इंसान हैरान हैहाय! यह क्या ह... Read more
clicks 119 View   Vote 0 Like   6:55pm 26 Aug 2016 #
Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
1222 1222 1222 1222बहुत दिन बाद  ये भरने लगा है घाव अब कुछ तो।हमारे देश में दिखने लगा बदलाव अब कुछ तो।दिलों के दरमियाँ पैदा हुई थी दूरिया... Read more
clicks 101 View   Vote 0 Like   6:52am 14 Aug 2016 #
Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
कुछ शरारती कर रहे, हिंदु धर्म बदनाम।गोरक्षा की आड़ में, गोरखधंधा आम ।।... Read more
clicks 113 View   Vote 0 Like   5:08pm 7 Aug 2016 #
Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
आ गए तुम ज़मी पर हमारे लिए।आसमां रह गया चाँद तारे लिए।तैर मझधार में मंज़िलें ढूंढ ले ,मिल सकेगा नहीं कुछ किनारे लिए।हम उसे ... Read more
clicks 125 View   Vote 0 Like   6:59pm 15 Jul 2016 #
Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
परिवर्तन----------------भाईगिरी छोड़करचुनाव में खड़ा हैनाली का कीड़ानाला में पड़ा हैअनकहा---------------जो न कह पायामरते-मरतेलोगों को लगावही तो स&... Read more
clicks 122 View   Vote 0 Like   7:06am 1 Jul 2016 #
Blogger: प्रवीण कुमार श्रीवास्तव
मोदी हूँ नादान नहीं हूँ।दुश्मन से अंजान नहीं हूँ।टूट नहीं सकता हूँ ज़ल्दी मैं चीनी सामान नहीं हूँ।छोटे प्यादे मात मुझे ... Read more
clicks 120 View   Vote 0 Like   6:32pm 26 Jun 2016 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (4005) कुल पोस्ट (191860)