Hamarivani.com

चाँद सितारे फूल और जुगनू

दिलएकदरियादश्तकिनारे                                                         - सेहबा  जाफ़री"आह! वहकोईसुरमईशामकीसाईत रहीहोगी। दिनवही, जिन्हेज़मीनपरदिसंबरकेशुरुआतीदिनकहाजाताहै. फ़रिश्तेगोश्तकेजिसनाज़ुकगुलाबीअज़ाँ कोठोक-पीटकर तैयारक...
चाँद सितारे फूल और जुगनू ...
Tag :
  February 14, 2015, 12:04 pm
शुरू उस रब के नाम से जो बहुत मेहरबान और रहमवाला है ऐ मेरे मौला ! ऐ सब ऐबों से पाक परवर दिगार ! इंसानियत की पेशानी  पर "इक़रा " (पढ़ ) का  बोसा देने वाले , आज दिल जिस बेबसी में तेरे पास आया है , क्या वह दिल तूने नहीं बनाया ! इंसानियत को अम्नो-अमां के ज़रिये अपनी ख़ुशनूदी हासिल...
चाँद सितारे फूल और जुगनू ...
Tag :
  December 17, 2014, 12:59 pm
मेरे लाडले,              खुश हो न तुम ,                         अल्लाह मियाँ की जन्नत में तो सुना है, सब खुश ही रहते हैं। अम्मा को शायद कभी कभी याद करते होगे, (ऐसा मुझे लगता है , क्योंकि कभी कभी  बेवजह तुम्हारी नन्न्हीं आँखें भरी हुई दिखती हैं) मगरअम्मा क...
चाँद सितारे फूल और जुगनू ...
Tag :
  November 17, 2014, 1:12 am
कभी नरमी, कभी सख्ती , कभी उजलत, कभी देर वक़्त ऐ दोस्त ! बहरहाल गुज़र  जाता है लम्हा -लम्हा नज़र आता है कभी एक साल कभी लम्हों की तरह साल गुज़र जाता है                                                                -नए साल की नयी आमद मुबारक ...
चाँद सितारे फूल और जुगनू ...
Tag :
  January 1, 2014, 7:32 pm
होने लगा था मुझे गुब्बारों  से प्यार रोकने लगी थी मैं सड़क से गुज़रते चर्ख़ी वाले को झाँकने लगी थी मै ख़्वाबों के झरोखों में  जब तुम्हारी धड़कनेमेरी धड़कनो में शामिल हो धड़कने लगीं थींफिर से सीखने शुरू कर दिए थे मैंने बच्चों के खेलफिर से बनाने लगी ...
चाँद सितारे फूल और जुगनू ...
Tag :
  November 14, 2013, 10:50 am
"अब सिर  पर दीवाली खड़ी है, काम, बच्चे , कपडे, रिश्तेदार भगवान् सभी को निभाना मनाना है, और उप्पर से इनकी किट किट।"  भगवान् जाने मैं  कैसे निभा गयी  इनसे।  दीप्ती  बड़ बड़  करती कमरे से आँगन  तक आयी और तुलसी चौरा झाड़ने लगी।  "चली जाओ अपनी माँ के घर , किसने निबाहन...
चाँद सितारे फूल और जुगनू ...
Tag :
  November 1, 2013, 2:14 pm
                नींद मे डूबे हुए से        ऊँघते अनमने जंगल।झाड ऊँचे और नीचे,चुप खड़े हैं आँख मीचे,घास चुप है, कास चुप हैमूक शाल, पलाश चुप है।बन सके तो धँसो इनमें,धँस न पाती हवा जिनमें,सतपुड़ा के घने जंगलऊँघते अनमने जंगल।          &n...
चाँद सितारे फूल और जुगनू ...
Tag :
  October 3, 2013, 4:10 pm
 मै  बस्स नींद में बहली मै बस्स  ख्व़ाब में चली मै पारिजात की डाल पर कांपती कली स्नेह के दुश्मन काँटों संग पली और प्रेम!तुम मुझे नहीं मिले प्रेम तुम कृष्ण ही रहे ……तुम्हे कल्नाओं में जीती सचमुच  में आंसू पीतीजीवन डगर पर एकाकी बढ़ती रहीऔर प्रे...
चाँद सितारे फूल और जुगनू ...
Tag :
  August 28, 2013, 3:48 pm
दिल की बंजर ज़मीन परफिर से उग रही है ख़्वाबों की गाजरघास यूं ही लहलहाएगी एक पूरा मौसमऔर फिर  तैयार होगा अगली ठण्ड के अलाव का सामानख़्वाबों का इससे बेहतर इस्तेमालऔर क्या होगा                               - सहबा जाफ़री ...
चाँद सितारे फूल और जुगनू ...
Tag :
  August 17, 2013, 3:29 pm

आज़ादी औरत की....सहबा जाफ़रीShare on facebookShare on twitterMore Sharing ServicesFILEआज़ादी की कीमत उन चिड़ियों से पूछो जिनके पंखों को कतरा है, आ'म रिवाज़ों ने आज़ादी की कीमत, उन लफ़्ज़ों से पूछो जो ज़ब्तशुदा साबित हैं सब आवाज़ों मेंआज़ादी की क़ीमत, उन ज़हनों से पूछो जिनको कुचला मसला है, महज़ गुलाम...
चाँद सितारे फूल और जुगनू ...
Tag :
  August 14, 2013, 4:55 pm
सियासी गुफ़्तगू  यूँ  मत मनाओ ईद रहने दो बेनूरो रंगों बू यूं मत मनाओ ईद रहने दो न चाहत है, न राहत है, न साईत भी है चन्दा की ऐसे  बेसुकूं  यूं मत मनाओ ईद रहने दोइबादत चाँद रातों की, वह भी सब्र के एवज़ है आबिद बेवुज़ू  पर , यूं मत मनाओ ईद रहने दोगले मिलते थे गल...
चाँद सितारे फूल और जुगनू ...
Tag :
  August 10, 2013, 9:41 am
मुझे शिकवा नहीं कि तुमने मेरा बुत तराशा है मुझे दुःख भी नहीं तुमने मुझे क़ैदी  बनाया हैमुझे तुम सर झुकाते होतो मेरी आँख रोती है मुझे खुशबू लगाते हो मुझे तक्लीफ़ होती है की तुमने मुझको क़ैद करके  फ़िरकों का ताला गढ़ लिया है अपने पालनहार  को ख़ुद...
चाँद सितारे फूल और जुगनू ...
Tag :
  July 31, 2013, 10:33 am
किस्मत ने जो ज़ख़्म दिए हैं उनसे रूप सजाया है दुनिया से जो कुछ भी पाया  दुनिया को लौटाया है इस आँचल को कहाँ मयस्सर चाँद सितारे फूल और जुगनूमिट्टी से ही ख्वाब गढ़ें हैं, और दिल को बहलाया है,...
चाँद सितारे फूल और जुगनू ...
Tag :
  July 25, 2013, 9:41 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163578)