Hamarivani.com

आपका ब्लॉग

चन्द माहिया  :क़िस्त 54:1:ये कैसी माया हैतन तो है जग मेंमन तुझ में समाया है:2:जब  तेरे दर आयाहर चेहरा मुझ कोमासूम नज़र आया:3:ये कैसा रिश्ता हैदेखा कब उसकोदिल रमता रहता है:4:बेचैन बहुत है दिलकब तक मैं तड़पूंबस अब तो आकर मिल:5:यादें कुछ सावन कीतुम न आए जोबस एक व्यथा मन की-आनन्द.पाठक...
आपका ब्लॉग...
Tag :
  September 15, 2018, 9:43 pm
चिड़िया: क्षितिज: जहाँ मिल रहे गगन धरा मैं वहीं तुमसे मिलूँगी, अब यही तुम जान लेना राह एकाकी चलूँगी । ना कहूँगी फ़िर कभी कि तुम बढ़ाओ हाथ अपना, ......
आपका ब्लॉग...
Tag :
  September 15, 2018, 2:37 pm
दया सभ्यता प्रेम समाहित जिसके बावन बरनों मेंशरणागत होती भाषाएं जिसके पावन चरनों मेंजिसने दो सौ साल सही है अंग्रेजों की दमनाईधीरज फिर भी धारे रक्खा त्याग नहीं दी गुरताईतुमको अब तक भान नहीं है हिन्दी की करूणाई काजिसने सबको गले लगाया ममतारूपी माई कालेकिन बातें चल निक...
आपका ब्लॉग...
Tag :हिन्दी
  September 15, 2018, 10:39 am
एक ग़ज़ल :झूठ का जब धुआँ ये घना हो गयासच  यहाँ बोलना अब मना हो गयाआईना को ही फ़र्ज़ी बताने लगेआइना से कभी सामना हो गयारहबरी भी तिजारत हुई आजकलजिसका मक़सद ही बस लूटना हो गयाजिसको देखा नहीं जिसको जाना नहींक्या कहें ,दिल उसी पे फ़ना हो गयारफ़्ता रफ़्ता वो जब याद आने लगेबेख़ुदी में ...
आपका ब्लॉग...
Tag :
  September 8, 2018, 3:56 am
दोहे ~दोहा-दोहा   ग्रंथ-सा,  भाव-बिंब   हों  खास।पूर्ण करो माँ शारदे, निज बालक की आस।।संगत सच्चे साधु की, 'अमन'बड़ी अनमोल।बिन पोथी, बिन ग्रन्थ के, ज्ञान चक्षु दे खोल।।मुँह  देखें  आशीष  दें,  मुँह  फेरे  दें  शाप।दुहरा-सा यह आचरण, ख़ूब जी रहे आप।।पापिन, कु...
आपका ब्लॉग...
Tag :
  September 5, 2018, 8:15 am
चन्द माहिया  :क़िस्त 53:1:सब क़िस्मत की बातेंकुछ को ग़म ही ग़मकुछ को बस सौग़ातें:2:कब किसने है मानाआज नहीं तो कलसब छोड़ के है जाना:3:कब तक भागूँ मन सेदेख रहा कोईछुप छुप के चिलमन से:4:कब दुख ही दुख रहतावक़्त किसी का भीयकसा तो नहीं रखता:5:जब जाना है ,बन्दे !काट ज़रा अब तोसब माया के फन्दे-आन...
आपका ब्लॉग...
Tag :
  September 3, 2018, 11:00 pm
गजलआँखमेरीभलेअश्कसेनमनहींदर्दमेरामगरआपसे  कमनहींयेचिराग-ए-मुहब्बतबुझादेमेराआँधियोंमेअभीतकहैवोदमनहींइन्कलाबीहवाहोअगरपुरअसरकौनकहताहैबदलेगामौसमनहींपेशवोभीखिराज़-ए-अक़ीदतकिएजिनकीआँखोंमेपसराथामातमनहींएकतनहासफरमेंरहाउम्र  भरहमज़ुबाँभीनहीकोईह...
आपका ब्लॉग...
Tag :
  August 25, 2018, 12:15 am
"छुट-भईए"नेताओं को समर्पित ----"एक व्यंग्य गीत :- नेता बन जाओगे प्यारे-----😀😀😀😀😀पढ़-लिख कर भी गदहों जैसा व्यस्त रहोगेनेता बन जाओगे ,प्यारे ! मस्त रहोगेकौए ,हंस,बटेर आ गए हैं कोटर मेंभगवत रूप दिखाई देगा अब ’वोटर’ मेंजब तक नहीं चुनाव खतम हो जाता प्यारे’मतदाता’ को घुमा-फिरा अपन...
आपका ब्लॉग...
Tag :
  August 20, 2018, 10:35 pm
चन्द माहिया  [सावन पे ] : क़िस्त 52[नोट : मित्रो ! विगत सप्ताह सावन पे चन्द माहिए [क़िस्त 51] प्रस्तुत किया थाउसी क्रम में -दूसरी और आखिरी कड़ी प्रस्तुत कर रहा हूँ--]:1:जब प्यार भरे बादलसावन में बरसेभींगे तन-मन आँचल:2:प्यासी आँखें तरसीउमड़ी तो बदलीजाने न कहाँ बरसी:3:उन पर न गिरे ,बिजलीड...
आपका ब्लॉग...
Tag :
  August 12, 2018, 3:22 am
चन्द माहिया  [सावन पे ] : क़िस्त 51:1:सावन की घटा कालीयाद दिलाती हैवो शाम जो मतवाली:2:सावन के वो झूलेझूले थे हम तुमकैसे कोई भूले:3:सावन की फुहारों सेजलता है तन-मनजैसे अंगारों से;4:आएगी कब गोरी ?पूछ रही मुझ सेमन्दिर की बँधी डोरी:5:क्या जानू किस कारन ?सावन भी बीताआए न अभी साजन-आनन्द....
आपका ब्लॉग...
Tag :
  August 8, 2018, 8:11 pm
एक ग़ज़ल : ये आँधी ,ये तूफ़ाँ--ये आँधी ,ये तूफ़ाँ ,मुख़ालिफ़ हवाएँभरोसा रखें, ख़ुद में हिम्मत जगायेंकहाँ तक चलेंगे लकीरों पे कब तकअलग राह ख़ुद की चलो हम बनाएँबहुत दूर तक आ गए साथ चल करये मुमकिन नहीं अब कि हम लौट जाएँअँधेरों को हम चीर कर आ रहे हैंअँधेरों से ,साहब ! न हम को डराएँअगर आप क...
आपका ब्लॉग...
Tag :
  August 4, 2018, 9:04 pm
चन्द माहिया : क़िस्त 501पल जो भी गुज़र जाताछोड़ के कुछ यादेंफिर लौट के कब आता ?2होता भी अयाँ कैसेदिल तो ज़ख़्मी हैकहती भी ज़ुबाँ कैसे ?3 तुम ने मुँह फेरा हैटूट गए सपनेदिन में ही अँधेरा है4शोलों को भड़कानाये भी सज़ा कैसीभड़का के चले जाना5इक नन्हीं सी चिड़ियाखेल रही जैसेमेरे आँगन गुड़ि...
आपका ब्लॉग...
Tag :
  July 31, 2018, 5:55 am
Laxmirangam: बात कहनी है...: बा त कहनी  है. तुमसे अब बात यही कहनी है  कि तुमसे बात नहीं करनी है. जुबां से मैं भी तुमसे कुछ न कहूँ न मुख से तुम भी मुझस......
आपका ब्लॉग...
Tag :
  July 30, 2018, 6:42 am
कविता: उपदेशों की गंगासारांश:हींग      लगे  ना    फिटकरी,            रंग       आ     जावे,     चोखा।उपदेश  दे     कर   जग    में,            ठग  भी   दे    जावे,     धोखा।बस उपदेशों के ऊप...
आपका ब्लॉग...
Tag :
  July 22, 2018, 12:45 pm
चन्द माहिया : क़िस्त 49:1:ये इश्क़ है जान-ए-जांतुम ने क्या समझाये राह बड़ी आसां ?:2:ख़ामोश निगाहें भीकहती रहती हैंकुछ मन की व्यथायें भी:3:कुछ ग़म की सौगातेंजब से गए हो तुमआँखों में कटी रातें:4:वो जाने  किधर रहताएक वही तो हैजो सब की खबर रखता:5:माया को सच मानामद में है प्राणी है कितना...
आपका ब्लॉग...
Tag :
  July 21, 2018, 10:01 pm
कविता: बदराकीआत्मकथासारांश:सभी     इस      बात   का,               ध्यान         रखना,     ज़्यादा। जब      भी    बरसे   बदरा,            इसके   पानी   का,            तब    हो  सरंक्षण,       &nb...
आपका ब्लॉग...
Tag :बदरा की आत्मकथा
  July 21, 2018, 8:13 am
कविता: शब्द की हुँकारसारांश:कभी कभी ख़ामोश हो जाता,     शब्द।नजरें     और  चेहरे  से   तब,             पढा              जाता,     शब्द।संभाल   कर    बोला   जाता,     शब्द।औषधी  से       तेज  &...
आपका ब्लॉग...
Tag :
  July 20, 2018, 8:53 am
चन्द माहिया  : क़िस्त 48:1:क्यों दुख से घबराएधीरज रख मनवामौसम है बदल जाए:2:तलवारों पर भारीएक कलम मेरीऔर इसकी खुद्दारी:3:सुख-दुख  जाए आएसुख ही कहाँ ठहराजो दुख ही ठहर जाए:4:तेरी नीली आँखेंख़्वाबों को मेरेदेती रहती साँसें:5:आजीवन क्यों क्रन्दनख़ुद ही बाँधा हैजब माया का बन्धन-आन...
आपका ब्लॉग...
Tag :
  June 30, 2018, 9:38 pm
Laxmirangam: राष्ट्रहित - खोटा सिक्का.: राष्ट्रहित अनुष्का शर्मा ने एहरान को डाँट लगाई कि वह कार से सड़क पर कचरा फेंक रहा था. भले ही लोग यह सोचें कि उसने सफाई वालंटीयर होन......
आपका ब्लॉग...
Tag :
  June 24, 2018, 7:40 am
चन्द माहिया : क़िस्त 47:1:सब साफ़ दिखे मन सेधूल हटा पहलेइस मन के दरपन से:2:अब इश्क़ नुमाई क्यादिल से तुम्हे चाहाहर रोज़ गवाही क्या:3:मरने के ठिकाने सौदुनिया में फिर भीजीने के बहाने सौ:4:क्या ढूँढ रहा ,पगले !मिल जायेगा वोमन तो बस में कर ले:5:जो देना ,दे देनामेरी क्या चाहतआँखों से समझ ल...
आपका ब्लॉग...
Tag :
  June 23, 2018, 9:53 pm
एक लघु चिन्तन : --"देश हित में"जिन्हें घोटाला करना है वो घोटाला करेंगे---जिन्हें लार टपकाना है वो लार टपकायेगें---जिन्हें विरोध करना है वो विरोध करेंगे--- सब अपना अपना काम करेगे ।ख़ुमार बाराबंकी साहब का एक शे’र हैन हारा है इश्क़ और न दुनिया थकी हैदिया जल रहा है , हवा चल रही  है&nb...
आपका ब्लॉग...
Tag :
  June 22, 2018, 4:18 am
चन्द माहिया : क़िस्त 45        :1:सब ग़म के भँवर में हैंकौन किसे पूछेसब अपने सफ़र में हैं;2:अपना ही भला देखादेखी कब मैनेअपनी लक्षमन रेखा:3:माया की नगरी मेंबाँधोंगे कब तकइस धूप को गठरी में:4:होठों पे तराने हैंआँखों में किसकेबोलो .अफ़साने हैं:5:आँखों में शरमानादिल  मे कुछ तो हैर...
आपका ब्लॉग...
Tag :
  June 2, 2018, 8:33 pm
चिड़िया: नशा - एक जहर: नशा - एक जहर नशे की राह में कई गुमराह हो रहे, ये नौनिहाल देश के तबाह हो रहे । कहता है कोई पी के भूल जाएगा वो गम, कहता है कोई छोड़ द......
आपका ब्लॉग...
Tag :
  May 31, 2018, 8:51 am
          :1:खुद तूने बनाया हैअपना ये पिंजराख़ुद क़ैद में आया है:2:किस बात का है रोनाछूट ही जाना हैक्या पाना,क्या खोना ?          :3:जब चाँद नहीं उतराखिड़की मे,तो फिरकिसका चेहरा उभरा          :4:जब तुमने पुकारा हैकौन यहां ठहरालौटा न दुबारा है ...
आपका ब्लॉग...
Tag :
  May 26, 2018, 4:20 am
चन्द माहिया : क़िस्त 43:1:जज्बात की सच्चाईनापोगे कैसेइस दिल की गहराई:2:तुम को सबकी है ख़बरकौन छुपा तुम सेसब तेरी ज़ेर-ए-नज़र:3:इक तुम पे भरोसा थाटूट गया वो भीकब मैने सोचा था:4:इतना जो मिटाया हैऔर मिटा देतेदम लब तक आया है:5:कितनी भोली सूरतजैसे बनाई होख़ुद रब ने ये मूरत-आनन्द.पाठक-...
आपका ब्लॉग...
Tag :
  May 20, 2018, 9:01 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3807) कुल पोस्ट (180840)