Hamarivani.com

Life iz Amazing

गांधीजी बेशक राष्ट्रपिता नहीं हो सकते क्योंकि राष्ट्र सबका पोषक और सर्वोच्च है इसलिये गांधीजी को भी राष्ट्रपिता कहना अन्याय है। और मुझे यक़ीन है कि बापू की भी कभी ऐसी इच्छा नहीं रही होगी पर हाँ यह हमारा उनके लिए प्यार था जो उनको किसी ने महात्मा तो किसी ने बापू कहा। उनक...
Life iz Amazing...
Tag :गाँधी
  October 2, 2018, 5:11 pm
आज फुर्सत में हूँ, फुर्सत के ही साथ में हूँ, बहुत दिन से मिली नहीं थी, थी मुझे बहुत जरूरत उसकी, पर दिनों से है की दिखी नहीं थी.. आज भी शायद नज़रे चुरा कर, कहीं और ही जा रही थी, पर तलब और तबियत के सख्त पहरों से, आज बच के निकल न सकी थी.. और अब जब साथ में है, तो है थोड़ी सहमी, थोड़ी शरमाई, उस...
Life iz Amazing...
Tag :फुर्सत
  September 20, 2018, 9:22 pm
NOTA को विकल्प मानने वाले बन्धुओं क्या आपने विचार किया है कि नोटा का अर्थ होता है इनमें से कोई नहीं, और कोई नहीं कहना ज्यादती होगी और अपने भारतभूमि को कलंकित करने सा होगा जहां आपके अनुसार कोई योग्य नही बचा और आप समाज के ऐसे चौकीदार है जो ज्योतिष भी है जिन्हे साल भर पहले ही म...
Life iz Amazing...
Tag :Nota
  September 6, 2018, 11:33 pm
न तो मैं कभी आरक्षण समर्थक था, न भारत बंद जैसी वाहियात सोंच का समर्थन कर सकता हूँ। मैं दो रोटी कम खाकर, दो वस्त्रों में पूरा जीवन बिता दूंगा पर किसी फालतू नेता और बकवास दलों के दलदल में नहीं परूँगा, क्योंकि अगर बन्दे में दम हो तो रिलायंस जैसा अंपायर बिना किसी सरकारी चाकर...
Life iz Amazing...
Tag :भारत बंद
  September 6, 2018, 2:02 pm
यह कविता मेरे हर शिष्य के नाम, मेरे भाव, मेरे शब्द आप तक पहुंचे तो सूचित करें, अपने विचार रखें। धन्यवाद! कोई कल्पित ख्वाब नहीं, न गुरु सम्मान का अभिलाषी हूँ, है तुम सबसे मेरा एक ही स्वार्थ, तुम्हारे सफलता का मैं प्रार्थी हूँ.. कोई तुमसे मांग नहीं, तुम स्वयं को समझो चाहता हूँ,...
Life iz Amazing...
Tag :
  September 2, 2018, 11:01 pm
मित्रमंडली में भोजपुर में हुए उस अन्याय की चर्चा हो रही थी, मेरा भी भावुक मन यह सोंच कर बैठा जा रहा था कि कितना संवेदनहीन, नपुंसक और लिच्चर हो गया है यह समाज जो खुलेआम एक औरत को नंगा करके पीटता है, और फिर मीडिया इसे खबर बनाकर, TRP और views के लिए मसाला की तरह परोस देती है। यह सब वि...
Life iz Amazing...
Tag :चरित्र निर्माण
  August 26, 2018, 12:05 am
मेरे अटल जी – Narendra Modi अटल जी अब नहीं रहे। मन नहीं मानता। अटल जी, मेरी आंखों के सामने हैं, स्थिर हैं। जो हाथ मेरी पीठ पर धौल जमाते थे, जो स्नेह से, मुस्कराते हुए मुझे अंकवार में भर लेते थे, वे स्थिर हैं। अटल जी की ये स्थिरता मुझे झकझोर रही है, अस्थिर कर रही है। एक जलन सी है आंखों...
Life iz Amazing...
Tag :नरेंद्र मोदी का अटलजी को श्रद्धांजलि
  August 17, 2018, 10:22 am
एक नहीं दो नहीं करो बीसों समझौते, पर स्वतंत्रता भारत का मस्तक नहीं झुकेगा। अगणित बलिदानो से अर्जित यह स्वतंत्रता, अश्रु स्वेद शोणित से सिंचित यह स्वतन्त्रता। त्याग तेज तपबल से रक्षित यह स्वतंत्रता, दु:खी मनुजता के हित अर्पित यह स्वतन्त्रता। इसे मिटाने की साजिश करने ...
Life iz Amazing...
Tag :Atal Bihari Vajpayee
  August 17, 2018, 9:46 am
विचार मरते नहीं, शब्द चिरायु है, आपके कहे हर शब्द, आपकी लिखी हर बात हमारे बीच है, और रहेंगी। राष्ट्र सदैव आपका ऋणी रहेगा, हिन्दी, हिन्दू और हिंदुस्तान को आपके जाने का दुख है पर फिर आशाएं भी है कि आपके लगाए पौधे इस चमन के चेहरे को बदल देंगे। आपकी सदा ही जय हो हे महामानव, आपने ...
Life iz Amazing...
Tag :Atal Bihari Vajpayee Shok Sandesh
  August 16, 2018, 6:49 pm
अगर बधाई से फुर्सत मिले तो आज आप अपने बच्चों को आजादी के लिए किए गए संघर्ष को अवश्य याद दिलाए, उन्हें यह भी बताए कि 200 वर्षों तक देश अखण्ड रहा और स्वतंत्रता जब देहरी पर खड़ी थी तो किन स्वार्थियों ने, न केवल मुल्क के दो(तीन) टुकड़े किये बल्कि लाखों लोगों को मरने के लिए छोड़ दिया...
Life iz Amazing...
Tag :क्या हुआ था 1947 में
  August 15, 2018, 1:20 pm
समस्त भरतवंश को स्वतन्त्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं.. हम सब ऋणी है उन हजारों-लाखों स्वतन्त्रता सेनानियों के जिन्होंने अपने प्राणों की आहुति देकर इस देश का सम्मान स्थापित किया। मित्रों देश की करेंसी पे जगह कम है, शायद इसीलिये केवल गांधीजी फिट बैठते है, पर हमारे और ...
Life iz Amazing...
Tag :स्वतंत्रता दिवस पर लेख
  August 14, 2018, 11:19 pm
सारी कथाएं, सारे प्रवचन, सत्य की महिमा सुनाते, हर किताब, हर लेख, सत्य की ही विजय बताते, पर एक सत्य यह भी है इस दो-गली दुनिया की, कि जब जब मैंने सत्य कहा मेरे अपने तक हम से है कट जाते… सत्य बिना श्रृंगार की वह सुंदरी है जिसका सौंदर्य नहीं सब बूझ पाते, सत्य वह ग्लूकोज़ ड्रिप है ज...
Life iz Amazing...
Tag :कवि सन्नी कुमार
  July 22, 2018, 9:46 am
आज अपनी ही तस्वीर देखी तो कमबख्त ये ख़्याल आया, कि लिखते रहे औरों को इतना डूबकर कि खुद का ख्याल भी नहीं आया, औरों को लुभाने की चाह में मैं खुद को ही भूला आया, आज कहते है सभी अपने कि थोड़ा मैं भी मुस्कुरा लूं, पर कैसे कि वजह लेकर वो सावन अब तक नहीं आया.. ©सन्नी कुमार ‘अद्विक’ ...
Life iz Amazing...
Tag :सन्नी की कविता
  July 17, 2018, 7:25 pm
जन्नत में मुझको दिलचस्पी नहीं है, पर सुना है वहाँ हूरें 72 मिलती है.. सम्भव है दीदार हो उस पर्दानशीं का वहाँ, जो मेरे मुहल्ले से रोज गुजरती है.. उसको देखा नहीं पर वो अज़नबी भी नहीं है, कि उसकी नजरों में मुझे दुनिया तमाम मिलती है.. हसरतों में सिर्फ वो है ऐसा भी नहीं है, पर इस फेहर...
Life iz Amazing...
Tag :जन्नत में मुझको दिलचस्पी नहीं है
  July 16, 2018, 6:49 pm
हे कृष्णा, मेरी कलम में तुम थोड़े, बंसी के लय घोलो न.. मुझे पढ़कर सबमें प्रेम बढ़े, ऐसे किस्से मुझसे गढ़वाओं न.. सुनने को सब मुझे भी ललचे, कुछ ऐसी मायाजाल बिछाओ न.. मेरी कलम में तुम थोड़े, बंसी के लय घोलो न.. प्रेम-धर्म की स्थापना को, हे वसुदेव तुम जब उतरते हो, तो कभी मेरे शब्दों में भी, ...
Life iz Amazing...
Tag :कृष्ण से निवेदन
  July 14, 2018, 9:01 pm
उसकी अच्छी बातें, उसकी हाथों पर कलेवा, उसका नाम, उसका प्यार, सब फ़रेब निकला.. उसके इश्क़ में डूब कर, मैंने क्या-क्या न किया, मेरे वसूल, मेरा विश्वास बदला, हर रिश्ते-नातेदार बदला, और जिसके साथ कि खातिर मैंने खुद को बदला, वह इश्क़, वह आशिक़, उसका नाम तक झुठा निकला.. खैर, तब माँ मेहंदी क...
Life iz Amazing...
Tag :धर्म
  June 27, 2018, 2:00 pm
हक़ीक़त रूठी परी है कबसे, फिर भी ख्वाब रिझाने आते है, है सब स्व में ही मगन फिर भी, वो मेरे है दिखाने आते है.. क्या कहूँ क्या लिखूं तुमसे, कि तुम्हें तो बस पढ़ने अक्षर आते है, पढो गर पढ़ सको भावों को, कि वहीं तुम्हें इंसान बनाते है.. पर्सनालिटी डेवलपमेंट का है ये दौर, की यही तुम्हें ...
Life iz Amazing...
Tag :ख्वाब
  June 25, 2018, 11:08 pm
माना मैंने ताजमहल नहीं बनाया है,पर मैंने किसी और का महल भी नहीं गिराया है.. माना मैं अब तक हूँ महरूम, शोहरत की रौशनी से,पर फिर मैंने कर बदनाम किसी को, अंधेरा भी नहीं फैलाया है.. माना मेरे(श्री श्री रविशंकर नहीं) वचन, प्रवचन की श्रेणी में अब तक नहीं आते,पर मैंने किसी को अब तक छ...
Life iz Amazing...
Tag :ताजमल
  June 25, 2018, 7:58 pm
ऐसा नहीं है कि मेरे तरकस में तीर नहीं है, पर बेवजह बहरों में खर्च करने को अब अनमोल शब्द नहीं है.. बड़ी-बड़ी बातें और बनावटी सपनों की आंधी है शहर में, सच ढ़ेर है जमीं पर कि उसके कोई साथ नहीं है.. तस्वीर बदलने को तो मेरी खामोशी भी है काफी, पर तकदीर में शहर के बदलाव और सच का साथ नहीं ह...
Life iz Amazing...
Tag :तरकश कविता
  June 22, 2018, 4:23 pm
अब जब ईमान उसके इश्क़ पे ले आया हूँ, उसी के ख्यालों से, खूबसूरत दुनिया कर पाया हूँ, हर नेकी, हर ज़कात की ख़्वाहिश, अब जो उससे मिलकर ही आई है, तो क्या कल दिखेगी मुझको भी मेरी चाँद, क्या कल मिलेगी मुझको भी मेरी ईदी, कि महीनों मैं भी उसकी तड़प में न खा पाया हूँ.. क्या मिलेंगे मुझसे भी स...
Life iz Amazing...
Tag :a beutiful poem for her
  June 15, 2018, 6:50 am
Click to view slideshow. ...
Life iz Amazing...
Tag :Life iz Amazing
  June 11, 2018, 9:52 pm
तुमसे मिलके दिल ये मेरा, खुदा का जन्नत है हो गया, जीने लगी हो तुम जो मुझमें, मेरा मन वृंदावन है हो गया, तुमसे मिलके दिल ये मेरा, खुदा का जन्नत है हो गया। रहने लगा हूँ खुश अब सबसे, हर जीव से नाता हो गया, करने लगा हूँ दिल खोल के बातें, तुम्हारे ज़िक्र का आदी जो हो गया, तुम्हारे इश्क...
Life iz Amazing...
Tag :hindi poem on love and jannat
  May 28, 2018, 6:54 pm
To my beautiful wife on our Anniversary.. आज हमारा इश्क़ थोड़ा और सयाना हो गया, दिल ने कभी जो ख्वाब न देखे, वो सब अब हक़ीक़त हो गया… हर लत से मुझको तौबा ही था, पर तुम्हारे साथ का आदत हो गया, जो कभी जीवन मे उतरेगा नहीं, वो नशा है मुझको हो गया.. तुमसे मिलके दिल ये मेरा, है खुदा का जन्नत हो गया, पलते है मुझमें ह...
Life iz Amazing...
Tag :इश्क
  May 28, 2018, 1:43 pm
हिंदु धर्म पुनर्जन्म में विश्वास रखती है और मैं परिवर्तन में और ये परिवर्तन पुनर्जन्म ही है समझना थोड़ा मुश्किल है पर समझा जा सकता है, अगर बिलीफ, लॉजिक और मैजिक की खिचड़ी बनाये एकदम कांग्रेस और जेडीएस की तरह…I mean येन-केन-प्रकारेण खैर अपन यह कह रहे थे कि आप ये जो किसी की भी ...
Life iz Amazing...
Tag :दिवंगत आत्मा को सद्गति मिले
  May 23, 2018, 4:49 pm
खरौना तिरहुत नहर कुम्हार के उस घड़े में भले बर्फ नहीं जमता, पर पानी ठंडी रहती है। पीपल के छांव तले AC का शोर नहीं पलता, वहां तो मदमस्तत हवाएं प्रकृति के गीत गाती रहती है। गाँवों में आज भी वाटर पार्क और स्विमिंग पूल नहीं मिलता, वहां बचपन नदी-नहर-तालाबों में तैरती रहती है। आज ...
Life iz Amazing...
Tag :गाँव की कविता
  May 23, 2018, 2:41 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3821) कुल पोस्ट (181538)