Hamarivani.com

मन मंथन

हे प्रभु, तू है कहाँ ?क्या कहीं तू सो गया ?सुन ले,जब तेरे जगत में पीड़ितों को न्याय होगा ,अब तभी मंदिर में तेरे नाम का दीया जलेगा !!आत्मा के चीथड़ेकर देने वाले वहशियों को,उन दरिंदों को कुकर्मों कायथोचित फल मिलेगा ,अब तभी मंदिर में तेरे नाम का दीया जलेगा !!अन्नदाता देश का जो,स...
मन मंथन...
Tag :कविता ( समाज )
  January 6, 2013, 10:39 pm
आओ दरिन्दोंमुझे लूटो, खसोटो, नोचो !गौर से देखोएक नारी हूँ मैंब्रहा द्वारा तैयारतुम्हारे ऐशो आराम का सामान,तुम्हारी ऐय्याशी का सामान,तुम्हारी पाश्विक, घिनौनी औऱ नरपैशाचिकजरूरतों को पूरा करने का सामान !चिथडे चिथडे कर दोवो झूठी अस्मिताजो बचपन से मैंसाथ लेकर जी रही थी !...
मन मंथन...
Tag :कविता ( समाज )
  January 6, 2013, 10:39 pm
       इतना भी मत तरसाओ       कि कमी तुम्हारी न खले      बहुत देख ली राह तुम्हारी       आ जाओ चुपचाप चले !              कहीं बरस के हद कर देते               कहीं की तुम लेते न खबर               कहीं ठिकाना बन जाता और                कहीं पकड़ते भी न डगर               बहुत हो गयी मनमानी अब               आओ के सूखा टले !...
मन मंथन...
Tag :कविता ( प्रकृति )
  July 6, 2012, 3:01 pm
        देखी उड़ान उसकी तो    क्यों दिल दहल  गये     अनगिनत हैं तीर क्यूँ      छाती पे चल गये !    थे मुरीद जाने किस     ज़माने से उनके     तेवर जो देखे उनके     तो हम और मचल गये !    है हौसला या है जुनूं    क्यों फेर में पड़िए    ये देखिये के पत्थरों के    दिल पिघल गये !    जाने कशिश थी कैस...
मन मंथन...
Tag :
  June 8, 2012, 9:54 pm
     वादों की जिस केंचुली को उतार फेंका तुमने       वही केंचुली अब मेरी खाल है !      ...
मन मंथन...
Tag :
  June 7, 2012, 12:41 am
 तोड़ते, चरमराते रहो तुम मुझे ....     मैं भी पारा हूँ , फिर से जुड़ जाउंगी   ...
मन मंथन...
Tag :
  June 7, 2012, 12:36 am
    स्वर्ण पॉलिश वाले एक भव्य सिंहासन पर एक ओर को झुके हुए बाबा बैठे हैं ! दाहिना हाथ कुर्सी के डिजाइनर हत्थे पर रखा हुआ है और बायाँ हाथ कभी अपने श्रद्धालु भक्तों को उनके प्रश्नों के उत्तर समझाने में भाव-भंगिमाएं बनाने में  व्यस्त होता है , तो कभी अपने सिर पर अपने बचे-खुचे ...
मन मंथन...
Tag :लेख
  May 5, 2012, 5:02 pm

...
मन मंथन...
Tag :
  January 1, 1970, 5:30 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163613)