POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: यंत्र

Blogger: ऋतुराज
विधान एवं प्रभाव :-इस यंत्र को शुभ महूर्त में ताम्र पत्र पर खुदवा लें फिर सूर्य उदय के समय इस यंत्र का केसर और चन्दन से पूजन करें । मंत्र :-            ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं लक्ष्मी दैव्य: नमः इस मंत्र की 21 माला करें साथ में श्री शुक्त का भी पाठ करें । इस यंत्र के प्रभाव से कभी कोई ... Read more
clicks 347 View   Vote 0 Like   8:16am 5 Jan 2013 #
Blogger: ऋतुराज
विधान एवं प्रभाव :- इस यंत्र के प्रभाव से भूत प्रेत की छाया का नशा होता हैं । इस यंत्र को केसर से भोजपत्र पर लिखकर लौंग और कपूर के साथ रोगी के सामने धूनी दें , तो भूत प्रेत जो भी होता हैं भाग जाता हैं और पीड़ित ठीक हो जाता हैं । शनिवार के दिन सफ़ेद कागज पर काली स्याही से यह य... Read more
clicks 381 View   Vote 0 Like   8:16am 4 Jan 2013 #
Blogger: ऋतुराज
विधान एवं प्रभाव :- इस यंत्र को जो मनुष्य धारण करता हैं । उस मनुष्य का शत्रु उससे शत्रुता करना छोड़ देता हैं और अगर नहीं छोड़ता है तो नष्ट हो जाता हैं । तंत्र मंत्र आदि अभिचार का का प्रभाव नहीं पड़ता है । भूत प्रेत बाधा नहीं होती । और मनुष्य जो भी कार्य करता हैं उस में उसको... Read more
clicks 515 View   Vote 0 Like   9:00am 31 Dec 2012 #
Blogger: ऋतुराज
प्रभाव एवं विधान :- घर का कोई सदस्य अगर विदेश गया हो और वापस न आ रहा हो तो इस यंत्र का प्रयोग ,किया जा सकता हैं । इस यंत्र को रास्ते की मिट्टी से कोरे कागज पर लिखें । उस यंत्र को बेल्ट से मरें । इस प्रयोग से गया हुआ व्यक्ति वापस आ जाता है । नींबू के रस से कोरे कागज पर यंत्र लिख... Read more
clicks 274 View   Vote 0 Like   8:10am 26 Dec 2012 #
Blogger: ऋतुराज
विधान एवं प्रभाव :- इस  यंत्र को रवि पुष्प योग में गोरोचन , कपूर और केसर और गंगाजल मिलकर , चमेली की कलम से भोजपत्र पर लिखें । लिखतें समय मुंह में मिश्री की अवश्य रखना चाहिये । जो व्यक्ति काम धंधे की तलाश में भटक रहा हो किन्तु उसे कहीं कोई नौकरी , कम न मिल पा रहा हो , तो इस यंत्... Read more
clicks 333 View   Vote 0 Like   9:29am 24 Dec 2012 #
Blogger: ऋतुराज
विधान एवं प्रभाव :- गोरोचन की स्याही से भोजपत्र के उपर इस यंत्र का निर्माण करें । यंत्र के बीच में साध्य का नाम लिखें । फिर इस यंत्र को जल में स्थापित कर दें । १.   इस प्रयोग से रूठा व्यक्ति मान जाता है ।२.  घर से भागा हुआ वापस घर आ जाता है ।३.  खोया हुआ व्यक्ति मिल जाता हैं ... Read more
clicks 265 View   Vote 0 Like   11:33am 21 Dec 2012 #
Blogger: ऋतुराज
प्रभाव :- इस यंत्र के प्रभाव सर्वांगीण उन्नत्ति होती है । धारण करने वाले जातक का कोई बुरा नहीं कर पाता और ना ही बुरा करने की सोच पाता है । विधि :- किसी शुभदिन अष्टगंध की स्याही अनार की कलम से भोजपत्र पर 110 की संख्या में यंत्र लिखें । 108 यंत्र तो आटे की गोलियों में भरकर मछलियो... Read more
clicks 274 View   Vote 0 Like   4:19pm 18 Dec 2012 #
Blogger: ऋतुराज
प्रभाव :- शादी करना सरल है पर निभाना कठिन कार्य । कई बार शादी शुदा जीवन नरक लाग्ने लगता हैं । इस यंत्र के प्रभाव से शादी शुदा जीवन में शांति अति है तथा तलाक तक आई नौबत भी दूर हो जाती है । इस यंत्र को पति पत्नी में से कोई भी धरण कर सकता हैं । और अपने जीवन में शान्ति प्राप्त कर ... Read more
clicks 319 View   Vote 0 Like   8:07am 18 Dec 2012 #
Blogger: ऋतुराज
प्रभाव :- इस यंत्र अपनी मुट्ठी में बंद करके जिस अफसर या बड़े से बड़े आदमी के सामने जाएंगे , वो वश में हो जाएगा और वो पहले से किसी बात पर नाराज होगा तो उस का गुस्सा एक दम शांत हो जाएगा जैसे कुछ हुआ ही नहीं था । विधान :- इस का यंत्र का निर्माण विधान सरल नहीं हैं कृपा कर अपने विवक... Read more
clicks 320 View   Vote 0 Like   7:37am 15 Dec 2012 #
Blogger: ऋतुराज
प्रभाव :- इस यंत्र को धरण करने से किसी भी अभिचर का प्रभाव नहीं पड़ता । तथा पुराने अभिचार का प्रभाव भी नष्ट हो जाता हैं । व्यक्ति सुरक्षित रहता है । विधान :- मंगलवार वाले दिन कुमकुम , कस्तुरी , गोरोचन को मिलकर स्याही बनाकर उससे भोजपत्र पर लिखकर अष्ट धातु के कवच में काले कपड... Read more
clicks 287 View   Vote 0 Like   11:41am 14 Dec 2012 #
Blogger: ऋतुराज
प्रभाव :- जिन व्यक्तियों या बच्चों को नजर या भूत प्रेतों की बाधा अधिक होती है ये उन लोगो के लिए राम बाण साबित होता है । इस को धारण करने से बधाएं दूर होती है । भय का नाश होता है । स्वस्थ की रक्षा होती है । ... Read more
clicks 322 View   Vote 0 Like   10:28am 13 Dec 2012 #
Blogger: ऋतुराज
प्रभाव  - 1 . -  अगर कोई ग्रह पीड़ा दे रहा होतो इस यंत्र का प्रयोग पीपल के पत्ते पर    कर ने से ग्रह की पीड़ा शांत हो जाती है । 2. -  कोई बस्तु चोरी हो गयी होतो उस वस्तु का नाम यंत्र के नीचे लिख कर मंत्र की 40 माला  जाप करना चाहिए । खोई या चोरी गयी वस्तु मिल जाती है । 3. -  इस यंत्र को घर ... Read more
clicks 210 View   Vote 0 Like   10:28am 13 Dec 2012 #
Blogger: ऋतुराज
प्रयोग :-       इस यंत्र को अनार की कलम से और अष्टगंध की स्याही से भोजपत्र पर लिखा कर धूप -        दीप से पुजा करनी चाईये । चाँदी के ताबीज में भर कर धारण कर लेना चाहिये । प्रभाव :-  इसके प्रभाव से डायबिटीज़ (मधुमेह ) जैसे रोग समाप्त हो जाता हैं । ... Read more
clicks 321 View   Vote 0 Like   10:27am 13 Dec 2012 #
Blogger: ऋतुराज
प्रभाव :- 1 - जो बच्चे पढ़ाई में कमजोर होते हैं । याद नहीं रख पते । उन बच्चों के ये लाभकारी यंत्र है । 2 - मानसिक कमजोर बच्चो के लिए लाभ करी यंत्र है । 3 - इस यंत्र की नित्य पुजा करने से माँ सरस्वती की कृपा प्राप्त होते है ।  ... Read more
clicks 319 View   Vote 0 Like   10:26am 13 Dec 2012 #
Blogger: ऋतुराज
प्रभाव :- 1 - इस यंत्र को दाहिनी भुजा पर धरण करने के बाद जातक जिस कार्य के लिए जाता है । वो निर्विघ्न रूप से सफल होता है । 2 - जिस मकान की नीव में ये यंत्र विधिवत रूप से दवाया जाता है उस मकान में अकाल मृत्यु नहीं होती । धन की कमी नहीं होती और सदा मकान में रहने वाले परिवार की पूर्... Read more
clicks 304 View   Vote 0 Like   10:20am 13 Dec 2012 #
Blogger: ऋतुराज
प्रभाव : - १ . इस के प्रभाव से लक्ष्मी की प्राप्ति होती है । २.  जिस की दुकान धनदा कम चल रहा हो । उस को ये यंत्र अपनी दुकान में स्थापित करना चाइये । इस के प्रभाव से दुकानदारी चलने लगती है । ३. जिस के घर में धन का अभाव रहता हो उसको अपने घर में इस यंत्र को स्थापित करना चाइये । विध... Read more
clicks 370 View   Vote 0 Like   10:19am 13 Dec 2012 #
Blogger: ऋतुराज
प्रभाव :- किसी स्त्री का गर्भ किसी न किसी कारण से गिर जाता हो तो इस यंत्र के प्रभाव से प्रसवकाल तक गर्भ सुरक्षित रहेगा तथा स्त्री को माँ बनने का सौभाग्य अवश्य प्राप्त होगा । विधान:- इस यंत्र को सफ़ेद कागज पर केसर  से लिखकर मोमजामे में रख कर स्त्री की कमर में बांधे । ... Read more
clicks 286 View   Vote 0 Like   10:19am 13 Dec 2012 #
Blogger: ऋतुराज
यंत्र यंत्र शब्द जानना पहचान शब्द हैं । आधुनिक युग के लोग यंत्र मशीनों को बोलते हैं जो ये सत्य भी है ।मनुष्य ने अपनी उन्नति के लिए इस यंत्र को ही अपनी सफलता की सीडी के रूप में प्रयोग किया ।उन्नति अंदर की हो या बाहर की , आध्यात्मिक हो या भौंतिक बिना यंत्र की सायता के संभव ... Read more
clicks 274 View   Vote 0 Like   10:10am 13 Dec 2012 #
clicks 285 View   Vote 0 Like   12:00am 1 Jan 1970 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3916) कुल पोस्ट (192559)