Hamarivani.com

आँचल

                                                    ऊंचाइयों को छूनें को अक्सर                                                      &nbs...
आँचल ...
Tag :
  March 23, 2014, 5:31 pm
फिर से याद आए..खोए हैं जो अपनेंफिर से दोहराएं  टूटे है जो सपनें         फिर से याद आए.....रहते थे कभी साथ हंसी में  खुशी मेंछोडा  हमको तन्हा गम की मायूसी मेंअब क्यूं याद  आए खोए  है जो अपनेअब क्यूं दोहराएं    टूटे  है  जो सपने         फिर से  याद आए.....साथ-2 होता था   हंसना   चहकनाबात ...
आँचल ...
Tag :
  March 9, 2013, 11:14 am
कुंठित मन और संकुचित जीवनअस्त- व्यस्त   सा है तन-  मनना  कोई सुनता व्यथा ह्र्दय  कीबिखरा  है   जीवन  में   गमजीवन  में  थी   अद्भुत   आभालीन थे हर पल हर दम  हमकिसे  पता  लाएगी एक दिनआंधी पतझड  का   मौसमअपनों  ने ही लूटा   हमकोगैरों  में  था  कहां  ये  दमघर  का  भेदी  लंका  ढावे...
आँचल ...
Tag :
  December 26, 2012, 8:07 pm
क्यों कहते हो सब समान हैसब ईश्वर की संतान हैगर ऐसा है तो है क्यों नहींसबके सब धनवान  हैकोई जी रहा बिन रोटी केकोई फांकता पकवान हैगर पूछो ये बात तो कहतेमेरा भारत महान हैकोई है  जीता भूखा नंगाकोई ओढे रेशमी परिधान हैराज है क्या इस विडम्बना काक्या ये राष्ट्र की शान   है ?कर ल...
आँचल ...
Tag :कविता
  December 24, 2012, 8:44 pm

...
आँचल ...
Tag :
  January 1, 1970, 5:30 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163572)