POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया

clicks 187 View   Vote 0 Like   5:14pm 24 May 2013 #
clicks 186 View   Vote 0 Like   5:10pm 24 May 2013 #
clicks 160 View   Vote 0 Like   5:08pm 24 May 2013 #
Blogger: pbchaturvedi
       आज मैं बनारस के एक काव्यजगत के अप्रतिम हस्ताक्षर और मेरे मित्र श्री विन्ध्याचल पाण्डेय की रचनाएं आप के समक्ष प्रस्तुत कर रहा हूँ। श्री विन्ध्याचल पाण्डेय बनारस काव्य-मंचों के बहुत ही मशहूर कवि हैं और ये अपनी कविता में नये तेवर के लिए जाने जाते हैं। आशा है आपको ये... Read more
clicks 291 View   Vote 0 Like   2:09pm 18 Jan 2013 #बनारस के कवि और शायर
Blogger: pbchaturvedi
मित्रों ! जैसे-जैसे समय बीत रहा है हम सभी ब्लागरों को ज्ञान प्राप्त हो रहा है कि कई-कई ब्लागों से अच्छा है एक ही ब्लाग होना। मैंने भी अब केवल दो ब्लाग रखने का फैसला किया है- एक अपनी रचनाओं के लिए और एक भारत के दूसरे विभिन्न रचनाकारों के लिए। अपने अन्य रचनाकारों के लिये मौ... Read more
clicks 187 View   Vote 0 Like   2:53pm 15 Dec 2012 #
Blogger: pbchaturvedi
इस बार गोरखपुर के देवेन्द्र आर्य जी की ग़ज़लें प्रस्तुत हैं...Posted by प्रसन्न वदन चतुर्वेदीat 2:03 PM8 comments:दिगम्बर नासवाSeptember 28, 2009 7:31 AMसुन्दर गज़लों का संकलन है ........ReplyDeleteश्रद्धा जैनSeptember 30, 2009 7:12 PMbahut bahut abhaar itni achchi gazlen padhwane ke liyeReplyDeletenaveentyagiOctober 4, 2009 9:29 PMThis comment has been removed by a blog administrator.ReplyDeleteसुलभ सतरंगीNovember 27, 2009 2:32 PMशानदार ... Read more
clicks 189 View   Vote 0 Like   2:52pm 15 Dec 2012 #समकालीन ग़ज़ल
Blogger: pbchaturvedi
एकशायरकेइसअंकमेंडा०गिरिराजशरणअग्रवालकीरचनाएंप्रस्तुतहैं।डा०गिरिराजशरणअग्रवालकाजन्मसन 1944 ई०मेंसम्भल[उ०प्र०]मेंहुआ।डा०अग्रवालकीपहलीपुस्तकसन 1964 ई०मेंप्रकशितहुई,तबसेआपद्वारालिखितऔरसम्पादितएकसौसेअधिकपुस्तकेंप्रकाशितहो चुकी हैं,एकांकी,व्यंग्य,ललितन... Read more
clicks 189 View   Vote 0 Like   2:52pm 15 Dec 2012 #समकालीन ग़ज़ल
Blogger: pbchaturvedi
1-ग़ज़ल/महेश अग्रवालहार किसकी है और किसकी फतह कुछ सोचिये।जंग है ज्यादा जरुरी या सुलह कुछ सोचिये।यूं बहुत लम्बी उडा़नें भर रहा है आदमी,पर कहीं गुम हो गई उसकी सतह कुछ सोचिये।मौन है इन्सानियत के कत्ल पर इन्साफ-घर,अब कहाँ होगी भला उस पर जिरह कुछ सोचिये।अब कहाँ ढूँढें भला अव... Read more
clicks 191 View   Vote 0 Like   1:39am 15 Dec 2012 #समकालीन ग़ज़ल
Blogger: pbchaturvedi
जैसा कि आप जानते हैं कि एक शायर स्तम्भ में एक ही ग़ज़लकार की रचनायें हर माह प्रकाशित होंगी।आज सबसे पहले विनय मिश्र की ग़ज़लों से इस स्तम्भ की शुरुआत कर रहा हूँ।विनय मिश्र वर्तमान दौर में ग़ज़ल विधा के एक सशक्त हस्ताक्षर हैं और ग़ज़ल के लिये पूरे मनोयोग से जुडे़ हुए हैं।ज... Read more
clicks 188 View   Vote 0 Like   6:25pm 18 Nov 2012 #समकालीन ग़ज़ल
Blogger: pbchaturvedi
१-जहीर कुरेशी की ग़ज़ल-तिमिर की पालकी निकली अचानक।घरों से गुल हुई बिजली अचानक।तपस्या भंग-सी लगने लगी है,कहाँ से आ गयी ’तितली’ अचानक।अभी सामान तक खोला नहीं था,यहाँ से भी हुई बदली अचानक।समझ में आ रहा है स्वर पिता का,विमाता कर गई चुगली अचानक।तुम्हारी साम्प्रदायिक-सोच सुन... Read more
clicks 186 View   Vote 0 Like   11:21am 13 Nov 2012 #समकालीन ग़ज़ल
Blogger: pbchaturvedi
१-विज्ञान व्रत -मैं कुछ बेहतर ढूढ़ रहा हूँ।घर में हूँ घर ढूढ़ रहा हूँ।२-अश्वघोष-मुझमें एक डगर ज़िन्दा है।यानी एक सफ़र ज़िन्दा है।३-ज्ञान प्रकाश विवेक-किसी के तंज़ का देता न था जवाब मगर,ग़रीब आदमी दिल में मलाल रखता था।४-जयकृष्ण राय’तुषार’-भँवर में घूमती कश्ती के हम ऐसे मुसा... Read more
clicks 173 View   Vote 0 Like   5:47pm 13 Jul 2012 #अन्य भारतीय कवि और शायर
Blogger: pbchaturvedi
प्रिय मित्रों, वाराणसी के काव्य-संसार के एक सशक्त हस्ताक्षर श्री रामदास ‘अकेला’ जी ( जिनकी गज़लें आप ‘‘बनारस के कवि और शायर/रामदास अकेला’’में पढ़ चुके हैं ) ; इस नश्वर दुनिया को छोड़ गये। वाराणसी से बाहर होने के कारण मुझे इसका पता देर से चला....... दिवंगत काव्यात्मा को मेरी ओर ... Read more
clicks 180 View   Vote 0 Like   1:45am 18 Jun 2010 #बनारस के कवि और शायर
Blogger: pbchaturvedi
इसबारगोरखपुरकेदेवेन्द्रआर्यजीकीग़ज़लेंप्रस्तुतहैं...... Read more
Blogger: pbchaturvedi
बनारस के कवि/शायर में इस बार केशव शरण की रचनाएं आप के लिये प्रस्तुत है। केशव शरण बनारस के जाने -पहचाने रचनाकार हैं। इनका जन्म 23-08-1960 को वाराणसी में हुआ, आप के पिता स्व० शिवब्रत सिंह यादव और माता का नाम श्रीमती बासमती देवी है और आप सरकारी सेवा में हैं। आप की प्रकाशित रचनाएं ... Read more
clicks 188 View   Vote 0 Like   10:19am 6 Sep 2009 #समकालीन ग़ज़ल
Blogger: pbchaturvedi
दिनांक 20-08-09 को वाराणसी में नई दिल्ली से पधारे श्री अमित दहिया ‘बादशाह’,कुलदीप खन्ना,सुश्री शिखा खन्ना,विकास आदि की उपस्थिति में श्री उमाशंकर चतुर्वेदी‘कंचन’ के निवास स्थान पर एक काव्य-गोष्ठी का आयोजन हुआ जिसमें इनके और मेरे अतिरिक्त देवेन्द्र पाण्डेय,नागेश शाण्डिल... Read more
clicks 96 View   Vote 0 Like   10:50am 21 Aug 2009 #
Blogger: pbchaturvedi
बनारस के शायर की अगली कडी़ में रामदास अकेला जी की रचनाएं प्रस्तुत हैं।आप की जन्मतिथि है २४-०३-१९४२|जन्मतिथि है-ग्राम-लखनेपुर,पो०-घनश्यामपुर जिला-जौनपुर| आप के पिता का नाम है- स्व० बलीराम भगत।आप प्रवर अधीक्षक [डाक विभाग] के पद से सेवा निवृत्त होकर साहित्य सेवा में संलग्... Read more
clicks 196 View   Vote 0 Like   3:09am 9 Aug 2009 #समकालीन ग़ज़ल
Blogger: pbchaturvedi
एकशायरकेइसअंकमेंडा०गिरिराजशरणअग्रवालकीरचनाएंप्रस्तुतहैं।डा०गिरिराजशरणअग्रवालकाजन्मसन 1944 ई०मेंसम्भल[उ०प्र०]मेंहुआ।डा०अग्रवालकीपहलीपुस्तकसन 1964 ई०मेंप्रकशितहुई,तबसेआपद्वारालिखितऔरसम्पादितएकसौसेअधिकपुस्तकेंप्रकाशितहो चुकी हैं,एकांकी,व्यंग्य,ललितन... Read more
Blogger: pbchaturvedi
1-ग़ज़ल/महेश अग्रवालहार किसकी है और किसकी फतह कुछ सोचिये।जंग है ज्यादा जरुरी या सुलह कुछ सोचिये।यूं बहुत लम्बी उडा़नें भर रहा है आदमी,पर कहीं गुम हो गई उसकी सतह कुछ सोचिये।मौन है इन्सानियत के कत्ल पर इन्साफ-घर,अब कहाँ होगी भला उस पर जिरह कुछ सोचिये।अब कहाँ ढूँढें भला अव... Read more
Blogger: pbchaturvedi
बनारस के कवि/शायर में इस बार आप नरोत्तम शिल्पी की रचनाओं का आनन्द उठायेंगे।नरोत्तम शिल्पी का जन्म २० जनवरी सन १९४५ को काज़ीपुरा खुर्द,औरंगाबाद,वाराणसी में हुआ।आपके पिताजी का नाम मेवालाल विश्वकर्मा तथा माता का नाम श्रीमती राजकुमारी देवी है।आप मुर्तिकला और चित्रकला ... Read more
clicks 192 View   Vote 0 Like   4:48pm 15 Jul 2009 #समकालीन ग़ज़ल
Blogger: pbchaturvedi
बनारस के शायरों में आनन्द परमानन्द का नाम प्रमुखता से लिया जाता है। इस बार आप इन्हीं की रचनाओं का आनन्द उठायेंगे।आनन्द परमानन्द जी का जन्म १ मई सन १९३९ ई० को हुआ। आपके पिताजी का नाम स्व० पुरुषोत्तम सिंह तथा आपका जन्म स्थान ग्राम-धानापुर, पो०-परियरा,जिला-वाराणसी है। आप... Read more
clicks 188 View   Vote 0 Like   5:49am 13 Jun 2009 #समकालीन ग़ज़ल
Blogger: pbchaturvedi
जैसा कि आप जानते हैं कि एक शायर स्तम्भ में एक ही ग़ज़लकार की रचनायें हर माह प्रकाशित होंगी।आज सबसे पहले विनय मिश्र की ग़ज़लों से इस स्तम्भ की शुरुआत कर रहा हूँ।विनय मिश्र वर्तमान दौर में ग़ज़ल विधा के एक सशक्त हस्ताक्षर हैं और ग़ज़ल के लिये पूरे मनोयोग से जुडे़ हुए हैं।जी... Read more
clicks 178 View   Vote 0 Like   9:03am 3 Jun 2009 #बनारस के कवि और शायर
Blogger: pbchaturvedi
समकालीन ग़ज़ल,ग़ज़लपरकेन्द्रितएकप्रतिनिधिपत्रिकाहैजिसमेंजून२००९सेहरमाहअपनेसमयकेसरोकारोंसेजुडी़हुईरचनायेंहीप्रकाशितहोंगी।इसमेंशामिलरचनाकारोंकेलियेयेजरूरीहैकिवेरचनायेंभेजतेसमयग़ज़लकेशिल्पऔरछन्दानुशासनकापूराध्यानरखें।सभी ग़ज़लकार मित्रों से यह आ... Read more
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Publish Post