Hamarivani.com

गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया

...
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :
  May 24, 2013, 10:46 pm
...
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :
  May 24, 2013, 10:44 pm
...
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :
  May 24, 2013, 10:42 pm
...
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :
  May 24, 2013, 10:41 pm
...
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :
  May 24, 2013, 10:40 pm
...
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :
  May 24, 2013, 10:38 pm
       आज मैं बनारस के एक काव्यजगत के अप्रतिम हस्ताक्षर और मेरे मित्र श्री विन्ध्याचल पाण्डेय की रचनाएं आप के समक्ष प्रस्तुत कर रहा हूँ। श्री विन्ध्याचल पाण्डेय बनारस काव्य-मंचों के बहुत ही मशहूर कवि हैं और ये अपनी कविता में नये तेवर के लिए जाने जाते हैं। आशा है आपको ये...
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :बनारस के कवि और शायर
  January 18, 2013, 7:39 pm
मित्रों ! जैसे-जैसे समय बीत रहा है हम सभी ब्लागरों को ज्ञान प्राप्त हो रहा है कि कई-कई ब्लागों से अच्छा है एक ही ब्लाग होना। मैंने भी अब केवल दो ब्लाग रखने का फैसला किया है- एक अपनी रचनाओं के लिए और एक भारत के दूसरे विभिन्न रचनाकारों के लिए। अपने अन्य रचनाकारों के लिये मौ...
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :
  December 15, 2012, 8:23 pm
इस बार गोरखपुर के देवेन्द्र आर्य जी की ग़ज़लें प्रस्तुत हैं...Posted by प्रसन्न वदन चतुर्वेदीat 2:03 PM8 comments:दिगम्बर नासवाSeptember 28, 2009 7:31 AMसुन्दर गज़लों का संकलन है ........ReplyDeleteश्रद्धा जैनSeptember 30, 2009 7:12 PMbahut bahut abhaar itni achchi gazlen padhwane ke liyeReplyDeletenaveentyagiOctober 4, 2009 9:29 PMThis comment has been removed by a blog administrator.ReplyDeleteसुलभ सतरंगीNovember 27, 2009 2:32 PMशानदार ...
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :समकालीन ग़ज़ल
  December 15, 2012, 8:22 pm
एकशायरकेइसअंकमेंडा०गिरिराजशरणअग्रवालकीरचनाएंप्रस्तुतहैं।डा०गिरिराजशरणअग्रवालकाजन्मसन 1944 ई०मेंसम्भल[उ०प्र०]मेंहुआ।डा०अग्रवालकीपहलीपुस्तकसन 1964 ई०मेंप्रकशितहुई,तबसेआपद्वारालिखितऔरसम्पादितएकसौसेअधिकपुस्तकेंप्रकाशितहो चुकी हैं,एकांकी,व्यंग्य,ललितन...
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :समकालीन ग़ज़ल
  December 15, 2012, 8:22 pm
1-ग़ज़ल/महेश अग्रवालहार किसकी है और किसकी फतह कुछ सोचिये।जंग है ज्यादा जरुरी या सुलह कुछ सोचिये।यूं बहुत लम्बी उडा़नें भर रहा है आदमी,पर कहीं गुम हो गई उसकी सतह कुछ सोचिये।मौन है इन्सानियत के कत्ल पर इन्साफ-घर,अब कहाँ होगी भला उस पर जिरह कुछ सोचिये।अब कहाँ ढूँढें भला अव...
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :समकालीन ग़ज़ल
  December 15, 2012, 7:09 am
जैसा कि आप जानते हैं कि एक शायर स्तम्भ में एक ही ग़ज़लकार की रचनायें हर माह प्रकाशित होंगी।आज सबसे पहले विनय मिश्र की ग़ज़लों से इस स्तम्भ की शुरुआत कर रहा हूँ।विनय मिश्र वर्तमान दौर में ग़ज़ल विधा के एक सशक्त हस्ताक्षर हैं और ग़ज़ल के लिये पूरे मनोयोग से जुडे़ हुए हैं।ज...
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :समकालीन ग़ज़ल
  November 18, 2012, 11:55 pm
१-जहीर कुरेशी की ग़ज़ल-तिमिर की पालकी निकली अचानक।घरों से गुल हुई बिजली अचानक।तपस्या भंग-सी लगने लगी है,कहाँ से आ गयी ’तितली’ अचानक।अभी सामान तक खोला नहीं था,यहाँ से भी हुई बदली अचानक।समझ में आ रहा है स्वर पिता का,विमाता कर गई चुगली अचानक।तुम्हारी साम्प्रदायिक-सोच सुन...
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :समकालीन ग़ज़ल
  November 13, 2012, 4:51 pm
१-विज्ञान व्रत -मैं कुछ बेहतर ढूढ़ रहा हूँ।घर में हूँ घर ढूढ़ रहा हूँ।२-अश्वघोष-मुझमें एक डगर ज़िन्दा है।यानी एक सफ़र ज़िन्दा है।३-ज्ञान प्रकाश विवेक-किसी के तंज़ का देता न था जवाब मगर,ग़रीब आदमी दिल में मलाल रखता था।४-जयकृष्ण राय’तुषार’-भँवर में घूमती कश्ती के हम ऐसे मुसा...
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :अन्य भारतीय कवि और शायर
  July 13, 2012, 11:17 pm
प्रिय मित्रों, वाराणसी के काव्य-संसार के एक सशक्त हस्ताक्षर श्री रामदास ‘अकेला’ जी ( जिनकी गज़लें आप ‘‘बनारस के कवि और शायर/रामदास अकेला’’में पढ़ चुके हैं ) ; इस नश्वर दुनिया को छोड़ गये। वाराणसी से बाहर होने के कारण मुझे इसका पता देर से चला....... दिवंगत काव्यात्मा को मेरी ओर ...
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :बनारस के कवि और शायर
  June 18, 2010, 7:15 am
इसबारगोरखपुरकेदेवेन्द्रआर्यजीकीग़ज़लेंप्रस्तुतहैं......
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :देश के विभिन्न भागों के कवि और शायर
  September 27, 2009, 2:03 pm
बनारस के कवि/शायर में इस बार केशव शरण की रचनाएं आप के लिये प्रस्तुत है। केशव शरण बनारस के जाने -पहचाने रचनाकार हैं। इनका जन्म 23-08-1960 को वाराणसी में हुआ, आप के पिता स्व० शिवब्रत सिंह यादव और माता का नाम श्रीमती बासमती देवी है और आप सरकारी सेवा में हैं। आप की प्रकाशित रचनाएं ...
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :समकालीन ग़ज़ल
  September 6, 2009, 3:49 pm
दिनांक 20-08-09 को वाराणसी में नई दिल्ली से पधारे श्री अमित दहिया ‘बादशाह’,कुलदीप खन्ना,सुश्री शिखा खन्ना,विकास आदि की उपस्थिति में श्री उमाशंकर चतुर्वेदी‘कंचन’ के निवास स्थान पर एक काव्य-गोष्ठी का आयोजन हुआ जिसमें इनके और मेरे अतिरिक्त देवेन्द्र पाण्डेय,नागेश शाण्डिल...
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :
  August 21, 2009, 4:20 pm
बनारस के शायर की अगली कडी़ में रामदास अकेला जी की रचनाएं प्रस्तुत हैं।आप की जन्मतिथि है २४-०३-१९४२|जन्मतिथि है-ग्राम-लखनेपुर,पो०-घनश्यामपुर जिला-जौनपुर| आप के पिता का नाम है- स्व० बलीराम भगत।आप प्रवर अधीक्षक [डाक विभाग] के पद से सेवा निवृत्त होकर साहित्य सेवा में संलग्...
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :समकालीन ग़ज़ल
  August 9, 2009, 8:39 am
एकशायरकेइसअंकमेंडा०गिरिराजशरणअग्रवालकीरचनाएंप्रस्तुतहैं।डा०गिरिराजशरणअग्रवालकाजन्मसन 1944 ई०मेंसम्भल[उ०प्र०]मेंहुआ।डा०अग्रवालकीपहलीपुस्तकसन 1964 ई०मेंप्रकशितहुई,तबसेआपद्वारालिखितऔरसम्पादितएकसौसेअधिकपुस्तकेंप्रकाशितहो चुकी हैं,एकांकी,व्यंग्य,ललितन...
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :देश के विभिन्न भागों के कवि और शायर
  July 31, 2009, 8:57 am
1-ग़ज़ल/महेश अग्रवालहार किसकी है और किसकी फतह कुछ सोचिये।जंग है ज्यादा जरुरी या सुलह कुछ सोचिये।यूं बहुत लम्बी उडा़नें भर रहा है आदमी,पर कहीं गुम हो गई उसकी सतह कुछ सोचिये।मौन है इन्सानियत के कत्ल पर इन्साफ-घर,अब कहाँ होगी भला उस पर जिरह कुछ सोचिये।अब कहाँ ढूँढें भला अव...
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :देश के विभिन्न भागों के कवि और शायर
  July 31, 2009, 8:52 am
बनारस के कवि/शायर में इस बार आप नरोत्तम शिल्पी की रचनाओं का आनन्द उठायेंगे।नरोत्तम शिल्पी का जन्म २० जनवरी सन १९४५ को काज़ीपुरा खुर्द,औरंगाबाद,वाराणसी में हुआ।आपके पिताजी का नाम मेवालाल विश्वकर्मा तथा माता का नाम श्रीमती राजकुमारी देवी है।आप मुर्तिकला और चित्रकला ...
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :समकालीन ग़ज़ल
  July 15, 2009, 10:18 pm
बनारस के शायरों में आनन्द परमानन्द का नाम प्रमुखता से लिया जाता है। इस बार आप इन्हीं की रचनाओं का आनन्द उठायेंगे।आनन्द परमानन्द जी का जन्म १ मई सन १९३९ ई० को हुआ। आपके पिताजी का नाम स्व० पुरुषोत्तम सिंह तथा आपका जन्म स्थान ग्राम-धानापुर, पो०-परियरा,जिला-वाराणसी है। आप...
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :समकालीन ग़ज़ल
  June 13, 2009, 11:19 am
जैसा कि आप जानते हैं कि एक शायर स्तम्भ में एक ही ग़ज़लकार की रचनायें हर माह प्रकाशित होंगी।आज सबसे पहले विनय मिश्र की ग़ज़लों से इस स्तम्भ की शुरुआत कर रहा हूँ।विनय मिश्र वर्तमान दौर में ग़ज़ल विधा के एक सशक्त हस्ताक्षर हैं और ग़ज़ल के लिये पूरे मनोयोग से जुडे़ हुए हैं।जी...
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :बनारस के कवि और शायर
  June 3, 2009, 2:33 pm
समकालीन ग़ज़ल,ग़ज़लपरकेन्द्रितएकप्रतिनिधिपत्रिकाहैजिसमेंजून२००९सेहरमाहअपनेसमयकेसरोकारोंसेजुडी़हुईरचनायेंहीप्रकाशितहोंगी।इसमेंशामिलरचनाकारोंकेलियेयेजरूरीहैकिवेरचनायेंभेजतेसमयग़ज़लकेशिल्पऔरछन्दानुशासनकापूराध्यानरखें।सभी ग़ज़लकार मित्रों से यह आ...
गीत,ग़ज़ल,कविता की दुनिया ...
Tag :देश के विभिन्न भागों के कवि और शायर
  May 21, 2009, 4:34 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163578)