POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: सतीश मित्तल

Blogger: satish mittal
  राष्ट्रीय राज मार्ग 58 एक घनी आबादी के बीच से गुजरता हें जिसमें उत्तरप्रदेश के गाजियाबाद - मोदी नगर - मेरठ - खतौली - मंसूरपुर - मुज़फ्फरनगर- पुरकाजी व् उत्तराखंड के नारसन , मंगलौर , रूडकी- हरिद्वार जैसे मुख्य शहर /कस्बे शामिल हें / ये सड़क मार्ग आस-पास रहने वाले लोगो... Read more
clicks 206 View   Vote 0 Like   9:33am 28 Nov 2012 #
Blogger: satish mittal
पश्चिमी उत्तर प्रदेश में इलाहबादहाई कोर्ट कीबेंच की स्थापना कोलेकर दशकों से आन्दोलन चला आ रहा हें / परन्तुजाने अनजाने सभी राजनैतिकदलों नेइस क्षेत्र के लोगों की उचित मांगको दरकिनार किया /जो जनता कोसस्तान्यायदिलाने की दृष्टि सेकतईउचित नहीं कहा जा सकता /दशकों  प्रदे... Read more
clicks 210 View   Vote 0 Like   12:07pm 21 Nov 2012 #
Blogger: satish mittal
 भारत में चुनाव के दौरान एकखोजी नेता ने हर बार की तरहएक बार फिर मोहनजोदड़ों - हड़प्पा कीखुदाई की खोज की तरह से  एकनायाबखोजऔर कर डाली /पहले भीजनाबनायाबखोज का करिश्मा करकेबिहार - महाराष्ट्र के बीच चोलीदामन काअटूटसंबंधस्थापित कर चुके थे / ऐसे नेता बिरले ही होते हें जोराज... Read more
clicks 181 View   Vote 0 Like   11:35am 1 Nov 2012 #
Blogger: satish mittal
इतिहास   हमेशा    दोहराता हें/   हालात भी इसी बात की ओर इशारा करते हें /आज सवाल जवाब का सिलसिला ऐसे चल रहा हे जेसे विद्योत्मा के स्वयबर के समय चला था / जो एक गुणी  निपुण  व् सुन्दर कन्या थी ,जिसके स्वयम्बर की यह शर्त थी  कि जो उसे सवाल जवाब अर्थात शास्त्रारार्थ में  हरा  दे... Read more
clicks 186 View   Vote 0 Like   1:55pm 21 Oct 2012 #
Blogger: satish mittal
      देश के हालात पर कवि कबीर ,सूर ,तुलसी , रहीम ,मलिक   मोहम्मद जायसी प्रेमचंद आदि की रचनाये आज के माहोल से मिलती जुलती लगती हें / हो सकता हें उस समय भी समाज की स्तिथि आज जैसी ही हो /    राजनीतिमें नए अवतार को पैर ज़माने के लिए बड़े हाथ पैर मारने पड़ते हें / कभी  बी एस पी ने ... Read more
clicks 204 View   Vote 0 Like   9:32am 18 Oct 2012 #
Blogger: satish mittal
   दूर बैठे भगवान्  ने जब धरती पर  संसार की  रचना की तो  उस   पर लगाम लगाने के लिए कई तरह से   नियंत्रण लगाने की कोशिश  की /  जीवों पर  नियंत्रण लगाने के लिए कई तरह के छोटे - बड़े जीव पैदा किये / सबको एक  दूसरे  की भोजन श्रंखला का हिस्सा बनाया /  जैसे  छोटी मछली -बड़ी मछली ,  चूहें ... Read more
clicks 187 View   Vote 0 Like   7:37am 11 Oct 2012 #
Blogger: satish mittal
मंहगाई जिसमें रोज मर्रा खाने पीने की चीजें आटा, चावल -दाल, घी -तेल- चीनी , बढ़ते पेट्रोल डीजल के दाम , रसोई गैस की आसमान छूती कीमतें , बिजली के बढ़ते बिल , पानी के बढ़ते बिल , दवाई व अस्पताल का बढ़ता खर्च , स्कूल की बढ़ती फीस व बढती बेरोजगारी , लोगों की घटी क्रय शक्ति ने आम आदमी ... Read more
clicks 229 View   Vote 0 Like   5:22am 8 Oct 2012 #
Blogger: satish mittal
एक ओर  जहां दिल्ली मेंलोगों काअपार्टमेंट्स , डी डी ऐ फ्लेट्स ,मल्टी स्टोरीज बिल्डिंगव कम कुदरती रौशनीवाले घरोंमें रहने के कारण बिजली की खपत बढ़ीहें, वहीं बिजली के नए तेज भागने वाले डिजिटल मीटर व जलबोर्डद्वारा पानी की कम व बिना प्रेशर वाली वाटर सप्लाई के कारण भी बिजली ... Read more
clicks 205 View   Vote 0 Like   7:41am 20 Sep 2012 #
Blogger: satish mittal
 डीजल के दाम , रिटेल सेक्टर में ऍफ़ डी आई जेसे मुद्दे पर आम गृहणी शायद इतने गुस्से में न हो ,जितने वह रसोई गैस के छः सिलेंडर करने पर / आज हर गृहणी सरकार को कोस रही हें / दिल्ली में वेसे भी पच्चीस दिन में गैस के सिलेंडर की बुकिंग की जाती हें तो दिल्ली का आम आदमी तो अभी भी सा... Read more
clicks 215 View   Vote 0 Like   8:43am 16 Sep 2012 #
Blogger: satish mittal
संसार में  कई कारणों से प्राणी पलायन करते हें / पशु पक्षी भोजन की खोज में पलायन करते हें तो कभी मौसम की मार से बचने की लिए एक स्थान से दूसरे स्थान को  पलायन को  बाध्य होते हें / मनुष्य जाति भी पलायन से अछूती नहीं / कभी रोजगार की तलाश में प्रतिभा का पलायन, कभी शिक्षा, कभी चिकित... Read more
clicks 218 View   Vote 0 Like   12:02pm 24 Aug 2012 #
Blogger: satish mittal
    मनुष्य  एक सामजिक प्राणी हें जिसकी  आवश्यकताएं अनंत होती हें  और  उनको  पूरी करने के साधन सीमित / अतः किसी भी  मनुष्य को सीमित साधनों से अधिकतम आवश्यकताओं को पूरी करने के लिए अपनी आवश्यकता  मुख्य  रूप से तीन भागों में बांटना पड़ता हें - आवश्यकता का वर्गीकरण ( Classification of Wa... Read more
clicks 195 View   Vote 0 Like   7:45am 13 Aug 2012 #
Blogger: satish mittal
अर्थशास्त्र जो समाजशास्त्र की एक शाखा है ,में एक नियम है - " सीमान्त उपयोगिता ह्रास नियम " ( Law of diminishing Marginal Utility ) इसके अनुसार - "जब कोई व्यक्ति किसी चीज, वस्तु या पदार्थ का उपयोग अत्यधिक रूप से बार- बार करे तो एक सीमा के बाद प्रयोग की गयी वस्तु /पद्रार्थ की उपयोगिता उपभोग करने वाले ... Read more
clicks 218 View   Vote 0 Like   5:36am 30 Jul 2012 #
Blogger: satish mittal
     दिल्ली के कुछ  इलाकों  में महीनो या यों कह लीजीय अरसे से   जल बोर्ड का पानी कभी कभार  भूले  भटके आने के कारण क्षेत्र के  लोगों के  व्यवहार में  अचानक अजीब सा परिवर्तन आ गया / उनमें से नयू मॉडर्न शाहदरा पार्ट -२ भी एक हें /   यहाँ के  निवासियों ने  आजकल सुबह  सुबह कुशल क्ष... Read more
clicks 195 View   Vote 0 Like   11:58am 27 Jul 2012 #
Blogger: satish mittal
कांवड़ की धार्मिक यात्रा के कारण दिल्ली से मोहन नगर- गाजियाबाद - मोदी नगर - मेरठ , मुजफ्फरनगर तक का सड़क मार्ग बुरी तरह से प्रभावित हें / इस कारण उद्योग धंधे के साथ साथ नोकरी व अन्य कामों के लिए इधर उधर जाने वाले लोगो का जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित हें / पर प्रशासन इस ओर आँखे... Read more
clicks 213 View   Vote 0 Like   8:41am 16 Jul 2012 #
Blogger: satish mittal
Check out “अनारकली डिस्को चली”……….. : बीरबल की साजिश « JANMANCH... Read more
clicks 198 View   Vote 0 Like   11:29am 13 Jul 2012 #
Blogger: satish mittal
 सरकारी अस्पताल में मरीज का "इलाज" करने  वाले    वार्ड ब्वाय को टी वी चैनल पर न्यूज चलने पर सस्पेंड कर दिया / सरकार व  डाक्टर की  जिम्मेदारी  उठाने   वाले   वार्ड ब्वाय  के मन में कम से कम  मानवता  तो थी , संवेदना थी   मानव सेवा की  तड़फ थी जो उसे   तड़फते मरीज का   इलाज  मान... Read more
clicks 212 View   Vote 0 Like   5:53am 13 Jul 2012 #
Blogger: satish mittal
हरिद्वार (उत्तराखंड ) राष्ट्रीय राजमार्ग 58 पर स्थित है , में हर वर्ष लाखों तीर्थ यात्री देश की कोने कोने से आते हें / पर रेल मार्ग व सड़क मार्ग पर अधिक दबाव होने के कारण सभी को भारी मुश्किलों से गुजरना पड़ता हें / रेल यात्रियों की अनियंत्रित भीड़ को संभालना रेल के बस की ... Read more
clicks 215 View   Vote 0 Like   12:17pm 6 Jul 2012 #
Blogger: satish mittal
जिम्मेदारी एक चक्र की तरह है जो प्रथ्वी गोल ,शून्य गोल , रोटी गोल , तवा गोल या परीक्षा में नंबर गोल की तरह से गोल गोल घूम कर वापस फिर अपनी जगह आ जाती हें / माँ-बाप ने बच्चे को पढ़ाने की जिम्मेदारी स्कूल पर डाली ,स्कूल ने बच्चे पर , बच्चे ने मास्टर पर और मास्टर ने वापस म... Read more
clicks 193 View   Vote 0 Like   4:52pm 29 Jun 2012 #
Blogger: satish mittal
आसमान से गिरे खजूर में अटके ! वर्षों से दिल के किसी कोने में एक आम आदमी ने प्रधानमंत्री बनने का एक अदद सपना सजा कर रखा था पर नितीश जी ने प्रधानमंत्री की आवश्यक योग्यता में सैकुलरटी सर्टिफिकेट की अनिवार्यता क्या जोड़ दी कि सारे के सारे किये कराये पर पानी फेर दिया / समझ में... Read more
clicks 220 View   Vote 0 Like   9:36am 21 Jun 2012 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3975) कुल पोस्ट (190918)