Hamarivani.com

प्रेम बिंदु

कोई प्यार कहता है कोई दे देता है दोस्ती का नाम ,खुदा एक है, मजहबो में नाम बदल जाते हैं।जीना है जिंदगी को ही , मुस्कुरा के देखो,मुस्कुराने से जीने के ,अंदाज बदल जाते हैं।कभी दिल में तो देखो , दिल से जो अपनेनजरो के भी ,देखने के अंदाज बदल जाते हैं।कोई गवाही नहीं देगा, अमन हर बात ...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  March 26, 2017, 9:42 am
पहल करतू पहल कररुक मत ,  चल देसुन मत ,चल देमुस्कुरा तू , खिलखिला तू।हर एक को गले लगाने की  तू पहल कर।पहल कर।...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  November 17, 2015, 1:45 pm
"अरे फिर कॉल कर दी मुझे ये सब नहीं पसंद बोला था न अभी मत करना ,तुम जानबूझ के करते  हो "कहते हुए उसने व्हाट्सप्प  बात शुरू की , पर पर ..  पर मैं तो दीपावली है न आज तो सोचा बात कर लूँ ,खुद तुमने ही बोला था की बात कर लोगी ,नहीं की तो मन नहीं माना सो। … आज फिर वहीँ से दिन सुरु हु...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  November 15, 2015, 10:07 am
बंद  होंगी मेरी आँखे , ये  बात बेशक  है। चाहत को मेरी तुम  ,कभी  भूल न पाओगे। लिख लेना जिंदगी में ,तुम नाम जिसका भी। एक धड़कन थी मेरे नाम की ,कैसे  भुलाओगे?फ़साने लिख जायेंगे,  तेरी दुनिया में हजारो ,एक अफसाना है मेरा  उनमे  ,कैसे मिटाओगे  ?बंद  होंगी मेरी आँखे , य...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  March 1, 2015, 11:25 pm
खोया था जो मैंने ,वो पाया सा  अब लगता है। मीत बने हो तुम  जब  से मेरे ,ये दुनिया अच्छी लगती है। बातें  निकलीं  दिल से मेरे ,दबीं कहीं थीं  कोने   में।  प्राण  दिए तुमने मुझको ,धड़कन धड़की शीने में। लौटी है फिर सरगम की  वो धुन, रंग भरे लगते है  सपने ,मीत बने हो...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  March 1, 2015, 11:17 pm
करी ऐसी मोहब्बत कुछ ,                              जवानी लुटा डाली।मिले कैसे वफ़ा हमको ,                              कि हस्ती ही मिटा डाली।।  सुना है मोहब्बत से ,                &nbs...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  August 23, 2014, 5:52 pm
आहा लो भाई इस वर्ष भी होली का खुमार चढ़ा हुआ है सब पे।  पिछले वर्ष मैंने  दोस्त के द्वारा भाभी के रंग लगाने कि जद्दो जहद का वर्णन  था और उसके प्यारे परिणाम भी आपको याद ही होंगे पर  इस बार कि समस्या अति विकट  है , खुमार वुमार तो अपनी जगह है पर समस्या आ गयी है गोपिकाओ...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  March 17, 2014, 3:35 pm
प्रेम  को समझना वस्तुतः जितना कठिन लगता है उतना है नहीं फिर भी ये बताना आवश्यक है कि  जो ये विचरता   हो कि प्रकृति का मूल प्रेम में है मेरी दृष्टि में वो भ्रम में जी रहा है। प्रकृति तो संघर्ष  के मूल पे चल रही है ,तो आप कहेंगे कि प्रेम कहा है ? उत्तर है कि संघर्ष का ब...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  January 17, 2014, 12:50 pm
ब्लॉग जगत के सभी मित्रो ,भाइयो ,बहनो को नव वर्ष कि हार्दिक शुभ कामनाएं।आशा करते है कि आने वाला वर्ष और भी अधिक प्रेरणा से युक्त ,विकास कि और अग्रसर एवं आनंददायी होगा।"नव वेला है ,नव प्रभात।प्रकति उत्सव, है चहक राग।आशा कि नव किरणे है बिखरी,श्रम ,ज्ञान का तू छेड़ तान।महक उठे...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  December 31, 2013, 8:29 am
मिला  दो   रंग  अपने  कुछ  इस  तरह कि, इंद्रधनुषी बन जाओ  तुम, गुजर  रही हो  दुनिया  जब गमो  कि बारिश ,  में ,मुस्कुराते नजर आओ तुम। हो नामुमकिन  कुछ तो मुमकिन , तुम  कर  दो। एक नयी उम्मीद फिर  आज़ सीने में,तुम  भर दो। बस चल दो तुम  , चल दो। एक नयी...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  November 27, 2013, 12:32 pm
सबसे पहले तो आप सभी लोगो को दीपावली की हार्दिक शुभ कामनाये देना चाहूँगा , सबसे पहले इस लिए क्यों की कहते है ना की नीम की पाती गुड़ के साथ बहुत सरलता से  निगली जाती है।खैर अपनी बात को कहने के पूर्व थोडा सा इतिहास में जाना चाहूँगा . कहते है की भगवन राम के अयोध्या वापस आने प...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  November 2, 2013, 8:10 am
किनारों की जरुरत नहीं है मुझको ,  लहरों से हमको  वफ़ा  चाहिये।ख़ुशी की तो कोई तमन्ना नहीं अब,ग़मों में  ही हमको मजा चाहिए। मिलेगा कोई इस गैरे  महफ़िल में ,इसकी तो कोई आरजू ही नहीं,था कोई अपना कभी साथ अपने ,हमें तो उसके निशाँ चाहिए।किनारों की जरुरत नहीं है मुझको ,  लहरो...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  September 27, 2013, 7:52 pm
हौसलों के सहारे आसमा छूने की ललक है। ….आज मुझको फिर से कुछ पाने की तलब है। बुझ जाते है दिए ,हवा के झोको से।,कइयो को इस  बात  का भरम भी बहुत है। हो कोई साथ अपने ,या गैर हो सभी। वक्त की वफाई  हमने भी  देखी  बहुत है। नाज है हमको  ,अपनी खताओ पर। गिर कर के रास्तो पे हमने सीखा ...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  September 8, 2013, 9:25 am
कुछ तो जगह बनाई होगी ,रूठना  तेरा ,वो मेरा मनाना।कभी तो इसकी  भी याद आई होगी। कुछ तो जगह बनाई होगी......  साथ चलना वो हसना हसाना ,मिलती जो नजरे ,नजरे झुकाना। कभी तो आके सपनो में तेरे  ,तुझको आवाज लगाईं होगी ,कुछ तो जगह बनाई होगी।जो देखती होगी तुम, आस्मां को नज़रे  उठ...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  September 3, 2013, 8:11 pm
बापू जो तुम देख लेते इस देश का हाल ,शायद रो पड़ते .चल देते अपनी लाठी के सहारे ,कही एकांत में.जहा न हो इस देश की ऐसी दुर्दशा .लेकर जो सपना आँखों में निकले थे दांडी की तरफ ,देखते उन्हें टूटते हुए.देखते अपने ही लोगो को गैरों की तरह रहते हुए.बढ़ाते हुए विषमता के पेड़ को ,जिसे तुम चाह...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  August 23, 2013, 4:44 pm
स्वतंत्रता दिवस पे कुछ पंक्तिया कहना चाहूँगा ,और संकल्प लेना चाहूँगा की उन शहीदों की याद को बनाये रखते हुए जो हमारे लिए अपनी मौत से  गए ,देश के लिए जीने का …. मेरी जान है तेरे खातिर ,तू ही मेरा प्राण है। देश मेरे,  मेरे खातिर ,तू ही अल्लाह राम है। मेरा मजहब तेरे दम से ,तू ...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  August 16, 2013, 6:48 am
तड़पता है  मेरा दिल उसके खातिर ,वो भी कहीं  सिसकती  होगी .सिमटता  हूँ मै जैसे वो मेरी बाँहों में हो  , वो भी यू   ही सिमटती  होगी। छू  कर  आती है हवा जैसे  उसको ,मेरी सांसो  में आने से पहले।।वो  भी अहसास से  इस, यु  ही गुजरती होगी। देखता  हु उसको मै जब भी ...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  August 7, 2013, 8:36 pm
इस  गंग प्रेम की प्रखर धार में ,बह जाता ये चेतन मन ...होती है पीड़ा कष्ट बहुत ,पर  मिलता है अदभुत आनंद ..प्रेम के कारन जग है जीवित ,प्राण भरे ये है अमृत ..ये  गूड रहस्यों की  है माला , मन के सागर  की उदंड तरंग ...प्रेम नहीं कोई कोमल पथ , है तप से सिंचित एक उपवन ..नहीं यहाँ  स्थ...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  July 16, 2013, 12:13 pm
मूल्यों के गिरते स्तर पर ,ये कैसा भारत निर्माण ...नैतिकता के शव पे खड़ा ,आज का बदलता हिंदुस्तान ....ये कैसा भारत निर्माण ...कौन सी माता ,किसके बच्चे...सब झूठे है ,फिर भी सच्चे ..चौराहों  पे बिकता आदर्श , झूठे छेड़ते सत्य  की तान ...घोटालो की खुली मंडी,लज्जा भी हो रही हैरान .....ये कैसा भा...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  June 9, 2013, 4:50 pm
एक छोटी सी चिरैया ,नील पंखो वाली ...आती थी मेरे घर ,बैठ के दीवार पे ,कलरव करती ,चहक थी उसमे ..दे देता था दो दाने सूखे हुए चावल ,और ले उड़ जाती वो उन्हें ...सोचा एक दिन देखे ये आती है कहा से ?थोडा नजर दौड़ाई तो दिखा ,शीशम का एक पेड़ .उसमे बना घोसला उसका ,और छोटे से दो बच्चे उसमे ..अच्छा लगा...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  May 29, 2013, 8:30 am
तम से  घिरता ,जड़ता में बंधता ..पथ का राही मै ,राहों से लड़ता ..खुद को ही जला जला मै ,दीपक सा जल जाता हु ..बस आगे बढता जाता हु ,बस आगे बढ़ता  जाता हु ...नित नए भ्रमो की भटकन ,राहों के वो नए नए रंग ,इन सभी पाशों से उलझा ..खुद ही तलवार उठता हु ..बस आगे बढता जाता हु बस आगे बढता जाता हु ...नित नयी व...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  May 27, 2013, 11:53 pm
यु बैठा तनहा ,स्याह पन्नो को पलटता ..जिंदगी के कुछ लम्हों को  फिर से पाने  को, आज मै  बेक़रार हू ..बंद आँखों से ,लहराते सागर ,घुमड़ते आसमान को  देखता  ,कल्पना में तेरे साथ को पाता,खुद में ही खोता , लहरों में झूलता ..में उन सपनो को फिर से जीने को बेक़रार हू ..पर फिर याद आता है ,इस समाज का...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  May 13, 2013, 5:26 pm
बलात्कार :दोषी  सिर्फ बलात्कारी ? या कोई और भी ..  ज्यादा टाइम न लूँगा आपका , क्यों  की वैसे भी फ़ास्ट जमाना है .. खाना भी २ मिनट में बनाना चाहिए तो पूरा लेख तो सभी पड़ने से रहे , फिर भी कुछ बातो को  सामने रखना चाहूँगा .... जहा देखो आज कल बलात्कारियो को ये सजा दे दो वो सजा दे दो ,न जाने ...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  April 21, 2013, 7:19 am
पल में तोला, पल में माशा है ये जिंदगी ..कभी डूबती नाव सी,कभी छोटी सी आशा है जिंदगी ...कभी गम है , कभी है तन्हाई .,किसी के मन का दिलाशा है ये जिंदगी ...पल में तोला, पल में माशा है ये जिंदगी ..एक फूल की छुअन , काटें की चुभन .उगता हुआ सूरज, बड़ता हुआ अँधेरा .काली सी रात ,खिलता  सवेरा ..चुभते ह...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  April 17, 2013, 11:48 pm
इस बिखरे हुए  मंजर में,बहारों को खोजता  हु ..दिख जाये कही इंसान, उस नज़ारे को खोजता हु .मै एक राही हूँ  ,निकला हूँ सफ़र पे ...जो था मेरा ,उस सहारे को खोजता हु ..चला रहा हु कश्ती ,इस लहरों भरे पानी में ,मिल  जाये कही ठिकाना, मै उस किनारे को खोजता हु ...अकेला हु ,तनहा हु . देखता हु आसमाँ   ...
प्रेम बिंदु ...
Tag :
  April 12, 2013, 7:53 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163809)