POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: खामोशियाँ...!!!

Blogger: RAHUL MISHRA
मैं डूब डूब के चलता हूँ,मैं गीत वही दोहराता हूँ।जो दौड़ कभी था शुरू किया,उस पर दम भी भरता हूँ।हर रोज ही अपनी काया को,तेरे पर अर्पित करता हूँ।कुछ बीज अपने सपनो के,मैं खोज खोज के लाता हूँ।एक कल्पतरु लगाने को,मैं रीत वही दोहराता हूँ।मैं डूब डूब के चलता हूँ,मैं गीत वही दोहराता... Read more
clicks 12 View   Vote 0 Like   7:57am 21 Feb 2019 #
Blogger: RAHUL MISHRA
कुछ ख्वाहिशें हम भी पालना चाहते हैं,थोड़ा ही सही पर रोज मिलना चाहते है।मरने का कोई खास शौक नहीं है हमें,जिंदा रहकर बस साथ च&#... Read more
clicks 35 View   Vote 0 Like   5:52pm 5 Sep 2018 #
Blogger: RAHUL MISHRA
कुछ जरूरतें तेरी तो कुछ हमारी है,इन बातों में उलझी दुनिया सारी है।मोहब्बत की मुखबिरी कौन करता,पूरा शहर ही इस खेल का मदार... Read more
clicks 35 View   Vote 0 Like   7:34pm 28 Jul 2018 #
Blogger: RAHUL MISHRA
तुम बात करो या ना करो पर रूठो ना,इस कदर उलझाकर मुझको कोसो ना।मैंने सौदे किए तुमसे अपनी चाहतों का,कभी इस तरीके से मुझको सोच&#... Read more
clicks 41 View   Vote 0 Like   2:32am 28 May 2018 #
Blogger: RAHUL MISHRA
इतने दिनों तक तो चुप था दिल,चल उसे भी कुछ कहने देते हैं।आ जाएगी अपने रिश्तों में चमक,खुद को अंदर तक जलने देते हैं।कब तक सहे&... Read more
clicks 41 View   Vote 0 Like   4:23pm 13 May 2018 #
Blogger: RAHUL MISHRA
हमनेतकनीक को तीन चरण में बांटा है। Tech X, Tech Y और Tech Z।Tech X वो है जिन्होंने स्मार्टफोन जब उठाया तो उनके बाल सफेद हो चुके थे।Tech Y वो है जिन्ह... Read more
clicks 44 View   Vote 0 Like   4:50pm 26 Apr 2018 #
Blogger: RAHUL MISHRA
अब देख रहा हूँ तुझे मेरी फिक्र नहीं है,इस बदले लहज़े में अपना ज़िक्र नहीं है।गुलाब आज भी महकता पुरानी डायरी से,बहुत खोजा इस... Read more
clicks 42 View   Vote 0 Like   5:36pm 22 Apr 2018 #
Blogger: RAHUL MISHRA
धूधली सी शाम में श्याम के कंधों पर सर रखकर बैठी थी। काफी देर तक की खामोशी को चीरते हुए, नीतू नें आसमान में आकृति दिखाते हुए कहा चलो न उस बादल के पीछे चले।एक बादल से दूसरे पर आइस-पाइस खेलेंगे। तुम सूरज ओढ़ लेना मैं चाँद पॉकेट में छुपा लूँगी। फिर अदला बदली करेंगे दोनों का। ... Read more
clicks 44 View   Vote 0 Like   2:24pm 7 Apr 2018 #
Blogger: RAHUL MISHRA
कभी डायरी थी तो कलम था,कभी ठहरा हुआ सा मन था।डेहरी थी लालटेन टांगे कंधों पर,ऊपर याद था उनका मगन सा।शाम की छांव मेंकुछ नज़्म &... Read more
clicks 50 View   Vote 0 Like   2:46am 5 Apr 2018 #
Blogger: RAHUL MISHRA
तलाश कर शागिर्द अपना तू अंजान थोड़े है,अपने शहर में घूम रहा तू मेहमान थोड़े है।आ जाएगी रोशनी अपना रास्ता बदल कर,तेरे घर में &#... Read more
clicks 46 View   Vote 0 Like   6:37pm 9 Mar 2018 #
Blogger: RAHUL MISHRA
अपने पुरानेकाठ के टेपरिकॉर्डर मेंकैद करके रखी थी,कुछ पुरानी चुनिंदा नज़्में।हर रोज उसके सर पर,टिप मारकर जगाता था।सुरन&#... Read more
clicks 45 View   Vote 0 Like   6:43pm 2 Mar 2018 #
Blogger: RAHUL MISHRA
फागुन क बदरा,झूमत बा रे।पासे बैठावे खातिर,क़हत बा रे।।उड़ाई क गुलाली,जरा ए बाबू।नजरिया मिलावे खातिर,क़हत बा रे।।झूमी झ... Read more
clicks 52 View   Vote 0 Like   6:51pm 18 Feb 2018 #
Blogger: RAHUL MISHRA
प्रेम में इश्तेहार बन बैठे हैं हम,भोर के अखबार बन बैठे है हम।सब पढ़ते चाय की चुस्की लेकर,हसरतों के औज़ार बन बैठे हैं हम।कित... Read more
clicks 47 View   Vote 0 Like   5:07am 17 Dec 2017 #
Blogger: RAHUL MISHRA
यूँ राख हुआ था अरमान जलते ही,कोई मिल गया था मुझे निकलते ही।लोगों के पॉकेट की तलाशी लीजिये,वो चाँद दिखा था मुझे साँझ ढलते ह&#... Read more
clicks 43 View   Vote 0 Like   7:16pm 8 Dec 2017 #
Blogger: RAHUL MISHRA
अकेली आँखों में ऐसी खुमारी दे दे,कहीं धूप दिखे तो मुझे उधारी दे दे।मर्ज गिनता रहता रोज कागजों में,मन भर जाए मुझे ऐसी बीमा... Read more
clicks 44 View   Vote 0 Like   6:38pm 7 Dec 2017 #
Blogger: RAHUL MISHRA
जो पास नही था अब आसपास कहीं,पल से पलकों में समा जाता है कहीं।दूरियां ठहरी उतनी बड़ी पर कहने को,दिल की दवातों से लिखा जाता है ... Read more
clicks 60 View   Vote 0 Like   3:34am 12 Jul 2017 #
Blogger: RAHUL MISHRA
पुराने कैलेंडर सीखुद को दोहराते जातीहै जिंदगी भी।कुछतारीखों पेलाल गोले,यादों पर बिंदी रखते।कुछ गुम हुए त्योहारअपनì... Read more
clicks 70 View   Vote 0 Like   5:55pm 27 Jun 2017 #
Blogger: RAHUL MISHRA
A Laprek is 'LaPreK' -- an acronym for Laghu Prem Katha (Short Love Story).The idea of brief, abstract stories invoking nostalgia and love and with a contemporary. An Experiment done by young individual to Record the Very Short Musical Story as well narrate it in such a manner that one can feel it deeper corner.Story: खामोशियाँNarration: Misra RaahulMusic by: Aarsy ProductionsVisit at www.aarsyproductions.comCover Designing: Codesgesture TechnologyVisit at www.codesgesture.com... Read more
clicks 76 View   Vote 0 Like   9:53am 11 Jun 2017 #
Blogger: RAHUL MISHRA
तारीखें तह करती जाती हैलम्हें दर लम्हें।उनके टाइटल्स*बकायदा टैगहोते है इमोशनल बुकमार्क* के साथ।जरा सी गलतफहमियोंने... Read more
clicks 75 View   Vote 0 Like   6:10pm 1 Jun 2017 #
Blogger: RAHUL MISHRA
अच्छा विदाई की समय रोने को लेकर ऐसा क्या बवाल मचाया जा रहा। यहां तक की क्रैश कोर्स तक चलाया जा रहा कि विदाई के समय अगर आपके ... Read more
clicks 76 View   Vote 0 Like   6:36pm 26 May 2017 #
Blogger: RAHUL MISHRA
तेजस में से हैडफ़ोन चोरी करने वाले, खिड़की के शीशे फोड़ने वाले एक नागरिक का अच्छा कर्तव्य अदा किये है। ऐसे ही कुछ नवयुवकों क... Read more
clicks 75 View   Vote 0 Like   6:36pm 26 May 2017 #
Blogger: RAHUL MISHRA
गर्मी की छुटियाँ शुरू हो चुकी हैं। छुट्टियां बिना कॉमिक्स के हमारे जमाने मे कैसी होती थी। ये कोई नब्बे के दशक के बच्चों ... Read more
clicks 64 View   Vote 0 Like   6:35pm 26 May 2017 #
Blogger: RAHUL MISHRA
कुछ दिनों में आपके बेटे/बेटियों के रिजल्ट्स आने वाले होंगे। यदि आपके बच्चो के मार्क्स, पडोसी के बच्चे से कम भी आए तो प्लीज उनको परेशान मत करिएगा।ज़िन्दगी बहुत बड़ी है और मौके अपार है। वो कुछ भी बन सकता। हाँ सही सुना आपने कुछ भी।और यह भी सही है उस कुछ भी में कभी उसके बोर्ड प... Read more
clicks 65 View   Vote 0 Like   9:24am 19 May 2017 #
Blogger: RAHUL MISHRA
हर रोज तोमरता हैबाहुबली।कितने कटप्पाखंजर करतेभरोसे का।कितनेभल्लाफायदा उठातेदूरियों का।हर रोज तोमरता हैबाहुबली... Read more
clicks 68 View   Vote 0 Like   3:20am 4 May 2017 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Publish Post