Hamarivani.com

मेरी कहानियां

सड़क पर नंगी लाश पड़ी थी. चारों ओर इकट्ठा लोग अनुमान लगा रहे थे - "लगता है बलात्कार करने के बाद मारकर  फेंक दिया है यहां.. आठ नौ साल की रही होगी.. पर मुद्दा ये है कि ये हिन्दू थी या मुस्लिम?"तभी भीड़ को चीरती हुई एक औरत ने लाश के पास पहुंचकर उसे अपने दुपट्टे से ढ़कते हुये कहा - ...
मेरी कहानियां...
Tag :
  April 14, 2018, 3:40 pm
कॉलेज के स्टाफ रूम में  पुरुष सहकर्मियों के साथ यूँ तो रोज़ किसी न किसी मुद्दे पर विचार विनिमय होता रहता था पर आज निवेदिता को दो पुरुष सहकर्मियों कीउसके प्रति की गयी टिप्पणी और उससे भी बढ़कर प्रयोग की गयी भाषा बहुत अभद्र लगी थी . हुआ ये था कि दिसंबर माह में पड़ रही सर्दी के...
मेरी कहानियां...
Tag :
  December 17, 2017, 4:39 pm
शर्मिंदा-लघुकथा...''अरे चेयरमैन साब ! आपको क्या जरूरत थी आने की ......चपरासी को भेज देते ...मैं आपकी पसंद का सामान घर ही पहुंचवा देता .'' जनरल स्टोर पर पधारे विशिष्ठ अतिथि को देख स्टोर मालिक सोनू गदगद हो उठा . चेयरमैन साब मुस्कुराते हुए बोले 'अरे नहीं नहीं ....आज सोचा कस्बे में घूम ...
मेरी कहानियां...
Tag :
  May 29, 2017, 7:16 pm
''...बहू अगर चाहती है तो बेशक तुम अलग घर ले लो ..लेकिन याद रखना एक दिन तुम्हें मेरे पास वापस आना ही होगा .''माँ ने गंभीर स्वर में अपना निर्णय सुना दिया . सच कहूँ तो मेरी माँ से दूर जाकर रहने की रत्ती भर भी इच्छा नहीं थी लेकिन अनुभा के जिद करने के कारण  मैंने यही निर्णय लिया कि ''अ...
मेरी कहानियां...
Tag :
  April 14, 2017, 10:40 pm
ये हत्या एक नेता की नहीं थी ; ये हत्या थी सौहार्द व् उदारतावाद के मूर्तिमान व्यक्तित्व की , जो परम्परागत सफ़ेद धोती पहने ;नंगे सीने ....घुस जाता था उस जुनूनी भीड़ में जो कभी हिन्दू-मुस्लिम के नाम पर तो कभी ब्राह्मण-शूद्र के नाम पर मरने-कटने को तैयार हो जाती थी .उसने कभी भगवा पट...
मेरी कहानियां...
Tag :
  April 9, 2017, 3:24 pm
जब से युवा मोनिका की दोस्ती इसी वर्ष ऑफिस में आये उसकी की ही आयु के लक्ष्य के साथ ज्यादा बढी़ थी, तब से उसके बारह वर्ष बड़े बॉस का व्यवहार उसके साथ उतना मधुर नहीं रह गया था. पहले मोनिका को अपने ऑफिस में बुलाकर काम की आड़ में घंटों हॅसी - मजाक करने वाले बॉस को आजकल मोनिका के इ...
मेरी कहानियां...
Tag :
  March 31, 2017, 10:05 pm
कौन सोच सकता था कि जो चौदह वर्षीय किशोर बाला भाभी की दो वर्षीय बिटिया को गोद में उठाये  लाड़ करता घूमता है वही उसके साथ दुष्कर्म कर डालेगा .ठीक-ठाक घर का शालीन सा प्रतीत होता किशोर .उसके माता-पिता ने भी इस घटना का पता चलते ही अपना सिर पीट डाला था . आज तो उसका घिनौना  चेहर...
मेरी कहानियां...
Tag :
  October 29, 2015, 9:42 pm
पंचायत अपना फैसला सुना चुकी थी .नीला के बापू -अम्मा , छोटे भाई-बहन बिरादरी के आगे घुटने टेककर पंचायत का निर्णय मानने को विवश हो चुके थे .निर्णय की जानकारी होते ही नीला ने उस बंद -दमघोंटू कोठरी की दीवार पर अपना सिर दे मारा था और फिर तड़प उठी थी उसके असहनीय दर्द से .चार दिन पहल...
मेरी कहानियां...
Tag :
  June 10, 2015, 10:07 pm
बगल में बस की सीट पर बैठी खूबसूरत युवती द्वारा मोबाइल पर की जा रही बातचीत से मैं इस नतीजे पर पहुँच चूका था कि ये ज़िस्म फ़रोशी का धंधा करती है .एक रात के पैसे वो ऐसे तय कर रही थी जैसे हम सेकेंड हैण्ड स्कूटर के लिए भाव लगा रहे हो .टाइट जींस व् डीप नेक की झीनी कुर्ती में उसके ज...
मेरी कहानियां...
Tag :
  June 2, 2015, 5:52 pm
मशहूर उद्योगपति की पत्नी और दो किशोर पुत्रों की माँ हेम जब भी एकांत में बैठती तब उसकी आँखों के सामने विवाह के पूर्व की  घटना का एक-एक दृश्य घूमने लगता .कॉलेज में उस दिन वो सरस से आखिरी बार मिली थी .उसने सरस से कहा था कि -''चलो भाग चलते हैं वरना मेरे पिता जी मेरा विवाह कहीं औ...
मेरी कहानियां...
Tag :
  May 2, 2015, 9:54 pm
  गौतम उदारतावादी स्वर में बोला -''लिव-इन कोई गलत व्यवस्था नहीं...आखिर कब तक वही पुराने..घिसे-पिटे सिस्टम पर समाज चलता रहेगा ..विवाह ....इससे भी क्या होता है ? गले में पट्टा डाल दिया बीवी के नाम का और मियां जी घूम रहे है इधर-उधर मुंह मारते हुए .''सुरेश असहमति में सिर हिलाता हुआ ...
मेरी कहानियां...
Tag :
  April 24, 2015, 10:59 pm
 रविता सीमा से मिलने उसके घर पहुंची तो सीमा की ख़ुशी का ठिकाना न रहा . एक दुसरे का हाल-चाल पूछते पूछते रविता बोली - ''पता है सीमा मैं जिस रिक्शा से आई हूँ उसका चालक बहुत ही रोमांटिक है .एक से एक रोमांटिक सॉन्ग गाता है . आई एम इम्प्रेस्ड !''इस पर दोनों ठहाका लगाकर हंस पड़ी . सीमा...
मेरी कहानियां...
Tag :
  April 20, 2015, 10:22 pm
 भावना को सब्ज़ी मंडी से लौटते  हुए अचानक अपनी सहेली अनु मिल गयी .इधर-उधर की बातों के बाद दोनों की बातों के केंद्र में दोनों के बच्चे आ गए .भावना मुंह बनाते हुए बोली - क्या बताऊँ ! मेरा बेटा आठ साल का है और फेसबुक पर दिन-रात पता नहीं अपनी गर्ल-फ्रेंड  से क्या चैट करता रहत...
मेरी कहानियां...
Tag :
  April 18, 2015, 9:38 pm
 ''माँ मैं कौन सी पोशाक पहनूं ?''चिया ने चहकते हुए माँ से पूछा तो माँ ने उदासीन भाव से कहा -''कुछ भी जो शालीन हो वो पहन लो . चिया ने आर्टिफिशल ज्वेलरी दिखाते हुए माँ से पूछा -''माँ ये माला का सैट कैसा लगेगा मुझ पर ? माँ ने उड़ती-उड़ती नज़र चिया की ज्वेलरी पर डाली और सुस्त से स्वर म...
मेरी कहानियां...
Tag :
  April 16, 2015, 10:25 pm
सिया ने माँ से पूछा -''मैं कालेज की फ्रेंड्स के साथ बाहर कैम्प में चली जाऊं माँ दो दिन के लिए ?''माँ बोली -''पिता जी से पूछो ? '' सिया रसोईघर से कमरे में आई और पिता जी से पूछा कैम्प में जाने के लिए तो वे भड़क कर बोले -''अरे  सिया की माँ ! तुम्हारी अक्ल पर पत्थर पड़ गए हैं जो बकवास बा...
मेरी कहानियां...
Tag :
  April 15, 2015, 11:18 pm
''और फूल बिखर गया ''उस कँटीले जंगल में वो अल्हड़ सी कली निर्भीक होकर मंद-मंद आती समीर के साथ झूल लेती और जब हंसती तो उसके चटकने की मधुर ध्वनि से हर काँटा ललचाई नज़रों से उसे देखने लगता .वो खुद को पत्तों में छिपा लेना चाहती पर कहाँ छिप पाती !! फिर वो कली खिलकर फूल बन गयी .काँटों ने ...
मेरी कहानियां...
Tag :
  April 10, 2015, 10:09 pm
 रमन आज अपने जीवन के साठ वें दशक में प्रवेश कर रहा था . उसकी जीवन संगिनी विभा को स्वर्गवासी हुए पांच वर्ष हो चुके थे .रमन आज तक नहीं समझ पाया कि एक नारी की प्राथमिकताएं जीवन के हर नए मोड़ पर कैसे बदलती जाती हैं . जब उसका और विभा का प्रेम-प्रसंग शुरू हुआ था तब विभा से मिलने जब ...
मेरी कहानियां...
Tag :
  April 8, 2015, 8:36 pm
हम इंसान हो गए -लघु कथाखुशबू कालेज जा रही थी . बीच रास्ते में उसकी सेंडिल की हील निकल गयी . पीछे से आती एक बाइक रुकी .खुशबू ने मुड़कर देखा तो ये साहिल था .साहिल बाइक से उतरा और उसकी सेंडिल हाथ में लेता हुआ बोला -चलो इसे ठीक करा देता हूँ पास में ही एक मोची बैठता है .खुशबू थोड़ा...
मेरी कहानियां...
Tag :
  April 8, 2015, 12:09 am
अहंकार और प्यार -लघु-कथाबैंक अधिकारी रजत ने ज्वेलरी की दुकान से डायमंड रिंग खरीदी और इस भाव से भरकर उस पर एक नज़र डाली कि-''कोई भी पति अपनी पत्नी के लिए वेडिंग ऐनिवर्सरी का इससे ज्यादा महगा गिफ्ट नहीं ले सकता !''रजत घर पहुँचा तो उसने पाया उसकी वाइफ पायल ने आज सब कुछ अपने हाथ...
मेरी कहानियां...
Tag :
  April 5, 2015, 9:11 pm
''भाव ही सबसे सुन्दर ''-लघु कथालड़के ने कहा 'तुम्हारी आँखें बहुत सुन्दर हैं !''लड़की मुस्कुराई और बोली -''आँखें नहीं ...इनमें तुम्हारे प्रति झलकता प्यार का भाव सुन्दर है !''लड़का बोला -''तुम्हारे होंठ गुलाब की पंखुड़ियों के समान सुन्दर हैं !''लड़की हँसी ,उसके गालो पर लाली छा गयी ...
मेरी कहानियां...
Tag :
  April 3, 2015, 9:26 pm
सबसे सुन्दर लड़का -लघु कथा वो खूबसूरत लड़की जब सड़क पर चलती थी तब अपने में ही खोई रहती . उसको खबर न होती कि कोई लड़का उसका पीछा कर रहा है . एक दिन एक संकरी गली में उस पीछा करने वाले लड़के ने आगे आकर उसका रास्ता रोक लिया .वो घबराई .उसकी नीली झील सी आँखों में आंसू भर आये .उसने हाथ जोड़...
मेरी कहानियां...
Tag :
  March 30, 2015, 11:49 am
 ख़राब लड़की -storyइक्कीस वर्षीय सांवली -सलोनी रेखा को उसी लड़के ने कानपुर बुलाकर क़त्ल कर दिया जिसने उससे शादी का वादा किया था . लड़के के प्रेम-जाल में फँसी रेखा न केवल क़त्ल की गयी बल्कि अपने शहर में बदनाम भी हो गयी कि वो एक ख़राब लड़की थी .कातिल लड़के के प्रति लोगों की बड...
मेरी कहानियां...
Tag :
  March 28, 2015, 10:56 pm
''नीहारिका का कन्यादान मैं और सीमा नहीं बल्कि तुम और सविता  करोगे क्योंकि तुम दोनों को ही नैतिक रूप से ये अधिकार है .''सागर के ये कहते ही समर ने उसकी ओर आश्चर्य से देखा और हड़बड़ाते हुए बोला -''ये आप क्या कह रहे हैं भाईसाहब !...नीहारिका आपकी बिटिया है .उसके कन्यादान का पुण्य आ...
मेरी कहानियां...
Tag :
  March 22, 2015, 11:52 pm
बेटी का हक़ -कहानी सेवानिवृत बैंक-अधिकारी आस्तिक ने तौलिये से गीला चेहरा पोंछते हुए अपनी धर्मपत्नी मंजू से कहा - 'हर दहेज़ -हत्या के जिम्मेदार ससुरालवालों से ज्यादा लड़की के मायके वाले होते हैं . तुम मेरी बात मानों या ना मानों पर सच यही है . कितनी ही विवाहित बेटियां मौत ...
मेरी कहानियां...
Tag :
  February 28, 2015, 9:18 pm
''दर्शन-प्रवचन -सेवा''-लघु कथा चलने फिरने से लाचार सुशीला ने अपने  कमरे में पलंग पर पड़े-पड़े ही आवाज़ लगाईं -''बिट्टू .....बिट्टू ''इस पर छह साल का प्यारा सा बच्चा दौड़कर आया और चहकते हुए बोला -''..हाँ दादी माँ !'' सुशीला कराहते हुए बोली -''बेटा तेरी माँ कहाँ है ?उससे बोल बेटा कि द...
मेरी कहानियां...
Tag :
  February 26, 2015, 9:52 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3807) कुल पोस्ट (180840)