Hamarivani.com

विद्रोही स्व-स्वर में

****** " मुझे खेलों में भाग लेने का शौक नहीं था। लेकिन मुझे अपनी कक्षा के एक पहलवान टाईप सहपाठी जिसके पिताश्री पुजारी / कथावाचक थे का हमेशा कबड्डी में आउट न होना अखरता था। सुना था कि, वह रोजाना भगवा झंडे के साथ लगने  वाली शाखा में भाग लिया करता था। उसको सबक सिखाने के लिहाज ...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :बरेली
  April 23, 2017, 8:58 pm
****** प्रो. माशूक अली साहब का संबंध शाहजहाँपुर म्यूनिसपेलटी के चेयरमैन रहे छोटे खाँ साहब के परिवार से था जिनके यहाँ लकड़ी का व्यापार होता था। अतः माशूक साहब वेतन नहीं लेते थे, प्रबन्धक उनको रिक्शा और पान का खर्च मात्र रु 150 / - उनको भेंट करते थे। वह हमारे नानाजी ( डॉ राधे मोहन ल...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :जी एफ कालेज
  March 5, 2017, 8:31 pm
कल फेसबुक पर 65 वर्ष व्यतीत होने पर 66वें जन्मदिवस पर जिन लोगों ने बधाई व शुभकामनायें प्रेषित की हैं लगभग सभी को धन्यवाद प्रेषित किया है , परंतु यदि किसी को छूट गया हो तो उन सभी जनों को एक बार फिर  हार्दिक धन्यवाद।  वैसे प्लेटो के कथनानुसार तो अधिकांश लोग मुझसे नफरत ही क...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :शुभकामनायें
  February 6, 2017, 5:43 pm
Rajanish Kumar Srivastava02-01-2016  · जनाब यू०पी० चुनाव में साईकिल फ्रीज होगी और फिर मोटरसाईकिल फर्राटे से दौड़ेगी।आश्चर्य ना कीजिएगा यह सत्य होने जा रहा है।यू०पी० चुनाव के मद्देनजर मेरा विश्लेषण है कि अगर प्रचार के चकाचौंध से इतर जमीनी हकीकत की पड़ताल की जाए तो आज भी यू०पी० का चुनाव ...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :उ प्र .
  January 9, 2017, 9:28 am
हिंदुस्तान,लखनऊ,02-01-2016,पृष्ठ ---02वर्ष 1979 में  RSS (राजनारायन संजय संघ ) के सहयोग से चौधरी चरण सिंह जी प्रधानमंत्री बन चुके थे और उनके भांजे साहब को होटल मौर्य कर्मचारी संघ ,दिल्ली का अध्यक्ष बना दिया गया था जो आगरा आकर होटल मुगल कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों को दिल्ली  आमंत्...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :बिजनेस
  January 3, 2017, 11:50 am
22-12-2016 ***                                  ***                                                ***नोटबंदी लागू हुये 45 दिन बीत गए हैं(जिसकी घोषणा 08 नवंबर, 2016 दिन मंगलवार को धनिष्ठा नक्षत्र , पंचक के दौरान रात्रि 08 : 00 से 08 :30 के मध्य हुई थी इसी के मध्य 08 : 13 से...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :ग्रह - नक्षत्रों की चाल
  December 22, 2016, 7:46 pm
परिस्थियोंवश 1985 से 2000 तक आगरा के  हींग की मंडी  स्थित शू चैंबर की दुकानों में लेखा कार्य (ACCOUNTING ) द्वारा आजीविका निर्वहन करना पड़ा है। प्रत्यक्ष  रूप से जूता कारीगरों की समस्या को देखा समझा भी है कि, किस प्रकार थोक आढ़तिये  असली निर्माताओं का शोषण करते हैं। इसलिए जबसे ग...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :एम एस सथ्यु
  December 2, 2016, 4:28 pm
जन्म:24-10-1919,दरियाबाद (बाराबंकी );मृत्यु:13-06-1995;आगरा  हमारे बाबूजी ताज राजबली माथुर साहब ने अपनी पूरी ज़िंदगी 'ईमान 'व 'स्वाभिमान 'के साथ आभावों में गुज़ार दी लेकिन कभी उफ तक न की न ही कोई उलाहना कभी किसी को दिया। आज जब लोग अपने हक हुकूक के लिए किसी भी हद तक गिर जाते हैं हमारे बाबू...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :आगरा
  October 24, 2016, 7:29 pm
*जब पृथ्वी पर मानव सभ्यता का विकास हुआ तब मानव जीवन को सुखी,सम्पन्न,समृद्ध व दीर्घायुष्य बनाने के लिए प्रकृतिक नियमों के अनुसार चलने के सिद्धान्त खोजे और बताए गए थे। कालांतर में निहित स्वार्थी किन्तु चालाक मनुष्यों ने अपने निजी स्वार्थ के चलते उन नियमों को विकृत करक...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :दशहरा
  October 19, 2016, 7:32 pm
इकतालीस वर्ष पूर्व जब तेईस वर्ष की अवस्था में नब्बे दिनों बेरोजगार रह कर निर्माणाधीन  होटल मुगल ओबराय के अकाउंट्स विभाग में 22 सितंबर 1975 को जाब ज्वाईन किया था तो तब यह खास तारीख थी। फरवरी 1985 में होटल मुगल शेरटन , आगरा का जाब छोडने तक का वर्णन इसी ब्लाग में समयानुसार किया ...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :आगरा
  September 22, 2016, 10:40 pm
*चौधरी चरण सिंह जी जिस मेरठ कालेज,मेरठ के छात्र रहे उसी कालेज का 1969-71 मैं भी छात्र रहा हूँ। हमारे सोशियोलाजी के एक प्रोफेसर साहब जो चौधरी साहब की जाति से ही संबन्धित थे और चौधरी साहब के नाम से मशहूर थे तत्कालीन मुख्यमंत्री चौधरी चरण सिंह जी के कई कार्यों की सामाजिक समीक्...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :छात्र संघ
  July 16, 2016, 7:40 pm
यों तो समय समय पर अनेक चिकित्सक संपर्क में आते ही रहते हैं किन्तु जिनसे कुछ व्यक्तिगत आधार पर निजत्व रहा उनमें से ही जिनकी कुछ खास बातें याद हैं उनका ही उल्लेख हो सकेगा।डॉ रामनाथ :सबसे पहले डॉ रामनाथ का ज़िक्र करना चाहूँगा जो होटल मुगल,आगरा में हमारे  एक साथी के सहपाठी ...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :डॉ डी डी पाराशर
  July 1, 2016, 8:17 pm
(स्व.कृष्णा माथुर : जन्म- 20 अप्रैल 1924 मृत्यु - 25 जून 1995 )जिस समय रात्रि पौने आठ बजे बउआ (माँ ) ने अंतिम सांस ली मैं और यशवंत ही पारिवारिक सदस्य वहाँ थे। इत्तिफ़ाक से कंपाउंडर महोदय ग्लूकोज चढ़ाने आए हुये थे। 16 जून 1994 को शालिनी व 13 जून 1995 को बाबूजी के निधन के बाद आगरा में मैं और यशवंत ह...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :बउआ
  June 25, 2016, 7:00 am
 - जितेंद्र जी ने यह फोटो 20 मई 2016 को गांधी प्रतिमा,जी पी ओ पार्क, लखनऊ में अपने फोन में किसी के माध्यम से लिया था जिस समय किसान जागरण यात्रा की धरना - सभा चल रही थी। उनकी ख़्वाहिश है कि, इस चित्र को आधार बना कर कोई पोस्ट सार्वजनिक रूप से दी जाये। किसानसभा की रैली से संबन्धित ...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :जितेंद्र हरी पांडे
  June 10, 2016, 5:46 pm
हमारी पार्टी के एक साथी की तबीयत खराब होने की सूचना आज फोन पर प्राप्त  हुई तो शाम को चार बजे उनको देखने उनके घर गया । उनके स्वास्थ्य की कुशल क्षेम हमने पूछी तो उन्होने हम से यह सवाल किया कि, आप आज आए कैसे ? आज तो आपको रास्ते में काफी दिक्कत हुई होगी क्योंकि आज 'बड़ा मंगल 'है।...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :दान
  May 24, 2016, 10:06 pm
ब्रह्म समाज के माध्यम से राजा राम मोहन राय ने विलियम बेनटिक से भारत में 'अङ्ग्रेज़ी'शिक्षा लागू करवाईथी। उनका दृष्टिकोण था कि, अङ्ग्रेज़ी साहित्य द्वारा उनके स्वतन्त्रता संघर्षों का इतिहास भी हमारे नौजवान सीखेंगे और फिर भारत की आज़ादी के लिए मांग बुलंद करेंगे और हुआ भी...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :आयु का विज्ञान
  April 28, 2016, 8:03 pm
1991 में अल्पमत सरकार के प्रधानमंत्री पी वी नरसिंहा राव साहब ने वर्ल्ड बैंक के पूर्व अधिकारी मनमोहन सिंह जी को वित्तमंत्री बनाया था जिनके द्वारा शुरू किए गए 'उदारीकरण 'को न्यूयार्क में जाकर आडवाणी साहब द्वारा उनकी नीतियाँ चुराया जाना बताया गया  था। उस उदारीकरण की रजत ...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :उदारीकरण
  April 10, 2016, 8:30 pm
हमारे देश में आजकल दो प्रकार के प्रचलित मत हैं ।  एक तो ढोंगवाद/ब्रहमनवाद का पक्षधर है जो अपनी गढ़ी हुई पौराणिकताओं के भंवर जाल में फंसा कर जनता को उल्टे उस्तरे से मूढ़ता आ रहा है। दूसरा नास्तिक/मूलनिवासी पक्ष जो ढोंगवाद के आधार पर ही उसे गलत ढंग से चुनौती देने की कोशिश ...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :यज्ञ
  March 21, 2016, 10:02 am
ईश्वर= जो समस्त ऐश्वर्यों से सम्पन्न हो अर्थात आज कोई भी नहीं। धर्म= शरीर व समाज को धारण करने वाले तत्व जैसे 'सत्य,अहिंसा (मनसा- वाचा- कर्मणा ),अस्तेय,अपरिग्रह व ब्रह्मचर्य'। जो 'नास्तिक संप्रदाय'धर्म के खिलाफ है वह स्व्भाविक रूप से 'ढ़ोंगी-पाखंडी-आडंबरकारी ,पुरोहितवादी/ब्...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :TB
  February 27, 2016, 10:18 pm
Late Dr. N.R.B. Mathur आज प्रातः वीरेंद्र चाचा के ई-मेल से नरेंद्र चाचा के यह दुनिया छोड़ जाने का समाचार ज्ञात होकर असीम वेदना व दुख हुआ। चाचा हमारे बाबूजी के चचेरे भाई थे , लेकिन हमारे बाबाजी स्व.धनराज बली साहब व चाचा के पिताजी स्व . धर्मराज बली साहब में काफी घनिष्ठता थी। बाबूजी की भ...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :दरियाबाद
  February 4, 2016, 12:21 pm
हिंदुस्तान, लखनऊ, 02 फरवरी 2011 http://vidrohiswar.blogspot.in/...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :विद्रोही स्व-स्वर में
  February 2, 2016, 3:34 pm
यह एक अच्छी बात थी जो सीखी व सिखाई थी कि, अपनी योग्यता व क्षमतानुसार दूसरों की अधिक से अधिक भलाई सोचे एवं करें। लेकिन यह भी एक सच है कि इसके परिणाम घातक ही रहे हैं। हमारी भलाई से लाभ उठाने वालों ने इसे हमारी सदाशयता नहीं कोई कमजोरी समझा। लाभ उठाने वाले हम लोगों को ही नुकस...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :काजोरी
  January 2, 2016, 3:27 pm
****** एक नेक राय पर वाजिब सवाल :पूनम रावनी साहब की राय सिद्धान्त और नैतिकता के लिहाज से उत्तम है और मैं खुद भी इसी दृष्टिकोण पर अब तक चलता भी रहा हूँ जिस कारण बार-बार तिकड़मी-फितरती लोग धोखा देते व नुकसान पहुंचाते रहे हैं। इसी वर्ष जून में  इलाहाबाद के एक प्रोफेसर साहब (तत्क...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :मतलबी दुनिया
  December 5, 2015, 5:51 pm
जी हाँ 'कर्म'से ही भाग्य बनता है। मैं तो ज्योतिष का घोर विरोधी था और मेरा मानना था कि हमारा भाग्य हमारे हाथ में (मतलब अपने ही काबू में ) है। 1976 में ITC के निर्माणाधीन होटल मोगुल, ओबेराय , आगरा के एकाउंट्स विभाग में था अपने साथ साक्षात्कार में मिले और जाब पाने से रह गए विनोद श्र...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :कर्म
  December 1, 2015, 8:32 pm
सौजन्य से पुष्पा अनिल जी सौजन्य से पुष्पा अनिल जी Vijai RajBali MathurNovember 16 at 7:28pm · Lucknow · कभी-कभी अचानक कुछ ऐसा होता है जिससे खुशी हासिल हो जाती है। कल कुछ ऐसा ही हुआ कि, हमारे एक चचेरे भाई अचानक बिना किसी पूर्व सूचना के सपरिवार मिलने आए। उनका तीन वर्षीय पुत्र मुझसे 60 वर्ष छोटा ...
विद्रोही स्व-स्वर में...
Tag :आगरा
  November 21, 2015, 10:24 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3666) कुल पोस्ट (165887)