POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: विद्रोही स्व-स्वर में

Blogger: विजय राज बली माथुर
कल - आज और कल ===============कभी - कभी कुछ विशेष परिस्थितियों में अतीत के कुछ पल यों मस्तिष्क में घूम जाते हैं जैसे यह पिछले कल के दिन की ही बात है। * ठीक 50 वर्ष पूर्व 1969 में जब मेरठ कालेज , मेरठ में बी ए में प्रवेश लिया तब राजशास्त्र ( pol sc), अर्थशास्त्र ( Economics ), के साथ समाजशास्त्र ( Sociology ) भ... Read more
clicks 7 View   Vote 0 Like   2:21pm 4 May 2019 #मेरठ
Blogger: विजय राज बली माथुर
सरकारी परीक्षा,सरकारी कर्मचारी,पुलिसकर्मी और परीक्षार्थी :==============================================28 अक्तूबर 2018 को मतदाता दिवस भी था और उसी दिन PCS की परीक्षाएं भी थीं । दोनों कार्य कुछ विद्यालयों में एक साथ होने थे, किन्तु परीक्षा केन्द्रों के व्यवस्थापकों ने सरकारी कर्मियों को विद्यालय भवन... Read more
clicks 21 View   Vote 0 Like   2:20pm 30 Oct 2018 #परीक्षार्थी
Blogger: विजय राज बली माथुर
*****  इस ब्लाग का प्रारम्भ 03 अगस्त 2010 से किया गया था *****यह समीक्षा  NDTV के वरिष्ठ पत्रकार द्वारा की गई थी जो 'हिंदुस्तान, लखनऊ  02 फरवरी 2011 ' के अंक में प्रकाशित हुई थी। ब्लाग में प्रकाशित पोस्ट्स को समय समय पर फेसबुक और इसके विभिन्न ग्रुप्स में शेयर किया जाता रहा है किन्तु 21... Read more
clicks 24 View   Vote 0 Like   11:57am 24 Sep 2018 #' सुर - संगीत '
Blogger: विजय राज बली माथुर
जी हाँ पत्थर के टुकड़ों को देवी - देवता की मान्यता देकर समाज की जमीन को कब्जे में लेकर फिर कोई धंधा करना ऐसे लोगों का उद्देश्य होता है। बुद्धि, ज्ञान और विवेक से रहित अपने जीवन से डरे हुये लोग ऐसे अवैद्ध कर्म करने वालों के मंसूबे पूरे करने में मदगार बनते हैं ------विज्ञान और ध... Read more
clicks 23 View   Vote 0 Like   3:48am 19 Sep 2018 #किताब
Blogger: विजय राज बली माथुर
******* ज्योतिष पर कभी मैं खुद बिलकुल भी विश्वास नहीं करता था किन्तु 1975-76 में मेरे सह - कर्मियों ने किताबों को पढ़ने की मेरी अभिरुचि को ताड़ते हुये मुझे हस्त-रेखा शास्त्र, अंक विद्या और कुंडली से संबन्धित पुस्तकें पढ़ने को दी थीं जिनको वापिस करने से पहले कुछ मुख्य - मुख्य बातों क... Read more
clicks 32 View   Vote 0 Like   12:14pm 8 Jun 2018 #ग्रह
Blogger: विजय राज बली माथुर
* ब्राह्मण - व्यापारी गठजोड़ ने उसी स्वरूप की पूजा में गण - जनता को उलझा दिया।  * * शिव, पार्वती, लिंग, गणेश  की पाखंड युक्त ढोंगवादी / ब्राह्मणवादी व्याख्याओं का ही दुष्परिणाम है कि, एक राजनेता को शिव जो  वस्तुतः भारत देश है और उसकी पत्नी को पार्वती जो यथार्थता इस देश क... Read more
clicks 32 View   Vote 0 Like   2:20pm 14 May 2018 #ढोंग
Blogger: विजय राज बली माथुर
यह फोटो हमारे मामाजी डॉ कृपा शंकर माथुर पूर्व विभागाध्यक्ष एङ्ग्थ्रोपोलोजी, लखनऊ विश्वविद्यालय द्वारा मथुरानगर,दरियाबाद में लिया गया था  प्रकृति में यह वैज्ञानिक नियम चलता रहता है कि, क्रिया की प्रतिक्रिया होती है। मनुष्यों ने प्राचीन काल में प्रकृति के साथ सा... Read more
clicks 29 View   Vote 0 Like   12:32pm 1 Mar 2018 #होला
Blogger: विजय राज बली माथुर
जन्मदिन मुबारक हो। हम आपके सुंदर,सुखद,स्वस्थ,समृद्ध और दीर्घायुष्य जीवन की मंगलकामना करते हैं।  तृतीय भाव में परस्पर विरोधी ग्रहों की स्थिति और उस भाव में स्थित राशि के स्वामी की परस्पर विरोधी ग्रह की राशि में स्थिति से साफ - साफ स्पष्ट है कि, आपके भाई  मूलतः आपके&... Read more
clicks 35 View   Vote 0 Like   2:30am 26 Feb 2018 #ज्योतिष
Blogger: विजय राज बली माथुर
                                                कभी - कभी बहुधा घटित होते रहने वाली छोटी सी बात भी एक अलग ध्यान आकर्षित कर देती है और आज कुछ ऐसा ही हुआ। मेरी श्रीमती जी ने एक गमले में और पौधों के अलावा एक पीपल का पौधा भी लगा रखा है। चिड़ियों द्वारा लाये बीज स... Read more
clicks 29 View   Vote 0 Like   11:20am 24 Feb 2018 #चुनाव प्रचार
Blogger: विजय राज बली माथुर
कश्मीर संबंधी यह विवरण पढ़ कर 37 वर्ष पूर्व के कुछ समय वहाँ बिताए अपने संस्मरण याद पड़ गए। उस समय भी कश्मीर व लद्दाख(करगिल )   दोनों के निवासियों का व्यवहार काफी अच्छा पाया था। इस विवरण से ज्ञात हुआ कि आज भी वहाँ के लोग अच्छे ही हैं। * मई 1981 में होटल मुगल, आगरा से टेम्पोरेर... Read more
clicks 32 View   Vote 0 Like   3:04pm 18 Feb 2018 #करगिल
Blogger: विजय राज बली माथुर
प्रस्तुत चित्र में प्रदर्शित अपने देश के सर्वाधिक ठंडे स्थान 'द्रास 'क्षेत्र के 'ज़ोजिला 'दर्रे में फंस कर एक पूरी रात गुजारने का मौका मुझे भी मिला है जिसका वर्णन 2011 में लिखित संस्मरणों से उद्धृत किया जा रहा है : "हेमंत कुमार जी छात्र जीवन में सयुस(समाजवादी युवजन सभा)  म... Read more
clicks 30 View   Vote 0 Like   3:53pm 8 Feb 2018 #जन्मदिन
Blogger: विजय राज बली माथुर
39 वर्ष पूर्व 11 सितंबर 1978 को होटल मुगल कर्मचारी संघ , आगरा और प्रबंधन के मध्य जो पहला एग्रीमेंट हुआ था उसको सम्पन्न कराने में यूनियन के महामंत्री की हैसियत से मुझे जो भूमिका निभानी पड़ी थी वह काफी जटिलताओं से परिपूर्ण थी। होटल के पर्सोनेल मेनेजर हरिमोहन झा साहब बिहार के त... Read more
clicks 57 View   Vote 0 Like   3:41pm 11 Sep 2017 #कर्मचारी यूनियन
Blogger: विजय राज बली माथुर
संस्कृत को बाजारू बनाने के भयंकर दुष्परिणाम होंगे  (१ ) गणेश स्तुति में एक शब्द आता है - 'सर्वोपद्रवनाश्नम 'अब यदि बाजारू संस्कृत में इसे ऐसे ही पढ़ा गया तो इसका अर्थ होगा 'सारा धन नाश कर दो '. इस शब्द को लिखे अनुसार नहीं संधि विच्छेद करके पढना चाहिए यथा - सर्व + उपद्रव + नाश... Read more
clicks 78 View   Vote 0 Like   11:52am 6 Aug 2017 #बुद्धिरज्ञाननाशो
Blogger: विजय राज बली माथुर
* यों साधारण तौर पर 'रिश्ते'से तात्पर्य घरेलू और पारिवारिक रिश्ते - नातों से लिया जाता है। परंतु सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक परस्पर संबंध भी 'रिश्ते 'ही होते हैं। कार्यस्थल पर सह-कर्मियों,अधीनस्थों और वरिष्ठों के मध्य भी रिश्ते होते हैं। मेरठ की एक प्राईवेट लिमिटेड कंपनी ... Read more
clicks 60 View   Vote 0 Like   3:08pm 23 Jul 2017 #CPI
Blogger: विजय राज बली माथुर
****** " मुझे खेलों में भाग लेने का शौक नहीं था। लेकिन मुझे अपनी कक्षा के एक पहलवान टाईप सहपाठी जिसके पिताश्री पुजारी / कथावाचक थे का हमेशा कबड्डी में आउट न होना अखरता था। सुना था कि, वह रोजाना भगवा झंडे के साथ लगने  वाली शाखा में भाग लिया करता था। उसको सबक सिखाने के लिहाज ... Read more
clicks 60 View   Vote 0 Like   3:28pm 23 Apr 2017 #बरेली
Blogger: विजय राज बली माथुर
****** प्रो. माशूक अली साहब का संबंध शाहजहाँपुर म्यूनिसपेलटी के चेयरमैन रहे छोटे खाँ साहब के परिवार से था जिनके यहाँ लकड़ी का व्यापार होता था। अतः माशूक साहब वेतन नहीं लेते थे, प्रबन्धक उनको रिक्शा और पान का खर्च मात्र रु 150 / - उनको भेंट करते थे। वह हमारे नानाजी ( डॉ राधे मोहन ल... Read more
clicks 74 View   Vote 0 Like   3:01pm 5 Mar 2017 #जी एफ कालेज
Blogger: विजय राज बली माथुर
कल फेसबुक पर 65 वर्ष व्यतीत होने पर 66वें जन्मदिवस पर जिन लोगों ने बधाई व शुभकामनायें प्रेषित की हैं लगभग सभी को धन्यवाद प्रेषित किया है , परंतु यदि किसी को छूट गया हो तो उन सभी जनों को एक बार फिर  हार्दिक धन्यवाद।  वैसे प्लेटो के कथनानुसार तो अधिकांश लोग मुझसे नफरत ही क... Read more
clicks 82 View   Vote 0 Like   12:13pm 6 Feb 2017 #शुभकामनायें
Blogger: विजय राज बली माथुर
Rajanish Kumar Srivastava02-01-2016  · जनाब यू०पी० चुनाव में साईकिल फ्रीज होगी और फिर मोटरसाईकिल फर्राटे से दौड़ेगी।आश्चर्य ना कीजिएगा यह सत्य होने जा रहा है।यू०पी० चुनाव के मद्देनजर मेरा विश्लेषण है कि अगर प्रचार के चकाचौंध से इतर जमीनी हकीकत की पड़ताल की जाए तो आज भी यू०पी० का चुनाव ... Read more
clicks 71 View   Vote 0 Like   3:58am 9 Jan 2017 #उ प्र .
Blogger: विजय राज बली माथुर
हिंदुस्तान,लखनऊ,02-01-2016,पृष्ठ ---02वर्ष 1979 में  RSS (राजनारायन संजय संघ ) के सहयोग से चौधरी चरण सिंह जी प्रधानमंत्री बन चुके थे और उनके भांजे साहब को होटल मौर्य कर्मचारी संघ ,दिल्ली का अध्यक्ष बना दिया गया था जो आगरा आकर होटल मुगल कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों को दिल्ली  आमंत्... Read more
clicks 68 View   Vote 0 Like   6:20am 3 Jan 2017 #बिजनेस
Blogger: विजय राज बली माथुर
22-12-2016 ***                                  ***                                                ***नोटबंदी लागू हुये 45 दिन बीत गए हैं(जिसकी घोषणा 08 नवंबर, 2016 दिन मंगलवार को धनिष्ठा नक्षत्र , पंचक के दौरान रात्रि 08 : 00 से 08 :30 के मध्य हुई थी इसी के मध्य 08 : 13 से... Read more
clicks 74 View   Vote 0 Like   2:16pm 22 Dec 2016 #ग्रह - नक्षत्रों की चाल
Blogger: विजय राज बली माथुर
परिस्थियोंवश 1985 से 2000 तक आगरा के  हींग की मंडी  स्थित शू चैंबर की दुकानों में लेखा कार्य (ACCOUNTING ) द्वारा आजीविका निर्वहन करना पड़ा है। प्रत्यक्ष  रूप से जूता कारीगरों की समस्या को देखा समझा भी है कि, किस प्रकार थोक आढ़तिये  असली निर्माताओं का शोषण करते हैं। इसलिए जबसे ग... Read more
clicks 71 View   Vote 0 Like   10:58am 2 Dec 2016 #एम एस सथ्यु
Blogger: विजय राज बली माथुर
जन्म:24-10-1919,दरियाबाद (बाराबंकी );मृत्यु:13-06-1995;आगरा  हमारे बाबूजी ताज राजबली माथुर साहब ने अपनी पूरी ज़िंदगी 'ईमान 'व 'स्वाभिमान 'के साथ आभावों में गुज़ार दी लेकिन कभी उफ तक न की न ही कोई उलाहना कभी किसी को दिया। आज जब लोग अपने हक हुकूक के लिए किसी भी हद तक गिर जाते हैं हमारे बाबू... Read more
clicks 68 View   Vote 0 Like   1:59pm 24 Oct 2016 #आगरा
Blogger: विजय राज बली माथुर
*जब पृथ्वी पर मानव सभ्यता का विकास हुआ तब मानव जीवन को सुखी,सम्पन्न,समृद्ध व दीर्घायुष्य बनाने के लिए प्रकृतिक नियमों के अनुसार चलने के सिद्धान्त खोजे और बताए गए थे। कालांतर में निहित स्वार्थी किन्तु चालाक मनुष्यों ने अपने निजी स्वार्थ के चलते उन नियमों को विकृत करक... Read more
clicks 78 View   Vote 0 Like   2:02pm 19 Oct 2016 #दशहरा
Blogger: विजय राज बली माथुर
इकतालीस वर्ष पूर्व जब तेईस वर्ष की अवस्था में नब्बे दिनों बेरोजगार रह कर निर्माणाधीन  होटल मुगल ओबराय के अकाउंट्स विभाग में 22 सितंबर 1975 को जाब ज्वाईन किया था तो तब यह खास तारीख थी। फरवरी 1985 में होटल मुगल शेरटन , आगरा का जाब छोडने तक का वर्णन इसी ब्लाग में समयानुसार किया ... Read more
clicks 82 View   Vote 0 Like   5:10pm 22 Sep 2016 #आगरा
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Publish Post