Hamarivani.com

प्यार

भेजा था मैंनेयादों के डाकियेके साथ तुझेअपने एहसासों का ख़तपर वो बैरंग वापस आ गया ,यादों ने बहुत ढूंढा हर गली हर शहर तलाश किया पर वो पता जो उस ख़त पर लिखा था वो नहीं मिला ,लगता है तुमने अपना घर बदल लिया है ..पर मैं तो वहीं हूँ उसी पुराने घर, पुराने पते पर बदलना मेरी फितरत नहीं ...
प्यार ...
Tag :
  September 17, 2018, 11:40 am
आज पुरानी संदूक खोलीतो हाथ आयातुम्हारा दिया हुआपहला और आखरीउपहार .....वो हरे जिल्द वाली किताबतुम्हें पता था नमुझे किताबें बहुत पसंद हैतभी मुझे हैरान करनेडाक से भेजा था,लिफाफा खोलते वक्तये नहीं लगा थाइसमे मेरी ज़िन्दगीकैद है  ....मैं बार-बार किताबखोलती थी पढ़नेपर हर ...
प्यार ...
Tag :
  September 16, 2018, 12:19 pm
जानते होजब मैंमायके जाती थीतो लौटते समयअक्सर ट्रेन मेंगुलज़ार का लिखा ये गीतगुनगुनाती थी"दिल ढूँढता है फिर वहीफुर्सत के रात दिन  ......उस समय ऐसालगता थाजैसे समयबहुत धीरेचल रहा है ?ट्रेन की रफ़्तारमद्धिम हो गयी हैतुम्हें देखने की तड़पबढ़ने लगतीमन होता था दौड़ करतुम्हारे प...
प्यार ...
Tag :
  September 14, 2018, 4:06 pm
मेरे अंतर में एक दीया सदाप्रजवलित रहता है जो मुझे हर ग़लती में आगाह करता है जो मेरी नकारत्मकता कोसकारात्मक ऊर्जा में बदलता है जो मेरे अंदर मानवता की लौ को किसी हाल में बुझने नहीं देता उस दीये की लौ की ऊष्मा से मेरे सारे दर्द वाश्प बन उड़ जाते है ये मुझे मेरी काया को पढ़ने ...
प्यार ...
Tag :
  September 12, 2018, 1:43 pm
वो जीता है सालों से उसकी तस्वीरों उसके ख्यालों और अपने रंगों के साथ उसके लिए वो अभी भी इस दुनिया का हिस्सा है उसकी अलमारी उसकी किताबें उसकी तस्वीर सब जिंदा है वो दीवारों से भी उसकी बातें कर लिया करता है कमरे में अब भी उसकी खुश्बू मौज़ूद हैजो उसे...
प्यार ...
Tag :
  September 10, 2018, 12:40 pm
मैं अपनी देह कोबना कर नौकाजीवन रूपी इस समुद्र को पार करती हूँरास्ते मेंआये तूफान को झेलते हुएलहरों के थपेड़ों से जूझतीऔर मजबूत बन जाती हूँ कई बार लपलपाती जीभ लिए मगरमच्छों से भी सामना हो जाता है मेरापर मैं टूटती नहीं हूँहारती नहीं हूँलड़ती हूं लहूलहान करती हूँमारती ह...
प्यार ...
Tag :
  September 7, 2018, 12:12 pm
गंगा किनारे मैं बैठी थी चुप चाप संवेदना शून्य सीजब ठंडी हवाएं मेरे बालों को हौले से सहला रही थी तोमुझे सिहरन नही हो रही थी,न ही जब एक पत्ता मेरे गालों को चूम कर गिरा तो मेरे गाल सुर्ख़ हुए ....न ही जब खुद के ही कांधे पर खुद सर टिकाए चुप चाप बैठी रही तो कुछ महसूस हुआ ,जब सिमटन...
प्यार ...
Tag :
  September 3, 2018, 2:51 pm
इस दुनिया मेंढूंढ़ने .. निकली तो पाया हर चीज़ अपूर्ण हैपूर्ण कुछ भी नहीं...प्रेम कभी तृप्त नहीं होताअतृप्त ही रहता है ज्यादा कि मांग कभी खत्म नहीं होती ,न ही विरह उसमें सदा मिलन की आस होती है ,साधक की साधना भी अपूर्ण है वो जीवन से दूर भागता है ,प्रकृति भी पूर्ण नहीं तभी तोक...
प्यार ...
Tag :
  September 2, 2018, 2:43 pm
इमरोज़ की तरह होनानामुमकिन हैलफ़्ज़ों को रंगों में घोलयूँ इश्क कीचित्रकारी करनानामुमकिन है अपने इश्क को किसी और के इश्क में खोए देखकर भी उससे इश्क करना नामुमकिन हैअपनी पीठ पर हर रोज़ किसी और का नाम लिखा जाना फिर भी हंसते हंसतेरास्ता तय करना नामुमकिन हैयूँ सालों किसी क...
प्यार ...
Tag :
  September 1, 2018, 10:44 am
बारिश की बूँदेंप्रकृति का सौन्दर्यदोगुना कर देती हैसबका मन हर्षो उल्लास सेभर देती है ,प्रेमी प्रेमिकाओं के लिएतो ये बूँदें  मानोवरदान हो ,पर यही बूँदेंमेरे मन को शीतलकरने की बजायअग्न क्यों पैदाकर रही है ??हर एक गिरतीबूंद के साथमन और भारी क्यों हो रहा है ??क्यों प...
प्यार ...
Tag :
  August 29, 2018, 6:26 pm
जब कभीमन बेचैन हो उठता हैऔर दिल बोझिलसा हो जाता हैतब मैं अपने दोस्तकलम और कागज़के पास आती हूँपर जाने क्योंकभी कभी लफ्ज़मुझसे दुश्मनों साव्यवहार करते हैंतब कुछ सूझता नहींपर ऐसे समयहर बार मेरी पक्कीसखी अमृताआ जाती हैं मेरे पास ,मैं पढ़ने लगती हूँउनकी नज़्मजाने क्यों उनक...
प्यार ...
Tag :
  August 28, 2018, 2:45 pm
आज राखी है मुन्नी ने बोला  "भइया इस बार गुड़िया लूँगी ......पिछली बार भी आपने बहला फुसला कर कुछ न दिया था मुझे "गणेश बोला इस बार पक्का और मुस्कुरा दिया , उसने फूल बेच कर रुपये जो जोड़ रखे थे।लेकिन सुबह मुन्नी को अचानक बुखार आ गया, डॉक्टर और दवा के चक्कर मे सारे पैसे चले गए.......&...
प्यार ...
Tag :
  August 27, 2018, 3:09 pm
उदासी ओढ़ करआँसू बिछा कर बैठ जाना तो बहुत आसान काम है हर कोई कर सकता है पर जब हमने इंसान बन कर जन्म लिया है तो फिर सोचना, समझना हर परिस्थिति का सामना करना इन सब से तो हमारी पक्की यारी होनी ही है खुशी देने के लिए ही तो बनाया है न ईश्वर ने चाँद तारे फूल ओस तितली पंछी बरस...
प्यार ...
Tag :
  August 25, 2018, 2:55 pm
आज पढ़िए मेरी एक पसंदीदा पुरानी रचनाओस की बूंद सी हैमेरी ज़िन्दगीसिमटी सकुचीखुद में अकेले तन्हापत्ते की गोदपर बैठी ,सूर्य कीकिरणों के साथ चमकती, दमकती,इठलाती मन में कईआशाएं जगाती,हवा के थपेड़ो कोझेलती, सहती फिर उसी मिट्टी मेंविलीन हो जाने कोआतुर रहती ....ओस की ब...
प्यार ...
Tag :
  August 24, 2018, 1:16 pm
हर बारबार बार यही तो कहना चाहा की मुझे तुमसेकितना प्यार है......पर जब कहने कीबारी आती हैतो हर बार यही कहती हूँ"I hate you "बहुत गंदे हो तुम !!!जाने क्यों ये कह कर लगता हैमैंने सब कह दियाऔर तुम सब समझ गए  !!समझ जाते हो न ???इसलिए तो लगता हैबोलो कुछ भीऔर कैसे भीप्यार की जुबां को समझना इतन...
प्यार ...
Tag :
  August 23, 2018, 11:29 am
जानती हूं मैंमेरे दिल तुमने जीया है असीम प्यार एकाकार का आभास हर पल में पाया है सदियों सा एहसास दिल की धड़कन से लेकर सांसों की तड़पन तक को महसूसने वाला प्यारबिन छुए हृदय को स्पंदित करने वालाएहसाससाँसों के उतार चढ़ाव से मन का हाल जानने वालादुनिया से मिलाने वालाख़ुद की पह...
प्यार ...
Tag :
  August 22, 2018, 12:07 pm
हां मैं स्त्री हूँलेकिन कमज़ोर बिल्कुल नहीं ...और साथ साथ ये भी बता दूंमैं भी इंसान हूँमुझ में संवेदनाएं हैं अपनों से जुड़ी परिस्थियाँ मुझे विचलित करती हैं और तब मैं भावनाओं में बह कर कमज़ोर पड़ जाती हूँ मैं कमज़ोर पड़ जाती हूँ जब बात आती है मेरे बच्चों की जब बात आती है उ...
प्यार ...
Tag :
  August 20, 2018, 12:58 pm
कमला  दोपहर होते तक, घर का काम करते करते थोड़ा सा थक जाती थी,  ४३ की हो गयी है, यूँ तो उम्र के इस पड़ाव तक आते आते लोग सेटल हो जाते हैं। पर ऐसा कमला के साथ नहीं था......अभी अपना घर भी नहीं ले पायी थी ……अभी तो बुक करवाया है …लोन ले कर उसकी किश्ते चुकाती थी हर महीने  ……महीने के...
प्यार ...
Tag :
  August 19, 2018, 2:08 pm
ललिता रोज़ काम पर आती और बड़ बड़ करती रहती......."छोड़ देब अपन मरद के, अब न रही ओकरे साथ .... सगरा दिन पी कर पड़ल रहत है "घर घर काम करके ४ बचवन के बड़ा कईली , पर ओकरा ओही ढंग ढाचा बा ......बस "बड़का बिटवा कामये खाए लगे, फेर चल जाब इ घर दुआर छोड़ के  "इस बात को चार महीने हो गए बेटे को नौकरी भी मिल ग...
प्यार ...
Tag :
  August 18, 2018, 11:48 am
जानते होआज इस बरसात और धूप के खेल में Fm में बजते पुराने गानों के बीच तुम्हारी बहुत याद आ रही है ...चारों तरफ हर कुछ बहुत सुहाना है......मौसम, गानें और तुम्हारी याद ....तो ऐसे में मुझे खुश होना चाहिए.....फिर भी मन उदास सा क्यों हो रहा है  ??तन्हाई नहीं अकेलापन महसूस हो रहा है वो भी शि...
प्यार ...
Tag :
  August 17, 2018, 11:56 am
बरसात पर कुछ क्षणिकाएं १. एहसासों की बरसात तो बहुत हुई     पर दिल आजकल कंक्रीट का जंगल     हो गया है     बिना जज़्ब हुए बह जाते हैं एहसास......२. बड़ी मुश्किल से तन्हाई में    खुश रहना सीखा था मैंने    तेरी यादों की बरसात ने    मेरी तमाम कोशिशों को    बूँ...
प्यार ...
Tag :
  August 16, 2018, 11:49 am
झगड़े किस घरमें नहीं होते  ?ग़लतफ़हमी ग़लतियाँआम बात है.......तो क्या हम घर सेमुंह मोड़ लेते हैं ?घर के मुखिया कोबुरा भला कह करउसको उसके हाल परछोड़ देते हैं ??जब हम ये अपने घरके साथ नहीं करते तोअपने देश के साथकैसे कर सकते हैं ??दोष देनाबुरा भला कहनाबहुत आसान हैपर सुधारने कीकोशिश ...
प्यार ...
Tag :
  August 15, 2018, 10:45 am
जानते हो आज मैंनेहमारे यादों को जीने की एक कोशिश की हैउसी पुराने बस में बैठी सीट भी वही  मिल गई जहां हम अक्सर बैठा करते थेजानती हूँ .....वो बस बहुत लंबा रूट लेती है पार्क तक पहुंचाने में लेकिन आज भी वो रास्ता तय करना मुश्किल नहीं लगा.....मैं अपनी कविता ख़ुद को ही सु...
प्यार ...
Tag :
  August 14, 2018, 12:43 pm
ऐसी बातें क्यूँकरते हो मुझसेकिसने कहा था इतना प्यार जताने कोदेखो ...रुला दिया न मुझेकभी सोचती हूँ अगर तुम न मिले होते तो मैं क्या करती किताबों में पढ़ेएक लफ्ज़ "इश्क"को कैसे महसूस करतीसुनो !!तुम ताउम्र ऐसे ही रहोगे न .... बदल तो न जाओगे अगर इरादा हो तो बस एक काम करना एक कागज परप...
प्यार ...
Tag :
  August 13, 2018, 10:14 am
आज पढ़ें मेरे आदरणीय मित्र Anil Kumar जी की गज़ल तुमको जो खत लिखे थे मैंने तुमसे ही सब पढ़वाने हैं सपने मेरी आंखों के हैं तुमने मुझ को समझाने हैं तेरे मेरे दोनों के ही सारे हिस्से जल जाने हैं तुमने ही जब आग पहन ली हम भी तेरे परवाने हैं तेरे बारे में दोनों ने अलग अलग कुछ सोचा है कब ...
प्यार ...
Tag :
  August 12, 2018, 1:53 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3807) कुल पोस्ट (180840)