Hamarivani.com

प्यार

स्त्री हूँ मैं पर अबला नहीं हूँबंद कर दो मुझे इस नाम से पुकारना मुझे कमज़ोर लिखना,मैं अपना मुकद्दर ख़ुद लिखना जानती हूं किसी से बराबरी की कोई जद्दोजहद नहीं साबित करने की कोई होड़ नहींमर्दों की अपनी जगह है और मेरी अपनी धरती पर ये दो एक दूसरे के पूरक हैं बार बार बराबरी की बात...
प्यार ...
Tag :
  April 10, 2018, 10:37 am
मैं ज़िन्दगी जीना चाहती हूं नशे के घूंट की तरह पीना चाहती हूं ...बूँद बूँद कर हर रोज़ कम हो रही है नइसकी मियाद और मैं उस बूँद के वजूद को क्यों समझ नहीं पा रही हूँ ??वो जो खो गया मिल गया मिट्टी में अब लौट के आयेगा ??नहीं न बस ...बस..तो फिर अब बहुत हो गया हर बूँद को अपनी आंखें बंद कर अप...
प्यार ...
Tag :
  April 5, 2018, 6:10 pm
इश्क पाने की चाह मेंभटकते भटकतेखो सी गयी हूँएक उम्मीद दिखती हैपर वो राह नहीं होतीवो तो गली होती हैजो निकलती हैएक और गली मेंउनमें चलते चलतेउलझ सी गयी हूँ,अब तोडरने लगी हूँ खुद सेअपना आपबोझ लगने लगा है...जानती हूँ इश्क तोखुद से करना चाहिएअपने अन्दर ही तो हैसमाहित है ये ज़ज...
प्यार ...
Tag :
  March 12, 2018, 9:26 pm
जीवन के रेगिस्तान मेंमैं ऊंटनी बन भटकती रही हसीन लम्हे काटों संग फूलों जैसे मिले उन्हें जब कैद करना चाहा तो वो रेत के मानिंद फिसल गए हाथों से ....जब रिश्तों की प्यास से गला सूखा और प्यार ढूंढा तब सिर्फ और सिर्फ भ्रम हाथ लगा ....और तब काम आया खुद की जेब में भरा दोस्तों का प्या...
प्यार ...
Tag :
  March 7, 2018, 9:13 pm
एक पिंजरे से निकाल कर दुसरे पिंजरे में कैद करने के लिए आज़ाद किया जाता है पंछियों को,उन्हें गर खुला छोड़ दिया तो डर है कहीं आज़ाद हो वो अपनी मनमानी न करने लग जायें ,अपने मन से उड़ान न भरने लग जायें ....अरे पिंजरे में रहेंगे तभी तो वो अपने स्वामी के भरोसे जीयेंगेवो देंगे तो खायें...
प्यार ...
Tag :
  February 18, 2018, 11:52 am
हर कोई सुकून की तलाश में भटक रहा है कोई घर में तो कोई बाहर सुकून तलाशता हैकिसी का अपने से युद्ध है तो किसी का अपनों से ,कोई नाम के पीछे पागल है कोई पैसों के पीछे कोई अहम में रहता हैतो कोई वहम में कोई गैरों में अपनों को ढूंढ लेता है तो कोई अपनों कोगैर बना देता है कोई सिर्फ दिख...
प्यार ...
Tag :
  February 7, 2018, 7:40 pm
मन में एक अजीब सी हलचल रस्सा कसी मची हुई है कभी अजीब सा अनदेखा अनजाना डरकभी बेहिसाब प्यार इतना की तुम्हें आंखों से ओझल ही न होने दूं जानती नहीं ऐसा क्यों है ??पर लगता है तुमसे दूर जाने का डर तुम्हें खोने का डर हावी हो रहा है हर जीवन साथी की तरह हमने भी साथ लम्बा सफ़र तय कर...
प्यार ...
Tag :
  February 3, 2018, 8:40 pm
मेरे आंगन के कोने में एक बहुत प्यारी छोटीकोमल सी चिड़ियाँ ने घोंसला बनाया था मैं जब भी आंगन में बैठती वो फ़ुर्र उड़ कर आ जाती फुदकती रहती और अपनी ची ची से मन मोह लेती पूरा घर उसकी हरकतों से ज़िन्दगी से भर जाता पर ये पता न था कीकोई और भी नज़र रखे हुए है इन सब परएक दिन मेरी बैठे ब...
प्यार ...
Tag :
  January 31, 2018, 6:31 pm
कितने मसरूफ़ रहते हैं नलोग आजकल इतने नक़ाब जो बदलने पड़ते हैं उन्हें कभी प्यार का ऐसा नक़ाब चढ़ा लेते हैं कि लगता है उनसे ज्यादा हमसे प्यार कोई कर ही नहीं सकता पर जब उन्हें लगता है हमेंउनकी आदत हो गयी है वो बदल का खामोशी का नक़ाब पहन लेते हैं हज़ार मिन्नतें और लाख मनुहार के बाद ...
प्यार ...
Tag :
  January 28, 2018, 2:58 pm
ये शब्द सुनते ही ज़हन में एक डर पैदा होता है,लगता है भगवान न करे वहां कभी जाना पड़ेपर जब कलपुरजों  में तकलीफ़ होती है तो पैर खुद ब खुद वहां पहुंच जाते हैं राहत देने के लिए इस संस्था का निर्माण हुआ था पर व्यवस्था को इतना जटिल बना देते हैं कि आम आदमी उलझ कर रह जाता है यहां पर भी ...
प्यार ...
Tag :
  January 22, 2018, 5:59 pm
जितना अमृता को पढ़ती हूँ उन्हे और करीब से जानने का मौका मिलता है उनके और इमरोज़के प्यार और एहसास को पढ़ कर मेरी रूह सिहर जाती है आंखें भीग जाती है इतना प्यार कैसे हो सकता है ?मुमकिन नही न पर है तो ऐसा ही अमृता की मुस्कान इमरोज़ की जान अमृता का अगले जन्म का वादाइमरोज़ का सच्चा ...
प्यार ...
Tag :
  January 18, 2018, 3:51 pm
कल टेलीविज़न पर बिटिया सिंड्रेला देख रही थी तो याद आया मुझे बचपन में हमने भी पढ़ी थीसिंड्रेला की कहानी और खो गए थे सपनों में ये सोच कर ख़ुश हो गए थे कीहमे भी परी माँ मिलेगी फिर वो कुछ ऐसा करेंगी की बिल्कुल सिंड्रेला के जैसे राजकुमार से हमारी भी मुलाकात होगीउसके जैसे अच्छ...
प्यार ...
Tag :
  January 13, 2018, 1:08 pm
अभिनय ??न तो !!कभी सीखा नही मैंनेपर हर रोज़ इसकी जरूरत महसूस होती है सबके साथ क्या घरवाले क्या बाहर वालेकभी कभी तो खुद के साथ भी, चाहती कुछ हूँ करती कुछ हूँ और बोलती कुछ हूँ कई बार मन बिल्कुल नहीं मानना चाहता आये दिन के समझौतों को, पर उसका तो कत्ल मैंने बहुत पहले ही कर दिया है ...
प्यार ...
Tag :
  January 4, 2018, 11:40 am
हम सब अपनी लेखनी के द्वारामन में उठते भावों को एहसासों कोपन्नों में उतारने की कोशिश करते हैं ,हममे से कोई कविता द्वाराअपने भावों को व्यक्त करता है तो कोईलघु कथा और कहानियों द्वारा।तो फिर देर किस बात कीआइये और जुड़ियेहमारे साथ story mirror web portal सेजहाँ आप पढ़ सकते हैंलिख सकते हैं...
प्यार ...
Tag :
  November 7, 2017, 5:12 pm
शुरू से मुझे चुप रहने की आदत सी थी पर तुमने बोल बोल करखुद को मेरी आदत बना ली ,लफ़्ज़ों को एहसासों  केधागे में पिरो कर सुकूँ की चादर बुन दी ,हर रोज़ वो जो खिड़की से दिखता है न मेरा एक टुकड़ा चाँद उसकी चांदनी की चमक मेरे चेहरे पर सजा दी ,चुप रहने वाली कोतुमने हंसना बोलनागुनगुना ...
प्यार ...
Tag :
  September 27, 2017, 8:32 pm
धुप की ऊँगली थामेभटकते रहे मेरेखयाल ,शाम की सर्दहवाओं में भीउलझे रहे हर सवाल ,पररात ने हौले सेसितारों को टांकआसमान की चादर ओढ़ा दी ,सपनो के नर्म बिस्तर पर मुझे थपकियां देचांदनी ने लोरी सुनाई ,ज़िन्दगी इसी का नाम है पगली सुबह हर हाल मे तेरे आंगन को रौशन करेगी ये हिदायत फिर ...
प्यार ...
Tag :
  September 26, 2017, 3:03 pm
मैंने अभी कुछ दिनों से फेसबुक से थोड़ी सी दूरी बना ली है ......फेसबुक भी मुझे न्यूज़ चैनल्स की तरह अनर्गल  विलाप करता सा प्रतीत होता है , कभी सरकार की बुराई कभी डेरा सच्चा की, कभी दूसरे बाबाओ की, कभी आतंकवाद की।सार्थक पहल या बहस हम नहीं करते, जो हो गया उसको जानने के लिए समाच...
प्यार ...
Tag :
  September 18, 2017, 1:56 pm
मैंने अभी कुछ दिनों से फेसबुक से थोड़ी सी दूरी बना ली है ......फेसबुक भी मुझे न्यूज़ चैनल्स की तरह अनर्गल  विलाप करता सा प्रतीत होता है , कभी सरकार की बुराई कभी डेरा सच्चा की, कभी दूसरे बाबाओ की, कभी आतंकवाद की।सार्थक पहल या बहस हम नहीं करते, जो हो गया उसको जानने के लिए समाच...
प्यार ...
Tag :
  September 18, 2017, 1:56 pm
आज फिर तुम्हारी यादबेताहाशा आ रही है...ऐसा लगता है मानोदिल में कईखिड़कियाँ होंजो एक साथखुल गयी है ...और इनखिड़कियों से बसतेरी यादों कीभीनी-भीनीखुशबू आ रही है,जानती हूँतुम मुझसे मीलों दूर हो पर मुझे इस बात काज़रा भी गम नहीं कीतुम मेरे साथ नहीं,बल्कि ये यादें मुझेसुक...
प्यार ...
Tag :
  August 26, 2017, 10:58 am
जाने क्योंकभी-कभी ये मन बावरा बन उड़ने लगता है न जाने उसमेइतना हौसला कहाँ से आता है कि अपनी सारी हदें तोड़हवा से बातें करने लगता है,जाने कैसेकभी-कभीसमुन्दर की लहरों पर बना बाँध टूटने लगता हैऔर लहरें साहिल की हदें भूलकरअविरल बहने लगती हैं ,जाने क्यों कभी-कभी मेरा मन खुद से...
प्यार ...
Tag :
  August 18, 2017, 1:35 pm
चलो न आजमुहब्बत बाँट लेहम दोनों .....प्यार तेरे नामऔर तन्हाई मेरे नाम कर दें ....जानती हूँनहीं सह सकते तुमबेरुखी ....नहीं बहासकते आँसू ....रत जगेनही होते तुमसे .....     बिस्तर की सलवटोंमे नहीं ढूंढ पाते मेरा अक्सइसलिएप्यार तेरे नामतन्हाई मेरे नाम ......रेवा...
प्यार ...
Tag :
  August 11, 2017, 9:41 pm
हम सब के लिए चाय एक मामूली सी चीज है। जब मन किया पी लिया, नही पसंद आई तो फेंक भी दिया बिना एक पल सोचे। पर चाय एक गरीब के लिए क्या है? ये उससे बेहतर कोई बयां नही कर सकता।अभी कुछ दिनों पहले शाम को सियालदाह स्टेशन गयी थी बेटे को ट्रेन में बिठाने, ट्रैन आने में अभी कुछ समय था तो हम...
प्यार ...
Tag :
  August 7, 2017, 9:48 pm
ऐसा सुना है मैंने कमियां ही इन्सान को इन्सान बनाती हैं अगर कमी न हो तो इंसान भी भगवान जैसा ही हो जाता है ,तो क्या "वो मेरी सारी कमियां नजरअंदाज करता हैमुझे ख़ुदा होने का एहसास दिलाने के लिए "??रेवा...
प्यार ...
Tag :
  August 4, 2017, 2:38 pm
रविवार को मैंने MOM मूवी देखी ,मूवी देखते समय काफी रोई मैं ,देख के घर तो आ गयी पर आज दिन तक दिमाग वही घूम रहा है।मैंने तो सिर्फ एक नाट्य रूपांतर देखा है तब ये हाल है , पर जिन बच्चियों और औरतों के साथ ऐसा होता है उनके मन की स्थिती को समझना या बयां करना बहुत मुश्किल है।लेकिन न चा...
प्यार ...
Tag :
  July 27, 2017, 12:56 pm
आँखों से अबआँसू नहीं बहतेजज़्ब हो गए हैंकोरों मे ........दिल भी अबदुखता नहींबांध दिया हैसिक्कड़ों से ........एहसास अबपहले से नहींउठते मन मेउन्हें बाहरका रास्ता दिखादिया है ........उम्मीदें भीनहीं जगती अबउन्हें गहरी नींदसुला दिया है .......एक शून्य कीचादर ओढ़उस परमुस्कान काइत्र लगा ...
प्यार ...
Tag :
  July 15, 2017, 12:09 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3757) कुल पोस्ट (176082)