Hamarivani.com

प्यार

दिन में वो साया जो हल्कीधूप मेंसाथ नज़र आता हैवो अंधेरी रातों को अकेला कर कहाँ चला जाता है ??उसके साथ रहते हुए भी इतनी तन्हाई क्यों महसूस होती है ?अपनी लकीरों में तो उसे पाया है नफिर भी क्यों दूर मुझसेमेरा साया है ??जब चाहती हूं उसमे सिमटना अपना दर्द बांटना उसके बाजुओं ...
प्यार ...
Tag :
  July 18, 2018, 12:04 pm
मत करो अब मुझसे वो पहली सी उम्मीद की नहीं दे पाऊँगी अब कुछ भी तुम्हें ...जानते हो जब दर्द हदें  तोड़ देता है तो बदले में बहुत कुछ ले भी लेता है मुस्कान तो आज भी खेलती है होठों पर लेकिन सुकून -ए- दिल नहीं है आंसुओं का इन आँखों में काम नहीं अब कोई पर ...
प्यार ...
Tag :
  July 17, 2018, 11:30 am
स्त्री हैं हम हमारा कोई स्थायी पता नहीं होताजहाँ हम पैदा होतीं हैं वहां ताउम्र रहतीं नहीं जहाँ उम्र गुजारती हैं वहां कुछ इस तरह रहती हैं जैसे पांव के नीचे खाई हो जिसमें हम धस नहीं सकती और सर पर जो नीला आसमान है उस पर पंछी बन उड़ भी नहीं सकती ज़िन्दगी इनके बीच तारतम्य बैठात...
प्यार ...
Tag :
  July 16, 2018, 12:07 pm
औरतें अकसरपुल होती हैंघर के तमामसदस्यों के बीच ...बुजुर्ग बाप औरअधेड़ उम्र के बेटे के बीचएक तरफ़ बहुएक तरफ बीवीबातों को बिगड़ने सेबचाने की कोशिश मेंकभी एक तरफ़ होती हैकभी दूसरी तरफफिर पुल बनासुधारने की कोशिशकरती हैं घर का माहौल......किशोर होते बच्चेजब नहीं समझतेअपने पापा क...
प्यार ...
Tag :
  July 14, 2018, 1:10 pm
पापा आपके लिएबचपन की यादें, कितनी प्यारी होती हैं न ..और जब  जनवरी का महीना आता है तो शिद्दत से बचपन और पापा याद आने लगते हैं ।जबसे होश संभाला तब से शादी के बाद तक, माँ से ज्यादा पापा से जुड़ी रही उनकी सीख उनकी हिदायत उनकी रेसिपी।एक इच्छा जाहिर करने की देर थी पापा मेरी हर ख़...
प्यार ...
Tag :
  July 13, 2018, 10:53 am
होता है ऐसा भीके कोई प्यारजता जता केहार जाता हैपर हम उससेप्यार करते हुए भीउसकीकद्र नहीं कर पातेऔर अपने प्यार कीगहराईसमझ नहीं पातेशायद मन केकोने में ये बातरहती है कीवो कहाँ जाने वाला हैप्यार करता है नजब चाहूँ मिल जायेगामुझेपर जब हालातबदलते  हैंऔर वो प्यार वो साथछू...
प्यार ...
Tag :
  July 12, 2018, 12:04 pm
आज मैं अपनी एक पुरानी रचना साझा कर रही हूँ .....मैं खिड़की के कोने खड़े हो कर तेरा इंतज़ार करतीतेरे एक स्पर्श के लिए महीनों तड़पती तुझे याद कर के अपनी साड़ी का पल्लू भिगोतीइतना बेकरार हो जाती की तमाम कोशिशों केबावजूद तेरी आवाज़ सुन कर गला भर आतायाद की इन्तहा होने परतेरे ...
प्यार ...
Tag :
  July 11, 2018, 2:01 pm
मैं रोज़ ख़ुद से अनेकों युद्ध लड़ती हूँखुद को फिर अदालत में खड़ा कर सवाल करती हूंसवालों का सही जवाब न मिलने पर सजा सुना देती हूं और ये क्रम अनवरत चलता रहता हैजाने कब मैं अपने सवालों के सही जवाब दूँगी और खुद को अपनीअदालत में बा इज़्ज़त बरी कर पाऊंगी !!!रेवा...
प्यार ...
Tag :
  July 10, 2018, 11:06 am
एक शख्स है ऐसा जो सब रिश्ते नातों से परे सबसे ऊपर है मेरी खुशी में अपनी खुशी मिलाकर उसे दोगुना करने वाला दुख में उसे बांट व्यथा को कम करने वाला मेरी आंखें पढ़ कर दिल का हाल जानने वाला वो शख्स जो मेरी आँखों में आंखें डाल मेरे गलत को गलत बोलने की हिम्मत रखने वालामेरे ...
प्यार ...
Tag :
  July 9, 2018, 11:37 am
बहुत खुश थावो गांव केचौराहे पर खड़ाबूढ़ा पीपल,बरसों से खड़ा था अटलसबके दुःख सुख का साथीलाखों मन्नत केधागे खुद पर ओढ़े हुए ,कभी पति की लम्बी उम्रकभी धन की लालसाकभी क़र्ज़ वापसीतो कभी अच्छी फ़सलबेटी का ब्याहबेटे की चाहऔर न जाने क्या क्यापर पहली बारकिसी ने अपने लिएएक नन्ही ...
प्यार ...
Tag :
  July 8, 2018, 3:59 pm
बचपन में देखा था बड़े गौर से गिरगिट को रंग बदलते हुए अचरज तो हुआ था पर बहुत खुश भी हुई थी ऐसा कुछ देखते हुए अब बड़े गौर से देखती हूँ मनुष्यों को रंग बदलते हुए कितानी जल्दी इतने तरह के रंग बदल लेते हैं माशाल्लाह पर खुशी बिल्कुल नहीं होती एक बात बताओ ज़रा इतने गिरगिटिय...
प्यार ...
Tag :
  July 7, 2018, 12:12 pm
काश मैंने आपके सामनेलिखना शुरू किया होताकाश मैं अपनी पहली किताब आपको भेंट कर पातीकाश आप अख़बार में  अचानक  मेरी लिखी कविता पढ़ते और सबको पकड़ पकड़कर बतातेमेरी हर उपलब्धि पर मुझे फ़ोन कर बधाई देतेजानते हैं पापा वैसी ख़ुशी दुनिया में  किसी को नहीं होती हैकाश आप...
प्यार ...
Tag :
  July 6, 2018, 12:23 pm
रोज़ सुबह उठकरआंखों की रौशनी से भगवान के आगे दीप जलाती है वोताकी ज़िन्दा रहे उसका इकलौता बच्चा ग़रीब जो ठहरीकेवल पानी से करती हैपेट भर नाश्ताऔर निकल पड़ती हैकिसमत के पत्थर को मजबूरी के हथौड़े से तोड़ने  ग़रीब जो ठहरी बरसात में टपकती है जब उसकी झोपड़ी हाथों के ...
प्यार ...
Tag :
  July 5, 2018, 2:22 pm
याद है तुम्हें वो झील के किनारे की पहली मुलाकात कितना हसीं था नवो इत्तेफ़ाक तुम किसी और शहर केमैं कहीं और की अपने अपने शहरों से दूरमिले थे किसी और जगह परदेखा नहीं कभी एक दूजे को पर बातों ही बातों में की थी अनगिनत मुलाकात एक ख़्वाहिश जरूर थी दिल में एक बार तुम्हें इन नज़रो...
प्यार ...
Tag :
  July 4, 2018, 4:13 pm
वो जो कन्हैया है नजो बंसी बजाता हैउसे उसकी बाँसुरीकितनी पसंद हैप्राणो से प्यारी हैयहाँ तक की राधा औरउनके बीच भी वो रहती हैपर वो बाँसुरी जब बनती हैउसे कितनी मुश्किलोंसे गुजरना पड़ता हैउसे काटा जाता हैआकार दिया जाता हैफिर उसके तन पर छेदकिये जाते हैंउसे चमकायाजाता हैत...
प्यार ...
Tag :
  July 3, 2018, 10:38 am
मेरे हिस्से आता है सिर्फ़ देना अपनी मीठी बोली अपना प्यार अपना समर्पण अपना परिश्रम अपना सारा समय अपनी हंसी पर मेरी भी कुछ कमजोरियां हैं मन के कुछ निग्रह हैं क्या तुम उसे नज़रंदाज़ नहीं कर सकतेजब इतना कुछ लेते हो बदले में कुछ न दो पर सम्मान तो दे ही सकते हो न  !!!रेवा ...
प्यार ...
Tag :
  July 2, 2018, 10:44 am
चाहती हूँ मैं भीनज़्म लिखनाप्रेम में पगीजीवन से भरपूरएहसासों में डूबीभावनाओं से परिपूर्णजो पढ़ते ही ले जाएकिसी और दुनिया मेंपर जब जब लिखनेबैठती  हूँबेख़याली मेंलिखने लगती हूँमहीने का हिसाबकितना किसको दियाकितना बाकी हैबजट के अन्दरसब सँभाल पा रही हूँया फिर इस महीन...
प्यार ...
Tag :
  July 1, 2018, 1:47 pm
नज़रें  कितना कुछ बयां करती हैंकितने एहसास भरे रहते हैं उनमेंकुछ  एहसासों को शब्दों मेंलिखने की एक कोशिशविरहन जब अपने प्रियतमके आने की खबर पा करउसके पास जाती हैऔर उसे नज़र भर देखती हैप्यार जब पति पत्नी केकंधे पर प्यार से हाथरखता है और पत्नीउसे निहारती हैव्यथा ...
प्यार ...
Tag :
  June 30, 2018, 1:15 pm
छोटी सी गुड़िया थी तूजब भगवान ने तूझे मेरीझोली में डाला था..पूरे घर मेंउछलते कुदतेमिठी मिठी बातें करतेनखरे दिखातेकब बड़ी होमेरी प्यारी सखी बन गयीपता ही नहीं चलामेरे हर फैसले मेंमेरा साथ देने लगीबिलकुल मेरी छायाबन करपर तब सोचा नहींएक दिन तूझेये घर छोड़पीया के घर जाना हो...
प्यार ...
Tag :
  June 29, 2018, 12:06 pm
हम आम औरतें हैंत्याग की देवी नहीं....बंद कर दो हमेइस नाम से पुकारनाहमारे भी सपने हैंसाधारण ही सहीपर.....सपने तो कभीसाधारण नहीं होतेकभी छोटे या बड़े नहीं होते.....सपने सपने होते हैंजो हमेशा ही ख़ास होते हैं  ....हम तुम में से किसी सेकुछ नहीं मांगतीजो और जितना हमारे नसीब में हैवो ...
प्यार ...
Tag :
  June 28, 2018, 11:30 am
शाम को जबदिन के तमामउलझनों से फारिग होकरछत पर टहलने जाती हूँ तो ,प्रकृति की छटा देखते ही बनती है सूरज अपने बिस्तर परविश्राम करने की तैयारीमें  उलझा रहता है ,तो उधर चाँद उठने को बेताब ....कहीं लालिमा बिखरी रहती हैतो कहीं एकदम नीला आकाश पवन भी दिन भर सूरज की सेवा से मुक्त ह...
प्यार ...
Tag :
  June 27, 2018, 11:40 am
जब चाहा तुम्हारा साथतुम्हारे कंधे से कंधा मिला कर चलना ,तुम्हे अपना सबसे प्यारा हमराही और दोस्त बनानातब तुमनेछिटक दिया मेरा हाथसाथ तो क्या प्यार के दो बोल भी मय्यसर न हुए,अब जब ठोकरें खा कर मैंने चलना सीख लिया तो अचानक तुम्हे एहसास हुआ कीमुझे तुम्हारी जरूरत है और तुम्...
प्यार ...
Tag :
  June 26, 2018, 11:39 am
कई दरवाज़े हैंमेरे मन के अन्दरजिन पर ताला तो हैपर उनकी चाबियाँ भीमेरे ही पास हैहर दरवाज़े कोरोज़ खोल करछोड़ देती हूँताकि ताज़ी हवाजाती रहेऐसा करते समय मैं झांकलेती हूँ उनके अन्दरहर दरवाज़े के पीछे मेरेघर के सदस्यों केदुःख दर्दउनकी ख्वाहिशेंछिपी होती हैंजो झांकते ही मेर...
प्यार ...
Tag :
  June 22, 2018, 9:18 pm
मैं रोज़पढ़ती हूँ कविताकई बार कुछ ऐसा पढ़ती हूँजो मन को झकझोर देता है,द्रवित कर देता है कई बार आक्रोश से भर देता हैकभी कभी बेअसर भी होती हैं कविताएं लिखती भी हूँ हर रोज़ प्रेम, विरह धरती, आकाशसमुद्र, नदी भूख, गरीबी सहनशक्ति और न जाने क्या क्या लेकिन सोचती  हूँ क्या मेरी कवित...
प्यार ...
Tag :
  June 21, 2018, 8:27 pm
तुम तो अंतर्यामी हो नासब जानते समझते होरोज़ तुम्हारी पूजा करते हैं सबतुमसे सलामती की दुआ मांगते हैंअपने परिवार की सुरक्षाउनकी सेहत उनकी ख़ुशियाँ मांगते हैंमैं भी ऐसा ही तो करती हूँ,बचपन सेजबसे माँ ने सिखाया कीकिसी और से कुछ नहीं मांगनासिवा तुम्हारेतुम ही हमारे मा...
प्यार ...
Tag :
  June 20, 2018, 9:04 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3770) कुल पोस्ट (178835)