Hamarivani.com

sada-srijan

दर्द की आंखों में सूनापन देखकर अब जी घबराता नहीं बस यह लगता था कि कहीं ये रो न दे मेरी मायूसियों का चर्चा रहा सारा दिन उसकी पलकों पे कोई ख्‍वाब बह गया गया तो कैसे संभाल पाएगी वह .... कातिलों का शहर है  नींद जाने कितने ही ख्‍वाबों का कत्‍ल होता है हर रात यहां गवाही देने के लिए ...
sada-srijan...
sada
Tag :
  July 11, 2012, 3:46 pm
तुम्‍हारी खामोशी के बीचसन्‍नाटा घुटनों के बल चलते हुए जाने कब अपने पैरों पे खड़ा हो गया देख रहा था आपनी पारखी नज़रों से तुम्‍हारी मायूसी कोकभी तुम्‍हारी खिलखिलाती हँसी ने सन्‍नाटे को भी मुस्‍कराहटों के संग साझा किया था  .... सन्‍नाटे ने पहली बार महसूस किया था हँसी की म...
sada-srijan...
sada
Tag :
  June 5, 2012, 11:19 am
कुछ विरोधी स्‍वरमन में अपनी बातों की पकड़ मजबूत रखते हैं कोई कितना भी सच कहे उसे यह ना मानने की जब शपथ ले लेते हैं तो फिर नहीं मानते हैं ... कुछ समझाइशों के बादल आंखों में तैरते जरूर हैं लेकिन उन्‍हें बरसने के लिए वक्‍त पर ही निर्भर कर दिया जाता है ... एक शोर है आस-पास पर गु...
sada-srijan...
sada
Tag :
  May 14, 2012, 3:30 pm
किस किस से पूछोगेकिस किस को समझोगेयूँ तो शीर्ष परकोई न कोई होता हैऔर जिन्‍दगी में उसका हीअनुसरण करते हुएआगे बढ़ना होता है ...मानव तन में आत्‍मा काओहदा सबसे परम विश्‍वासीमाना जाता हैपर मन ने अपना कब्‍जा वहां भीसाधिकार जमा रखा हैआत्‍मा कुछ कहे तोअपना मन सबसे आगेबुद्धि ...
sada-srijan...
sada
Tag :
  April 21, 2012, 4:06 pm
उपकार के प्रति तुमकृतज्ञता का भाव रखते हो मन में जबतो क्‍या करते हो बदले मेंउसके लिए विनम्र हो जाते होया नतमस्‍तक होउसका अनुसरण करने लगते होउसकी हर खुशी काख्‍याल रख उसके आगे-पीछे होउसकी ढाल बन जाते हो सोचो क्‍या उसने तुम परइसलिए उपकार किया थावो तो मात्र माध्‍यम थातु...
sada-srijan...
sada
Tag :
  March 23, 2012, 12:17 pm
हम आम जनसामान्‍य सी भाषा में  आय और व्‍यय की सूची को बजटकहतेहैं, बजट किसी देश, संस्‍था, व्‍यक्तिगत अथवा किसी परिवार का भी हो सकताहै, यह भविष्‍य में किये जाने वाले व्‍यय का हिसाबहै जिसे हम वर्तमान मेंबनाते हैं, हर साल की तरह इस साल भी मार्च माह में बजट पेश होने जा रहा है ... क...
sada-srijan...
sada
Tag :
  March 13, 2012, 11:10 am
इस बार महिला दिवस और होलीदोनो का एक साथ आ जाना ... कौन जाने किस सत्‍य से परिचित करा रहा है यह दिन ..सच कहूं तो रंग खिलते भी वहीं हैंजहां स्‍त्री का सम्‍मान होता है  इस सम्‍मान के लिए क्‍या कोई एक दिन निश्चित  होना चाहिए .. हम मन मेंविकास की सोच रखें ऊपर उठने की इच्‍छा को बलवती ...
sada-srijan...
sada
Tag :
  March 7, 2012, 11:39 am
उजड़ जाना ... या वीरान होनाइससे तुमने क्‍या सोचाजरूर मैं किसी गुलशन की बात कर रही हूँनहीं .. नहीं ... वहां तो बहारप्रकृति ले ही आती है बसंतखिल उठते हैं फूलझूम उठती हैं टहनियॉंधरती को चूमने के लिएफिज़ाओं में घुल जाती है खुश्‍बूबागवां के चेहरे पे चमक अनोखी होती हैइन दिनों ... ...
sada-srijan...
sada
Tag :
  February 24, 2012, 11:24 am
दु:खी होने के लिएअब बड़ी घटनाओं कीजरूरत नहीं रही मन कोवो यूँ ही कभी  भीहो जाता है अनमनासब कुछ सही होते हुएजब भीनासमझी के लक्षण दिमाग मेंउथल-पुथल कर देतेवक्‍़त-बेवक्‍़तजब भी इसकी-उसकी परव़ाह कीबात होतीमन उदास हो जाताअब मन उदास हो तो भलाचेहरे पे मुस्‍कान :)कैसे आएगीलक़...
sada-srijan...
sada
Tag :
  February 18, 2012, 11:25 am
गेहूं की बाली ने कहा,पीली सरसों सेदेख आज पवनमुस्‍करा रही हैलगता है ऋतु बसन्‍तीआ रही है ...।उधर कोयल की कूक सेमुस्‍कराती टहनी आम कीझुककर धरती से बोलीदेखो कोयलबसन्‍ती गीत गुनगुना रही है ...।अम्‍बर ने कहा धरती से,अब तो तू करनाखूब श्रृंगारफूलों के खिलनेकी ऋतु बसन्‍ती जो आ र...
sada-srijan...
sada
Tag :
  January 27, 2012, 4:38 pm
यह जीवन का कौन साअध्‍याय हैसमझ नहीं पा रही हूंकल जब सेमैने उस वृद्धा कोकचरे के ढेर पर बैठकररोटी के टुकड़ो कोसाफ करने के बादआपने आंचल मेंबांधते देखाना चाहते हुए भीआंख नम हो गई .....आवाज देकर पुकारने मेंवह हड़बड़ा कर उठीऔर तेज कदमों सेअंजान सी गली मेंअदृश्‍य हो गईउसके जा...
sada-srijan...
sada
Tag :
  January 17, 2012, 5:12 pm
मौन की तड़पबस इक संवादइस तड़प कीअवधि मेंकितने पलछिनगौण हो जाते हैंजिनमें रिसते हुएदर्द के एहसासअनाम रह जाते है ...!!!...
sada-srijan...
sada
Tag :
  January 2, 2012, 10:51 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163797)