Hamarivani.com

Vaastu & Jyotish

Tips Part 1..........अनिष्टकारी राहू की शान्ति के लिए  चाय की कम से कम 200 ग्राम पत्ती लेकर 18  बुधवार दान करने से राहू का अशुभ फल समाप्त होकर शुभ फल की प्राप्ति होती है .....केतु ग्रह की शान्ति के लिए 7  बुधवार भिक्षुकों को अपने हाथ से सूजी का हलवा वितरण करें, तथा कुत्तों क...
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  May 21, 2016, 10:15 pm
भारतीय ज्योतिष में ग्रहों और धातुओं का सीधा घनिष्ठ संबंध माना गया है.क्योंकि जितने भी ज्योतिष के रत्नों द्वारा उपाय है उस सभी रत्नों में कोई ना कोई धातु का प्रयोग अवश्य होता है, साथ ही धातु आयुर्वेद ओर अन्य उपचार ओर जीवन प्रणाली का भी अभिन्न अंग है, ग्रहों की तरह धा...
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  May 21, 2016, 12:37 am
व्यक्ति के जीवन में ज्योतिष, वास्तु या दुसरे शास्त्रों का जितना महत्व है, अंग विज्ञान का महत्व भी कम नहीं है. अंग विज्ञान ही हमे बताता है कि अमुक व्यक्ति का शरीर लक्षण ऐसा होगा तो वह व्यक्ति कैसा होगा. उसका स्वभाव, उसकी सोच, उसके इरादे, उसकी कार्यशैली आदि कैसी होगी? अंग वि...
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  May 19, 2016, 1:41 am
पृथ्वी माँ ने मनुष्य जीवन में उपयोगी वस्तुएं  प्रदान की है, कोई भी समस्या हो उसका समाधान हमें पृथ्वी से प्राप्त वस्तुओं से मिलता है, सोना, चांदी आदि बहुत सी धातुएं भी हमें माँ पृथ्वी ने ही प्रदान की है. प्रत्येक धातु का अपना अलग अलग प्रभाव तथा गुण धर्म होता है, आज चा...
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  May 16, 2016, 10:01 pm
विवाह संस्कार एक शुद्ध सनातन परम्परा है, विवाह प्रेम तथा आकर्षण का पर्याय है तथा अपने पितृ देवों की प्रसन्नता के लिए एवं वंश वृद्धि के लिए जिस  से पितृ देव प्रसन्न रहे. इस पृथ्वी पर जिसने भी जन्म लिया उसका विवाह  निश्चित है , बस कुछ लोगों को छोड़ कर लगभग सभी का विवाह होत...
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  May 15, 2016, 10:22 pm
ॐ श्री महालक्ष्म्यै नमः...आप सभी को अक्षय तृतीया के पावन पर्व पर हार्दिक शुभकामनाएं...    माँ लक्ष्मी जी आपके घर में सदा वास करें.....!! श्रीरस्तु !!...
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  May 9, 2016, 12:12 am
कुण्डली में लग्न, पंचम, सप्तम तथा एकादश भावों से शुक्रका सम्बन्ध होने पर व्यक्ति में प्रेमी स्वभाव का होता है..हर युग में हर युवा दिल प्यार शब्द के लिए बहुत ही तेज दिल धडकता रहा है.हर व्यक्ति के दिल मेंइच्छा होती है की सभी उस से प्यार करे. परन्तु क्या प्यार के लिए इ...
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  May 8, 2016, 12:30 am
कुण्डली में लग्न, पंचम, सप्तम तथा एकादश भावों से शुक्रका सम्बन्ध होने पर व्यक्ति में प्रेमी स्वभाव का होता है..हर युग में हर युवा दिल प्यार शब्द के लिए बहुत ही तेज दिल धडकता रहा है.हर व्यक्ति के दिल मेंइच्छा होती है की सभी उस से प्यार करे. परन्तु क्या प्यार के लिए इ...
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  May 8, 2016, 12:30 am
भारत में भविष्य कथन की अनेकों पद्धतियां विद्यमान हैं.तथा ऋषि मुनियों ने अपने तप और ज्ञान के अनुसार मानुषों के लिए बहुत सी विधियाँ विकसित की इन्हीं विधियों में से एक है मनुष्य के अंगों और उसके लक्षण द्वारा भविष्य कथन करना.इस विधि या पद्धति को "सामुद्रिक शास्त्र" के ...
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  May 6, 2016, 11:02 am
"एक छोटा सा चमेली का फूल इतना चमत्कारी होता है जो आप सोच भी नहीं सकते, "चमेली"नाम पारसी शब्द "यासमीन"से बना है, जिसका मतलब "प्रभु की देन"है "चमेली एक सुगंधित फूल है, जिसके महक मात्र से लोग मोहित हो जाते है.  इस फूल से बहुत सारी दवाइयां बनायी जाती हैं, जो सिर दर्द, चक्...
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  May 6, 2016, 6:06 am
"एक छोटा सा गेंदा का फूल इतना चमत्कारी होता है जो कि आप सोच भी नहीं सकते घर के क्लेश को कुछ ही समय में बिलकुल शांत कर देता है... "दुनिया के किसी भी धर्म  में, किसी भी सार्वजनिक कार्य में, पूजा पाठ, उपासना, ख़ुशी के उपलक्ष्य में आदि आदि ऐसे कई प्रकार के उत्सव है सभी में विभिन्...
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  May 5, 2016, 9:39 am
"गुलमोहर "का फूल एक ऐसा फूल है, जिस के द्वारा आप अपने को आकर्षक बना कर अपने मित्रों का तथा समाज के सभी क्षेत्रों में सर्व जन वशीकरण कर लाभ उठा सकते हो  !!वशीकरण क्रिया में  सबसे अधिक और महत्वपूर्ण स्थान स्वयं को आकर्षक बनाना, जी से आप का व्यक्तित्व ऐसा बने कि लोग अपने आप ...
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  May 5, 2016, 9:37 am
प्रत्येक फूल का अपना एक अलग वार होता है तथा उसके गुण किसी दुसरे फूल में मिलान नही करते है, उदाहरण के लिए गुलाब का फूल को लेते है लाल गुलाब मंगलवार तथा रविवार में अधिक शक्ति या ऊर्जा देता है, गुलाबी पिंक गुलाब शुक्रवार, सफेद गुलाब सोमवार तथा काला गुलाब बुधवार तथा शनिवार क...
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  May 3, 2016, 9:01 am
कमल का फूल एक ऐसा फूल है, जिस के द्वारा आप माँ लक्ष्मी का वशीकरण कर सुख समृद्धि प्राप्त कर सकते हो !!जीवन चक्र का आरम्भ भी फूलों के द्वारा हो संभव हो पाता है, जब तक फूल नही होगा तब तक सृष्टि उत्पन्न नही होगी, अर्थात फूल से बीज बनता है, बीज से नया सृजन होता है, फूल से ही फल का निर...
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  May 1, 2016, 4:16 am
प्रत्येक फूल का अपना एक अलग वार होता है तथा उसके गुण किसी दुसरे फूल में मिलान नही करते है, उदाहरण के लिए गुलाब का फूल को लेते है लाल गुलाब मंगलवार तथा रविवार में अधिक शक्ति या ऊर्जा देता है, गुलाबी पिंक गुलाब शुक्रवार, सफेद गुलाब सोमवार तथा काला गुलाब बुधवार तथा शनिवार क...
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  April 30, 2016, 12:35 pm
एक छोटा सा फूल इतना चमत्कारी होता है जो आप सोच भी नहीं सकते, दुनिया के किसी भी धर्म  में, किसी भी सार्वजनिक कार्य में, पूजा पाठ, उपासना, ख़ुशी के उपलक्ष्य में आदि आदि ऐसे कई प्रकार के उत्सव है सभी में विभिन्न प्रकार के फूलों का बहुत अधिक प्रयोग होता रहा है और आज भी अधिक मा...
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  April 29, 2016, 8:05 pm
स्वप्न केवल मनुष्य ही देखता है.ईश्वर ने ऐसी दिव्य और विलक्षण शक्ति दूसरे किसी प्राणी को नहीं दी.स्वप्न मनुष्य के भविष्य की गणना निपुणता से करते है.अच्छे स्वप्न भाग्य का द्वार खोल देते है. और बुरे स्वप्न दुर्भाग्य को जन्म देते है. बुरे स्वप्न से बचने के लिए सोते समय ...
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  April 27, 2016, 8:42 am
वशीकरण कर्म अनुसार सबसे महत्वपूर्ण स्थान "जल"का है, जैसा की आप सब जानते है कि जल ही जीवन है, बिना जल के कोई भी मनुष्य, जीव जंतु और सभी वनस्पति भी जल पर आधारित है.बिना जल के जीवन का अस्तित्व ही नही है तथा बिना जल के हमारा कर्म काण्ड, पूजा पाठ सभी अधूरा है,गोस्वामी तुलसी दास जी ...
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  April 26, 2016, 1:37 am
तंत्र शास्त्र अनुसार हमारी जो पूजा पद्धति हैं या दैनिक  दिनयर्चा का सम्बन्ध भी एक तरह से  तंत्र से है, प्रत्येक ग्रह का सम्बन्ध दश महाविद्या से होने के कारण प्रतिदिन के कार्य भी अलग अलग हो जाते है. तंत्र क्रिया या कोई भी साधना से पूर्व सर्व प्रथम तिलक लगाया जाता  है....
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  April 22, 2016, 8:03 pm
हर व्यक्ति सुख चाहता हैं, दुःख से सभी भय खाते हैं, मनुष्य ही नहीं अन्य प्राणी भी सुख की कामना रखते हैं. खुले असमान में स्वछंद विचरण कर रहा पक्षी अपने को जितना सुखी महसूस करता हैं, उतना ही वह तब दुखी हो जाता हैं, जब वह एक पिंजरे मैं कैद हो जाता हैं, जहां तक मनुष्य कि बात हैं तो ...
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  April 21, 2016, 4:35 am
ज्योतिष शास्त्र में मनुष्य के जीवन की समस्त घटनाओं को जान्ने के लिए हमारे ऋषि मिनियों ने तप और साधना कर जन्म कुंडली का साधन दिया उस जन्म कुंडली में नौ ग्रह, बारह राशियाँ तथा सत्ताईस नक्षत्रों का वर्णन किया इन सबके आपस में जो योग बनते है और दशाओं का ज्ञान से मनुष्य अपने ...
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  April 20, 2016, 9:38 pm
इस लेख से पहले भी मैंने “पीपल” वृक्ष पर एक लेख लिखा था. आज उसी विषय को आगे बड़ाता हुआ, पीपल वृक्ष के जो दिव्य गुण है, उसे हमारे ज्योतिष के अंतर्गत नक्षत्रों के योग से मिलाकर किस प्रकार लाभ प्राप्त कर सकते है. उसी पर आज का यह लेख आपके सामने प्रस्तुत कर रहा हूँ. जैसा कि विदि...
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  April 16, 2016, 6:37 am
ज्योतिष शास्त्र में मनुष्य के जीवन की समस्त घटनाओं को जान्ने के लिए हमारे ऋषि मिनियों ने तप और साधना कर जन्म कुंडली का साधन दिया उस जन्म कुंडली में नौ ग्रह, बारह राशियाँ तथा सत्ताईस नक्षत्रों का वर्णन किया इन सबके आपस में जो योग बनते है और दशाओं का ज्ञान से मनुष्य अपने ...
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  April 15, 2016, 6:09 am
ज्योतिष शास्त्र में मनुष्य के जीवन की समस्त घटनाओं को जान्ने के लिए हमारे ऋषि मिनियों ने तप और साधना कर जन्म कुंडली का साधन दिया उस जन्म कुंडली में नौ ग्रह, बारह राशियाँ तथा सत्ताईस नक्षत्रों का वर्णन किया इन सबके आपस में जो योग बनते है और दशाओं का ज्ञान से मनुष्य अपने ...
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  April 13, 2016, 7:32 am
जैसा की मेने अपने आरम्भिक लेख में बताया था कि वशीकरण छः क्रियाओं में से एक महत्वपूर्ण क्रिया है वशीकरण द्वारा हम अपने बिद्गे सभी कार्य अनुकूल कर सकते है, आज के युग में समाज में बहुत ही विपरीत परिवर्तन देखने में आ रहा है कोई भी किसी का सम्मान या उसका आदर नही कर रहा है, ....
Vaastu & Jyotish...
Pt.Anil Gi Sharma
Tag :
  April 12, 2016, 12:56 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3694) कुल पोस्ट (169756)