POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: meri baat

Blogger: shambhu kumar jha
-: रामदीन :- . . . . . . . . . . . . . . . . . . . 'चुप बुढ्ढे, काम के ना काज के, दुश्मन अनाज के'रामदीन ने तुरंत अपनी आँखे झुका ली।रामदीन का एक पैर कब्र तक पहुँच चुका था। जिन्दगी के बचे हुए कुछ लम्हों को कचोटते हुए गुजार रहा था।आज उसनेशराब के नशे में लड़खड़ाते अपने ईकलौते बेटे से सिर्फ इतना कहा था 'ब... Read more
clicks 175 View   Vote 0 Like   7:56am 14 Mar 2012 #
Blogger: shambhu kumar jha
♥ डर ♥ . . . . . . . . . , . , . . . , . , . .रामदीन ने सुबह-सुबह आदतन अखबार के पन्ने उलटते हुए आवाज लगाई, "बिटिया, चाय हो गई हो तो लाना जरा" "बस थोड़ी देर और पापा" बिटिया ने अंदर से ही जबाब दी।रामदीन अखबार पढ़ते हुए अचानक गंभीर हो गाया। मोटे मोटे अक्षरों में लिखे समाचार शीर्षक "15 साल के युवक ने 13 साल ... Read more
clicks 207 View   Vote 0 Like   7:56am 14 Mar 2012 #
Blogger: shambhu kumar jha
♥ योग्य ♥ . . . . . . . . . . . . . .रामदीन पुरे जोश के साथ साक्षात्कार देने पहुँचा। आज उसके जीवन का महत्वपुर्ण दिन था। . . . . . . . . महाशय :- अंतिम सवाल, आप अपने पद पर रहते हुए कोई निजी कार्य करना पड़े तो आप क्या करेंगे।रामदीन :- सर, पद की गरिमा के लिए निजी कार्यों के लिए कोई जगह नहीं। अत: मैं पद के... Read more
clicks 165 View   Vote 0 Like   7:55am 14 Mar 2012 #
Blogger: shambhu kumar jha
♥ चँदा ♥ . . . . . . . . . . . . . . . . . . .आज 26 जनवरी के शुभ अवसर पर विद्यालय को खुब सजाया गया था।रामदीन यहाँ 15 वर्षों से चौकीदार था।रामदीन भी पुरे जोश के साथ सजावट के कार्यों में लगा था। बड़े बड़े ध्वनिविस्तारक यंत्र लगे थे, जिसमे बज रहे देशभक्ति के गाने सबों के दिल में एक नयी उमंग पैदा कर र... Read more
clicks 181 View   Vote 0 Like   7:55am 14 Mar 2012 #
Blogger: shambhu kumar jha
♥ भाई ♥ . . . . . . . . . . . . . . . . . . .ट्रिन ट्रिन "हेलो" "हेलो, गोपी के पापा आप जल्दी से घर आ जाईए" "अरे, अचानक से, और बहुत गुस्साई सी लग रही हैं आप... " "कल पंचायत बैठ रही है इसलिए आप आज ही गाड़ी पकड़ लिजिए" "पंचायत! क्या हुआ कुछ बताईए तो" "फोन पे कुछ नहीं बताउँगी, आप बस जल्दी से आ जाईए अब फोन रखती हुँ" "... Read more
clicks 152 View   Vote 0 Like   7:55am 14 Mar 2012 #
Blogger: shambhu kumar jha
♥ बिटिया ♥ . . . . . . . . . . . . . . . . . . . .साहुकार : रामदीन, तुमने अपनी सारी जमीन बेच दी, अपने आगे के भविष्य के लिए कुछ तो बचाकर रख लेते।रामदीन : अपना क्या है सेठ जी, किसी तरह जिन्दगी कट जाएगी मगर अपनी बिटिया को किसी ऐरे गैरे के यहाँ तो नहीं ना ब्याह सकता!साहुकार : हाँ, ये तो ठीक है। पुरे गाँव ... Read more
clicks 166 View   Vote 0 Like   7:54am 14 Mar 2012 #
Blogger: shambhu kumar jha
@ लफड़ा @आज बाजार एकदम रँगीन, होली जो है।रामदीन बच्चों के लिए पिचकारी और ढेर सारे रँग, अबीर खरीदा।मेहरून रँग का एक पैकेट अलग से पैक करबाया अपनी रासो (पत्नी) के लिए।पैसे चुकता कर घर की तरफ चल पड़ा, अचानक एक नशे में धुत्त युवक ने टोका "ओय, इधर सुन"रामदीन उसकी लाल लाल आँखे देखकर स... Read more
clicks 156 View   Vote 0 Like   7:54am 14 Mar 2012 #
Blogger: shambhu kumar jha
*मजाक*रामदीन एकदम खाली खाली से बैठा था तभी उसके मोबाईल पर एक अज्ञात नम्बर से कॉल आया।रामदीन "हेलौ"उधर से एकदम कोमल सी लड़की की आवाज आई "गुड आफ्टरनून सर, क्या मैं आपका कुछ वक्त ले सकती हुँ" "हाँ जी कहिये" रामदीन बोला "सर मैं एक हेल्थ इन्श्योरेंश कम्पनी से बोल रही हुँ। क्या आपन... Read more
clicks 213 View   Vote 0 Like   7:53am 14 Mar 2012 #
Blogger: shambhu kumar jha
♥ जश्न ♥ . . . . . . . . . . . . . . . . . .एक अहम फैसले का दिन था। पुरा अदालत भीड़ से खचाखच भरी थी।रामदीन सामने के कटघरे में खड़े अपने दामाद राजेश की तरफ ऊँगली दिखाकर चिल्लाए जा रहा था। "जज साहब, इस पापी को फाँसी दे दो। इस दरिन्दे को जीने का कोई हक नहीं।" "ऑर्डर ऑर्डर" जज साहब ने टेबुल ठोकी। "तमाम ... Read more
clicks 179 View   Vote 0 Like   7:51am 14 Mar 2012 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3916) कुल पोस्ट (192564)