Hamarivani.com

देश-दुनिया

      साथियों, जय हिन्द। जैसा कि मैंने तय किया है, 2014 के बाद देश-दुनिया-समाज के बारे में सोच-विचार करना नहीं है। करना भी है, तो उसे अभिव्यक्ति नहीं देनी है। यानि मेरे इस ब्लॉग "देश-दुनिया"में अब लिखना बन्द। निम्नलिखित (कविता जैसी) पंक्तियों को इस ब्लॉग का अन्तिम पोस...
देश-दुनिया...
Tag :
  December 31, 2014, 4:36 pm
1 सितम्बर'13 को मैंने एक आलेख लिखकर एक स्थानीय साप्ताहिक के पास भेजा था. शायद लेख छपा नहीं था। आज फेसबुक पर 'रुपये के अवमूल्यन'पर एक आलेख पढ़ने के बाद उसकी याद आयी। मेल बॉक्स (Sent Mail) से खोजकर उसे निकाला। उसे अब अपने इस ब्लॉग  में तो पोस्ट कर रहा हूँ: रुपये के मूल्य के बहाने भारत ...
देश-दुनिया...
Tag :
  December 29, 2014, 10:49 am
       भूमिका कल 16 दिसम्बर को पाकिस्तान के पेशावर शहर में आर्मी स्कूल में घुसकर आतंकवादियों ने सौ से ज्यादा बच्चों को मार डाला। उसी की प्रतिक्रिया स्वरुप यह आलेख मैं लिख रहा हूँ, वर्ना जिन विषयों का धर्म से, खासकर- इस्लाम से कोई सम्बन्ध हो, उनपर लिखने से मैं बचता ...
देश-दुनिया...
Tag :
  December 17, 2014, 12:03 pm
प्रस्तावना        जैसा कि हम सब जानते हैं, 21 अक्तूबर 1943 के दिन नेताजी सुभाष चन्द्र बोस ने (सिंगापुर में) "स्वतंत्र भारत की अन्तरिम सरकार"की स्थापना की थी। इस सरकार की अपनी सेना (आजाद हिन्द फौज), न्यायपालिका, प्रशासनिक व्यवस्था, डाक व्यवस्था, बैंकिंग व्यवस्था इत्या...
देश-दुनिया...
Tag :
  October 3, 2014, 5:45 pm
कल आलोक पुराणिक साहब ने एक (अखबारी) व्यंग्य रचना में क़तील शफाई के इस शे'र का जिक्र किया है:बड़ा मुंसिफ है अमरीका उसे अल्लाह खुश रखे ,ब-जोमे-शेख वो सबको बराबर प्यार देता है।किसी को हमला करने के लिए देता है मिसाइल किसी को उससे बचने के लिए राडार देता है।*** चाहे इस देश का एक-एक ना...
देश-दुनिया...
Tag :
  October 2, 2014, 3:59 pm
       कुछ समय पहले कहीं ऐसा ही कुछ पढ़ा था कि "व्यक्ति विशेष"पर प्रतिक्रिया देना छोटी बात है; "घटना विशेष"पर प्रतिक्रिया देना मध्यम दर्जे की बात है, तथा "विचार विशेष"प्रतिक्रिया देना ऊँचे दर्जे की बात है।        जब इसे नहीं पढ़ा था, तब भी मैं व्यक्ति विशेष से ...
देश-दुनिया...
Tag :
  September 14, 2014, 7:22 am
       हो सकता है, निठारी काण्ड में नौकर कोली ही दोषी हो और मालिक पंढेर निर्दोष। मगर मेरी अन्तरात्मा कहती है कि असली शिकारी मालिक पंढेर है और नौकर कोली बचे-खुचे शिकार पर गुजारा करने वाला प्राणी है!        जैसे कि इस देश में जजों तथा सीबीआई अफसरों को छोड़कर ...
देश-दुनिया...
Tag :
  September 14, 2014, 7:20 am
       फण्डा साफ है- पहले सउदी अरेबिया को हथियार बेचो; सउदी अरेबिया उन हथियारों के बड़े हिस्से को इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों को बेचेगा; ये आतंकवादी इन हथियारों से कोहराम मचायेंगे; और जब पानी नाक तक पहुँचता हुआ मालूम पड़ेगा, तब हम हथियार लेकर मैदाने-जंग में कूद ...
देश-दुनिया...
Tag :
  September 14, 2014, 7:19 am
(करीब महीने भर से लिखना बन्द था। इस दौरान कई विचार दिमाग में आये और निकल गये, जो बच गये, उन्हें एक ही बैठकी में लिखे डाल रहा हूँ।)       अरे काहे को 12-14 और 15-16 घण्टे काम! मेरा बस चले, तो 6 घण्टे से ज्यादा काम करने वालों पर मैं जुर्माना लगा दूँ! दिन में सिर्फ छह घण्टे काम कर...
देश-दुनिया...
Tag :
  September 14, 2014, 7:18 am
स्पष्टीकरण/चेतावनी/डिस्क्लेमर:एक जिम्मेदार एवं जागरुक नागरिक होने के नाते हमारा फर्ज बनता है कि हम अपने राष्ट्रीय प्रतीकों के प्रति सम्मान व्यक्त करें, देश में कायम व्यवस्था के प्रति विश्वास व्यक्त करें, राष्ट्रीय त्यौहारों को मनायें और 15 अगस्त एवं 26 जनवरी को तिरंग...
देश-दुनिया...
Tag :
  August 10, 2014, 9:13 pm
       एक तस्वीर अक्सर जेहन में उभरती है।        एक काल्पनिक चित्र!        एक स्त्री है, जिसे प्रकृति से चिरयौवन का वरदान प्राप्त है। हजारों वर्षों तक वह मुस्कुराती रही- रेशमी कपड़ों में लिपटी, सोने-चाँदी के आभूषणों से लदी...        पिछली कुछ ...
देश-दुनिया...
Tag :
  August 9, 2014, 9:36 pm
       मुझे लगा कि आनुवांशिक इंजीनियरिंग का अ भी बिना जाने, कृषि विज्ञान का क भी बिना जाने या खेतों में काम बिना किये भी- एक आम आदमी के लिहाज से- मैं इस विषय पर अपने विचार प्रकट कर सकता हूँ।        पहले एक पुरानी कहानी। वर्षों पहले ब्रिटेन में हजारों गायों क...
देश-दुनिया...
Tag :
  August 3, 2014, 12:35 pm
जैसा कि मुझे (थोड़ा-बहुत भी) जानने वाले जानते ही होंगे, मैं "सुधारों"में नहीं, बल्कि "आमूल परिवर्तन"में विश्वास करता हूँ।मेरा समय अभी आया नहीं है, मुझसे लोग अभी सहमत भी नहीं हो रहे हैं। (इसलिए मैंने कुछ समय से राजनीतिक टीका-टिप्पणी छोड़ भी रखी है।) फिर भी, जब "सी-सैट" (सिविल सर्व...
देश-दुनिया...
Tag :
  July 31, 2014, 8:03 am
       रेल को रेल ही रहने दिया जाय- इसे हवाई जहाज न ही बनाया जाय, तो बेहतर। जिन्हें कहीं पहुँचने की बहुत जल्दी हो, वे हवाई जहाज पकड़ लें और जिन्होंने बुलेट ट्रेन में बैठने की कसम खा ली है, वे चीन या जापान की नागरिकता ले लें!        हम तो इतना ही चाहेंगे कि हमारी ...
देश-दुनिया...
Tag :
  July 13, 2014, 1:26 pm
       ठीक-ठीक 'कोलोजियम'का अर्थ मैं नहीं जानता, मगर इतना समझता हूँ कि यह एक रहस्यमयी किस्म की संस्था है, जो गोपनीय तरीके से सर्वोच्च न्यायालय तथा उच्च न्यायालयों के लिए मुख्य न्यायाधीशों की नियुक्ति करती है।        मैं यह सुझाव पेश करता हूँ कि हमारे देश ...
देश-दुनिया...
Tag :
  July 11, 2014, 4:24 pm
       1. मुझे उम्मीद थी यह सरकार भारतीय विश्वविद्यालयों का सोया हुआ स्वाभिमान जगायेगी और उन्हें विश्वस्तरीय बनायेगी, मगर ऐसा न करके पिछली सरकार ने जो योजना बनायी थी भारत में विदेशी विश्वविद्यालयों की शाखायें खोलने की, उसी योजना को यह सरकार आगे बढ़ाने जा रही है...
देश-दुनिया...
Tag :
  June 15, 2014, 8:41 pm
       सच कहूँ, तो नरेन्द्र मोदी जी के नाम पर भाजपा को इस चुनाव में ऐसा तगड़ा बहुमत मिलेगा- ऐसी उम्मीद मुझे नहीं थी। दूसरी तरफ, जहाँ तक मैंने जाना है, व्यक्तिगत रुप से मोदी जी बहुत ही चरित्रवान व्यक्ति हैं। थ्योरी कहती है, एक चरित्रवान व्यक्ति को अगर पूर्ण बहुमत मि...
देश-दुनिया...
Tag :
  June 5, 2014, 10:22 pm