POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: कल्पना-लोक

Blogger: Mahesh Soni
सारा जग जानता है कहाँ मेरा घर हैतेरा दिल दिल नहीं है वो मेरी कबर हैताज से तुलना की तेरे दिल की तो पायादोनों पाषाण है और दोनों कबर हैजिन्दगी में कभी चैन से सोया ना थासोने के बाद चिंता न कोई फिकर हैमैं अकेला नहीं हूँ यहाँ लोग हैं साथभीड़ है पर ये मरघट है ना कि नगर हैहम जहाँ ज... Read more
clicks 222 View   Vote 0 Like   3:05pm 26 May 2012 #
Blogger: Mahesh Soni
फूल सी इक ईच्छा मैंने पाली हैमाधुरी जूही कवि की साली हैफूलों के दर्शन का मौका देती हैचोली में जो फूलोंवाली जाली हैरूप नारी का धरा है कृष्ण नेमोहिनी सी रूपसी पर काली हैछाँटता हूँ होली पर गम्मत गुलालउस की मर्यादा भी मैंने पाली हैखुशबू से भर देती है वातावरणसाली चंदन की म... Read more
clicks 160 View   Vote 0 Like   1:38pm 22 May 2012 #
Blogger: Mahesh Soni
चाहत दिल की पूरी करता हूँपंछी हूँ जब चाहूँ उड़ता हूँछोटा सा लगता है आकाश जब मैं बंजारो सा फिरता हूँ रैनबसेरा पेड़ों पे है दोस्तकुदरत से ही रिश्ता रखता हूँपंखों में है संतुलन जरूरीउड़ानों से साबित करता हूँमानव का कर दिया सत्यानाशयांत्रिक दुश्मन से मैं डरता हूँकुमार अहम... Read more
clicks 148 View   Vote 0 Like   3:09am 4 May 2012 #
Blogger: Mahesh Soni
गहन समस्या सामने है कोई हम को राह बताएचक्र चलाएँ भूखे रहें हम कोई सच्ची राह बताएघातक हमले संस्कृति परघातक हमले भारत परघातक हमले मानवता परघातक हमले आजादी पर, हो रहे हैं....कोई सच्चीनजर के सामने मोहन हैँ दोनजर के सामने विचार हैँ दोनजर के सामने युद्ध हैँ दोनजर के सामने युग... Read more
clicks 217 View   Vote 0 Like   9:38am 30 Apr 2012 #
Blogger: Mahesh Soni
मूल लेखिका> स्नेहा पटेल "अक्षि तारक" अनुवाद> महेश सोनीहम देखते सुनते आये हैं की हर एक प्रेम कहानी किसी फिल्म या गीत से समानता रखती है। परदे की कहानी के नायक नायिका वास्तविक कहानी के नायक नायिका को देखकर सोचते होंगे की हमारे डायरेक्टर को इन की कहानी से ही आइडिया मि... Read more
clicks 165 View   Vote 0 Like   12:19pm 18 Apr 2012 #
Blogger: Mahesh Soni
ग़ज़लप्रेम का दीप सनम दिल में जलाए रखना।रोशनी पीता रहूँ प्यास जगाए रखना॥शाम का सूर्य ख़ज़ाना लुटा देगा तुज पर।देह के गाँव में बेटे को बसाए रखना॥बाज़ से पंख से ही नाप सकोगे नभ को।कोषिकाओं की तू मजबूती बढाए रखना॥सुन, सफल होने का है सब से सरल रास्ता ये।धीरे धीरे ह... Read more
clicks 162 View   Vote 0 Like   7:40am 3 Apr 2012 #
Blogger: Mahesh Soni
तपस्या के बिना सधता नहीं है ज्ञान बंदे।अगर सध जाए टिकाना नहीं आसान बंदे॥गगन के पार ले जाए जो, हैँ वो सारथि कौन?दशमलव, शून्य उड़ाते हैं वायुयान बंदे॥लगाते पार वो मल्लाह, नैया को जो लहरों;दिशाओँ, वायुओँ से रखते हैं पहचान बंदे॥पसीना नींव में सिमेन्ट के संग गर भरा जाए।इमार... Read more
clicks 155 View   Vote 0 Like   2:52pm 2 Apr 2012 #
Blogger: Mahesh Soni
झुकाके 'यूँ,' नज़र; स्वीकार होता है। अदा से, प्यार में इकरार होता है॥...झुकाकेसुहाना आसमाँ, लगती धरा प्यारी।गुलोँ, कांटो से, सबसे प्यार होता है॥...झुकाकेनदी की धारा में, नभ की गहनता में।सदा, मन खोने को तैयार होता है॥...झुकाकेन पूछो हौसला होता है कितना, जब।दिलों में प्यार बेशु... Read more
clicks 146 View   Vote 0 Like   2:29pm 2 Apr 2012 #
Blogger: Mahesh Soni
आँखों में दीप जल रहा है।शहद सा स्वप्न पल रहा है।प्रेम का कब मिलेगा न्यौता।मोर मन का मचल रहा है।अब गगन को गुलाबी कर दो।धीर का सूर्य ढल रहा है।ओ बलम राह देखे श्रँगार।मिटने को ये मचल रहा है।मीठे पल होंगे कितने मादक।मन में ये प्रश्न चल रहा है।फूल भौँरा है पर नहीं है।दोनों ... Read more
clicks 200 View   Vote 0 Like   4:44pm 21 Mar 2012 #
Blogger: Mahesh Soni
(प्रिल्युड)(पुरुष) गोरी तू चटक मटक, लटक मटक, चटक मटक, करती क्युं री? ओये होये क्युं री?(स्त्री) पीया तू समझ सनम, चटक मटक, लटक मटक, करती क्युं मैं? ओये होये क्युं मैं?(पुरुष) तेरा ये बदन अगन, जलन दहन, नयन अगन, लगते क्युं है? ओये होये क्युं है?(स्त्री) मेरे ये नयन बदन, सनम अगन, जलन द... Read more
clicks 172 View   Vote 0 Like   5:40am 12 Mar 2012 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Publish Post