POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: चलती का नाम गाड़ी

Blogger: ललित शर्मा
प्रारंभ से पढेंअगली सुबह अलबेला खत्री जी से बात हुई तो उन्होने बताया कि वे एक दिन पहले अहमदाबाद में ही थे। फ़िर उन्होने कहा कि अगले दिन मैं सुबह की गाड़ी से अहमदाबाद आ रहा हूँ। वहीं मुलाकात हो जाएगी। मैने कहा कि अहमबाद स्टेशन पर आपको गाड़ी तैयार मिलेगी। मुझे फ़ोन कर दे... Read more
clicks 274 View   Vote 0 Like   11:14am 23 Apr 2012 #गुजरात
Blogger: ललित शर्मा
प्रारंभ से पढेंउतेलिया पैलेस का नाम सुनते ही हम तुरत-फ़ुरत उतेलिया की निकल पड़े। मैने सोचा कि राजस्थान के किलों या महलों जैसा ही कुछ होगा। उतेलिया गाँव के चौराहे पर पहुंच कर लोगों से पैलेस का रास्त पूछा। उतेलिया एक गाँव ही नजर आया। हमारे छत्तीसगढ के ग्रामीण अंचल जैसे ... Read more
clicks 212 View   Vote 0 Like   11:12am 23 Apr 2012 #दीवान
Blogger: ललित शर्मा
लोथल का आसमानी चित्रप्रारंभ से पढेंलोथल (લોથલ) ​का उत्खनित स्थल संग्रहालय से थोड़ी दूर पर ही है। मुख्यद्वार से प्रवेश करने पर सामने एक गोदी नुमा संरचना दिखाई दी। वहाँ से हम आगे बढ लिए, जिस बंदे से हमें मुलाकात करके इस बंदरगाह के विषय में जानना था वह नगर की बसाहट के नीचे ... Read more
clicks 351 View   Vote 0 Like   11:11am 23 Apr 2012 #हड़प्पा
Blogger: ललित शर्मा
प्रारंभ से पढेंलोथल के प्रवेश द्वार पर विनोद गुप्ता जी और लेखकप्राथमिक पाठशाला में पढते थे तो एक पाठ सिंधुघाटी की सभ्यतापर था। पाठ के आलेख में मोहन जोदड़ोएवं हड़प्पा, से प्राप्त खिलौने में चक्के वाली चिड़िया, मुहर और पुरुष का रेखा चित्र भी था। साथ ही उस समय के लोगों क... Read more
clicks 253 View   Vote 0 Like   11:10am 23 Apr 2012 #हड़प्पा
Blogger: ललित शर्मा
प्रारंभ से पढेंसुबह उठा, तो देखा कबूतर अकेला था। प्रेम चोपड़ा के डर से कबूतरी नहीं आई। आज नामदेव जी की वापसी थी, वापसी की टिकिट हम दोनों की साथ ही थी पर मुझे तो अभी और घुमना था। सुबह कार्यक्रम बना कि साबरमती आश्रम चला जाए फ़िर वहीं से नामदेव जी को भोजन करवा कर ट्रेनारुढ क... Read more
clicks 261 View   Vote 0 Like   11:04am 23 Apr 2012 #ललित शर्मा
Blogger: ललित शर्मा
प्रारंभ से पढेंअहमदाबाद का सुबह का नजारासुबह साढे 5 बजे आँख खुली तो खिड़की से अंधेरा नजर आ रहा था। तब समझ आया कि यहाँ हमारे छत्तीसगढ की अपेक्षा दिन देर से निकलता है। खिड़की से नीचे झांक कर देखा तो स्ट्रीट लाईट जल रही थी। सुनसान सड़क शंहशाह की सवारी गुजरने का अहसास करा र... Read more
clicks 219 View   Vote 0 Like   11:03am 23 Apr 2012 #गुजरात
Blogger: ललित शर्मा
स्वामी नारायण संप्रदाय द्वारा संचालित कॉलेप्रारंभ से पढें गुजरात की राजधानी गांधी नगर में प्रवेश करने पर कीकर के पेड ही दिखाई दिए। हमारा उद्धेश्य था स्वामी नारायण सम्प्रदाय के अक्षरधाम मंदिर को देखना। हम 4 बजे मंदिर के सामने थे। मंदिर पहुंचने पर जिग्नेश ने बताया कि ... Read more
clicks 293 View   Vote 0 Like   11:02am 23 Apr 2012 #गुजरात
Blogger: ललित शर्मा
प्रारंभ से पढेंअड़ालज का रास्मारुतिनंदन रेस्टोरेंट से भोजन करके गांधीनगर मार्ग पर बढते हैं, इस मार्ग पर आगे चल कर बाएं हाथ को अड़ालज लिखा हुआ एक बोर्ड लगा है। हमारी गाड़ी यहीं से एक गोल चक्कर लेती है और अड़ालज की ओर बढ जाती है। बावड़ियाँ तो बहुत देखी हैं। लेकिन जिग्ने... Read more
clicks 230 View   Vote 0 Like   11:00am 23 Apr 2012 #गुजरात
Blogger: ललित शर्मा
प्रारंभ से पढे चौधरी की चाय, चौधरी की चाय के शोर के साथ आँख खुली। आँख बंद किए किए ही चाय का आर्डर दिया। महाराज भी उठ चुके थे, उन्होने एक चाय मुझे थमाई और एक चाय खुद थामी। 5 रुपये में चाय उम्दा थी, लेकिन कप छोटा था, महाराज ने चाय वाले से दुबारा कप में चाय डलवाई तब उनकी इच्छा पुर... Read more
clicks 188 View   Vote 0 Like   10:59am 23 Apr 2012 #गुजरात
Blogger: ललित शर्मा
प्रारंभ से पढे चौधरी की चाय, चौधरी की चाय के शोर के साथ आँख खुली। आँख बंद किए किए ही चाय का आर्डर दिया। महाराज भी उठ चुके थे, उन्होने एक चाय मुझे थमाई और एक चाय खुद थामी। 5 रुपये में चाय उम्दा थी, लेकिन कप छोटा था, महाराज ने चाय वाले से दुबारा कप में चाय डलवाई तब उनकी इच्छा पुर... Read more
clicks 183 View   Vote 0 Like   10:59am 23 Apr 2012 #अहमदाबाद
Blogger: ललित शर्मा
प्रारंभ से पढे चौधरी की चाय, चौधरी की चाय के शोर के साथ आँख खुली। आँख बंद किए किए ही चाय का आर्डर दिया। महाराज भी उठ चुके थे, उन्होने एक चाय मुझे थमाई और एक चाय खुद थामी। 5 रुपये में चाय उम्दा थी, लेकिन कप छोटा था, महाराज ने चाय वाले से दुबारा कप में चाय डलवाई तब उनकी इच्छा पुर... Read more
clicks 278 View   Vote 0 Like   10:59am 23 Apr 2012 #गुजरात
Blogger: ललित शर्मा
कई महीनों से गुजरात यात्रा करने विचार था लेकिन कोई न कोई अवरोध यात्रा में उत्पन्न होने के कारण जाना नहीं हो पा रहा था। पिछले 14 दिसम्बर को मित्र नामदेव जी ने गुजरात जाने की बात कही और मैं सहर्ष तैयार हो गया। अभी नवम्बर में ही हमने एक लम्बी यात्रा की थी, तब भी जाने का मन बना ... Read more
clicks 261 View   Vote 0 Like   10:58am 23 Apr 2012 #यात्रा
Blogger: ललित शर्मा
ढोकरा कला कृतियाँप्रारंभ से पढेंजयदेव जी के घर से निकले ही थे कि बहन का फ़ोन आ गया। उसने बताया कि खाना बनकर तैयार है विलंब न करें। दो शिल्प खरीदे गए थे, बिजली न होने के कारण उन पर पालिश नहीं हो पाई, जयदेव जी के पुत्र ने पालिश के लिए बिजली आने का इंतजार करने कहा। तब तक हमने भ... Read more
clicks 218 View   Vote 0 Like   10:56am 23 Apr 2012 #बस्तर
Blogger: ललित शर्मा
जयदेव बघेल जी के घर (चित्र राहुल सिह जी के सौजन्य से)प्रारंभ से पढेंबस्तर, भानपुरी से चल कर हम कोण्डा गाँव पहुंचते हैं, नाके के पास गाड़ी रोक कर एक पान वाले से जय देव बघेल जी का घर पूछते हैं। तो वह कहता है कि सीधे हाथ की तरफ़ जो रास्ता जा रहा है उस पर चले जाईए। उनके नाम का बोर... Read more
clicks 230 View   Vote 0 Like   10:54am 23 Apr 2012 #बस्तर
Blogger: ललित शर्मा
चित्रकुट जलप्रपात रात का दृष्य (मेरे मोबाईल से)प्रारंभ से पढेंहम अब चित्रकूट जाना चाहते थे, शाम के 5 बज रहे थे। हमारी मंजिल 66 किलोमीटर दूर थी। सपाटे से चल पड़े क्योंकि थोड़ी देर में अंधेरा होने को था। जगदलपुर से 6 किलोमीटर पहले अंकल की सीमेंट ब्लॉक फ़ैक्टरी है। गेट खुला ... Read more
clicks 241 View   Vote 0 Like   10:52am 23 Apr 2012 #राजमहल
Blogger: ललित शर्मा
तीरथगढ कुटुमसर (गुगल  के सौजन्य से)प्रारंभ से पढेंकांगेर घाटी में स्थित तीरथगढ़ दक्षिण पश्चिम दिशा में जगदलपुर से केशलुर 18 किलोमीटर और फ़ारेस्ट नाका 18 किलोमीटर फ़िर तीरथगढ 6 किलोमीटर है। कुटुमसर गुफ़ायहाँ से 12 किलो मीटर है। अगर तीरथगढ जाना है तो जगदलपुर से 42 किलो मीटर ... Read more
clicks 228 View   Vote 0 Like   10:50am 23 Apr 2012 #बस्तर
Blogger: ललित शर्मा
दंतेवाड़ा की ओरआरंभ से पढें सुबह आँख खुली तो घड़ी 6 बजा रही थी और हम भी बजे हुए थे, कुछ थकान सी थी। कमरे से कर्ण गायब था, सुबह की चाय मंगाई, चाय पीते वक्त टीवी गा रहा था "सजनवा बैरी हो गए हमार, करमवा बैरी हो गए हमार।" स्नान करने लिए गरम पानी का इंतजार करना पड़ा, जब से सोलर उर्जा ... Read more
clicks 226 View   Vote 0 Like   10:48am 23 Apr 2012 #दंतेश्वरी माई
Blogger: ललित शर्मा
बस्तर की धरा किसी स्वर्ग से कम नहीं। हरी भरी वादियाँ, उन्मुक्त कल-कल करती नदियाँ, झरने, वन पशु-पक्षी, खनिज एवं वहां के भोले-भाले आदिवासियों का अतिथि सत्कार बरबस बस्तर की ओर खींच ले जाता है। बस्तर के वनों में विभिन्न प्रजाति की इमारती लकड़ियाँ मिलती हैं। यहाँ के परम्पराग... Read more
clicks 220 View   Vote 0 Like   10:44am 23 Apr 2012 #दंतेश्वरी माई
Blogger: ललित शर्मा
पहले भी अयोध्या आया था, तब भी देखा था, अभी भी देखा है, बदला कुछ भी नहीं है, वही विक्रम की सवारी, पहले दो-दो रुपए लेते थे अब 5-5 और 10-10 लेने लगे हैं, लिट्टी चोखा का ठेला, बिड़ला धर्मशाला के समीप होमियोपैथी के डॉक्टर की दुकान, पुलिस चौकी, जलेबी और इमरती की दुकान, सड़क पर घूमते हुए आव... Read more
clicks 241 View   Vote 0 Like   10:43am 23 Apr 2012 #बंदर
Blogger: ललित शर्मा
बिड़ला मंदिर की घंटियों की आवाज से नींद खुली, मंदिर की घंटियों की आवाज से नींद का टूटना, अच्छा लग रहा था। कमरे की पिछली खिड़की से रोशनी आ रही थी। मच्छर न होने के कारण रात को चैन की नींद आयी। रात चैन की नींद आए तो आने वाली सुबह खुबसूरत हो जाती है, थकान उतरने के बाद की ताजगी चा... Read more
clicks 313 View   Vote 0 Like   10:42am 23 Apr 2012 #ददुवा राजा
Blogger: ललित शर्मा
सुबह का नाश्ताप्रारंभ से पढें रात खूब सोना बनाया, मन-तन की थकान दूर हो गयी थी। चिड़ियों की चहचहाट सुनाई दे रही थी, बाहर बरामदे में गौरैया फ़ुदक रही थी। बरामदे में ही कुर्सी डालकर बैठा, चाय वाला भी आ गया। मैने कहा कि डबल चाय चाहिए, रात की खुमारी उतराने के लिए। काफ़ी दिनों स... Read more
clicks 218 View   Vote 0 Like   10:40am 23 Apr 2012 #ललित शर्मा
Blogger: ललित शर्मा
प्रारंभ से पढें हमें जो ऑटो वाला मिला था वह बहुत अच्छा आदमी था, उसने हमें भरत कुंड पहुंचाया, मैने उसे सबके लिए चाय बनवाने कहा और हम मंदिर दर्शन के लिए चल पड़े। मंदिर में पहुचने पर एक जगह लिखा था "भरत गुफ़ा" । बताया गया कि यहाँ भरत जी ने गुफ़ा में रहते थे। कहते हैं कि राम-... Read more
clicks 260 View   Vote 0 Like   10:40am 23 Apr 2012 #छावनी
Blogger: ललित शर्मा
गायत्री तपोभूमि-मुख्यद्वारप्रारंभ से पढेंगायत्री तपोभूमि जहाँ श्रीराम शर्मा ने अखंड ज्योति जलाई थी, आज गायत्री परिजनों के लिए शक्ति का केन्द्र एवं तीर्थ स्थल बन चुका है। यहां ठहरने एवं भोजन की उत्तम व्यवस्था है, भोजन एवं प्रात:राश समय पर उपलब्ध होता है। हम समय के दा... Read more
clicks 260 View   Vote 0 Like   10:33am 23 Apr 2012 #तपोभूमि
Blogger: ललित शर्मा
घड़ी चौक रायपुरजिज्ञासु प्रवृत्ति मनुष्य को देशाटन, तीर्थाटन को प्रेरित करती है, वह अज्ञात को जानना चाहता है। यही अज्ञात को जानने की ललक उससे यात्राएं करवाती हैं। पहले लोग जीवन के उत्तरार्ध में तीर्थाटन करते थे, बैलगाड़ी, घोड़े एवं पैदल यात्रा करनी पड़ती थी। सुरक्षा... Read more
clicks 208 View   Vote 0 Like   10:32am 23 Apr 2012 #तपोभूमि
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3991) कुल पोस्ट (194953)