POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: ब्लॉग 4 वार्ता

Blogger: ललित शर्मा
संध्या शर्माका नमस्कार....क्या "स्त्री"होना अपराध है ?दिन भर ताना सुन कर भी, कितनी खुश होती है वो... बिना 'खाने'के दिन गुजर जाता है उसका... बिना 'शिकायत'के जिंदगी गुजार देती है 'वो'... फिर भी उस पर ये 'इन्सान'इतना 'शैतान'क्यों है ? हैवान क्यों है ? क्या अपराध किया जो वो "स्त्री"हुयी ? र... Read more
clicks 210 View   Vote 0 Like   3:13am 2 Jun 2014 #
Blogger: ललित शर्मा
संध्या शर्माका नमस्कार...."तिल और गुड घ्या गोड-गोड बोला"   त्यौहार की उमंग और आकाश में लहराती, हिचकोले खाती रंग - बिरंगी पतंग आप सभी के जीवन को नए उत्साह और आनंद से भर दे और मकर संक्रांति के सूर्योदय के साथ एक नए सवेरे का शुभारम्भ हो इसी कामना के साथ आप सभी को ब्लॉग वार्ता ... Read more
clicks 200 View   Vote 0 Like   11:16pm 12 Jan 2014 #
Blogger: ललित शर्मा
संध्या शर्माका नमस्कार.......किसी देहरी आज अँधेरा न रहने देंआओ बस्ती झोपड़ियों में दीप जलाएं। अपनों के तो लिये सजाये कितने सपने, सोचा नहीं कभी उनका जिनके न अपने, भूखे पेट गुज़र जाती हर रातें जिनकी, चल कर के उनमें भी एक आस जगाएं। बना रहे हैं जो दीपक औरों की खातिर, उनके घर में ... Read more
clicks 248 View   Vote 0 Like   11:16pm 2 Nov 2013 #
Blogger: ललित शर्मा
संध्या शर्माका नमस्कार.... 'पूर्णस्य पूर्णमादाय ' कहने से तात्पर्य यह है की यदि तुम स्वयं इस सत्य की अनुभूति कर सको कि वही ' पूर्ण ' तुम्हारे साथ साथ इस विश्व ब्रह्माण्ड के कण कण में भी प्रविष्ट है तो फिर उस ' पूर्ण ' के बाहर शेष बचा क्या ? इसी को कहा गया - ' पूर्णमेवावशिष्यते '....... Read more
clicks 227 View   Vote 0 Like   8:45am 22 Oct 2013 #
Blogger: ललित शर्मा
संध्या शर्माका नमस्कार...जब-जब ओस की बूँदें बेचैन होंगी घास के मुरझाये पत्तों पर ढरकने को धीरे से धरती भी छलक कर उड़ेल देगी भींगा-भींगा सा अपना आशीर्वाद और बूँदों के रोम-रोम से घास का पोर-पोर रच जाएगा हरियाली की कविता से तब-तब मैं पढ़ ली जाऊँगी उन तृप्ति की तारों में जब-जब... Read more
clicks 240 View   Vote 0 Like   6:30pm 2 Sep 2013 #
Blogger: ललित शर्मा
संध्या शर्माका नमस्कार...रात की झील पर.....तैरती उदास कि‍श्‍ती हर सुबह आ लगती है कि‍नारे मगर न जाने क्‍यों ये जि‍या बहुत होता है उदास ..... ऐ मेरे मौला कहां ले जाउं अब अपने इश्‍क के सफ़ीने को तेरी ही उठाई आंधि‍यां हैं है तेरे दि‍ए पतवार.... कहती हूं तुझसे अब सुन ले हाल जिंदगी की ... Read more
clicks 204 View   Vote 0 Like   11:16pm 11 Aug 2013 #
Blogger: ललित शर्मा
संध्या शर्माका नमस्कार....बड़ा बेदम निकलता है... - हँसी होंठों पे रख, हर रोज़ कोई ग़म निगलता है... मगर जब लफ्ज़ निकले तो ज़रा सा नम निकलता है... वो मुफ़लिस खोलता है रोटियों की चाह मे डिब्बे...लीजिये प्रस्तुत है, आज की वार्ता .......आठ ब्लॉगरों को परिकल्पना साहित्य स... Read more
clicks 220 View   Vote 0 Like   11:16pm 1 Aug 2013 #
Blogger: ललित शर्मा
संध्या शर्माका नमस्कार...लम्हा - लम्हा जिंदगी कुछ यूँ सिमट गई , जो मज़ा था इंतजार में अब सज़ा बन गई | दर्द और ख़ुशी के बीच दूरियां जो बड गई , दिलो के दरमियाँ मोहोब्बत कम हो गई | चिठ्ठी - तार बीते जमाने की बात हो गई , आधुनिक दौड़ में वो बंद किताब हो गई | कुछ सवाल हदों की सीमाएं पार ... Read more
clicks 200 View   Vote 0 Like   1:47am 24 Jul 2013 #
Blogger: ललित शर्मा
संध्या शर्माका नमस्कार......कभी जो हम नहीं होंगे ....!!! - .... कहो किस को बताओगे ...? वो अपनी उलझने सारी ... वो बेचैनी में डूबे पल ...? वो आँखों में छुपे आँसू ...? किसे फिर तुम दिखाओगे ...ब्लॉग जगत में कल का पूरा दिन पिता को समर्पित स्नेह से भरी सुन्दर रचनाओं का रहा उनमें से ... Read more
Blogger: ललित शर्मा
संध्या शर्माका नमस्कार......करती रहती हूं भरने की कोशि‍श शब्‍द-बूंदो से उम्‍मीद का घड़ा टप-टप टपकती आस की बूंदों को गि‍नती-सहेजती हैं दो आतुर नि‍गाहें कि तभी पी जाता है आकर, संदेह का काला कौआघड़े का सारा पानी भर जाती है देह में बेतरह थकान सोचती हूं कहां मि‍लेगा मुझे यकीन ... Read more
Blogger: ललित शर्मा
संध्या शर्माका नमस्कार...मायूस तो हूं वायदे से तेरे कुछ आस नहीं कुछ आस भी है, मैं अपने ख्यालों के सदके तू पास नहीं और पास भी है. दिल ने तो खुशी माँगी थी मगर, जो तूने दिया अच्छा ...सुबह ढूंढेंगे फ़िर सपने, अभी तो शाम ढलती है - इन हथेली की लकीरों से, कहाँ तक़दीर ब... Read more
Blogger: ललित शर्मा
संध्या शर्माका नमस्कार... जनता पर फिर महंगाई की मार, पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़े. डॉलर की तुलना में रुपये की गिरावट आम जनता पर महंगी पड़ी। कमजोर रुपये की वजह से ही शुक्रवार को तेल कंपनियों को तीन महीने बाद पेट्रोल की कीमत में 75 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि करने का फैसला करना पड़ा।... Read more
Blogger: ललित शर्मा
संध्या शर्मा का नमस्कार.....ये ब्लॉगिंग है जनाब ! जैसे हड्डी-शोरबा मिला शोख़ क़बाब या गज़क लाजवाब पर यहाँ नहीं है कोई नवाब एक-दूजे का जोरदार हुकुम बजाइये और नजराना में वही आह-वाह पाइये......लीजिये प्रस्तुत है, आज की वार्ता ........ श्रीसंतों का कैसा हो बसंत ? - श्री... Read more
Blogger: ललित शर्मा
आप सबों को संगीता पुरी का नमस्‍कार , कांग्रेस ने आज इस बात को खारिज कर दिया कि घपले और घोटाले कल चार साल पूरा करने जा रही संप्रग-दो की कमियां रही हैं। संप्रग कल सत्ता में लगातार नौ साल भी पूरा करेगी। जब पत्रकारों ने यह सवाल किया कि क्या पार्टी मानती है कि घोटाले संप्रग-दो ... Read more
clicks 232 View   Vote 0 Like   10:00pm 20 May 2013 #ब्‍लॉग4वार्ता
Blogger: ललित शर्मा
संध्या शर्मा का नमस्कार....18 , 19 और 20 मई 2013 के दिन ग्रहों की स्थिति सामान्‍य तौर पर शुभ फल दायी होंगी , मौसम और वातावरण कुछ बढिया रहेगा , शेयर बाजार में कुछ जोड तोड की स्थिति ही रहेगी , तीनो ही दिन का समय मकर राशि वालों के लिए अशुभ तथा मीन राशि वालों के लिए शुभ रहेगा , तीनों ही दिन ... Read more
Blogger: ललित शर्मा
संध्या शर्मा का नमस्कार....हमें भी स्वयं के अवदान को कम अंकित कर दूसरों से तुलना नहीं करनी चाहिए, प्रायः हम अपने गुणों को कम और दूसरों के गुणों को अधिक आंकते हैं, यदि औरों में भी विशेष गुणवत्ता है तो हमारे अन्दर भी कई गुण मौजूद हैं।अपना अपना महत्त्व  ... लीजिये प्रस्तुत है, ... Read more
Blogger: ललित शर्मा
आप सबों कोसंगीता पुरी का नमस्‍कार , कल बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 430.65 अंक की भारी गिरावट के साथ 19,691.67 अंक पर आ गया। यह 27 फरवरी, 2012 के बाद सेंसेक्स की सबसे बड़ी गिरावट है। बंबई शेयर बाजार में चले भारी बिकवाली के दौर से निवेशकों की कुल पूंजी एक लाख करोड़ रुपये घट गई। प्रत्येक त... Read more
clicks 251 View   Vote 0 Like   11:00pm 13 May 2013 #ब्‍लॉग 4 वार्ता
Blogger: ललित शर्मा
संध्या शर्मा का नमस्कार..... तुम्हारे बिना सिर्फ अन्धकार दिखता हैऔर उसे, सिर्फ तुम्हारा दमकता चेहराही हटा सकता हैन करना मेरे जीवन मेंकभी ऐसा अंधकारन जाना कभी छोड़कर मुझे मेरी माँ।माना कि सबको जाना है एक दिनसब जीते भी हैं सभी के बिनपर नहीं जीना मुझे एक पल भीतेरे साए के ब... Read more
Blogger: ललित शर्मा
संध्या शर्मा का नमस्कार.....खो गए सारे शब्‍द देता नहीं कोई एक आवाज भी अब जबकि जानता है वो वही थी एक आवाज मेरे जीने का संबल वो जा बैठा है दूर...इतनी दूर जहां मेरा रूदन वो सुनकर भी नहीं सुनता ना ही पलटकर देखता है कभी एक बार रेत के समंदर में रोज उठता है एक तूफान मेरे वजूद को ढक ले... Read more
Blogger: ललित शर्मा
आप सबों को संगीता पुरी का नमस्‍कार , दस करोड़ रूपए की रिश्वतखोरी के मामले में केंद्रीय रेल मंत्री पी के बंसल के भांजे विजय सिंगला के करीबी और कथित बिचौलिया अजय गर्ग को दिल्ली की एक अदालत में आज आत्मसमर्पण करने के बाद गिरफ्तार कर लिया गया । अदालत ने उसे 9 मई तक के लिए सीबी... Read more
clicks 260 View   Vote 0 Like   10:30pm 7 May 2013 #ब्‍लॉग 4 वार्ता
Blogger: ललित शर्मा
आप सबों को संगीता पुरी का नमस्‍कार , यूपीए-2 की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रहीं है। ऐसे में रेलमंत्री पवन बंसल ने भी उनकी मुसीबते बढ़ा दी है। सीबीआई का आरोप है कि महेश कुमार नाम के रेलवे अधिकारी को रेलवे बोर्ड का मेंबर बनाने के लिए पवन कुमार बंसल के भांजे विजय सिंगला ... Read more
clicks 229 View   Vote 0 Like   11:00pm 4 May 2013 #ब्‍लॉग 4 वार्ता
Blogger: ललित शर्मा
संध्या शर्मा का नमस्कार..यूँ तो हमरी आदत है,  सुबह के साढ़े चार या पौने पाँच बजे उठ जाने का। बचपन से बाबा ने ऐसी आदत लगाई कि आज तक, हम उस आदत के मारे हुए हैं। हमरा जल्दी उठना कई बार, लोगों को हमको कुछ न कुछ सुनाने का ज़बरदस्त मौका दे ही देता है, 'न खुद सोती है न हमें सोने द... Read more
Blogger: ललित शर्मा
संध्या शर्मा का नमस्कार..आ जाए जब जीना और मरना जीवन के प्रत्येक पल में, हर आती जाती श्वास दे अहसास मृत्यु और पुनर्जन्म का, पहचान लें अपनी कमियाँ निरपेक्ष भाव से जो मिटा दे कलुष अंतर्मन का, देखें केवल द्रष्टा भाव से सभी अच्छे और बुरे कर्मों को, बिना किसी पूर्वाग्रह के झा... Read more
Blogger: ललित शर्मा
संध्या शर्मा का नमस्कार...मानव धर्म वह व्यवहार है जो मानव जगत में परस्पर प्रेम, सहानुभूति, एक दूसरे का सम्मान करना आदि सिखाकर हमें श्रेष्ठ आदर्शो की ओर ले जाता है। मानव धर्म उस सर्वप्रिय, सर्वश्रेष्ठ और सर्वहितैषी स्वच्छ व्यवहार को माना गया है जिसका अनुसरण करने से सब... Read more
Blogger: ललित शर्मा
संध्या शर्मा का नमस्कार...एक बेहतरीन ऐतिहासिक वार्ता के बाद वार्ता में काफी रौनक दिखाई दे रही है ... उम्मीद करते हैं कि इतिहास को जल्दी-जल्दी दोहराया जायेगा...शुभकामनायें...:)....लीजिये प्रस्तुत है, आज की वार्ता ........  आओ चुनरिया सतरंगी कर दूँ - आओ चुनरिया सतरंगी... Read more
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3991) कुल पोस्ट (194955)