Hamarivani.com

अड़हा के गोठ

का कहिबे संगी, फ़ेर कहे बिगर नई रहे सकंव। छोट-मोठ मनखे रहितिस त अभी तक ले जेल भीतरी होतिस अऊ ओखर जमानत लेवइया घलो नई मिलतिस। तेखरे सेती कहिथे न छोटे चोर ह चोर होथे अउ बड़े चोर ल साव कहिथे। अइसनहे हमर छत्तीसगढ मा होवत हे। छुट्टा घुमत हे हमर गांव-गंवई के बहिनी मन के गरभचोर ड...
अड़हा के गोठ...
ललित शर्मा-للت شرما
Tag :चिकित्सक
  January 20, 2013, 4:45 am
का कहिबे संगी, फ़ेर कहे बिगर रहे नइ सकंव, कहेच ल परही। जंगल-जंगल झाड़ी-झाड़ी पता चला है कहिथे। काय पता चला है भगवान जाने। फ़ेर जौन मोला पता चले हे तौन ला मीही जानथौं। रोज दिन के फ़ट-फ़ट होगे हे। बाबू के दाई कहिथे गैइस के सलिंडर ह मांहगी होगे हे। जम्मो पईसा त ईही ला विसाए मे...
अड़हा के गोठ...
ललित शर्मा-للت شرما
Tag :बियंग
  January 19, 2013, 8:27 pm
आजादी तिहार के गाड़ा गाड़ा बधई...
अड़हा के गोठ...
ललित शर्मा-للت شرما
Tag :ललित शर्मा
  August 15, 2010, 6:34 am
हमर राम जी ठेठवार बइहाय हवे, बिहनिया ले तेंदुंसार के लौड़ी धर के किंजरत हे। मैं हां टेसन कोती जात रहेवं त भेंट पाएंव। सोचेंव के बिहनियाच ले मिल गे साले हां पेरे बर। महुं कलेचुप रेंगत रहेंव, झन देखे कहिके, फ़ेर देख डारिस बु्जा हां।"महाराज! पाय लागी, रुक देंवता रुक, गोड़ ल...
अड़हा के गोठ...
ललित शर्मा-للت شرما
Tag :बियंग--ललित शर्मा
  July 14, 2010, 1:05 pm
हमर 36 गढ के मा गांव जंवारा बैठाए हे जौन हा मानता माने रिहिस तौन हा, संझा के सेवा वाला मन के मांदर अउ झान्झ मंजीरा बाजथे त बड़ सुग्घर लागथे। जैइसन जैइसन ताल के गति बाढते तैसन तैसन गोड़ हां नाचे ला घरथे, अउ गोड़ के नाचे के गति हां घला बाढ जाथे।संगी हो आज आप मन बर माता सेवा के एक ठी...
अड़हा के गोठ...
ललित शर्मा-للت شرما
Tag :माता सेवा
  March 19, 2010, 4:48 pm
२६ जनवरी तिहार के गाडा-गाडा बधई,३६ के कुटुमसर गुफा के झांकी बने हे दिल्ली मा परेड बर आपो मन देखव...
अड़हा के गोठ...
ललित शर्मा-للت شرما
Tag :२६ जनवरी
  January 26, 2010, 5:35 am
भाई, बहिनी, संगी-संगवारी हो जुन्ना साल हा जावत हे अऊ नवा साल हां आवत हे, हमर जिनगी के एक-एक मिनट मा हमला कुछु न कुछु सीखे ला मिलथे, अड़हा के गोठमा हमन अपना भाखा अपन बोली के प्रचार-प्रसार ला करे के कोशिस करे हन, तेमे हम ला सफलता घलो मिलिस, नवा नवा संगी मन जूरिस अऊ पुछिस, छत्तीस...
अड़हा के गोठ...
ललित शर्मा-للت شرما
Tag :अड़हा के गोठ
  December 31, 2009, 8:58 pm
संगी हो जोहार लेवो,अड़बड बेर होगे कुछु लिख पढ़ नई पाए हंव, काबर के लिखे के सुभीता नई मिलिस. चलो आज सुभीता के सुरता होगे ता ऐखरे  उपर चर्चा कर जाये. हमर एक झिन मयारू मित्र हे सूर्यकांत गुप्ता जी, जौउन हा बने-बने गोठ ला गोठियाथे. एक दिन हमन फोन मा गोठियात रहें ता वो हा किहिस "य...
अड़हा के गोठ...
ललित शर्मा-للت شرما
Tag :छत्तीसगढ़
  December 10, 2009, 7:42 am
संगी हो जय जोहार,मैं हाँ दू चार दिन पहिले ये बुलाग के सेवा ले हवं. एखर ले पहिले में हाँ नई जानत रहेवं काला बलाग कथे, जानेवं ता महूँ हाँ अपन गोठियाये के खजरी ला मेटाए बर ये दे बूता ला कर डारेवं, मोर डिमाग ले बुलाग के बूता हाँ बुलाग कम, बुलक दे जियादा हवये, हमन हांना कथन ना "मार ...
अड़हा के गोठ...
ललित शर्मा-للت شرما
Tag :अड़हा के गोठ
  December 5, 2009, 6:21 pm
आज हमर छत्तीसगढ़ के जेठौनी तिहार हवय जम्मो भाई-बहिनी संगवारी मन ला गाडा - गाडा बधाई आज हमर "ललित डॉट कॉम"के ५० पोस्ट पूरा होगे हवय, ये दे डेढ़ महिना मा मैंहाँ इहाँ आ के कतका गियान पायेवं अऊ मोर काय अनुभव हे तेला लिखे हवं शिल्पकार के मुख सेमा एक नवा ग़ज़ल हवय उहू ला पढ़व,आप ...
अड़हा के गोठ...
ललित शर्मा-للت شرما
Tag :जेठौनी तिहार
  October 29, 2009, 5:59 pm
जमराज हा चित्रगुप्त ला रात के बने चेता के सुतिस के मोर भैंसा ला बने खवा पिया के सुग्घर मांज धो के राखहु, काली मोला मुंधरहाच ले कोरट जाना हवय भुलाहु झन, चित्रगुप्त हा जम्मो नौकर मन ला चेता के ऊहु हा सुते ला चल दिस, ऍती बिहनिया हुईस ता जमराज हा कोरट जाये बर तेयार होगे, चित्र ...
अड़हा के गोठ...
ललित शर्मा-للت شرما
Tag :बियंग ललित शर्मा
  October 24, 2009, 7:30 pm
जमराज हा चित्रगुप्त ला रात के बने चेता के सुतिस के मोर भैंसा ला बने खवा पिया के सुग्घर मांज धो के राखहु, काली मोला मुंधरहाच ले कोरट जाना हवय भुलाहु झन, चित्रगुप्त हा जम्मो नौकर मन ला चेता के ऊहु हा सुते ला चल दिस, ऍती बिहनिया हुईस ता जमराज हा कोरट जाये बर तेयार होगे, चित्र ...
अड़हा के गोठ...
ललित शर्मा-للت شرما
Tag :यमराज
  October 22, 2009, 11:11 pm
संगी हो देवारी तिहार के गाडा-गाडा बधई,हमर छत्तीसगढ़ के संस्कृति के खजाना हा टप-टप ले भरे हवय, कभू -कभू अईसन लागथे के जम्मो दुनिया ले अमीर हमी मन हन. हमर तिहार हमर संस्कारे मन हमला अमीर बनाथे, हमर संस्कार अऊ संस्कृति के बचाए के जिमेदारी हमरे हवय.इही म एक ठक रतन हवय हमर राऊत ...
अड़हा के गोठ...
ललित शर्मा-للت شرما
Tag :अड़हा के गोठ
  October 19, 2009, 12:09 pm
ScrapU ...
अड़हा के गोठ...
ललित शर्मा-للت شرما
Tag :देवारी के गाडा -गाडा बधाई
  October 17, 2009, 6:05 pm
संगी हो,आये हे तिहार देवारी सुरहुती  के दियना जलाना हे धनी,निर्धन,अऊ जम्मो संगी मिर-जुर  के देवारी मनाना हेछोट,   मोठ,   ऊंच,  नीच  के दुनिया   ले  मिट   जाये खाई जम्मो   भाई   बहिनी मन लादेवारी  के  गाडा-गाडा  बधाई शब्दार्थजम्मो=सभी को देवारी=दीवालीगाडा-गाडा=ढेर सारी (गाड़ी ...
अड़हा के गोठ...
ललित शर्मा-للت شرما
Tag :बधाई
  October 16, 2009, 8:02 am
हमर पटवारी भईया के गोठ ला आघू बतावत हवं, पटवारी भईया ला समाज सेवा करे के बिमारी ता हवय, कईसनो भी बुता हो ही वो हा नई करवं कहिके नई कहय, सरलग १० दिन भले लग जाये फेर बुता सामाजिक होना चाही, बिना खाए पिए लंघन भूखन रही के, करही।  अभी का होईस के टूरा मन दुर्गा पक्ष में ओला देवी माई ...
अड़हा के गोठ...
ललित शर्मा-للت شرما
Tag :अड़हा
  October 14, 2009, 12:33 pm
हमर पटवारी भईया हा नवा-नवा उदिम लगावत रहिथे,थोकिन मा फेल घलोक हो जथे,ए बेरा ओ हा सोच डारिस पराकृतिक ह बने हवय, अनप घर मा एक ठक बोरड ला बनवा के लगा दिस, पटवारी के परकिरित चिकित्सा सनसथान,इंहा बिना दवई,सूजी,गोली के फोकट मा जम्मो बीमारी के इलाज होथे, समाज सेवा बर निह्सुल्क संच...
अड़हा के गोठ...
ललित शर्मा-للت شرما
Tag :ललित शर्मा
  October 10, 2009, 10:10 am
संगी हो जोहार लओ हमर पटवारी भईया हा जम्मो जमाना ला सुधारे के ठेका ले डारे हवय अपन परन के एकदम पक्का हवय,"परान जाये पर बचन न जाये तईसे,एही सुधारे के बुता मा कईयों बेर मार खा डारे हवे पर सुधरे नहीं,एक घांव हमर गांव मा राजीव दीक्षित आये रिहिसे,स्वदेशी आन्दोलन चलावे, तौन हा ...
अड़हा के गोठ...
ललित शर्मा-للت شرما
Tag :ललित शर्मा
  October 4, 2009, 4:59 pm
संगी हो जोहर लओकाली के गोठ ला आगे बढ़ावत हौं संगी हो, हमर पटवारी भैया के किस्सा नई सिराय हवे, एखर तो एक ले एक किसा हवे, पटवारी ला पढ़े के बहुत सौउंख हवय, सबे तरह के पुस्तक ला पढ़थे, पुस्तक पढ़ना घलो एक ठक बीमारीच आये, घर ले पटवारीन हाँ बाजार भेजते साग ले बर, ता बूजा हा साग के पईस...
अड़हा के गोठ...
ललित शर्मा-للت شرما
Tag :बियंग
  September 29, 2009, 7:44 am
संगी हो जोहार लेहु ना,आज हमर पटवारी भईया के किसा ला सुनव, देखथवं मेहा आज कल समाज सेवा बड चालू होगे हवय, जहाँ देखबे उहां समाज सेवा,ये दे समाज सेवा हा एक ठक बहुत बड़े बीमारी हवय, छुतहा रोग हे,कई झन बड सौख ले करथे कई झन अपन जी पिरान ला बचाए बर करथे,हमर एक झन मयारू मितान हवय,हमन ओल...
अड़हा के गोठ...
ललित शर्मा-للت شرما
Tag :ललित शर्मा
  September 24, 2009, 6:17 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163761)