"लिंक-लिक्खाड़"

बोकारो में बम फटे, लोकतंत्र पर घाव |गिरीडीह में पर हुवे, अच्छे भले चुनाव |अच्छे भले चुनाव, करें उत्पात नक्सली |रविकर पीठासीन, देह में मची खलबली |साथ फीसदी वोट, शक्ति मतदाता झोंका |खा बैलट की चोट, मरेगा नक्सली बोका ||...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  April 18, 2014, 1:17 pm
हवा हवाई योजना, हवा हवाई बात |भूला सारी मुश्किलें, यह मानुष बदजात |यह मानुष बदजात, चुनावी बेला आई |भूला भ्रष्टाचार, भूल बैठा मँहगाई |हुआ नशे में चूर, कुँआ देखे ना खाईं | जाति-धर्म पर वोट, बुद्धि-बल हवा-हवाई ||...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  March 21, 2014, 10:56 am
होली की शुभकामनायें- रविकर प्रवास पर झाड़ू झूमे अर्श पर, पंजे में लहराय |लेकिन कूड़ा फर्श पर, कैसे बाहर जाय-कैसे बाहर जाय, डाल दे पानी इसपर |पड़ा पड़ा सड़ जाय, होय कीचड़ सा सड़कर |कीचड़ में फिर कमल, कमल लक्ष्मी पग चूमे |पवन चले उनचास, मास दो झाड़ू झूमे ||...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  March 14, 2014, 10:21 am
करे 'करेला'रैलियां, दूर करे मधु'मेह | छोड़-छाड़ के खा'मियाँ, चढ़ा हरेरी देह |चढ़ा हरेरी देह, छोड़ दे चीकू केला | छोड़ो आलू 'आम', 'हाथ'का छोड़ो ठेला |हराहरा दे साग, शरीफा मीठा अखरे |कर रविकर रसपान, करेला दिल से तक रे ||...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  March 5, 2014, 10:45 am
 रविकर भकुआ एक, आपकी लेत बलैयाभैया भ्रष्टाचार भी, भद्रकार भरपूर |वाँछित करे विकास यह, मुँह में मियाँ मसूर |मुँह में मियाँ मसूर, कर्मरत कई आलसी | देश-काल गतिमान, बदलना नहीं पॉलिसी |रविकर भकुआ एक, "आप"की लेत बलैया |रहा जमाना देख, दाग भी अच्छे भैया ॥  रा...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  February 26, 2014, 9:19 am
केजरीवाल की खुजली और गैस के दामZEAL  ZEAL  बानी केजरि वाल की, प्रश्न रही है दाग |नमो न मो दी गैस नूँ , आग लगा के भाग |आग लगा के भाग, भाग सरकार छोड़ के |गुणा-भाग में लाग, नियम कानून तोड़ के |है सांसत में जान, बिगड़ती राम-कहानी |खाँसी से नादान, भगाएगा अम्बानी ||दे गीदड़ भी छेड़, ताकती ती...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  February 24, 2014, 12:16 pm
कौआ लाय सुराज, सफल कोयल मन्सूबे-कौआ कोयल बाज में, होड़ मची है आज |कोयल के अंडे पले, कौआ लाय सुराज |  कौआ लाय सुराज, सफल कोयल मन्सूबे |हर सूबे में खेल, घोसला साला डूबे |बाज आय नहिं बाज, आज भी इसका हौवा |बहुमत कैसे पाय, उधर कौआता कौआ ||  दिल्ली दिखी अवाक, आप मस्ती में झूमे-...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  February 22, 2014, 9:46 am
दिल्ली दिखी अवाक, आप मस्ती में झूमे-खरी खरी कह हर घरी, खूब जमाया धाक |अपना मतलब गाँठ के, किया कलेजा चाक |किया कलेजा चाक, देश भर में अब घूमे |दिल्ली दिखी अवाक, आप मस्ती में झूमे |डाल गए मझधार, धोय साबुन से कथरी |मत मतलब मतवार, महज कर रहे मसखरी || हमारे महानगरों में कूड़ा कचरा एक भ...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  February 21, 2014, 10:16 am
कोई नया नहीं है बहुत पुराना है फिर से आ रहा है वही दिनसुशील कुमार जोशी  उल्लूक टाईम्सभैया जी शुभकामना, रहे आज तक झेल |चले पचासों वर्ष यह, तुम दोनों का खेल |तुम दोनों का खेल, मेल यह दौड़े सरपट |जनम जनम की जेल, मुहब्बत-खटपट चटपट |रविकर बाइस साल, कृपा कर दुर्गे मैया |सकुशल कुल ...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  February 19, 2014, 9:20 am
भैया भ्रष्टाचार भी, भद्रकार भरपूर |वाँछित करे विकास यह, रहे व्यर्थ तुम घूर |रहे व्यर्थ तुम घूर, कर्मरत कई आलसी |करे देश गतिमान, बिगाड़ो नहीं पॉलिसी |रविकर भकुआ एक, आपकी लेत बलैया |रहा जमाना देख, दाग हैं अच्छे भैया ॥ ...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  February 18, 2014, 10:03 am
"ओ बी ओ चित्र से काव्य तक छंदोत्सव"अंक-35 कुण्डलियाँ(१)दीखे अ'ग्रेसर खड़ा, छात्रा छात्र तमाम ।करें एकश: अनुकरण, आवश्यक व्यायाम ।आवश्यक व्यायाम, भंगिमा किन्तु अनोखी ।कई डुबाएं नाम, हरकतें नइखे चोखी ।वहीँ ईंट पर बाल, लगन से रविकर सीखे ।ऊँची भरे उड़ान, सहज अनुकर्ता द...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  February 17, 2014, 9:07 am
स्वर्णयोनिः वृक्षः शमीराजीव कुमार झा देहात  रोचक है यह तरु शमी, यहाँ अग्नि का वास |यज्ञ धर्म इतिहास में, रखे जगह यह ख़ास ||दारु दाराधीन पी, हुआ नदारद मर्द-"ओ बी ओ चित्र से काव्य तक छंदोत्सव"अंक-34दोहादारु दाराधीन पी, हुआ नदारद मर्द  |दारा दारमदार ले, मर्दे गिट्टी गर्द ||...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  January 23, 2014, 9:20 am
 कुक्कुर खाँसी आपको, किन्तु परेशां देश |*कूटशासनी व्यवस्था, बढ़ा रही नित क्लेश |*धोखे का राज्य बढ़ा रही नित क्लेश, पेश कर कपट नीतियां-झपट रहे विश्वास, अनोखी अजब रीतियाँ-लोकसभा हित व्यग्र, दिखे आडम्बर आतुर |करने चला शिकार, शिकारी बनता कुक्कुर || भागे जिम्मेदार, अराजक द...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  January 21, 2014, 4:33 pm
गोली मारो पुलिस को, नहीं कटाओ नाक |धाक जमाने को गिरे, आप गिरेबाँ झाँक  |आप गिरेबाँ झाँक, अराजक सोच दीखती |नक्सल सा आतंक, मचाना आप सीखती |फेल हुई सरकार, विपक्षी जैसी बोली |धरना कारोबार, शुरू है देना गोली || दारु दाराधीन पी, हुआ नदारद मर्द-"ओ बी ओ चित्र से काव्य तक छंदोत्सव"अंक...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  January 20, 2014, 2:19 pm
बेंचे धर्म-इमान, ख़रीदे कुल मुख्तारी -हमाहमी हरहा हिये, लिये जाति-च्युत होय |ऐसी अवसरवादिता, देती साख डुबोय |देती साख डुबोय, प्रबंधन कौशल भारी |बेंचे धर्म-इमान, ख़रीदे कुल मुख्तारी |रविकर जाने मर्म, आप की जाने महिमा |आम आदमी तंग, वक्त भी सहमा सहमा || राहुल ने कहा,गंज...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  January 19, 2014, 11:08 am
बन्दर की औकात, बताता नया खुलासा-लासा मंजर में लगा, आह आम अरमान |मौसम दे देता दगा, है बसन्त हैरान |है बसन्त हैरान, कोयलें रोज लुटी हैं |गिरगिटान मुस्कान, लोमड़ी बड़ी घुटी है |गीदड़ की बारात, दिखाता सिंह तमाशा |बन्दर की औकात, बताता नया खुलासा ||आये सज्जन वृन्द, किन्तु लुट जाती मुनि...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  January 18, 2014, 8:55 am
इस झूठी और बनावटी कहानी को समझने के लिए अब नीचे दिए गए असली प्रमाण देखियेपहले तो प्रतिपल पगा, जगा जगा विश्वास |किन्तु लगा ललकारने, अट्ठहास आकास |अट्ठहास आकास, अहंकारी बन जाए |कर दे सत्यानाश, पुण्य अपने निबटाये |रविकर जोश खरोश, बात अच्छे से कह ले । आज खींचता टांग, प्रशंस...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  January 13, 2014, 2:28 pm
पलटी मार लेना कभी भी बहुत आसान होता हैसुशील कुमार जोशी  उल्लूक टाईम्स मोदी प्रति दीवानगी, बरकरार है आज |आम आदमी चाहता, सुधरे देश समाज |सुधरे देश समाज, भ्रमित अक्सर हो जाता |चाहे मोदी राज,  आपकी लेकिन गाता  |सत्ता नीति-विहीन, बुद्धि रविकर की भोंदी |अस्थिर होगा ...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  January 10, 2014, 10:53 am
पलटी मार लेना कभी भी बहुत आसान होता हैसुशील कुमार जोशी  उल्लूक टाईम्स मोदी प्रति दीवानगी, बरकरार है आज |आम आदमी चाहता, सुधरे देश समाज |सुधरे देश समाज, भ्रमित अक्सर हो जाता |चाहे मोदी राज,  आपकी लेकिन गाता  |अस्थिर होगा देश, बुद्धि रविकर की भोंदी |सत्ता नीति-वि...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  January 10, 2014, 10:53 am
आज प्रियंका बिटिया आ आ आ आ ताल से ताल मिला........बहना बह ना भाव में, हवा बहे प्रतिकूल |दिग्गज अपने दाँव में, दिखे झोंकते धूल |दिखे झोंकते धूल, आँख में भरकर पानी |तोड़े कई उसूल, किये अब तक मनमानी |ले राहुल आलम्ब, सदा सत्ता में रहना |दिखलाते नित दम्भ, संभलना छोटी बहना - सर्दी का मौस...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  January 9, 2014, 2:46 pm
AAP office attack by Hindu group to create fear among citizens just a beginningSM From Politics To Fashion शान्ति नहीं कश्मीर में, नॉर्थ-ईस्ट में रार |झारखण्ड छत्तीसगढ़, भोगे बड़ा बिहार |भोगे बड़ा बिहार, नक्सली आतंकी है |छाया मावोवाद, गजब की नौटंकी है |जनमत संग्रह होय, शान्ति की बाढ़े आशा |जय जय भूषणवाद, आप का बड़ा तमाशा -हरदम सुख की चाह, इर...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  January 8, 2014, 3:12 pm
"आप"मुझे दिल्ली ही रहने दें .. प्लीज !महेन्द्र श्रीवास्तव आधा सच... औचक होवे जांच जब, मुखड़े पर हो रोष । करिये अभिनय आप फिर, गर कैमरा सदोष । गर कैमरा सदोष, करे राखी हंगामा । सिसोदिया की कार, कहीं भूषण हे रामा । अजब गजब विश्वास, किन्तु दिल्ली है चक चक । ख़तम...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  January 7, 2014, 9:27 am
विदाई वेला की ज़हालत ये देश ऐसा मानता है कि वोट बड़ी चीज़ है पर श्रीमनमोहन सिंह को इसके लिए एक संविधानिक पद को कलंकित करने की क्या ज़रुरत थी। संविधान इस बात की किसी भी तरह इज़ाज़त नहीं देता कि प्रधानमंत्री किसी राज्य के मुख्यमंत्री के बारे में इतनी नितांत घृणास्पद और व्यक्त...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  January 4, 2014, 1:26 pm
हाजिर हूँ हुजूर -रविकरएक-दो दिन में नियमित हो जाऊँगा -(१)मैय्यत में भी न मिलें, अब तो कंधे चार |खुद से खुद को ढो रही, लागे लाश कहार ||(२)नया वर्ष आसन्न है, कटे आप के क्लेश |जैजैवन्ती है शुरू, जाय भाड़ में देश ||(३)सा'रे गा'मा पा'दते, धा'नी हिलती देख |रे'गा सा'मा'धा'न सब, ना पा'रे संरेख ||(४)आ...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  January 3, 2014, 11:29 am
फूली फूली फिर फिरे, धनिया बीच बजार । आगे पीछे सिरफिरे, फिरे नहीं इस बार । फिरे नहीं इस बार, धार कानूनी तीखी । लें व्यवहार सुधार, सोच भी साधु सरीखी। रविकर रहे सचेत, करें ना हुक्म-उदूली। हुवे धुरंधर खेत, देखकर धनिया फूली ॥ ...
"लिंक-लिक्खाड़"...
Tag :
  January 2, 2014, 3:50 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]
Share:
  गूगल के द्वारा अपनी रीडर सेवा बंद करने के कारण हमारीवाणी की सभी कोडिंग दुबारा की गई है। हमारीवाणी "क्...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3072) कुल पोस्ट (108709)