POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: अशोक पुनमिया का ब्लॉग

Blogger: अशोक पुनमिया
   विधानसभाओं में बैठ कर राज्य का भविष्य लिखा जाता है.किन्तु आजकल  "राजस्थान विधान सभा "में बैठ कर  "भूतों "का लेखाजोखा किया जा रहा है !चार सालों तक सोये हुए  'भूत 'अब पांचवें साल में अचानक जाग गए हैं !लोगों को इसमें आश्चर्य हो रहा है,जबकि इसमें आश्चर्य की कोई बात ही न... Read more
clicks 194 View   Vote 0 Like   12:14pm 26 Feb 2018 #
Blogger: अशोक पुनमिया
खैरात में नहीं मिली है स्वतन्त्रता !... Read more
clicks 65 View   Vote 0 Like   4:34pm 16 Aug 2017 #
Blogger: अशोक पुनमिया
जब कमरे तक सिमट जाए 'मां'की दुनिया-------------------------------------------------     बुढापे की दहलीज़ पर पहुंची माँ की दुनिया अक्सर अपने कमरे तक ही सिमट जाती है.उगते और डूबते सूरज को कमरे की दीवारें ढक देती हैं तथा सुबह से शाम और लम्बी रात तक का सफ़र कमरे के पलंग पर एकाकी सा कटता रहता है,क्योंकि आधु... Read more
clicks 141 View   Vote 0 Like   10:24am 14 May 2017 #
Blogger: अशोक पुनमिया
जनकल्याणकारी सरकारें आखिर क्यों 'दारु'पिलाने पर आमादा है?-------------------------------------------------------------      एक तरफ न्यायालय हाईवे पर नशे के चलते होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने के लिए जनहित में निर्णय दे रहे हैं तो दूसरी तरफ राज्य सरकारें हाईवे के नाम बदल कर दारु की बिक्री को यथावत रखने की ... Read more
clicks 120 View   Vote 0 Like   11:35am 15 Apr 2017 #
Blogger: अशोक पुनमिया
आदित्यनाथ ने सचमुच ‘योगी’ की तरह सरकार चला दी तो ???-------------------------------------------------------------------------------     ये प्रश्न आज बहुत से लोगों के मन में उठ रहा है और कईंयों के दिलो दिमाग में तूफ़ान पैदा कर रहा है! तथाकथित ‘सेक्युलरिस्टों’की जमात ने अल्पसंख्यक समुदाय, खासकर मुसलमानोंके मन में भग... Read more
clicks 164 View   Vote 0 Like   11:49am 28 Mar 2017 #
Blogger: अशोक पुनमिया
 !! देशभक्ति का खुमार !! ================== देशभक्ति का हमारा सारा खुमार,फुटपाथिया दुकानों पर सजे,चमचमाते,सस्ते किन्तु घटिया "चाईनीज"माल को देखते ही उतर जाता है ! कुम्भकार द्वारा मेहनत से बनाए गए सुन्दर,पारंपारिक दीयों और लाईट की देशी झालरों को देख कर उबकाई आती है,... Read more
clicks 103 View   Vote 0 Like   3:54pm 6 Oct 2016 #
Blogger: अशोक पुनमिया
शहादत की कीमत***************शहादत की कीमतबहुत हैदो-चार लाख रुपये !सरहद पर शहीद हुआवीर जवान आखिरइस देश के किसी सेठ-साहूकार,पूंजीपति,दबंग,मंत्री-नेता-अफसरया किसी और प्रजाति केहरामखोर की औलादथोड़े ही था !शहीद नहीं आया थाकिसी बंगले,कोठी,महल से,वो टाई,सूट,बूट पहनकंधे उचका-उचका क... Read more
clicks 93 View   Vote 0 Like   9:41am 24 Sep 2016 #
Blogger: अशोक पुनमिया
ओल्ड इज गोल्ड !पुरानी चीजों को बड़ी हिकारत भरी नज़रों से देखा जाता है।साइकिलों,घोड़ा गाड़ियों,बैल गाड़ियों को आउट ऑफ डेट करार दिया जा चुका है,लेकिन मज़ेदार बात ये है कि जहां पर आधुनिक चीजें भी फ़ैल हो जाती है या ज़वाब दे जाती है,वहां फिर से पुरानी चीजों की सहज याद आती है,क्योंकि ... Read more
clicks 91 View   Vote 0 Like   8:50am 30 Aug 2016 #
Blogger: अशोक पुनमिया
जीवन तो है ही संघर्ष का नाम !       'क्या आप परेशान है? बिमारी,आर्थिक तंगी, असफलता,घरेलू झगड़े,आपका पीछा नहीं छोड़ रहे?बेटा-बेटी आपकी आज्ञा के विरुद्ध काम करते हैं?पति-पत्नी में झगड़ा होता रहता है?भाई-बहनों से मनमुटाव है?आपसी संपत्ति का झगड़ा है?भाड़े के फ्लेट में रहते हैं? ... Read more
clicks 97 View   Vote 0 Like   4:42pm 23 Aug 2016 #
Blogger: अशोक पुनमिया
टूटी सड़क पर 'अच्छे दिनों'की बैलगाड़ी ! -------------------------------------------------    पचास साल पुरानी सड़क,लगभग पैंसठ-सत्तर साल के,मोटा ऐनक चढ़ाये "बा'सा"ड्राईवर साहब, मूसलाधार बारिश और बाबा आदम के ज़माने की,बिना 'वाइपर'की बस,जिसमें हार्न के अलावा सबकुछ बजता है!और पैसेंजर फुल्ली भगवान् भरोसे !!य... Read more
clicks 94 View   Vote 0 Like   8:47am 4 Aug 2016 #
Blogger: अशोक पुनमिया
      !! फुटपाथ पर कराहता इन्साफ !!      पता नहीं लोग फुटपाथों पर क्यूँ सोते हैं ! क्या फुटपाथों पर सोने वालों को इतना भी पता नहीं कि फुटपाथ 'रईसजादों', 'बेवडों'के कारनामों के लिए बने हैं ! अरे भाई, मरने का इतना ही शौक है तो कोई अन्धेरा कुंआं ढूंढ लो, किसी मल्टी स्टोरी ... Read more
clicks 193 View   Vote 0 Like   8:54am 11 Dec 2015 #
Blogger: अशोक पुनमिया
अच्छे दिनों का सरकारी चुटुकला*******************************.....माना जाता है कि हास-परिहास करना सेहत के लिए ठीक रहता है. इस लिहाज़ से केन्द्रीय सरकार सही पटरी पर है. वो अवाम के अच्छे दिन लाने को सतत प्रयत्नशील है. अवाम के अच्छे दिन तो आयेंगे तब आयेंगे,किन्तु अवाम के एक महत्वपूर्ण हिस्से ‘केन... Read more
clicks 231 View   Vote 0 Like   3:37pm 7 Dec 2015 #
Blogger: अशोक पुनमिया
देख मलाई-रबड़ी जब मुंह में आये पानी,कैसे करे कोई,दूध का दूध पानी का पानी!*********************************.....'दूध का दूध पानी का पानी'मुहावरा केवल विपक्ष के लिए बना है.जिसके पक्ष में कुर्सी आई,उसके लिए इस मुहावरे का कोई अर्थ नहीं.बल्कि तब तो ये मुहावरा पक्ष के लिए 'अनर्थ'बन जाता है.इस लिए पक्ष वा... Read more
clicks 203 View   Vote 0 Like   8:10am 4 Jul 2015 #
Blogger: अशोक पुनमिया
!! मारक मोदी-तारक मोदी !!**************************.....आजकल देश में 'मोदी'का बोलबाला है!एक मोदी देश को अच्छे दिनों की और लेजा रहा है तो एक मोदी देश में भूचाल ला रहा है!विदेश में बैठा मोदी ट्विटर नाम का लट्ठ लेकर हिन्दुस्तान के तथाकथित जनसेवकों के पीछे ऐसे पडा है कि राज महलों के सुख भोगते भोगत... Read more
clicks 155 View   Vote 0 Like   7:54am 4 Jul 2015 #
Blogger: अशोक पुनमिया
!!पगडण्डी!!********************......क्या आपको गाँव की पगडण्डी याद है?अरे वही जो गाँव में कहीं से भी शुरू हो कर कहीं भी चली जाती थी! सड़कें थी ही कहां! कच्चे रस्ते दूर तलक चले जाते थे.साथ साथ पगडण्डीयां भी चलती रहती थी! गाँव में सुबह सवेरे उठ कर जंगल जाना हो या फिर पनघट पर या कि माता जी के मंदि... Read more
clicks 187 View   Vote 0 Like   9:51am 30 Jun 2015 #
Blogger: अशोक पुनमिया
!!फर्जी डिग्री-असली काम.....असली डिग्री-फर्जी काम !!*******************************************......आजकल फर्जी डिग्री खबरों में छाई हुई है.राज्य सरकारों के मंत्रियों से लेकर केंद्र सरकार के मंत्री तक पर फर्जी डिग्री का फर्जीवाड़ा चिपक गया है.दिल्ली के तो एक फर्जी डिग्री वाले असली मिनिस्टर जेल के हवा-प... Read more
clicks 183 View   Vote 0 Like   10:08am 28 Jun 2015 #
Blogger: अशोक पुनमिया
*****************************************!!!!! "हाय मॉम,हैप्पी मदर्स डे" !!!!!*****************************************हाय मॉम,आज खुश हो जाओआज आपका दिन है !''अच्छा''!हाँ 'मॉम',आज 'मदर्स डे'है !!''अच्छा''!हां 'मॉम' !बोलो 'मॉम'आपको क्या चाहिए......,मोबाईल भिजवा दूँ.....सलवार सूट.......या कि साडी ठीक रहेगी....!''अरे नहीं-नहीं बेटा.....''अरे 'मॉम' आज तो कुछ ना ... Read more
clicks 187 View   Vote 0 Like   9:44am 11 May 2014 #
clicks 177 View   Vote 0 Like   5:24pm 22 Mar 2014 #
Blogger: अशोक पुनमिया
!! अन्धेरे का अट्टहास!!उन अंधेरों का क्या कीजे जो कभी नहीं मिटते! कितनी सुबहा बीत जाती है...कितनी दिवालियाँ आ कर गुज़र जाती है !!और उन दीयों का तो हिसाब ही कहाँ,जो हर रोज जलाए गए !!!रोशनी का कतरा-कतरा निगल जाने वाला अन्धेरा, क्यूँ मज़बूत होता जाता है जलाई गयी हर लौ के साथ ? ... Read more
clicks 207 View   Vote 0 Like   4:29pm 28 Oct 2013 #
Blogger: अशोक पुनमिया
!!! आखिर करता क्या है आदमी???? !!!आखिर करता क्या है आदमी????उठकर सुबह पीता है बैड टी,पलटते हुए पन्ने अखबार के !ये अलग बात है किमुंह अँधेरे आए दूधिये से उसने ले लियी हो दूध और चढ़ा दिया हो गैस पर....या कि नल में आते हुए म्युनिसिपल्टी के पानी को भर दिया हो मटकों मेंअल-सुबह... Read more
clicks 209 View   Vote 0 Like   4:46pm 1 Aug 2013 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Publish Post