POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: Deepakentertain

Blogger: Deepak Kumar Mishra
मातम   फैला   देश   में  जो  है  ये  कैसे  अब  जाएगाभ्रष्ट   और   अत्याचारी   को   फांसी   कौन   चढ़ाएगापग-पग  पर  जाकर  देखो  जो  छाया  घना अन्धेरा हैइस  अंधियारे  से  भारत  को  मुक्ति  कौन  दिलाएगाभ्रष्टाचारी    अत्याचारी    आ   &nb... Read more
clicks 136 View   Vote 0 Like   2:11pm 19 Nov 2013 #
Blogger: Deepak Kumar Mishra
वो  तो  कहते   हैं  हमको  दीवाना  मगरखुद दीवानों सी हरकत को  करते  हैं  वोमुझपे   मरने    का  इल्जाम  झूठा लगाखुद से ज्यादा तो मुझ पर ही मरते हैं वोमुख  से  कहते  हैं  हमको मोहब्बत नहींलाख   अरमान  फिर  भी  सजाएँ  हैं  वोहै  वजह  क्या  स... Read more
clicks 150 View   Vote 0 Like   2:19am 9 Aug 2013 #
Blogger: Deepak Kumar Mishra
मेरी किस्मत में मोहब्बत को ना लिखा रब नेमेरी    उम्मीद   को  तो  तोड़  डाले   हैं   अपने जिनके इक हाँ पे मै  ऊचाईयां  छूने  था  चलाउसी   के  न  ने  चूर  कर   दिए   सारे    सपने उन्हें  भाता  था   खेलना   मेरा   जज्बातों  से फरक   पड़ता &... Read more
clicks 130 View   Vote 0 Like   2:33am 2 Aug 2013 #
Blogger: Deepak Kumar Mishra
हंसी   पल    थे    वो    तेरे  संग   जो   गुजारे   हैंबचे   पल   को   भी  यूँ  ही  हंस  के  ही  गुजारेंगे होगे   तुम   दूर   मगर   याद   तो   रह   जायेगी तेरे     यादों    के    सहारे    ही    दिन   गुजारेंगे तेरी   जब   प्यार   भरी    बोली    याद   आयेगी दिल  को  इक  मीठा  सा   वो  दर्द देकर जायेगी दिय... Read more
clicks 151 View   Vote 0 Like   8:23am 27 Apr 2013 #
Blogger: Deepak Kumar Mishra
किसी ख़ास के जन्मदिवस पर उसके लिए मेरी कुछ दुआएं......हो  मुबारक   मुबारक       मुबारक    तुम्हेंहो  मुबारक  तुम्हें आज कि शुभ घरीतेरा खुशियों से  दामन  भरा  यूँ  रहेइस  सुहानी  घडी  है  दुआ  ये  मेरीगम  का  साया  तुझे छू सके ना कभीतुझको खुशियां मिले हर कदम हर घडीतेरे आँखों से  ... Read more
clicks 154 View   Vote 0 Like   2:51pm 20 Apr 2013 #
Blogger: Deepak Kumar Mishra
कभी   तनहाइयों   में   तेरी   बातें   सोच   हंस   देताडसी तनहाइयाँ  हैं  जब  तो  तनहा  दिल  है  ये  रोतामोहब्बत  के  सफर  में  थी  लिखी तनहाइयाँ ही जबमोहब्बत   करना  तन्हाई  से  क्यूँ न  तू  सिखा  देतातेरे  खातिर  ही  दुनिया  से  किया  मैंने  बगावत  थाकिया तूने भी अब तनहा और दुनिय... Read more
clicks 128 View   Vote 0 Like   1:38am 16 Apr 2013 #
Blogger: Deepak Kumar Mishra
न   तो   चीन   से   डरत्ता   हूँ   न   मै   पाक   से    डरताजहाँ  की  कोई  ताकत  हो  किसी   से   मै   नही   डरतामुझे डर  लगता  है  अब  दुनिया  में  बस  एक  इंसा  सेजो  है  सरदार  दिखता  पर   मुझे   सरदार   न   लगताशहीदों   की   शहादत   की   ये   तो   कीमत   लगाते   हैंअता  कीमत  बलि  की  कर   उन्हें   ... Read more
clicks 125 View   Vote 0 Like   4:34pm 12 Apr 2013 #
Blogger: Deepak Kumar Mishra
उम्र  रपता  तुम्हारे  बिन  अब  हम कैसे गुजारेंगेभुलाना भी जो  चाहेंगे  तब  भी  ना  भूल पाएंगेसजा  कैसी  दिया  तुमने  मुझे  मेरी वफाई कारहें महफ़िल में या तनहा तुम्हें ही बस पुकारेंगे सुमन  कोई  खिला  देखूं तो तुम ही याद आते होमेरी  यादों  में  आकर के बहुत हमको सताते होकिय... Read more
clicks 186 View   Vote 0 Like   11:40am 10 Apr 2013 #
Blogger: Deepak Kumar Mishra
सभी को महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकानाएं सुन  भोले  तूने  ये  क्या  कियासबको  तू  भंगिया  पिला दियासब  नाचे  होकर  मस्त   मस्तहो  रही  है  ये   कैसी   शिकस्तखुद   पीने   के   खातिर   भोलातैयार    किया    अपना   टोलाखुद   भंगिया  पीकर  नाच  रहेऔर संग  में सबको नाचाय रहेभंगिया  क... Read more
clicks 143 View   Vote 0 Like   7:14pm 9 Mar 2013 #
Blogger: Deepak Kumar Mishra
      मेरी यह पोस्ट १२/१२/१२ स्पेशल पोस्ट है | आज इस विशिष्ट समय पर इजाजत मांगने की इच्छा हुई तो मांग ले रहा हूँ ..............                            तुम दो  इजाजत तो कुछ आज कह दूँ                         दिल की जुबाँ से बयां  कुछ  मै कर दूँ                         ये चाहत  समेटी  न अब  जा  रही है       ... Read more
clicks 153 View   Vote 0 Like   11:55am 12 Dec 2012 #
Blogger: Deepak Kumar Mishra
( यह मेरे अपने व्यक्तिगत विचार है किसी को कोई आपत्ति नहीं होनी चाहिए अगर है तो उनसे क्षमा प्रार्थी हूँ )       २६/११ के हमले के दोषी अजमल कसाब को आज लगभग ४ साल बाद एकाएक फांसी की सजा सुनकर मन को तो बहुत शुकुन मिला | फांसी दी गयी इस बात से पूरे हिन्दुस्तान नहीं अपितु पूरे विश्... Read more
clicks 384 View   Vote 0 Like   3:06am 22 Nov 2012 #
Blogger: Deepak Kumar Mishra
             रात्रि बारह बजे से ही जन्मदिन के बधाइयाँ कोई सन्देश से तो कोई कॉल करके दे रहा है | सबसे पहली शुभेच्छा उसकी ही थी जिसका पिछले छः सालों से पहला होता है | कुछ लोग उपहार स्वरुप कुछ दिए |फिर यूँ ही बैठा था तो किसी ने  कहा आज के दिन का सबसे अच्छा उपहांर तुम्हारे लिए कौन सा ह... Read more
clicks 173 View   Vote 0 Like   6:06am 13 Nov 2012 #
Blogger: Deepak Kumar Mishra
                         ना   ही   तुम्हे   कल   तो  मै  जानता  था                          ना  ही   तुम्हे   कल   मै   पहचानता   था                         मिले कब  थे कैसे और किस राह पर  हम                         न  अब   जानता  हूँ  न  कल  जानता  था                         सूरत   तुम्हारी  थी   मन  को  मेरे  भायी                        तेरी ... Read more
clicks 189 View   Vote 0 Like   1:04pm 1 Nov 2012 #
Blogger: Deepak Kumar Mishra
                                                  मईया  की  महिमा  को  हम  कैसे तुम्हे  सुनाये                                                  सुख  सारा  वो  है  पाता  जो  दर  पे सर झुकाए                                                   चन्दा  सा  माँ  का  मुखडामन के सभी को भाये                                                   लाली  चुनरिया  ओढकर  भक्त... Read more
clicks 202 View   Vote 0 Like   1:38pm 22 Oct 2012 #
Blogger: Deepak Kumar Mishra
तनहाइयों    में    आज    तुझे    याद   कर रहे हैं रब   से   तुम्हारे   खातिर  फ़रियाद  कर   रहे  हैंकभी  याद ना  किया मै  खुद  के  लिए  खुदा  कोपर   आज   तेरे   खातिर   उसे   याद   कर रहे हैं मासूम   सी   अदा   में   तेरी   उलझे  जा  रहे  हैंमासूमियत   तेरी   हम   रब   से   बता   रहे   हैं करूँ  शुक... Read more
clicks 162 View   Vote 0 Like   10:23am 27 Sep 2012 #
Blogger: Deepak Kumar Mishra
नजर  उनसे  जो मिली बात कुछ हो गयीचैन  मेरा   गया  नीद  मेरी   खो  गयी     नज़रों से उसने जादू  क्या किया    दिल  मेरा  उसका पीछा  किया चली  वो  चली  गयी  नीद  मेरी ले गयी चैन   मेरा   गया  नीद  मेरी  खो  गयी     मुस्कान उसकी जा दिल में धंसी    दिल  मेरा  सोचा  अब वो फंसी फिसल वो फिसल गय... Read more
clicks 168 View   Vote 0 Like   11:30am 23 Sep 2012 #
Blogger: Deepak Kumar Mishra
कब तक ऑंखें ही नाम  करके हम शांत होक्या  हमे  जीने   का   हक   नहीं   है   यहाँक्यूँ   नहीं   सुन   रहा   कोई   आवाज   कोबोलने   का   हक   हमे   क्या   नहीं है यहाँकल   पढ़ा   था  हर  कोई  यहाँ  आजाद  हैथा  जहाँ  ये  लिखा  वो   संविधान  है कहाँबोलने की सजा  अब  तो  मौत  मिल  रहीन्यायदाता    ध... Read more
clicks 150 View   Vote 0 Like   2:41pm 18 Sep 2012 #
Blogger: Deepak Kumar Mishra
    जिसके लिए लिखा है काश उसके पास तक पहुच जाए | वैसे ब्लॉग पर बहुत दिन बाद आ रहा हूँ आता तो नहीं लेकिन किसी की खूबसूरती का बखान करने से खुद को रोक नहीं पाया इसलिए आ गया हूँ और हाँ अगर वो नजर के सामने से गुजरती रहेगी तो आता रहूँगा |                                          तुम तो हो रूप की ... Read more
clicks 201 View   Vote 0 Like   2:11pm 12 Sep 2012 #
Blogger: Deepak Kumar Mishra
                                    दोस्ती  के  नाम  पर   अभिमान  करना सीख लो                         दोस्ती  लेती   है   जान   जान    देना    सीख  लो                         आसान  होता  निभाना  तो करोड़ों में दोस्त होते                         रिश्ता बड़ा अनमोल है दिल से निभाना सीख लो                                             ... Read more
clicks 170 View   Vote 0 Like   6:15am 18 Jun 2012 #
Blogger: Deepak Kumar Mishra
कांटे  मिलई  हर  राह  में,  देहि   बहुत बिधि पीर |झेलत   जे   चलि   जात  है ,     पाछे   पावै   हीर ||१||दीमक   के  जे  वास  दे ,  करहिं   आपना   नाश |दीमक  के  बसि  जाये से , मिले न सुख के सास ||२||अब  तो  साधु  स्वार्थ  बस,   देत   फिरे   उपदेश |स्वार्थ    के     साधे    बिनु,    साधु   चले   प्रदेश  ||... Read more
clicks 183 View   Vote 0 Like   8:27am 31 May 2012 #
Blogger: Deepak Kumar Mishra
                                     इस पद्य का  कौवाली के रूप में गायन किया जा सकता है                                            साईं  का  धाम  पावन  चलो शीश झुकाएं                                            साईं    हैं   बड़े    दानी   साईं   को  मनाये                                            साईं   के   दर ... Read more
clicks 198 View   Vote 0 Like   2:18pm 10 May 2012 #
Blogger: Deepak Kumar Mishra
मेरी  तन्हाई  से तेरी याद का है क्या लेनाहुआ जब भी मै तनहा तो ये चली जाती हैजिंदगी के सफ़र में जब भी अकेले निकलासाथ  देने  क्यूँ  चुपके  से  ये  चली आती हैमेरी  यादें  तेरी  तन्हाई  भी  मिटाती  क्याजिस तरह तेरी  याद  मेरी  मिटा  जाती  हैमेरी  यादें   गर   काट  दे   तेर... Read more
clicks 185 View   Vote 0 Like   2:33am 8 May 2012 #
Blogger: Deepak Kumar Mishra
प्रिया  कि  प्रीति  में  हमने  सजा  क्या  खूब  पाई है मिलन  इक  पल  का  था केवल और लंबी जुदाई है रूमानी   गीत   मेरे   लब   अगर छेड़े  तो ये समझो प्रिया  की  प्यारी  सूरत  दिल में मेरे  ली अंगडाई है प्रिया  की  प्रीति  में  जब  भी  मै कोई रात जगता हूँ तभी उस रात की तन्हाई पर  कवित... Read more
clicks 179 View   Vote 0 Like   1:06pm 4 May 2012 #
Blogger: Deepak Kumar Mishra
     आज हमारे समाज में तरह तरह के भेदभाव व्याप्त हैं | क्या हम लोगों ने कभी सोचा जो इस संसार में कुदरत की बनाई हुई चीज  है वो कभी किसी के साथ कोई भेदभाव करती है ? अगर कुदरती चीजें कोई भेदभाव नहीं करती हैं तो हम भी तो उसी कुदरत के बनाये हुए हैं तो हम भेदभाव क्यूँ करते हैं ? अगर इ... Read more
clicks 187 View   Vote 0 Like   9:08am 26 Apr 2012 #
Blogger: Deepak Kumar Mishra
जिसकी  साया  में  पले  बढे  उसका सम्मान न कम करनादुःख लाख सहे जिसने तेरे बिन उसकी ऑंखें न नम करनाखुद भूखे  पेट  रहकर  जिसने  तुझको  भर  पेट  सुलाया  हैममता  के  ऐसे  मंदिर  में  गम  का   अंधियारा   न   करनाजब  कदम   लड़खड़ाते   तेरे   तब   माता   दौडी   आती   हैगोदी  में  उठा  करके  ... Read more
clicks 174 View   Vote 0 Like   4:21pm 17 Apr 2012 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Publish Post