POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: Priyadarshini..

Blogger: priyadarshinitiwari
कुछ दिन पहले मेरी सर्जरी  हुई थी।  दोनों बच्चे लगातार मेरे साथ रहे , मेरी देखभाल  करते रहे। मेरा बेटा यश , जो अभी सत्रह साल का है , उसका यह पहला मौक़ा था जब उसने घर के बड़ों की तरह ज्यादा से ज्यादा मेरी जिम्मेदारी उठाई। इस बीमारी , तकलीफ और अस्पताल के  माहौल को उसने अपने ... Read more
clicks 0 View   Vote 0 Like   11:50am 1 Jul 2019 #
Blogger: priyadarshinitiwari
लीजिये ,फ़िर होली का त्योहार आ गया ...बच्चे बोले ..चलो हम बाज़ार हो आते है .पांच दिन बाद ही तो होली है अभी तो खाने-पीने का सामान ,रंग,पिचकारी कुछ भी नही लिया..मैने भी खीझ कर कह दिया..अभी तो पांच दिन बाकी है न  !.सब हो जायेगा..दिमाग मत खाओ..कहने को तो मैने कह दिया .पर मै बच्चों के मन की ... Read more
clicks 10 View   Vote 0 Like   7:02am 20 Mar 2019 #
Blogger: priyadarshinitiwari
                      कुछ साल पहले की ही बात है , जब बोर्ड एग्जाम्स का इतना हौवा नहीं होता था । होता भी था तो बस इतना कि परीक्षा के समय खूब मन लगाकर पढ़ना है और फर्स्ट डिवीज़न यानी कि 60% लेकर उत्तीर्ण होना है। बस्स , इतने में बच्चे संतुष्ट और उनके मां -बप्प भी संतुष्ट ... Read more
clicks 32 View   Vote 0 Like   5:02pm 23 Feb 2019 #
Blogger: priyadarshinitiwari
      हम हमेशा कहते हैं कि आज के बच्चे , बच्चे नही रहे , बड़े हो गये हैं । सच है । पर इसके जिम्मेदार कौन ? हम न ! बच्चा बोलना भी नहीं सीख पाता और हम उसे बड़े - बड़े पाठ याद कराने लगते हैं । जब वो लोगों को रिश्तों को ठीक से पहचान भी नही पाता हम उसकी सुरक्षित रहने की चिंता के कारण ब... Read more
clicks 54 View   Vote 0 Like   3:47pm 14 Nov 2017 #
Blogger: priyadarshinitiwari
    माना , कि  माँ को परिभाषित करना संभव नहीं , माँ तो ईश्वर से  बढ़कर है , जो जीवन भर सिर्फ देती ही है , कुछ लेती नहीं। .. ,.. ऐसी अनेकों  विशेषतायेँ इस 'माँ 'शब्द  के भीतर छिपी हुई हैं ., जिसे एक विशेष दिन उसके नाम कर नहीं बताया  जा सकता, .. इस प्रकार की  तमाम बड़ी-बड़ी बाते... Read more
clicks 84 View   Vote 0 Like   12:50am 14 May 2017 #
Blogger: priyadarshinitiwari
           कुछ  दिनों से देख रही हूँ , अपने आसपास  बहुत से लोगों को ,  ... बेहद फिक्रमंद हो गए है , अपने बढ़ते हुए बच्चों के भविष्य को लेकर। .. और हों भी क्यों न ! .. माँ -बाप यही तो चाहते है की उनके बच्चे अपनी ज़िन्दगी में सफल रहे , खुश रहें। .. आज जब मेरे बच्चे बड़े हो रहे हैं ,. उ... Read more
clicks 90 View   Vote 0 Like   2:44am 19 Feb 2017 #
Blogger: priyadarshinitiwari
                     सबसे पहले तो आप , हमसब को नए साल की ढ़ेरों   शुभकामनायें। .. इस साल सब लोग खूब अच्छा-अच्छा सोचें , अच्छा-अच्छा करें , किसी को भी पलभर के लिए दुःख का सामना न करना पड़े , ईश्वर से यही प्रार्थना है। .. सुनने  में यह बात बड़ी अजीब सी लग सकती है की यह कैसे स... Read more
clicks 138 View   Vote 0 Like   4:52am 1 Jan 2017 #
Blogger: priyadarshinitiwari
                 कुछ दिनों से  चौबीसों घंटे घना कोहरा छाया हुआ है , भरी दुपहरी भी सूर्य देवता के दर्शन तो दूर ,  एक झलक भी नसीब नहीं होती।  बावज़ूद इसके , हम घरेलू औरते ( घरेलू से मेरा आशय सिर्फ उन औरतों से है जो किसी कामकाज के सिलसिले में घर से बाहर नहीं जातीं ).. ह... Read more
clicks 195 View   Vote 0 Like   5:57am 5 Dec 2016 #
Blogger: priyadarshinitiwari
                   आज युद्ध ही एकमात्र हल रह गया है क्या ?.. और कोई रास्ता नही ! .. रास्ता तो सचमुच कोई भी नज़र नहीं आता , और  युद्ध भी समस्या का हल नही होते। ... हम चाहे कितना भी ज़ोर से चीख-चीख कर कह लें , लोगों को उकसाने की कोशिश कर लें  की बस , ..अब और नही , ..अब युद्ध ही हो... Read more
clicks 109 View   Vote 0 Like   6:28am 24 Sep 2016 #
Blogger: priyadarshinitiwari
आज से पितृ पक्ष प्रारम्भ हो रहा है , हिन्दू धर्म में आस्था रखने वालों के लिये यह पक्ष बहुत महत्वपूर्ण है .कहा जाता है कि इन दिनों "पित्रलोक"पूरे वर्ष भर में धरती के सबसे निकट होता है . लोग अपनी सामर्थ्य और श्रद्धा के अनुसार पितरों को जल चढाते ,पन्डितों-गरीबों को भोजन कराते,... Read more
clicks 106 View   Vote 0 Like   4:55am 16 Sep 2016 #
Blogger: priyadarshinitiwari
हमारे देश में बहुत सी भाषाएँ बोली और लिखी जाती है।  ..शिक्षा का माध्यम हिंदी , अंग्रेजी के साथ ये प्रान्त विशेष में बोली जाने वाली भाषाएँ  भी है।          भाषा लिखित हो या मौखिक , .. हमारी अभिव्यक्ति  का  ही माध्यम है।  कोई भी भाषा अच्छी या बुरी नही होती। .हाँ , व... Read more
clicks 105 View   Vote 0 Like   11:38am 14 Sep 2016 #
Blogger: priyadarshinitiwari
बात दो-तीन दिन पहले की है , हमारे एक परिचित जिनकी उम्र तीस बत्तीस साल के आसपास होगी , आये हुए थे। कुछ दिन पहले ही इन सज्जन की शादी तय हुई है सो साथ ही यह अपने होने वाले ससुर जी को लाये थे। हम सब से मिलवाने , जो देखने से सीधे-सादे लग रहे थे। वैसे भी हमारे यहां लड़की का पिता जब अपनी... Read more
clicks 119 View   Vote 0 Like   3:39am 11 Sep 2016 #
Blogger: priyadarshinitiwari
     आज ओलम्पिक में पदक लाने के लिए बेटियों की खूब वाह-वाही  हो रही है ,  होनी भी चाहिए , क्योंकि यह बहुत बड़ी उपलब्धि है , गर्व की बात है,  खिलाड़ी के लिए , खेल के लिए , देश के लिए , हम सब के लिए।  पर जिस तरह से सोशल साइट्स , व्हाट्स एप्प पर बेटियों के गुणगान  किये जा रहे ... Read more
clicks 111 View   Vote 0 Like   2:40pm 20 Aug 2016 #
Blogger: priyadarshinitiwari
 आज 'ड्रॉप डेड फाउंडेशन 'ने 'दैनिक भास्कर 'के सहयोग से ' One Drop Cinemas, ONE MINUTE FILM COMPETITION '.. में भेजी गई कुछ विडिओ को अपने यू-ट्यूब चैनल पर अपलोड किया है ..इसमें यश की दो फिल्मों  को भी शामिल किया गया है ..चाहती हूँ ..इन सभी फिल्मों को जो किसी खास उद्देश्य से बनाई गई हैं , आप सब ज़रूर देखें -... Read more
clicks 122 View   Vote 0 Like   3:13pm 11 Jun 2016 #
Blogger: priyadarshinitiwari
मां ,कहां से शुरू करूं ..कुछ समझ में नहीं आ रहा ..तुम्हारे बारे में कुछ लिखना बहुत मुश्किल है ..तुम क्या हो ..सिर्फ़ वही लोग जान सकते है ..जो तुमसे किसी न किसी रूप मै जुडे हुए है ..तुम जैसा दूसरा कोई है ही नहीं .जब तुम्हारे बारे में सोचती हूं ,तो समझ ही नहीं पाती हूं .कैसे तुमने हम स... Read more
clicks 108 View   Vote 0 Like   3:13am 8 May 2016 #
Blogger: priyadarshinitiwari
  आज से लगभग साल भर पहले मेरे बेटे यश ने सत्ताइस मिनिट की एक शार्ट मूवी  ' TUTANKHAMUN,' बनाई थी , किसी की मदद लिए बगैर  . .इसका टीज़र और ट्रेलर मैं पहले ही यहां दिखा चुकी हूँ , इसमें कुछ कमियां भी नज़र आएंगीं , आवाज़ शुरुआत के कुछ दृश्यों में अस्पष्ट और धीमी  है , जो बाद में ठीक ह... Read more
clicks 192 View   Vote 0 Like   10:20am 27 Mar 2016 #
Blogger: priyadarshinitiwari
लीजिये ,फ़िर होली का त्योहार आ गया ...बच्चे बोले ..चलो हम बाज़ार हो आते है .पांच दिन बाद ही तो होली है अभी तो खाने-पीने का सामान ,रंग,पिचकारी कुछ भी नही लिया..मैने भी खीझ कर कह दिया..अभी तो पांच दिन बाकी है न  !.सब हो जायेगा..दिमाग मत खाओ..कहने को तो मैने कह दिया .पर मै बच्चों के मन की ... Read more
clicks 165 View   Vote 0 Like   4:08am 21 Mar 2016 #
Blogger: priyadarshinitiwari
     क्या वजहें हो सकतीं है.आये दिन होनेवाली आत्महत्याओं की। खासतौर पर   तब,जब ये कदम स्कूलों में पढ़ने वाले छोटे-छोटे बच्चों के द्वारा उठाया जाता है। आखिर ऐसी कौन सी परिस्थितियां , किस तरह का मानसिक   दवाब या  तनाव इन बच्चों को होता है जो कुछ भी जाने समझे बगैर ऐस... Read more
clicks 114 View   Vote 0 Like   3:01pm 13 Feb 2016 #
Blogger: priyadarshinitiwari
      साल दर साल न जाने कितनी सरकारी योजनाएं आतीं है। लागू भी होतीं है , लेकिन जिन जरूरतमंद लोगों के भले के लिए ये  बनाई जातीं है उन को कोई जानकारी ही नही होती। क्यूंकि ये लोग अख़बार , पत्र -पत्रिकाएं  और इंटरनेट से कोसों दूर रहते है।  न तो ज़रूरतमंद  इसका ल... Read more
clicks 215 View   Vote 0 Like   1:48pm 28 Jan 2016 #
Blogger: priyadarshinitiwari
           आज गणतंत्र दिवस है आप सबको बहुत- बहुत बधाई।  ..दिन चाहे कोई सा भी हो..  .हमें मिला हुआ आज़ादी का हर एक पल सिर्फ और सिर्फ उनके नाम...  जो देश की सुरक्षा के लिए अपने घर-परिवार से दूर , किसी लालच के बगैर,  अपने बुलंद हौसलों से विपरीत परिस्थितियों में भी  सं... Read more
clicks 193 View   Vote 0 Like   6:21am 26 Jan 2016 #
Blogger: priyadarshinitiwari
हमारे लिए बहुत ,  बहुत मुश्किल होता जा रहा है  यह समझना की आखिर हम माँ -बाप कहाँ  गलती कर रहे हैं अपने बच्चों की देख भाल में , उनकी परवरिश में।  कहाँ  हमसे चूक हो जाती है.... या ऐसी कौन सी इच्छाएं -घटनाएँ  ( दुर्घटनाएं )  है जो एक  शांत , समझदार और पढ़ाई-लिखाई में ... Read more
clicks 180 View   Vote 0 Like   2:39pm 28 Dec 2015 #
Blogger: priyadarshinitiwari
कल जब सांता छोटे-छोटे  बच्चों के पास बच्चों के लिए गिफ्ट लेकर आये होंगे तो उन्होंने उनके  कान में धीरे से एक प्रॉमिस ज़रुर लिया होगा .''.बड़े होकर एक अच्छा इंसान बनने का ..सब तरह की बुराईयों से दूर रहने का ..सही-गलत  का भेद समझने का  ''....क्यूंकि सांता जानते है..ये नन्हें-नन्... Read more
clicks 165 View   Vote 0 Like   5:13am 25 Dec 2015 #
Blogger: priyadarshinitiwari
आज हमारे हाथों में एक से बढ़कर एक चमत्कारी गैजेट्स है। आज का छोटा -छोटा बच्चा जिसे पर्याप्त पोषक तत्व घर से भले ही न मिल रहे हों दो -चार चमचमाते फोन के बीच ज़रूर घिरा रहता है ,उन्ही के साथ सोता -बैठता-उठता है। वह अभी से ही जान गया है सोते समय सिरहाने तकिया के साथ और क्या रखा जा... Read more
clicks 196 View   Vote 0 Like   5:39am 30 Nov 2015 #
Blogger: priyadarshinitiwari
दशहरा नज़दीक है,साल दर साल दशहरा हो या कोई अन्य त्योहार..हम सब में त्यौहार  को मनाने का जोश कम ही होता नज़र आ रहा है..कुछ त्यौहारों का आना तो अब बला समान लगता है..दशहरे से जुडी दो यादगार घटनायें मैं आपके साथ शेयर करना चाहूंगी..पहली घटना तब की है..जब मैं ग्यारहवीं क्लास मैं प... Read more
clicks 140 View   Vote 0 Like   2:05am 22 Oct 2015 #
Blogger: priyadarshinitiwari
आज बहुत दिनों के बाद तेज हवा वह भी हल्की सी  ठंडक लिए हुए चल रही है।  पर हम इस हवा का ज़रा सा भी आनंद नही ले पा  रहे है। घर में सफाई-पुताई का काम जो चल रहा है।  इस वक्त दीवारों पर से पुराने पेंट को हटाने के लिए रेगमाल से खुरचा  जा रहा है, सो जैसे ही कोई खिड़की या दरव... Read more
clicks 177 View   Vote 0 Like   8:19am 24 Sep 2015 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Publish Post