POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: Navakash नवआकाश

Blogger: kapeesh gaur
To Buy this print in different size click on image  The Taj Mahal (/ˌtɑːdʒ məˈhɑːl, ˌtɑːʒ-/;4 Hindi: ताज महल [taːdʒ ˈmɛːɦ(ə)l], meaning “Crown of the Palaces”) is an ivory-white marble mausoleum on the south bank of the Yamuna river in the Indian city of Agra. It was commissioned in 1632 by the Mughal emperor, Shah Jahan (reigned from 1628 to 1658), to house the tomb of his favorite wife,... Read more
clicks 62 View   Vote 0 Like   9:19pm 4 May 2019 #The Taj mahal
Blogger: kapeesh gaur
माँ की गोद में मासूमियत से देखता हुआ बच्चा अजनबी के सामने अपनी भावनाओं को सहज ही व्यक्त कर रहा है। आप यह छायाचित्र बड़े साइज में खरीदने के लिए चित्र पर क्लिक करें। कलाकार को प्रोत्साहन देने के लिए अग्रिम साधुवाद। ... Read more
clicks 71 View   Vote 0 Like   4:24pm 3 May 2019 #canvas
Blogger: kapeesh gaur
A great devotee of Shri Rama is the symbol of devotion and dedication. The Shri Hanuman Mantra describes him correctly. Buy this poster click the buy button below   ... Read more
clicks 53 View   Vote 0 Like   12:38pm 29 Apr 2019 #Quotes Posters
Blogger: kapeesh gaur
Sanskrit is the source of many languages. It has ability to say long in short. You are Limited edition Poster by ChromaticArtStore You can buy these printable posters in various sizes. From chromatic art store.  ... Read more
clicks 99 View   Vote 0 Like   12:55pm 25 Apr 2019 #
Blogger: kapeesh gaur
Sanskrit is the source of many languages. It has ability to say long in short. You are Limited edition Poster by ChromaticArtStore You can buy these printable posters in various sizes. From chromatic art store.  ... Read more
clicks 19 View   Vote 0 Like   12:55pm 25 Apr 2019 #
Blogger: kapeesh gaur
New beginning starts with motivation and desires. The Starting point Poster by ChromaticArtStore You can buy these printable posters in various sizes. From chromatic art store.  ... Read more
clicks 30 View   Vote 0 Like   12:40pm 25 Apr 2019 #
Blogger: kapeesh gaur
Life Quotes posters by indian philosopher - Jiddu Krishnamurti Ability to observe poster by ChromaticArtStore You can buy these printable posters in various sizes. From chromatic art store.  ... Read more
clicks 27 View   Vote 0 Like   12:21pm 25 Apr 2019 #
Blogger: kapeesh gaur
उदासी का ये पत्थर आँसुओं से नम नहीं होता हज़ारों जुगनुओं से भी अँधेरा कम नहीं होता कभी बरसात में शादाब बेलें सूख जाती हैं हरे पेड़ों के गिरने का कोई मौसम नहीं होता बहुत से लोग दिल को इस तरह महफूज़ रखते हैं कोई बारिश हो ये कागज़ ज़रा भी नम नहीं होता बिछुड़ते वक़्त कोई ब... Read more
clicks 169 View   Vote 0 Like   7:41pm 30 Oct 2015 #कविता
Blogger: kapeesh gaur
जाने क्या ढूँढने खोला था, उन बंद दरवाजों को .... अरसा बीत गया सुने उन धुंधली आवाजों को .. यादों के सूखे बागों में जैसे... एक गुलाब़ खिला है ... आज उस बूढी अलमारी के अन्दर .... पुराना इतवार मिला है .... कांच के एक डिब्बे में कैद ... कुछ कंचे खरोचों वाले ... इधर उधर बिखरे हुए .... कुछ आज़ाद इमली ... Read more
clicks 171 View   Vote 0 Like   2:13pm 24 Oct 2015 #कविता
Blogger: kapeesh gaur
शासनकी बंदूक.....खड़ीहो गई चाँपकर कंकालों की हूक नभमें विपुल विराट-सी शासन की बंदूक उसहिटलरी गुमान पर सभी रहे हैं थूकजिसमेंकानी हो गई शासन की बंदूक बढ़ीबधिरता दसगुनी, बने विनोबा मूक धन्य-धन्यवह, धन्य वह, शासन की बंदूक सत्यस्वयं घायल हुआ, गई अहिंसा चूक जहाँ-तहाँदगने लगी ... Read more
clicks 185 View   Vote 0 Like   8:55pm 25 Jul 2012 #नागार्जुन
Blogger: kapeesh gaur
कमराखाली है औरबत्ती जल रही है।कीडे़-मकोडे़कहीं नहीं दीखते।फिरभी दीवार पर एक छिपकली चल रही है।सेजपर फूलों का गुलदस्ता हैताजाऔर रंगीन ।वहकुछ बोलना चाहता है।फुलवारीमें सारे राज आशकार( प्रकट ) नहीं हुए।वहकमरे में भी कोई भेद खोलनाचाहता है? लेकिनवह कौन है।उसकीबात सुनन... Read more
clicks 208 View   Vote 0 Like   1:52pm 24 Jul 2012 #कमरा खाली है
Blogger: kapeesh gaur
रोटी और संसद एक आदमी रोटी बेलता है एक आदमी रोटी खाता है।एक तीसरा आदमी भी हैजो न रोटी बेलता है, न रोटी खाता है।वह रोटी से खेलता हैमैं पूछता हूँ –‘यह तीसरा आदमी कौन है ?’मेरे देश की संसद मौन है।हिन्दी साहित्य में धूमिल के नाम से प्रसिद्ध कविसुदामा पाण्डेय की कविता-‘रोटी औ... Read more
clicks 267 View   Vote 0 Like   3:55pm 19 Jun 2012 #रोटी और संसद
Blogger: kapeesh gaur
‘अकालऔर उसके बाद’कईदिनों तक चूल्हा रोया, चक्की रही उदास कईदिनों तक कानी कुतिया सोई उनके पासकईदिनों तक लगी भीत पर छिपकलियों की गश्त कईदिनों तक चूहों की भी हालत रही शिकस्त दानेआए घर के अंदर कई दिनों के बाद धुआँउठा घर के अंदर कई दिनों के बाद चमकउठीं घर भर की आँखें कई दिनो... Read more
clicks 317 View   Vote 0 Like   5:06pm 12 Jun 2012 #नागार्जुन
Blogger: kapeesh gaur
रामदास चौडी़ सड़क गली पतली थीदिन का समय घनी बदली थीरामदास उस दिन उदास था ।अंत समय आ गया पास था उसे बता यह दिया गया था उसकी हत्या होगी।धीरे-धीरे चला अकेलेसोचा साथ किसी को ले ले फिर रह गया, सड़क पर सब थेसभी मौन थे सभी निहत्थे सभी जानते थे यह उस दिन उसकी हत्या होगी।खड़ा हुआ व... Read more
clicks 318 View   Vote 0 Like   8:06am 1 Jun 2012 #रामदास
Blogger: kapeesh gaur
आईना The Mirror<!--[if gte mso 9]> Normal 0 false false false EN-US X-NONE X-NONE<![endif]--><!--[if gte mso 9]>... Read more
clicks 283 View   Vote 0 Like   8:15pm 18 Apr 2012 #कल्पना
Blogger: kapeesh gaur
<!--[if gte mso 9]> Normal 0 false false false EN-US X-NONE X-NONE MicrosoftInternetExplorer4<![endif]--><!--[if gte mso 9]>... Read more
clicks 248 View   Vote 0 Like   3:59pm 8 Apr 2012 #महाभारत
Blogger: kapeesh gaur
<!--[if gte mso 9]> Normal 0 false false false EN-US X-NONE X-NONE MicrosoftInternetExplorer4<![endif]--><!--[if gte mso 9]>... Read more
clicks 209 View   Vote 0 Like   4:18pm 25 Mar 2012 #कारवाँ गुजर गया
Blogger: kapeesh gaur
भगवतीचरणवर्मा - आज शाम है बहुत उदास                                                           आजशाम है बहुत उदासकेवल मैं हूँ अपने पास ।दूर कहीं पर हास-विलासदूर कहीं उत्सव-उल्लासदूर छिटक कर कहीं खो गयामेरा चिर-संचित विश्वास ।कुछ भूला सा और भ्रमा साकेवल मैं हूँ अपने पासएक धुंध में कु... Read more
clicks 286 View   Vote 0 Like   7:35pm 21 Mar 2012 #भगवतीचरण वर्मा
Blogger: kapeesh gaur
                   झाँसी की रानी लक्ष्मी बाई19 नवम्बर 1835-17 जून 1858सुभद्रा कुमारी चौहान – झाँसी की रानी सिंहासन हिल उठे राजवंशों ने भृकुटी तानी थीबूढ़े भारत में आई फिर से आई नयी जवानी थी,गुमी हुई आज़ादी की कीमत सबने पहचानी थी,दूर फिरंगी को करने की सबने मन में ठानी थी। चमक उठी सन सत... Read more
clicks 335 View   Vote 0 Like   8:50pm 19 Mar 2012 #झाँसी की रानी
Blogger: kapeesh gaur
             तुलसी का पौराणिक महत्वतुलसी के ऊपर एक पृथक पुराण लिखा जा सकता है, संक्षेप में तुलसी का धार्मिक व औषधि जनित महत्व अपने इस ब्लॉग पर बताने की कोशिश कर रहा हूँ । भारतीयों के लिए यह गंगा यमुना के समान पवित्र है, तुलसी की हिन्दू संस्कृति में धार्मिक महत्व कहकर  पूजा ... Read more
clicks 337 View   Vote 0 Like   12:42pm 20 Feb 2012 #तुलसी का पौराणिक महत्व
Blogger: kapeesh gaur
कपीस गौड सर्व शिक्षा अभियान … शिक्षा सभी के लिए "निरक्षरता हमारे लिए पाप और शर्मनाक है इसका नाश किया जाना चाहिए।" महात्मा गाँधी शिक्षा एक ऐसा साधन है जो राष्ट्र की सामाजिक-आर्थिक स्थिति में सुधार लाने में एक जीवंत भूमिका निभा सकता है। यह नागरिकों की विश्लेषण क्षमता सह... Read more
clicks 185 View   Vote 0 Like   9:13am 25 May 2010 #लक्ष्य
Blogger: kapeesh gaur
किसी गाँव में एक किसान को बहुत दूर से पीने के लिए पानी भरकर लाना पड़ता था. उसके पास दो बाल्टियाँ थीं जिन्हें वह एक डंडे के दोनों सिरों पर बांधकर उनमें तालाब से पानी भरकर लाता था.उन दोनों बाल्टियों में से एक के तले में एक छोटा सा छेद था जबकि दूसरी बाल्टी बहुत अच्छी हालत मे... Read more
clicks 140 View   Vote 0 Like   2:03pm 6 Dec 2009 #दोष
Blogger: kapeesh gaur
[इस आलेख से मेरा उद्देश्य इस पेशे की बारीकियों को दिखाना नही है। अपितु मात्र 'पापारात्सी' (paparazzi) शब्द की व्याख्या करना है।] पापारात्सी (paparazzi) इतालवी भाषा का शब्द है और इसका उच्चारण पापारात्सी है न की पपराज्जी। इतालवी भाषा में दो बार जेड़ (z) आता है तो वह त + स की आवाज़ उत्पन्... Read more
clicks 162 View   Vote 0 Like   7:42am 19 Aug 2009 #बिज़नेस
Blogger: kapeesh gaur
पतंग' शब्द बहुत प्राचीन है। सूर्य के लिए भी पतंग शब्द का प्रयोग किया जाता है, कीट-पतंगे आज भी प्रचलित शब्द है। हर इंसान अपने जीवन में ऊँचाइयों को पाने की ख्वाहिशें रखता है, और ये ख्वाहिशें भी कितनी खानाबदोश होती हैं। क्या पता? ऐसी ही एक ख्वाहिश इंसान ने पाली हो, आसमान में ... Read more
clicks 181 View   Vote 0 Like   11:48am 14 Aug 2009 #पतंग का अविष्कार
Blogger: kapeesh gaur
कपीस गौड़ लोकसभा चुनावों में 'जुगाड़पुर' से चमचा पार्टी के अत्यंत लोकप्रिय उम्मीदवार बरसाती लाल के विरूद्व कोई भी उम्मीदवार चुनाव लड़ने को तैयार नहीं था।  ऐसे में छतरी पार्टी ने, जो चमचा पार्टी की मुख्य प्रतिद्वंदी थी, मुंबई के मशहूर फिल्म अभिनेता 'मुन्ना मंकी ख़त' को ... Read more
clicks 159 View   Vote 0 Like   10:44am 1 Jul 2009 #मतगणना
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Publish Post