POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: परछाईं

Blogger: shashi kant trigun
शशि कान्त त्रिगुण नेता जी सुभाष चंद्र बोस नहीं होते तो आजादी की जंग उतनी जल्दी नहीं जीती जाती, जितनी जल्दी जीत ली गई। एक विचार 'पूर्ण स्वराज ने अंग्रेजों को भारत छोडऩे के लिए मजबूर कर दिया। यह माना जाता है कि इस विचार के प्रणेता महात्मा गांधी थे, जबकि सच्चाई यह है कि सब... Read more
clicks 109 View   Vote 0 Like   11:40am 21 Jul 2015 #
Blogger: shashi kant trigun
‘कॉकस’ से घिरे हैं, भाजपा के कई बड़े नेता: जेठमलानीपूर्व केंद्रीय कानून मंत्री एवं जाने-माने वकील राम जेठमलानी अक्सर अपनी अक्खड़ मिजाजी के लिए चर्चा में रहते हैं। इन दिनों वे अपनी पार्टी भाजपा के नेतृत्व से नाराज हो चले हैं। पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन गडकरी के मा... Read more
clicks 161 View   Vote 0 Like   1:13pm 17 May 2013 #
Blogger: shashi kant trigun
   ब्लॉग पर प्रकाशित इस लेख के लेखक सूरज सिंह हैं। ये विचार निहायत उनके अपने हैं।लाठी चार्ज सुनने में अजीब बिलकुल नहीं लगेगा। आज के दौर में हर कोई इस शब्द को भली भांति समझता होगा। दरअसल, समाज में बिगड़ते माहौल और उपद्रवियों को शांत करने के लिए सुरक्षाबल इसका प्रयोग करत... Read more
clicks 158 View   Vote 0 Like   10:48am 11 Jan 2013 #‘लाठी चार्ज’
Blogger: shashi kant trigun
एक(लड़की कहने जरूरत नहीं है) के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना के बाद राष्टÑ में एक उबाल आ गया है। यह उबाल अब लहर में तब्दिल हो गया है। अगर मैं कुछ जोखिम लेकर कहूं तो यही लहर पैदा करने के लिए किसी ने एक बुलबुला पैदा किया गया था। लेकिन उसकी जगह लहर पर सवार होने के लिए कई आगे आ ग... Read more
clicks 181 View   Vote 0 Like   2:57pm 26 Dec 2012 #दुष्कर्म
Blogger: shashi kant trigun
यह लेख प्रथम प्रवक्ता हिंदी पाक्षिक पत्रिका के नवंबर के शुरुआती अंक में प्रकाशित हो चुका है।                                                                                                                                                                                       गुजरात दंगों पर केंद्रीत चार दिवसीय कार्यक्रमों का एक बड़ा आयोजन पि... Read more
clicks 192 View   Vote 0 Like   2:03pm 3 Dec 2012 #दंगा
Blogger: shashi kant trigun
  मैं नास्तिक क्यों हूँ? : भगतसिंहप्रत्येक मनुष्य को, जो विकास के लिए खड़ा है, उसे रूढ़िगत विश्वासों के हर पहलू की आलोचना तथा उन पर अविश्वास करना होगा और उनको चुनौती देनी होगी।  प्रत्येक प्रचलित मत की हर बात को हर कोने से तर्क की कसौटी पर कसना होगा।   यदि काफ़ी तर्क के बाद ... Read more
clicks 183 View   Vote 0 Like   10:07am 5 Nov 2012 #नास्तिक
Blogger: shashi kant trigun
किसी की शराब पीने से मौत होती है,तो लोग कह देते हैं, शराबी था। अगर दूध पीने से लोग बीमार होने लगें और मरने लगें तो इसे क्या कहेंगे? दूध भी इतना खतरनाक और जानलेवा हो सकता है। यह मानने के लिए लोग तैयार नहीं होंगे। किंतु,लोगों की सरकार तो मान रही है। अदालत में उसने माना है कि द... Read more
clicks 300 View   Vote 0 Like   11:22am 26 Oct 2012 #काला कारोबार
Blogger: shashi kant trigun
   प्रकाश झा की बहुप्रतीक्षित नई फिल्म ‘चक्रव्यूह’ 24 अक्टूबर से सिनेमाघरों में आ रही है। टीबी और अखबारी पत्रकारों ने झा के मुंह में अपने शब्द डाल-डालकर बहुत कोशिश कर ली है कि वे इस फिल्म के मूल संदेश का ईशारा भर भी कर दें,तो लंबा फुटेज और लंबी खबर तान दी जाय। लेकिन आखिर क... Read more
clicks 169 View   Vote 0 Like   3:08pm 20 Oct 2012 #चक्रव्यूह’
Blogger: shashi kant trigun
 यह सामग्री प्रथम प्रवक्ता हिंदी पत्रिका के 16 से 31 अक्टूबर के अंक में प्रकाशित हो चुकी है। भारतीय शिक्षा व्यवस्था संक्रमण के दौर में है। दो ही साल हुए, माध्यमिक शिक्षा व्यवस्था में बड़े बदलाव किये गये। सतत एवं समग्र मूल्यांकन प्रणाली(सीसीई) के तहत बोर्ड परीक्षा को वैक... Read more
clicks 174 View   Vote 0 Like   1:55pm 10 Oct 2012 #शिक्षा व्यवस्था
Blogger: shashi kant trigun
अमेरिका-यूरोप की महिलाएं रिश्तों में मनमानेपन से ऊब चुकी हैं,और लड़कियां भी यह सब देखकर डरने लगी हैं। सामाजिक रिश्तों पर नियंत्रण रखने वाला परिवार नाम की कोई संस्था नहीं बची है। वहां की लड़कियों को सामाजिक आर्थिक सुरक्षा का डर सताने लगा है। लेकिन भारतीय लड़के  परिवा... Read more
clicks 175 View   Vote 0 Like   3:35pm 30 Sep 2012 #परिवार
Blogger: shashi kant trigun
एक हजार हिन्दुओं का कत्ल करो - राजदीप सरदेसाईFriday 27 July 2012 राष्ट्र-चिंतनविष्णुगुप्त की कलम सेआईबीएन सेवन के चीफ राजदीप सरदेसाई की असम दंगे पर एक खतरनाक,वीभत्स, रक्तरंजित और पत्रकारिता मूल्यों को शर्मशार करने वाली टिप्पणी से आप अवगत नहीं होना चाहेंगे? राजदीप सरदेसाई ने अस... Read more
clicks 248 View   Vote 0 Like   12:13pm 1 Aug 2012 #हिन्दु
Blogger: shashi kant trigun
ग्रीष्म ऋतु का सूर्ख मौसम,तपती धूप,चिलचिलाती गर्मी,हवाओं की तपिश,जलाती लू के थपेड़ों और सूरज की अगियारी सीधी,तिरछी किरणों से धरती का जल रहा बदन अब भीगने वाला है। इसकी प्यास बुझने वाली है। धरती की तपन और इसक ी तड़प के एक मात्र समझदार बादल इससे मिलने को आतुर हैं। इस कदर व्... Read more
clicks 227 View   Vote 0 Like   2:18pm 6 Jun 2012 #बारिश
Blogger: shashi kant trigun
¹fÀfZfaWXSXIaYVWXSXfÀf... Read more
clicks 179 View   Vote 0 Like   4:15pm 22 Apr 2012 #
Blogger: shashi kant trigun
उनका कचराउसकी रोटीदिनभर चुनतीरात को सोतीऐसी है व्यवस्थाया किस्मत ही फूटीसोच-सोच के वह है रोती... Read more
clicks 220 View   Vote 0 Like   4:03pm 22 Apr 2012 #वह
Blogger: shashi kant trigun
नाच,यदि दर्शकों की संवेदना और उनके सरोकारों से जुड़ा हो तो वह नृत्य का दर्जा हासिल कर लेती है। नर्तकी को आप रंडी नहीं कह सकते। मीडिया कभी-कभी कॉरपोरट की लय और उद्योगपतियों की ताल पर नाचता जरूर है। वह बाजार से इनाम में पूंजी लेता है। लेकिन मीडिया-नृत्य के दर्शक(समाज) उसक... Read more
clicks 219 View   Vote 0 Like   2:35pm 3 Apr 2012 #मीडिया
Blogger: shashi kant trigun
 यह लेख प्रथम प्रवक्ता पत्रिका के मार्च महीने के प्रथम अंक में प्रकाशित हो चुका है। अब आप तक आसानी से पहुंचाने के लिए इसे ब्लॉग पर पेश कर रहा हूं। आपकी टिप्पड़ियों का इंतजार रहेगा।    हाल ही पांच राज्यों में विधान सभा चुनावों के बीच जेएनयू में भी छात्रसंघ के चुनाव संपन... Read more
clicks 182 View   Vote 0 Like   2:40pm 26 Mar 2012 #जेएनयू
Blogger: shashi kant trigun
  10वीं के छात्रों को ‘टेबलेट’ देने का वायदा करने वाली समाजवादी पार्टी को युवाआें और अभिभावकों ने यूपी विधान सभा चुनावों में खूब वोट किया और सत्ता की कुर्सी तक पहुंचाकर अपनी बेकारी का इलाज करने वाला ‘डॉक्टर’ तो बना दिया। लेकिन सवाल यह है कि क्या दसवीं पास करने वाले छात... Read more
clicks 192 View   Vote 0 Like   12:43pm 19 Mar 2012 #‘टेबलेट’
Blogger: shashi kant trigun
नई दिल्ली। अध्ययन के विभिन्न अनुशासनों में सूत्र होते हैं,जिनके सहारे छात्र सवालों के जवाब तक पहुंचने की कोशिश करते हैं। सही सूत्र होने के बावजूद कठिन सवालों के जवाब तक पहुंचने में बहुत देर तक माथापच्ची करनी पड़ती है। लेकिन मीडिया का सूत्र,उसे घंटों का सवाल सेकेंण्ड... Read more
clicks 212 View   Vote 0 Like   1:48pm 14 Mar 2012 #खबरों से आगे
clicks 208 View   Vote 0 Like   10:03am 29 Feb 2012 #
Blogger: shashi kant trigun
अरविंद केजरीवाल ने ‘संसदीय चरित्र को बदलने’ की जो बात कह दी है,उससे लोकतंत्र और शानदार संसदीय परंपरा को भले ही ठेस पहुंच हो,लेकिन उनके एक बयान पर सांसदों की झल्लाहट ने स्वयं उनकी  ही गंभीरता पर सवाल खड़े कर दिये हैं। सवाल यह कि क्या दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र में शान... Read more
clicks 221 View   Vote 0 Like   3:58pm 28 Feb 2012 #राजनीति
Blogger: shashi kant trigun
नई दिल्ली। भारत के इस दावे का अमेरिका ने अनेक बार समर्थन किया है कि पाकिस्तान की धरती से आतंक को बढ़ावा मिल रहा है। पाक जमीन पर नापाक इरादे की फैक्ट्री लगी हुई है,जहां आतंकियों को प्रशिक्षण दिया जाता है। लेकिन दिल्ली मैग्नेट बम धमाके में कोई साक्ष्य यदि हिजबुल्लाह के ... Read more
clicks 206 View   Vote 0 Like   11:25am 20 Feb 2012 #
Blogger: shashi kant trigun
नई दिल्ली। भारत के इस दावे का अमेरिका ने अनेक बार समर्थन किया है कि पाकिस्तान की धरती से आतंक को बढ़ावा मिल रहा है। पाक जमीन पर नापाक इरादे की फैक्ट्री लगी हुई है,जहां आतंकियों को प्रशिक्षण दिया जाता है। लेकिन दिल्ली मैग्नेट बम धमाके में कोई साक्ष्य यदि हिजबुल्लाह के ... Read more
clicks 193 View   Vote 0 Like   3:42pm 18 Feb 2012 #अंतर्राष्टÑीय
clicks 183 View   Vote 0 Like   1:46pm 17 Feb 2012 #साहित्य
Blogger: shashi kant trigun
अगर पश्चिम में मानसिक और बौधिक रूप से इतना प्रेम भरा पड़ा है की, वहां से प्रेम का त्यौहार, हमे उस धरती पर आयात करना पड़ रहा है जहाँ निष्काम प्रेम में सर्वस्व समर्पण की प्रतिमूर्ति मीराबाई पैदा हुई, तो पश्चिम में ओल्ड एज होम सबसे ज्यादा क्यों हैं?? क्यों पश्चिम  का निष्कप... Read more
clicks 207 View   Vote 0 Like   9:41am 12 Feb 2012 #प्रेम-संस्कार
Blogger: shashi kant trigun
  2जी स्पेक्ट्रम के आवंटन में हुआ महाघोटाला। अब यह एक विवादित कथा का रूप ग्रहण कर लिया है। इसके ‘नायक’तब के दूर संचार मंत्री ए.राजा हैं। वर्तमान गृह मंत्री पी. चिदंबरम की भूमिका ‘सह-नायक’ होने के लायक लगती है। इन्हें ‘सह-नायक’ बनाने की कितनी कोशिशें भी चल रही हैं। लेकिन ... Read more
clicks 236 View   Vote 0 Like   3:46pm 11 Feb 2012 #महाघोटाला
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3938) कुल पोस्ट (195082)