Hamarivani.com

हिमधारा

जश्न-ए-ईदरिपोर्ट : दीपक शर्मा 'कुल्लुवी'Photo:Deepak kulluvi,Jawed naqvi sahib,Krishna,Md.Hamid Khan Sahib,Arundhati Roy,Yasmin Khan,Kumud,Zoya & her friendsजश्न-ए-ईद मनाने का खूबसूरत मौक़ा हमें इस बार फिर हिन्दोस्तान की जानी मानी हस्तियों के साथ हिदो'स्तानी शास्त्रीय संगीत के मशहूर गायक 'मोहम्मद हमीद खान' जी के घर पर मिला I वैसे तो हर साल ह...
हिमधारा...
Tag :
  August 22, 2012, 12:55 pm
तेरे दीवाने माँतेरे दीवाने माँ तेरे दीवाने माँ-2तेरे दर पे आए तुझको ले जाने माँतेरे दीवाने माँ-४(1) इस जीवन का क्या है भरोसा कब सांसें रुक जाए-2चलता पहिया जीवन का पल भर में रुक जाए-3भक्त माँ तेरे भोले भाले अन्जाने माँतेरे दीवाने माँ-4......................तेरे दर पे आए तुझको ले जाने माँ(2) ...
हिमधारा...
Tag :दीपक शर्मा कुल्लुवी
  August 20, 2012, 4:14 pm
जिंदगी में ऐसे लोग भी आये ना हँसे ना मुस्कुराये चिंता की रेखा मस्तक सजायउनके जैसा, कोई ज्ञान ना पाएजीवन रहते पशु बन जाए खुशियों में भी ना जो मुस्काएकोई तो उनको जा समझाए चिंता से कोई कुछ ना पाएचिंतन में क्यूँ ना मन लगायेसच्चे सुख से वंचित ना रह जायेक्षण भर के इस जीवन कोऔ...
हिमधारा...
Tag :दीपक शर्मा कुल्लुवी
  August 17, 2012, 2:55 pm
अब सब छूटा जाएमोहे मिला था सब कुछ जग में,अब सब छूटा जाएयाद तिहारी भूल न पाएँ-2 याद बहुत आएमोहे मिला था सब ..........(1 )'दीपक'थे जले दीप से हर पल,सबनें ही तो जलायानीर बहे न आँखों से पर,अपनों नें तो रुलायाइस दुनियाँ की रीत निराली-2,समझ नहीं पाएयाद बहुत आए.........मोहे मिला था सब ..........(2) नादा...
हिमधारा...
Tag :दीपक शर्मा कुल्लुवी
  August 17, 2012, 11:14 am
फूल की कहानी -फूल की जबानीमैं सक्षम, हूँ विलक्षण निर्मल करता, विचलित मनपुलकित कर तेरे, तन मनसुगन्धित करता, वन उपवनप्रकृति का श्रृंगार कर महक का प्रसार करचिंतन करता हर एक क्षणखुशियाँ देता मैं पल पलन्योछावर अपना जीवन करकभी मंदिर, कभी जमी मेंकभी रेंगता धूलि में जीवन की प...
हिमधारा...
Tag :दीपक शर्मा कुल्लुवी
  August 16, 2012, 4:41 pm
लघुकथापुण्‍य लाभ       ·       शेर सिंहतीर्थ स्‍थली पुरी में भगवान जगन्‍नाथ के उस बहुत बड़े मंदिर में जा कर उसने जहां -कहीं भी मूर्तियां,तस्‍वीरें,फल-फूल चढ़ाए हुए स्‍थान देखे,वहश्रद्धा और आदर से उन के आगे नत मस्‍तक हो कर अपना शीश झुकाता रहा । दरअसल,वह अपने एक प्रिय जन की अ...
हिमधारा...
Tag :
  July 21, 2012, 8:30 pm
कभी मस्जिद में ले चलना कभी मंदिर में आओ तुमवहीँ से चर्च में चल देंगे मिलजुलकर हम और तुमयह दर-ओ-दीवार मज़हव की कहीं आड़े न आ जाएकहीं इंसानियत के फूल को कम्बखत खा जाएबदलो सोच को अपनी झाँको दिल के बाहर भीघटिया सोच के दायरे में कहीं हो जाएँ न हम गुमयह मेरा दावा है गुरूद्वारे ...
हिमधारा...
Tag :दीपक शर्मा कुल्लुवी
  July 13, 2012, 5:42 pm
हिमालयशेर सिंह    पहाड़ है जहांबर्फ,हिमनदहै वहां ।गंगा हो या जमुनाव्‍यास हो या सतलुजया हो रावी,चनावपहाड़ ही इन की जननीइन का स्रोत ।नाम हिमालयवास महादेव शिव का मान देश कापहचान भारत की रक्षक प्रकृति कापुराण मानवता का ।                                                    -----------------------------...
हिमधारा...
Tag :
  June 12, 2012, 9:13 pm
कैलाश पर्वत | बादलों के घनेरे साये कहीं मन सहम जाए उजले गर्मी में मन कहीं सहम ठहर जाए किसी छोर से बुलावा आज भी हो, दिल की कसक यूँ ही जगी रहे । ...
हिमधारा...
Tag :मुकेश नेगी
  June 9, 2012, 9:10 pm
आप सभी से अनुरोध है कि लोकसंघर्ष पत्रिका के सदस्य बने। वार्षिक सदस्यता शुल्क 100 रु है। कृपया सदस्यता शुल्क रणधीरसिंहसुमन, प्रबंधसंपादकलोकसंघर्षपत्रिकानिकटडी.वी.एसस्कूललखपेडाबाग, बाराबंकी-225001उत्तरप्रदेशमो 09450195427पर भेजने का कष्ट करें तथा एस.एम.एस या ईमेल (loksangharsha@gmail.com) द्...
हिमधारा...
Tag :
  June 9, 2012, 4:49 pm
वह वर्ष 2003 का संभवत:अगस्‍त या सितंबर महीने के कोई शनिवार का दिन था ।  लखनऊ का दिल कहा जाने वाला हजरतगंज चौक से मैं मिनी बस से गोमती नगर को घर के लिए जा रहा था ।  मिनी बस खचाखचा भरी हुई थी।  बस में जो थोडी सी सीटें थी,वे सब क्षमता से भी अधिक भरी हुई थी ।  अधिकतर सवारियां खड़ी थी...
हिमधारा...
Tag :FEATURE
  June 9, 2012, 4:04 pm
शिमला की वादियाँकल जहाँ से गुजरा हूँ सब कुछ विस्मृत सा है पलकें  झपकते हुए चला जाता हूँआज फिर से वहीँ ठंडी हवाओं के झोकोंसंग कुछेक अविस्मृत पलों के संग टहलते हुए यादों के संग चला जाता हूँसब  कुछ नयासा दिखाई देता हैजहाँ हर बात नयी सी हैएक  नयी सोच नयीउमंगों के संग चला ...
हिमधारा...
Tag :मुकेश नेगी
  June 9, 2012, 12:11 pm
टेम्‍पों में ज्‍यादा सवारियां नहीं थी। आमने-सामने दोनों तरफ की सीटों पर कुल छ:जने बैठे हुए थे। शाम का समय था । टेम्‍पों इंदिरा नगर के पॉलीटेक्निक चौक से गोमती नगर को जा रही थी । गोमती नगर में हॅनीमेन चौराहा टेम्‍पों का अंतिम स्‍टॉप था । टेम्‍पों में दो महिलाएं और अन्‍य...
हिमधारा...
Tag :FEATURE
  June 8, 2012, 10:05 pm
 अतीत के पन्ने जो अभी भी आगम हो जाते हैं कहीं किसी रूप को लिए सहमे से माकूल सहम जाते जाते हैं भविष्य को आंकने के लिए कलम जब कागज पर उतराने, आगम होने सही मायनों के संग फिर भी भयवश कलम कागज के पन्नों को पलट देता अतीत को आगम कर लेता है।...
हिमधारा...
Tag :मुकेश नेगी
  June 8, 2012, 3:37 pm
 जब कभी भी देखा है तलाश  में यादों  के संग यूँ ही जाते हैं अहसास  के साथ कहीं  रुकावटें तो कहीं  हवाएं चलती है  सुदूर  क्षेत्रों में  कहीं भोर होते अस्त  होते  जब से देखा है  नम आँखों से ओझल  होते  कहीं  रोते  कभी मुस्कुराते  कहीं हँसते   कभी घूरते   कहीं उलझे  कभी बदलते  ...
हिमधारा...
Tag :मुकेश नेगी
  June 7, 2012, 11:41 pm
जिंदगी में हम वही चाहते हैं जो हमें नहीं मिलता है लेकिन हम भी वही मांगते हैं जो हमें बड़ी मुश्किलसे मिलता है तलाश में यादों के संगहम यूं ही चलते गएअहसास इस बात का कि हम मुस्कुराते रहें कहीं हमें रुकावटें तोकहीं हवायें रोक लेती हैं जहाँ हम स्थिर हैं हमेशा स्वयं को दूसरो...
हिमधारा...
Tag :
  June 7, 2012, 11:11 pm
 हर समय कहीं न कहीं दूसरों के  सहारे निर्भर रहना  पड़ता है किसी  से क्लेश   करना नहीं सुहाता  है फिर भी हर क्षण  हमें सबल परख की ओर दिशा बढ़ाना पड़ रहा है    किसी के साथ  बातचीत करना  सुनना, कहना  साथ चलना सहज  रूप से सुहाता है हमें प्रत्येक क्षण  उलझन में फसे रहना  सहज न...
हिमधारा...
Tag :मुकेश नेगी
  June 7, 2012, 11:04 pm
पेन आग उगलता है, तूफान लाता हैमोम बनाता है, आंसू बहाता है पेन भावनाओं में बहा ले जाता है जीवन के हर छोर से परिचय कराता है । मन- मस्तिष्‍क जैसा चाहे हाथ  पेन को वैसा चलाएजब हो स्‍वस्‍थ मन ,स्‍वस्‍थ तन पेन चले तब निष्‍पाप बन । पेन उकेरे अक्षरों की मोतीपेन ढाए अज्ञान की दीव...
हिमधारा...
Tag :FEATURE
  June 7, 2012, 8:27 pm
परिकल्पना सम्मान हेतु नामांकित ब्लोगर्स की सूची    स्नेही साथियों,यह शाश्वत सत्य है कि दो व्यक्ति एक ही चीज को देखता हैं, परन्तु कुछ भिन्न आकर्षण उस वस्तु में दोनों को दिखाई देता है।कोई जरूरी नहीं कि जिन व्यक्तियों के कुछ विशेष गुण मुझे आकर्षित करते हों आपको भी करे। ...
हिमधारा...
Tag :ब्‍लोगिंग
  June 7, 2012, 6:28 pm
विश्व पर्यावरण दिवसप्रैस रिपोर्टर : दीपक शर्मा 'कुल्लुवी''विश्व पर्यावरण दिवस' बड़े हर्षौल्लास के साथ अल्फ़ा शैक्षणिक संसथान 'लाल कला एवं सांस्कृतिक चेतना मंच' शक्ति विहार मीठापुर दिल्ली में दिल्ली रत्न श्री लाल बिहारी लाल जी के अथाह प्रयत्नों से मनाया गया जिसमें भा...
हिमधारा...
Tag :दीपक शर्मा कुल्लुवी
  June 6, 2012, 3:01 pm
हिंदी ब्लॉगिंग के एक दशक पर एकाग्र....आप सभी को यह सूचित करते हुए अपार हर्ष की अनुभूति हो रही है , कि दशक के ब्लॉगर और दशक के ब्लॉग हेतु कराये गए मत सर्वेक्षण का कार्य विगत 30 मई को सफलतापूर्वक पूरा हो गया है, किन्तु जबतक परिकल्पना सम्मान के शेष सम्मान धारकों की चयन प्रक्रि...
हिमधारा...
Tag :ब्‍लोगिंग
  June 6, 2012, 12:09 pm
(सुना न सके)कुछ गीत अधूरे रह गएजो पूरे हुए वोह गा न सकेसब उनके लिए ही लिखा थाचाहकर भी उनको सुना न सकेदीपक 'कुल्लुवी'06 /06 /12 .09350078399 ...
हिमधारा...
Tag :FEATURE
  June 6, 2012, 10:26 am
 रुझान : 96 घंटे  बाद ____________दशक  के हिंदी चिट्ठाकार ____________(1) समीर लाल  समीर (2) रवि  रतलामी (3) अनूप शुक्ल (4) रंजना  रंजू भाटिया (5) दिनेश राय  द्विवेदी (6) बी. एस. पावला (7) कविता वाचक्नवी (8) शास्त्री जे सी फिलिप (9) पूर्णिमा वर्मन (10) सतीश सक्सेना दृष्टव्य : इसके अलावा अविनाश व...
हिमधारा...
Tag :bloggers
  May 20, 2012, 3:20 pm
दूर होकरदूर होकर तुझसे हम दूर कहाँ जाएँगेदिल में झाँको तो सही पास नज़र आएँगेदूर होकर तुझसे हम दू ---------------हम मुहब्बत के पुजारी हैं करो मुझपे यकींतुम पुकारोगे जहाँ हमको पाओगे वहीँहम तो सांसों हम तो आँखों में ही बस जाएँगेदिल में झाँको तो सही पास नज़र आएँगेदूर होकर तुझसे ह...
हिमधारा...
Tag :
  May 18, 2012, 2:35 pm
पर्यटन विशेषांक धर्मकोट दूसरा मनाली प्रैस रिपोर्टर :- दीपक शर्मा 'कुल्लुवी'हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले के खूबसूरत और मेरी जन्मभूमि धर्मशाला शहर से लगभग 15 किलोमीटर कि दूरी और बौद्ध गुरु दलाईलामा जी के निवास स्थान मकलोडगंज से 3 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है 'धर्मकोट' ए...
हिमधारा...
Tag :
  May 17, 2012, 5:32 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3666) कुल पोस्ट (165905)