Hamarivani.com

Tatva bodh

कठोरतम  कम्युनिज्स्म एक ऐसी धारणा है जहाँ अपराधी और अपराध के शिकार को एक ही निगाहों से देखा जाता है, जैसे पैसे अधिक रखने वाला उससे बड़ा अपराधी है जो चोरी करता है, क्योंकि चोर को चोरी की जरुरत इसी लिए हुई, क्योंकि धनवान ने अपना धन नहीं बाटा! लेकिन फिर हमारा धर्म भी तो यही स...
Tatva bodh...
Tag :सामाजिक चिंतन
  February 4, 2012, 9:44 am
तसलीमा नसरीन और सलमान रुश्दी को बोलने की अनुमति नहीं देने वाला भ्रष्ट तंत्र ये मान चूका था  की स्वामी बडबोलापन दिखा कर राजनितिक आत्महत्या कर चुके है और अब जो बचा है वो उनका भुत/भूतकाल  है. वहि दूसरी तरफ सडगल चूका हमारा अपराधिक प्रवृति को शरण देने वाला सरकारी तंत्र मृतप...
Tatva bodh...
Tag :दिग्गी
  February 4, 2012, 8:54 am
निलम गावत देखके मेलोडीजकरी पुकार; बहुत हो गया तोहरा बेसुरा आयटमसोंग, कब आएगी हमारी बार |निलम कनक ते सौ गुनी मादकताअधिकाय या खावै अकेला बोराय, वागावै सैकड़ो बोराय |निलम-नीलाम गुलाम ते दोकौड़ी भी अधिक नाय;या रोवै भीख में लोग माल दई जाय;  वा गावै माल छोड़ी के लोग भागीजाय |...
Tatva bodh...
Tag :
  January 2, 2012, 7:26 pm
ये कौन सा मोड़ है रिसर्च कैरिएर का; मख्खी, अंडे और ढेर सारी मछलियाँ;सबमे बनाने है मुझे निओपिलासिया; पर पहले जैसी स्कील्स अब मेरी है कहाँ;कैंसर जेनेटिक्स अब मुझे लगता है जैसे पहेलियाँ; फिश कट जाती है, पर कैसे मुझसे कटेगी ये मख्खियाँ,किस्से कहू में ये सारी बतियाँ, ये कौन ...
Tatva bodh...
Tag :
  December 18, 2011, 1:46 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3693) कुल पोस्ट (169665)