Deprecated: mysql_connect(): The mysql extension is deprecated and will be removed in the future: use mysqli or PDO instead in /home/hamariva/public_html/config/conn.php on line 13
असुविधा.... : View Blog Posts
Hamarivani.com

असुविधा....

उमेश चौहान 9 अप्रैल, 1959 को उत्तर प्रदेश के लखनऊ जनपद के ग्राम दादूपुर में जन्में उमेश चौहान ने एम. एससी. (वनस्पति विज्ञान), एम. ए. (हिन्दी), पी. जी. डिप्लोमा (पत्रकारिता व जनसंचार) करने के बाद  लखनऊ मेडिकल कॉलेज में मेडिकल जेनेटिक्स पर तीन वर्ष का शोध-कार्य (1980-83) किया और फिर भा...
Tag :युवा कविता
  June 11, 2012, 9:04 am
युवा कहानीकार विवेक मिश्र का कहानी संकलन 'हनिया तथा अन्य कहानियाँ' काफी चर्चित रहा है. पेशे से चिकित्सक विवेक कहानियों के साथ-साथ कवितायें भी लिखते हैं. उनकी कहानियों के कई भाषाओं में अनुवाद हुए हैं और उनका पूरा संकलन बांग्ला में अनूदित होकर प्रकाशित हुआ है. एक प्रथा क...
Tag :विवेक मिश्र
  June 2, 2012, 10:48 am
वरिष्ठ कवि भगवत  रावतपर यह श्रद्धांजलि आलेख  विष्णु खरे जी ने भेजा है...इस  अनुमति के साथ कि ' किसी भी ब्लॉग या पत्र-पत्रिका में प्रकाशित किया जा सकता है ' तो संभव है यह कुछ और जगहों पर प्रकाशित हुआ हो. 13 सितंबर 1939- 25 मई 2012 हिंदी साहित्य जगत बरसों से वाकिफ था कि भगवत रावत गुर...
Tag :विष्णु खरे
  May 26, 2012, 9:41 am
(यह एक राजनीतिक कार्यकर्ता की कविता है. जीवन संघर्षों के ताप से निकली, एक प्रतिबद्ध कवि की कविता. मीठी-मीठी बातों और अबूझ बिम्बों के लदान वाली कविताओं के दौर में यह ताप पाठकों को असुविधा में डालेगा ही)अग्निजेता गिरिजेश तिवारी अल्हड है, अक्खड़ है, मस्त है, फक्कड़ है, ठहाक...
Tag :युवा कविता
  May 25, 2012, 8:00 am
इस बार से हम समीक्षा का एक नया कालम शुरू कर रहे हैं. कोशिश होगी कि एक सोमवार को असुविधा पर कविताएँ हों तो दूसरे पर समीक्षा, यानि अब योजना इसे कविता और समीक्षा के ब्लॉग में बदलने की है. तो आप मित्रों से गुजारिश भी कि अगर आप किसी किताब की समीक्षा कर रहे हों तो उसे हमें उपलब्ध ...
Tag :संज्ञा उपाध्याय
  May 21, 2012, 7:30 pm
एक कहानीकार के रूप में विमल चन्द्र पाण्डेयएक सुपरिचित नाम हैं.कहानियों में अपनी विशिष्ट भाषा, प्रखर राजनीतिक स्वर और अपने परिवेश कीजटिलताओं को बखूबी व्यक्त करते हुए अपनी पीढ़ी के स्वप्नों और मोहभंगों कोचित्रित करने वाले विमल की कविताएँ पढ़ना मेरे लिए सुखद था. उनकी...
Tag :युवा कविता
  May 18, 2012, 3:16 pm

...
Tag :
  May 18, 2012, 2:51 am
 अवध के एक ग्राम जोखू का पुरवा में 1962 में जन्में केशव तिवारी के दो कविता संकलन “इस मिट्टी से बना” और “आसान नहीं विदा कहना” प्रकाशित हुए हैं. उन्हें कविता के लिये 'सूत्र सम्मान' मिला है और उनकी कविताएँ हिन्दी की सभी महत्वपूर्ण पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित हुई हैं.  कुछ क...
Tag :केशव तिवारी
  May 14, 2012, 7:30 am
जैम्पेद्रोनी की पेंटिंग यहाँ से साभार  प्रेमचंद  गांधी की कविताएँ आप पहले भी असुविधापर पढ़ चुके हैं. वह उन कवियों में से हैं जो प्रचलित काव्य विषयों की सीमाओं को लगातार तोड़ रहे हैं, भाषा के सवाल पर उनकी यह लंबी कविता हो या 'नास्तिकों की भाषा' शीर्षक से प्रकाशित कविता हो, उ...
Tag :प्रेमचंद गांधी
  May 7, 2012, 10:48 am
रामजी  तिवारी की कविताएँ आप असुविधा पर पहले भी पढ़ चुके हैं. आज उनका जन्मदिन है तो  हमारी शुभकामनाओं सहित प्रस्तुत है आज  उनकी कुछ और ताज़ा कविताएँ. सूत्र की तलाशचेहरे का सूरज दिन को तानता हुआ सिर पर चढ़ने वाला है,पथराने लगी हैं आँखें साफ कपड़े वालों को निहारती  हुयीतीन घ...
Tag :रामजी तिवारी
  May 2, 2012, 9:59 am
हरिओमराजोरियानब्बे के दशक के एक बेहद महत्वपूर्ण कविहैं. अब तक उनकी एक कविता पुस्तिका "यह एक सच है (1993)' और दो कविता संकलन "हंसीघर (मेधा प्रकाशन, 1998)" और "खाली कोना (ज्ञानपीठ, 2007)" प्रकाशित हुए हैं.  हिन्दीकविता परिदृश्य में जिस 'लोक' की बात अक्सर होती है,हरिओमकी कविता...
Tag :हरिओम राजोरिया
  April 17, 2012, 8:30 am
परिचय  जन्म : १९६६ आरा , बिहार के संदेश थाने के तीर्थकौल गांव में। शिक्षा : एमए, राजनीति विज्ञान १९८९ में अमान वूमेन्स कालेज फुलवारी शरीफ पटना में अध्यापन से आरंभ कर १९९४ के बाद अबतक दर्जन भर पत्र-पत्रिकाओं अमर उजाला , पाटलिपुत्र टाइम्स , प्रभात खबर आदि में संवाददाता , उप...
Tag :कुमार मुकुल
  April 9, 2012, 5:03 pm
जन्म 1948 -  मृत्यु-2000नवीन सागरका नाम अक्सर कवियों की सूची में शामिल नहीं किया जाता. दशकों के खेल से भी बाहर ही देखा है उन्हें.इंटरनेट और विज्ञापन के इस दौर में आपने भी पता नहीं यह नाम सुना भी होगा या नहीं. मैंने सबसे पहले को सात-आठ साल पहले अशोकनगर में एक शाम हरिओम राजोरिया भ...
Tag :नवीन सागर
  April 7, 2012, 11:45 am
 राबर्टो  सोसाका जन्म १९३० में होंडुरास के योरो शहर में हुआ. सोसा "प्रेजेंते" के संपादक, "होंडुरास जर्नलिस्ट युनियन" के अध्यक्ष और होंडुरास के राष्ट्रीय विश्वविद्यालय में साहित्य के प्रोफ़ेसर हैं. कैलिग्राम्स, वाल्स, द सी इनसाइड, द पूअर, ए ब्रीफ स्टडी आफ पोएट्री एंड इट्स...
Tag :राबर्टो सोसा
  March 31, 2012, 8:00 am
बेटे! तू कितना भाग्यवान(कैंसर से मरे एक बेटे की याद में माँ व परि-जनों के विलापसे संबन्धित कविता)राधाकृष्णन तषकरा(हिन्दी अनुवाद: यू.के.एस.चौहान)काश! तू मेरीबगल में होता, बस इसे ही याद करसिसकता रहताहूँ हमेशा आज भी मैंआँसुओं कीबरसात थमेगी नहीं कभी अबअवशेष सारे समयरोना ह...
Tag :
  March 29, 2012, 9:18 am
ग्वालियर में रहने वाले अमित शर्मा से मेरी मुलाक़ात कविता समय -१ के दौरान हुई. ट्रेनिंग से इंजीनियर, साफ्ट बाल के राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी, संगीत में प्रशिक्षित और साहित्य के प्रतिबद्ध पाठक अमित इन सब के साथ राजनीति में भी सक्रिय हैं...इन दिनों वे कुछ फिल्मों के स्क्रिप्ट...
Tag :अमित शर्मा
  March 14, 2012, 9:25 pm
राकेश पाठक पेशे से पत्रकार हैं. नई दुनिया के ग्वालियर के संपादक. ज़ाहिर है कि इनसे परिचय तमाम कार्यक्रमों के दौरान मेल-मुलाकातों के दौरान ही हुआ था. मेधा प्रकाशन से प्रकाशित उनके संस्मरण "काली चिड़ियों के देश में" पढते हुए लगा कि इस पत्रकार के भीतर कहीं गहरे एक कवि ब...
Tag :राकेश पाठक
  March 3, 2012, 8:30 am
विपिन चौधरीहिन्दी की उन युवा कवियत्रियों में से हैं जिन्होंने अपनी एक विशिष्ट पहचान बना ली है. 'दस्यु सुंदरी' जैसी कविता समकालीन स्त्री विषयक कविताओं की भीड़ में अलग से पहचानी जा सकती है. विपिन न केवल स्त्री विषयों का अतिक्रमण कर समकालीन समय की तमाम विडंबनाओं को प्रश्...
Tag :विपिन चौधरी
  February 17, 2012, 4:41 pm
पेंटिंग यहाँसे जमशेदपुर में रहने वाले युवा कविप्रशांत श्रीवास्तवकी कविताएँआप पहले भी असुविधापर पढ़ चुके हैं. प्रशांत उन कवियों में से हैं जिनकी कविताएँ अभी प्रिंट में उतनी नहीं आई हैं लेकिन ब्लॉग जगत के पाठक उनसे बखूबी परिचित हैं. प्रशांत की कविताएँ एक ऐसे युवा की ...
Tag :प्रशान्त श्रीवास्तव
  January 27, 2012, 12:16 pm
अर्थ-अनर्थ ईश्वर ने अर्थशास्त्रियों को इसलिए बनाया कि मौसमविज्ञानियों की इज्जत बची  रहे. यह इससेबिल्कुल अलग बात है कि ईश्वर को भक्तों की इज्जत बचाए रखने के लिए बनाया गया था.फिर अर्थशास्त्रियों ने इस अनर्थ की इज्जत बचाने के लिए गढे अर्थ.इस नए शब्दकोष में सबसे पहले गढा ...
Tag :मेरी कविता
  January 19, 2012, 8:57 am
रवीन्द्रनाथ टैगोर की पेंटिंग - विदेशिनी  कुमार अनुपम हमारे समय के एक महत्वपूर्ण कवि हैं. न केवल इसलिए कि उनके पास एक ऎसी कवि दृष्टि है जो समकालीन कविता के चालू मुहावरों से आगे जाती है बल्कि इसलिए कि इस कविता विरोधी समय में अपने लिए कोई सुरक्षित खोह चुनने की जगह वे लगाता...
Tag :कुमार अनुपम
  January 15, 2012, 10:24 am
मेरे अत्यंत प्रिय मित्र सिद्धेश्वर की नयी किताब आई है...पहला कविता संकलन "कर्मनाशा"...उसका लोकार्पण भी कविता समय के दौरान होना था लेकिन किन्हीं दिक्कतों के कारण वह नहीं आ पाए. किताब के साथ मेरे जुड़ाव का एक सबब यह भी कि इसका ब्लर्ब मैंने लिखा है...मेरा पहला ब्लर्ब...जयपुर से ...
Tag :सिद्धेश्वर
  January 8, 2012, 9:24 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3709) कुल पोस्ट (171408)