POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: अनकही...

Blogger: Pashyanti Shukla
सोच रही हूं सूर्य उत्तरायण होने के साथ ही आज अपने ब्लॉग को जिसे पिछले दिनों भुला ही दिया था मैने, उसको भी एक नई सुबह के साथ प्रणाम करूं..कुछ ऩई शुरुआत करूं..कुछ पंक्तियां आज की इस नई सुबह के साथ.......'अनकही'को मेरी कुछ कही समर्पित......जलाकर लाश अपने ख्वाबों की ही आ रहे थे हमकि रस... Read more
clicks 187 View   Vote 0 Like   6:58am 15 Jan 2012 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Publish Post