Hamarivani.com

Satya's Blog

"संगीत सरहद कि सीमाओं को नहीं जानती , ये तो बस लोगों के दिलों में अमन, चैन और मोहब्बत का पैगाम देती है परन्तु हमारे देश में कुछ राजनेता ऐसे भी हैं जो तुगलकी फरमान जारी कर दिलों में नफरत का बीज बोते हैं | "विवाद एक रियलिटी शो को लेकर हुआ है जिसमे पाकिस्तानी कलाकार हिस्सा ले...
Satya's Blog...
Tag :
  August 31, 2012, 5:06 pm
अज्ञान और अनाचार हमारे जीवन में अंधकार की तरह हैं। ये सत्य के प्रकाश से ही दूर होते हैं। जीवन में सत्य आए और हम भीतर से प्रकाशित न हों तो जांच कर लीजिएगा कि जिसे हम सत्य मान रहे हैं वह है भी या नहीं। सत्य के आते ही दो काम होंगे, शरीर से ओज बरसेगा और मन में उथल-पुथल कम होगी। ...
Satya's Blog...
Tag :
  December 30, 2011, 12:17 am
हमारेभारतीय साहित्य, खासतौर से हिंदी साहित्य पर अस्तित्व का खतरामंडराना शुरू हो गया है। भाषाओं से ही साहित्य निर्मित होता है और आज हमारी भाषा (हिंदी) ही खतरे में है। अब हिंदी का रचनाकार दूसरी भाषा (इंग्लिश) में जा रहा है। हमारी चीजें हमें स्थानीय भाषा में नहीं मिल रही ह...
Satya's Blog...
Tag :
  December 28, 2011, 10:56 pm
सीबीआईकी स्थापना १९६८ में  इस उद्देश्य से नहीं की गयी थी की यह सरकार के हाथों की कठपुतली मात्र बनकर रहे बल्कि इस उद्देश्य से की गयी थी की यह भ्रष्टाचारमुक्त और अपराधमुक्त भारत के निर्माण में एक प्रभावकारी हथियार सिद्ध हो . उस समय  भारत सरकार ने " दिल्ली विशेष पुलिस न...
Satya's Blog...
Tag :
  December 28, 2011, 11:25 am

'स्वामी विवेकानंद'के अनुसार "हम ऐसी शिक्षा चाहते हैं जो चरित्र निर्माण कर सके , दिमागी ताकत को बढा सके, वैचारिक सकती को विस्तार दे सके और कोई भी अपने पैरों पर खड़ा हो सके | "                       पर शायद आज की युवा पीढ़ी इससे इत्तेफाक नहीं रखती तभी तो उसके लिए शिक्...
Satya's Blog...
Tag :
  December 5, 2011, 11:58 am
मानव विकास रिपोर्ट-2011 ने हमें आगाह किया है कि अगर हमने अपने पर्यावरण एवं समाज में नर-नारी गैर-बराबरी की अनदेखी जारी रखी, तो टिकाऊ, न्यायपूर्ण एवं समतामूलक विकास का सपना हमसे दूर ही बना रहेगा। संयुक्त राष्ट्र की इक्कीसवीं रिपोर्ट में पर्यावरण क्षय के गरीबों पर पड़ने व...
Satya's Blog...
Tag :
  November 4, 2011, 2:13 pm
कभी-कभी एक साधारण सा व्यक्ति अपनी बातों , अपने काम और अपने व्यक्तित्व से दूसरों को इस हद तक प्रभावित कर देता है की अनजाने में ही वो प्रेरणास्रोत बन जाता है !!...
Satya's Blog...
Tag :
  August 3, 2010, 3:34 pm
Na Kisi Mukaam Ki Tammna Ab, Na Kisi Theekane Ki Talash, Jo Gham Zindagi Ko Maut De De, Ek Aise Bahane Ki Talash, Na Kisi Apne Ki Aarzoo Ab, Na Kisi Begaane Ki Talash, Main To Phool Hoon Tanhayion Ka, Mujhe Bas Virane Ki Talash, Jahan Door Tak Koi Na Ho, Jahan Hawa Ka Pata Na Ho, Mujhe Door Duniya Se Aise Hi, Aashiyane Ki Talash, Jo Tod De Dil Se Dhadkane, Jo Chheen Le Jism Se Jaan Ko, Jo Sanson Ko Meri Rok De, Ab Aise Bahane Ki Talash !!...
Satya's Blog...
Tag :
  July 12, 2010, 3:38 pm
Agar Main Hadd Se Guzar Jaon Tu Mujhay Muaaf Kar Dena,Tere Dil Main Utarr Jaon Tu Mujhay Muaaf Kar Dena..Yunhi Ghussay Main Aa Kar Daant Dena Tu Aadat Hai Humari,Agar Main Aisa Kar Jaon Tu Mujhay Muaaf Kar Dena..Rastay Main Tujhay Dekh Kar, Teri Deed Ki Khatir,Pal Bhar Jo Thehar Jaon Tu Mujhay Muaaf Kar Dena..Apnay Jazbaat Say Likhi Hui Yeh Shookh Tehreer,Tere Naam Kar Jaon Tu Mujhay Muaaf Kar Dena..Teri Pall Bhar Ki Judai Mujhay Jeenay Nahi Deti,Tere Bin Jo Mar Jaon Tu Mujhay Muaaf Kar Dena......
Satya's Blog...
Tag :
  July 12, 2010, 2:33 pm
Mujhey arzoo e seher rahi yunhi raat bhar bari dair takNa bikhar sake na simat sake yunhi raat bhar bari dair takHai bohat azaab aur akaily hum, shab e gham bhi meri taweel tarRahi zindagi bhi saraab aur rahi aankh tar bari dair takYahan har taraf hai ajeeb samaan, sabhi khud pasand, sabhi khud numaDil e be-qaraaar ko na mila koi chara gar bari dair takMujhay zindagi hai aziz tar isi wastey mery hamsafarMujhay qatra qatra pila zehr, jo karey asar bari dair takNa sakoon e jaan na shreek e gham mila is jahan mein chaar suTeri yaad thi meray saath jo rahi darr b darr bari dair takYahan shehar e dil bhi udaas hai aur ujaar ujaar si rah guzarRahey teray baad dhwaan dhwaan meray baam o d...
Satya's Blog...
Tag :
  July 12, 2010, 1:25 pm
आ, के मेरी जान को करार नहीं है,ताक़त -ए-बेदाद-इंतज़ार नहीं है.देतें है जन्नत हयात-ए-दहर के बदले,नश्शा ब अंदाज़-ए-खुमार नहीं है.गिरिया निकाले तेरी बज़म से मुझको,हाय ! के रोने पे इख्तियार नहीं है.हमसे आबस है गुमान-ए-रंजिस-ए-खातिर,ख़ाक में उश्शार की गुब्बार नहीं है.तुने कसम मयक...
Satya's Blog...
Tag :
  July 12, 2010, 1:23 pm
Jis Par Mujhe Zaroorat Se Zayada Gumaan tha Dil us shkhas ka bahut Be-Imaan tha. Bikhra hua padha tha ek saya uske paas Koi Aznabi Nahi wo Mera Armaan tha.kahkaho'n me Bazm ke dab gai siski meri Maamooli thi hasti meri bahut chota nishaan tha.Khush tha jise main phoonk kar mazhabi junoon me baad me maalom hua wo mera makaan thaDosto'n ne nibhaai dosti bhi kis jagah door zindgai se chaar kadam shamshaan thaBhook ka koi 'Deepak'Mazhab kahi'n hota nahi Qafir ke saath khaa gaya jo musalmaan tha. ...
Satya's Blog...
Tag :
  July 12, 2010, 1:18 pm
...
Satya's Blog...
Tag :
  July 12, 2010, 1:15 pm
Tum phir duir chale jaogekaise kahein kitna humhe tadpaogebaaton baaton mei teri baat aayegedil ki baat tumse na kah paayengehawa bhee choo ker tujhe mere paas na aayegeehar subah teri yaad humhe tadpaayegeeraat chamkenge sitaare aur ichha bhee machlegebaarish ki boondein bhee tapish na bujhaayegeyeh aankhe har aur kisi apne ko dhoondheingeban kar aansoo aankho mei yaadein machelgedil ko raund kar jo bheer mei kho jaogejaane kaise phir tum bhee so paayoge......
Satya's Blog...
Tag :
  July 12, 2010, 1:14 pm
Tum aaye zindagi mein ek haseen ehsas bankar,Aur dil mein bas gaye dhadkano ki har saans bankar,Tum hi goonjte ho meri geeton mein awaz bankar,Tum hi baste ho merin nazmo mein alfaz bankar,Kash kabhi aajao zindagi meinmere hamraz bankar......
Satya's Blog...
Tag :
  July 12, 2010, 1:13 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163590)