POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: मेरी खामोशी कि आवाज

Blogger: jivanika
समन्दर को हमेशा पता होता है के उसकी राह ताक रहा एक किनारा होता है उछलते मचलते लहरों को संभलने का एक सहारा होता है किनारे की प्यास ना बुझी है कभी, ना बुझेगी जितना भी समेट लो नजर में सागर को उसका अक्स हमेशा ही आधा अधुरा होता है किनारे से कटकर न समंदर रह सका है कभीना समंदर से ... Read more
clicks 141 View   Vote 0 Like   11:32am 4 Oct 2014 #
Blogger: jivanika
बहा था जो सैलाब जनाजे में मेरेजला था कभी वो मेरी जिंदगी देखकर ... Read more
clicks 165 View   Vote 0 Like   7:47am 10 Oct 2012 #
Blogger: jivanika
ए दिलजा, उड़ जा परिंदे की तरहजा तुजे मैंने आजाद कियाउड़ जा छुले आसमानमेरी पंखो में जान नहींपर तेरी किस्मत में उड़न हैजा उस जा छुले आसमाजा बादलों के संग उड़पानी में तैरमें तुजे देखूंगाहवाओ की आहट सुनजा कर ले जन्नत की सैरमें तुझे देखूंगापर तुम कभी मत देखना मुझे क्योंकिजब भ... Read more
clicks 147 View   Vote 0 Like   8:44am 23 Feb 2012 #
Blogger: jivanika
चेहरा तो सब देखते हैतु जो आँखे पढ़ पाएतो कुछ बात हैआवाज तो सब सुनते हैतु जो ख़ामोशी सुन पाएतो कुछ बात हैसाथ तो सब चलेंगेतु जो मंजिल तक ले जाएतो कुछ बात हैवादे तो कोई भी कर लेतु जो खुद वादा बन जाएतो कुछ बात हैकसमे खाना कोई बड़ी बात नहींपर तु जो कसम मुझे बनायेतो कुछ बात हैटुकड़... Read more
clicks 128 View   Vote 0 Like   12:31pm 1 Dec 2011 #
Blogger: jivanika
ग़मों ने जब भीदस्तक दी थी दरवाजे पेतो हमने पूछा था उनसे'क्यों आये हो तुम 'उसने कहा था हर बार'तुम ही तो थे जोबोझ को ढोते रहेआँखों में अश्क संजोते रहेखुशियाँ तो आई थी दर पे तेरेपर तुम ही मेरी राह तकते रहेहम तो भूलना चाहते थेतेरे घर का रास्तापर तुम ही खुशियों से बढकरहमें अपना... Read more
clicks 148 View   Vote 0 Like   5:50am 12 Nov 2011 #
Blogger: jivanika
अकेले चले चल ए मुसाफिरमंजिल तुझे पुकार रही हैकाँरवे की राह देखोगेतो मंजिल को देख भी नहीं पाओगेभीड़ में यूँ खो जाओगेखुद को ही भूल जाओगेराह से भटक जाओगेपराए बोझ से दब जाओगेऔर फिर एक दिन ऐसा आएगामंजिल से डर लगेगाऔर काँरवे से प्यार करोगे... Read more
clicks 117 View   Vote 0 Like   8:53am 10 Nov 2011 #
Blogger: jivanika
घना अँधेरा हैसाया भी नजर नहीं आताथोडा वक्त देनजर को आदत हो जाएगीकाँटे बिछे है हर जगहकहीं राह नहींथोड़े कदम बढ़ाराह खुद ही बन जाएगीकाँटे चुभेंगे खून बहेगापर थोडा चलतेरी आदत बन जाएगीपर चलते चलते ना भूलनाराह से हर काटा चुन लेनाहो सके तो फुल भी खिला देनाअपने पसीने का थोडा... Read more
clicks 121 View   Vote 0 Like   8:46am 10 Nov 2011 #
Blogger: jivanika
हसते तो हम रहेंगेसोचने की बात नहींरोए भी कभी तोचोंकने की बात नहींपर देखो जो कभीरोते हुए हमेंतो बस इतना कर लेनाजाते जाते हो सके तोबस एक नजर देख लेनाक्योंकिहसते हुए तो तुम हमेंकई बार देखोगेपर रोते हुए शायदपहली बार देखोगेइसलिएगर देखा जो कभी रोते हुए हमेंतो इतना समझ लेन... Read more
clicks 122 View   Vote 0 Like   10:34am 8 Nov 2011 #
Blogger: jivanika
मेरे दिल की जो आवाज है हर पल जो मेरे साथ है चाहे कोई इसे सुने न सुने मैं इसे जरुर सुनती हूँकिसी और से कुछ बोलू न बोलू इससे बैठकर दो बाते जरुर करती हूँ पल दो पल ही सही लगता है कोई साथ तो है किसी को मेरे होने का एहसास तो है... Read more
clicks 139 View   Vote 0 Like   10:23am 8 Nov 2011 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Publish Post