POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: kishtiyan

Blogger: vandana sharma
वन्दना षर्माषादी व्यक्ति के जीवन का सबसे यादगार लम्हा होता है। इस समारोह में परिवार, रिष्तेदार और मित्र एकत्रित हो आनंद उठाते हैं। खाना-पीना, नाचना-गाना, हंसी-मज़ाक के बीच सब संपन्न होता है और नया जोड़ा अपने दांपत्य जीवन की षुरूआत करता है। समाज में होने वाली हर षादी का ... Read more
clicks 200 View   Vote 0 Like   10:08am 18 Apr 2015 #dowry
Blogger: vandana sharma
लोकसभा चुनाव 2014 के चुनाव के प्रचार का आज आखिरी दिन है। वाराणसी में राहुल का रोड शो और पीछे चलती भारी भीड़।  चुनावों में इस बार महिलाओं को बहुत बढ़ावा दिया गया। नेता चाहे मोदी हो या राहुल—प्रियंका, सभी महिलाओं को एक बड़े वोटर के तौर पर देखने लगे हैं। उनकी सुरक्षा के मुद... Read more
clicks 189 View   Vote 0 Like   10:22am 10 May 2014 #
Blogger: vandana sharma
विश्वभर में चार फरवरी का दिनकैंसरदिवस के रूप में मनाया जाता है जिसका उद्देश्य कैंसर जैसी घातक बिमारी के प्रति लोगों में जागरूकता फैलाना है। जब लोगों में जागरूकता होगी तभी वे इसके इलाज और बचाव के प्रति सजग हो सकेंगे। विश्व कैंसर रोकथाम संघ की ओर से 2008में चार फरवरी को 'व... Read more
clicks 266 View   Vote 0 Like   5:23am 5 Feb 2014 #
Blogger: vandana sharma
वन्दना शर्मादेश की राजधानी दिल्ली में इन दिनों महिलाओं के खिलाफ बढ़ते जा रहे अपराधों से यहां की महिलाएं खुद को असुरक्षित महसूस करने लगी हैं। आप सभी के देखते-देखते दिल्ली कैपिटल से रेप कैपिटल में तब्दील हो गई है। ऐसे में जरूरी है कि आप स्वयं ऐसे कदम उठाने के लिए तैयार रह... Read more
clicks 238 View   Vote 0 Like   8:23am 29 Sep 2013 #
Blogger: vandana sharma
वन्दना शर्माहाल ही में उच्चतम न्यायालय ने एसिड अटैक की शिकार लक्ष्मी की याचिका पर  फैसला सुनाया है कि अब दुकानों पर खुलआम तेजाब की बिक्री करना एक अपराध होगा। इसके लिए विक्रेता के पास लाइसेंस का होना जरूरी है और साथ ही 18साल से कम उम्र के व्यक्ति को तेजाब नहीं बेचा जाएग... Read more
clicks 176 View   Vote 0 Like   9:40am 29 Aug 2013 #
Blogger: vandana sharma
दिल्ली! दिल्ली बस दिलवालों की नहीं बल्कि सबकी है, दिल हो चाहे न हो। यहां हर दिन लाखों लोग ट्रेन से उतरते हैं कुछ लौटने को आते हैं तो कुछ बस जाने को। कुछ मैट्रो सिटी की चकाचौंध में काम की तलाश को आए तो कुछ अपने सपनों की पोटली लिएभविष्य संवारने यानी पढ़ाई को। यहां स्वागत है ... Read more
clicks 238 View   Vote 0 Like   6:42am 13 Aug 2013 #
Blogger: vandana sharma
खुश रहना मैंने तुमसे सीखा हैहंसना मैंने तुम्हारी मुस्काराहट से सीखा हैदिए जलानामैंने तुम्हारी शाम से सीखा हैसात रंगों को छूनामैंने छांव से सीखा हैफर्ज़ तुम्हारा है हमेशामुझे सीखाते रहोखुश रहना जो मैंने तुमसे सीखा है...... Read more
clicks 204 View   Vote 0 Like   10:09am 2 Aug 2013 #
Blogger: vandana sharma
 तंग गलियारों से मैं निकलीखुली खिड़कीखुले दरवाजेखुला वो आसमानसिरहाने रखी रौशनीमेरे हिस्से का प्यारतेरे इश्क की खुश्बूसब कुछ तो है मेरे पासनजाकत भरे वो पलगुनगुनाती सांसेलहराती जुल्फेंझुकती निगाहेंमुस्कुराते होंठसब कुछ तो है मेरे पास...... Read more
clicks 191 View   Vote 0 Like   10:04am 2 Aug 2013 #
Blogger: vandana sharma
चेहरे पर एक दाग लग जाता है तो उसे हम जल्दी से जल्दी साफ करने को दौड़ते हैं और तब तक बेचैन रहते हैं जब तक चेहरा पहला-सा नहीं हो जाता। ऐसे में उन लोगों की बेचैनी का अंदाजा लगाया जा सकता है जो ‘एसिड अटैक‘ का शिकार हो रहे हैं। इन दिनों ऐसी घटनाओं का ग्राफ बढ़ता ही जा रहा है। ले... Read more
clicks 300 View   Vote 0 Like   11:35am 29 Oct 2012 #
Blogger: vandana sharma
वन्दना शर्माहाल ही में दिल्ली की कुछ गैर सरकारी संगठनों (एनजीओ) के साथ मुझे हरियाणा राज्य के कुछ क्षेत्रों में घूमने का अवसर मिला। हरियाणा राज्य का नाम लेते ही अनायास ही मन में यह बात सामने आती है कि यहां लिंगानुपात बेहद कम है। और यही गिरता लिंगानुपात देश और सरकार के लि... Read more
clicks 147 View   Vote 0 Like   5:31am 6 Oct 2012 #
Blogger: vandana sharma
वन्दना शर्माहाल ही में दिल्ली की कुछ गैर सरकारी संगठनों (एनजीओ) के साथ मुझे हरियाणा राज्य के कुछ क्षेत्रों में घूमने का अवसर मिला। हरियाणा राज्य का नाम लेते ही अनायास ही मन में यह बात सामने आती है कि यहां लिंगानुपात बेहद कम है। और यही गिरता लिंगानुपात देश और सरकार के लि... Read more
clicks 253 View   Vote 0 Like   5:31am 6 Oct 2012 #
Blogger: vandana sharma
"आने वाली पीढ़ी को शायद ही यह यकीन होगा कि गांधी जैसा  भी कोई हाड़-मांस का पुतला इस धरती पर चला होगा" यह कथन विश्व प्रसिद्ध वैज्ञानिक आइन्स्टाइन ने गांधी जी के व्यक्तित्व से प्रभावित होकर  कहे थे. इस वैज्ञानिक के द्वारा कहे गए ये शब्द  आज सच लगते हैं.  हाल ही में मेरा और ... Read more
clicks 224 View   Vote 0 Like   6:23am 2 Oct 2012 #
Blogger: vandana sharma
मेरी एक करीबी अच्छी मित्र का सुनाया हुआ एक बेहतरीन किस्सा सांझा कर रही हूं आप के साथ - एक बार गांधी जी रवीन्द्र नाथ टैगोर जी से मिलने उनके आश्रम गये। वहां उन्होने देखा कि टैगोर उनसे मिलने के लिए अपनी लंबी दाढ़ी और बालों को शीशे में देखकर संवार रहे हैं।ये सब देख गांधी जी ... Read more
clicks 223 View   Vote 0 Like   9:59am 21 Sep 2012 #
Blogger: vandana sharma
यह एक गहन सोच का विषय बन गया है कि हमारा समाज किस ओर बढ़ रहा है? मुश्किल हो रहा है इसका पता लगाना! महिलाएं आगे बढ़ रही हैं या पुरूष पिछड़ रहा है? शिक्षा का स्तर ऊंचा हुआ है या अपराधों का? पश्चिम के लोगों को हमारे पूर्वजों ने भगाया तो अब हम खुद उनके पीछे भागने लगे। बार, लेट नाइट पा... Read more
clicks 186 View   Vote 0 Like   12:43pm 17 Jul 2012 #
Blogger: vandana sharma
समय जैसे-जैसे भागता है वह अपने पीछे हमारे लिए कुछ न कुछ छोड़कर चलता जाता है। यह समय की खूबी भी है और कमी भी। हम खुद को इस कदर ढ़ाल चुके हैं कि अब इंटरनेट हमारे लिए न होकर हम इंटरनेट के लिए ही हो गए हैं। आज जिस स्तर से सूचना तकनीक और प्रौद्योगिकी रिकॉर्ड तोड़ बुलंदियों को छू रह... Read more
clicks 256 View   Vote 0 Like   12:15pm 17 Jul 2012 #
Blogger: vandana sharma
विकलांगता एक ऐसी अवस्था का नाम है जो मनुष्य को शारीरिक या मानसिक स्तरपर अक्षम बनाती है. भारत में विकलांगों का प्रतिशत स्पष्ट नहीं है. 2001 के सरकारी आकंड़ों में इनकी संख्या 2 .17 करोड़ बताई गई, जबकि स्यवंसेवीसंगठनों और मानव संसाधन एवं विकास मंत्रालय ने इनकी संख्या 10 करोड़ त... Read more
clicks 240 View   Vote 0 Like   12:21pm 8 Jun 2012 #
Blogger: vandana sharma
मीडिया का वर्चस्व भारतीय समाज में निरंतर अपना जाल बुनता जा रहा है. एकवक़्त ऐसा भी था जब घरों में टेलीविजन होना एक बड़ी बात होती थी. फिर लगभगइसके एक दशक बाद ही सभी घरों के शोकेस में टेलीविजन ने अपनी जगह पक्की करली. घरों में टीवी की पहुँच के बाद बारी आई केबल टीवी की, फिर ... Read more
clicks 189 View   Vote 0 Like   12:14pm 8 Jun 2012 #
Blogger: vandana sharma
मीडिया का वर्चस्व भारतीय समाज में निरंतर अपना जाल बुनता जा रहा है. एकवक़्त ऐसा भी था जब घरों में टेलीविजन होना एक बड़ी बात होती थी. फिर लगभगइसके एक दशक बाद ही सभी घरों के शोकेस में टेलीविजन ने अपनी जगह पक्की करली. घरों में टीवी की पहुँच के बाद बारी आई केबल टीवी की, फिर तो ... Read more
clicks 268 View   Vote 0 Like   12:14pm 8 Jun 2012 #
Blogger: vandana sharma
वन्दना शर्मापिछले दिनों अपनी परिक्षाओं के चलते मैं परीक्षा हॉल में बैठी थी। अपने लिखते से जा रहे हाथों को कुछ समय के लिए थोड़ा आराम दिया। खाली बैठे मैंने यूं ही इधर-उधर बैठे लोगों को देखा। परीक्षा में बैठने वालों का स्वभाव अक्सर ऐसा बन जाता है कि वह खुद से ज्यादा औरो पर ... Read more
clicks 249 View   Vote 0 Like   12:34pm 4 Jun 2012 #
Blogger: vandana sharma
वन्दना शर्मापिछले दिनों अपनी परिक्षाओं के चलते मैं परीक्षा हॉल में बैठी थी। अपने लिखते से जा रहे हाथों को कुछ समय के लिए थोड़ा आराम दिया। खाली बैठे मैंने यूं ही इधर-उधर बैठे लोगों को देखा। परीक्षा में बैठने वालों का स्वभाव अक्सर ऐसा बन जाता है कि वह खुद से ज्यादा औरो पर ... Read more
clicks 184 View   Vote 0 Like   12:34pm 4 Jun 2012 #
Blogger: vandana sharma
कल एक अजीब सी बात हुईअपनी ही धुन में चली जा रही थीकोई आया या पता नहीं मैं ही गई...बस हम टकरा गएएक फिल्मी सा सीन था किपहले वो संभल गए और थाम लिया अपनी बाहों मेंआ गए इतने करीब जो सांसें भी सुन सकें...नज़र भर देखा अभी भी थामे हुए हैंशायद मैं ही इस आगोश में हूंअचानक!कानों में कुछ आव... Read more
clicks 281 View   Vote 0 Like   7:41am 28 May 2012 #
Blogger: vandana sharma
कल एक अजीब सी बात हुईअपनी ही धुन में चली जा रही थीकोई आया या पता नहीं मैं ही गई...बस हम टकरा गएएक फिल्मी सा सीन था किपहले वो संभल गए और थाम लिया अपनी बाहों मेंआ गए इतने करीब जो सांसें भी सुन सकें...नज़र भर देखा अभी भी थामे हुए हैंशायद मैं ही इस आगोश में हूंअचानक!कानों में कुछ आव... Read more
clicks 178 View   Vote 0 Like   7:41am 28 May 2012 #
Blogger: vandana sharma
पिछले दिनों मुंबई शहर में चौपाटी, मरीन ड्राइव की शाम को करीब से देखने का मौका मिला। कुछ देर टहलने के बाद समन्दर से आती ठण्डी हवा मे कुछ देर के लिये मैं और मेरी मित्र बैठ गये। किनारे पर जरा बैठने पर ही आसपास के छोटे-मोटे हॉकर्स ने अपना काम शुरू  कर दिया जिनसे हम किसी न किस... Read more
clicks 254 View   Vote 0 Like   11:14am 18 May 2012 #
Blogger: vandana sharma
आज न्यू मीडिया के रूप में हमारे सामने सोशल नेटवर्किंग साइट्स (फेसबुक, माइस्पेस, ट्विटर, ऑरकुट, फ्रेंडस्टर), विकीपीडिया और ब्लॉग और बहुत कुछ दिखाई देता हैं। हालांकि, इस डिजिटल दुनिया का कोई दायरा नहीं है। नए ज़माने के इस मीडिया के बीच सूचनाओं में क्रिएटिविटी, शेयरिंग या... Read more
clicks 240 View   Vote 0 Like   11:51am 17 May 2012 #
Blogger: vandana sharma
महाराष्ट्रके पुणे जिले की बारामती तहसील से 10 किमी. की दूरी पर एक छोटा सा गांव है, काटेवाड़ी। ये है देश का पहला ‘ईको- विलेज‘।इस साफ सुथरे गांव में दस्तक देते ही सामने एक दीवार पर मोटे अक्षर की एक पक्ति आपका ध्यान खींच लेती हैं-‘समाज शक्ति हिच खारी राष्ट्र शक्ति होए‘ यानी ... Read more
clicks 225 View   Vote 0 Like   10:23am 13 May 2012 #model village
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3982) कुल पोस्ट (191492)