POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: जनरल डब्बा

Blogger: सौरभ के.स्वतंत्र
चीन के मुकाबले भारत का कमजोर रक्षा बजट चिंता का विषय है। क्योंकि , भारत के पास सुरक्षा हालात काफी नाजुक हैं। लिहाजा, भारत को चुस्त तैयारी की जरुरत है। चीन के नियत का पता इसी बात से लगता है कि उसने तिब्बत क्षेत्र में पक्के सड़क बनाने शुरू कर दिए हैं। वही हमारा दुश्मन देश प... Read more
clicks 202 View   Vote 0 Like   2:27pm 10 Mar 2013 #न्यूज़ बर्थ
Blogger: सौरभ के.स्वतंत्र
लोक आस्था का पर्व छठ शुरू है..दीपावली बीत गयी..भले ही कई घर अँधेरे में रहे हो, कई महिलाएं अपने ग़ुरबत को कोसती रही हो..पर छठ ऐसा पर्व है इससे हर तबके के लोगों में ऐसी ताकत और जूनून आ जाती है कि उसे छठ व्रत करने से कोई रोक नहीं सकता. बिहार की एक लोक गीत की बानगी : बहिनी येसो के सम... Read more
clicks 234 View   Vote 0 Like   4:43am 18 Nov 2012 #जनरल डब्बा
Blogger: सौरभ के.स्वतंत्र
बिहार की राजनीति में धुंआ उठता नजर आ रहा है…यह कभी भी आग में तब्दील हो सकता है. दरअसल, जदयू और भाजपा में जो तल्खी महसूस की जा रही है उसके अच्छे संकेत नहीं मिल रहे हैं. मुख्यमंत्री का भाजपा प्रदेश अध्यक्ष को मीडिया के जरिये जवाब देना गठबंधन धर्म की तिलांजलि देने जैसा लगता ... Read more
clicks 186 View   Vote 0 Like   8:34am 10 Jul 2012 #पॉलिटिकल एक्सप्रेस
Blogger: सौरभ के.स्वतंत्र
बढ़ई के एक कील मारने भर से बहुमंजिला इमारत ध्वस्त नहीं होता, यदि होता है तो विध्वंस के कारणों का पता लगाना होगा। बात हो रही है वन्य जीवों के आशियानों की। दरअसल, आशियाने कई प्रकार के होते हैं, पेड़ वाले आशियाने, कंक्रीट वाले आशियाने, गरीबों के फूस वाले आशियाने। बहुतेरे प... Read more
clicks 154 View   Vote 0 Like   3:07pm 8 Jun 2012 #न्यूज़ बर्थ
Blogger: सौरभ के.स्वतंत्र
सोचता हूँआसमान की तरहखामोश रहू,चुप-चाप बस जमी को निहारूऔर तारीफ़ में तारो कोटिम-टिमा दूबेबसी यही है किमै अथाह तो हूँ,मै करीब तो दिखता हूँ,पर हूँ दूर,गोयाजुरर्त ये करता हूँकि एक मुट्ठी चांदनी मेंजरुर भेजता हूँ सन्देशा,जताना चाहता हूँमै ही हूँआसमान,तारो वाला आसमान.- सौ... Read more
clicks 206 View   Vote 0 Like   9:00am 8 Mar 2012 #कविता
Blogger: सौरभ के.स्वतंत्र
तुम नित निहारती हो,धूप और छाव के बीच पलके बिछाती हो,साईकिल की घंटी बजाता पास वाला हलवाईतुम्हे देखता है कि तुम्हारी नजरे किधर गडी हैं,पर तुम लीन होअपने उस बेइंतहा प्यार को जताने के लिए,मसलन एकटक निहारना,माँ की चौका घर से आवाज़ पर भीतुम निहारती ही रहती हो,जैसे बार्डर पर ए... Read more
clicks 162 View   Vote 0 Like   2:29pm 15 Nov 2011 #कविता
Blogger: सौरभ के.स्वतंत्र
——1——–याद आता है हिंदी फिल्म का वह सीन जब लड़की का बाप मांग न पूरा कर पाने पर अपनी पगड़ी लड़के के बाप के चरणों में रख कर गिडगीडाता है..सिर्फ इसलिए कि अगर बारात वापस द्वार से चली गयी तो नाक कट जाएगी..रिअल लाइफ में भी उस समय ऐसा ही होता था..हाल-हाल तक इस्टमैन कलर फिल्मों में भी ... Read more
clicks 159 View   Vote 0 Like   2:11am 15 Nov 2011 #न्यूज़ बर्थ
Blogger: सौरभ के.स्वतंत्र
खुला पत्रसेवा में,सुशासन बाबू !मेरानाम है स्वप्न. मै दिन और रात दोनों समय घुस जाता हूँ मन में. मुझे एक बार घुसेड़ दिया गया बिहार के चम्पारण स्थित एक पुलिस जिले के लोगों के मन में. किसी और ने नहीं स्वयं नीतीश कुमार जी ने मेरे साथ ऐसा किया. उस समय वे मुख्यमंत्री नहीं थे और यह... Read more
clicks 143 View   Vote 0 Like   1:59pm 14 Nov 2011 #जनरल डब्बा
Blogger: सौरभ के.स्वतंत्र
दुधारू पशुओं की फेहरिस्त काफी लम्बी है. चूंकि, मनुष्य भी पशु (सामाजिक) है. सो, उसका भी दुधारू होना लाजिमी है. हाँ, ये बात अलग है कि कोई उन्नत नस्ल का है और कोई बाँझ टाइप. चूंकि मैं एक पत्रकार हूँ. सो, पत्रकारों के दुधारू होने पर चर्चा करना मेरा कर्तव्य बनता है. पत्रकार शब्द जब ... Read more
clicks 149 View   Vote 0 Like   3:03am 13 Nov 2011 #Junction Forum
Blogger: सौरभ के.स्वतंत्र
कायमशेर है,दहाड़ है,हाथी है,चिंघाड़ है,सियार है,चालबाजी है,कुत्ता है,दूम है,बारूद है,बम है,विस्फोट है,खून है,मौत है,मातम है,समाचार है,विचार है,चिटठा है,पोस्ट है,सनसनी है,पाठक हैं,टिप्पणी है,लोकप्रियता है,फोटू है,अखबार है,और इन सबसेऊपर ब्लॉग लेखनकी विश्वसनीयता है!जो कायम ... Read more
clicks 158 View   Vote 0 Like   4:34pm 12 Nov 2011 #कविता
Blogger: सौरभ के.स्वतंत्र
मैं मंत्री हूँ…कोई ऐसा वैसा मंत्री नही…वित्त मंत्री…महंगाई मेरे को कैसे छुएगी..मैं तो एसी में रहता हूँ…महंगाई एसीनुमा महल में नही..झोपड़ पट्टी में पाँव पसारती है…अपुन को उससे क्या लेना-देना…जब चुनाव आएगा तो थोड़ा कष्ट उठा लेंगे..घूम लेंगे झोपड़ पट्टी में….चैनलों पर ... Read more
clicks 149 View   Vote 0 Like   3:13pm 10 Nov 2011 #जनरल डब्बा
Blogger: सौरभ के.स्वतंत्र
चल सन्यासी मंदीर में…गोरी-गोरी कलियों वाली, बिग बॉस  के मंदिर में…साधू..साधू..सवाधू..सवाधू..अग्नि वाले अग्निवेश..सुंदरियों के बीच अन्ना वाले साधुवेश. झगडा..ची पों..गाली-वाली..चल सन्यासी मंदिर में. अन्ना न सही बिग बॉस के मंदिर में. प्रवचन..योगा..शाकाहार..के मंदिर में? गोरी-गोर... Read more
clicks 161 View   Vote 0 Like   7:32pm 8 Nov 2011 #मस्ती मालगाड़ी
Blogger: सौरभ के.स्वतंत्र
गिराई जा सकती है नीतीश  सरकार! राजद के अंदरखाने में कुछ ऐसी चर्चा है. क्योंकि, बिहार एन.डी.ए. में दो फाड़ होता जा रहा है. यह सर्वविदित है कि कुर्सी को लेकर नीतीश-वन से ही भाजपा विधायकों में असंतोष रहा है. हालाँकि, कुर्सी की पीड़ा अपच की सीमा पार करने के बावजूद भाजपाइयों ने र... Read more
clicks 161 View   Vote 0 Like   3:16pm 7 Nov 2011 #न्यूज़ बर्थ
Blogger: सौरभ के.स्वतंत्र
एकहिटलर जर्मनी में हुआ करता था और दूसरा अभी भारत में है. दोनों में समानता ये है कि दोनों अपने देश की जनता का दमन करते रहे. जर्मनी वाला तो इतिहास के पन्नो में दर्ज हो चुका है वहीं यहाँ वाला इतिहास बना रहा है. भारत के इतिहास को उठा कर देखे तो अंग्रेजो का शासन डार्क एज रहा  और ... Read more
clicks 170 View   Vote 0 Like   7:15pm 4 Nov 2011 #पॉलिटिकल एक्सप्रेस
Blogger: सौरभ के.स्वतंत्र
पेट्रोलएक हज़ार रुपये  प्रति लीटर, चीनी पांच सौ रुपये प्रति भर, दाल आठ सौ रुपये प्रति रत्ती , सब्जी सात सौ रुपये प्रति दस ग्राम, चावल तीन सौ रुपये प्रति तोला. यह तस्वीर हमारे आने वाले कल की है.दरअसल, इस तस्वीर के पीछे  जो बैकग्राउंड है  वह बढ़ती जनसँख्या  का  है. आज पूरे व... Read more
clicks 161 View   Vote 0 Like   1:59pm 31 Oct 2011 #सोशल इश्यू
Blogger: सौरभ के.स्वतंत्र
यह जगजाहीर है कि इन दिनों बिहार का अपराध ग्राफ बढ़ा है, बिहार का शासन फिलवक्त अपराध के आगे नाकाम है. पर इसका मतलब यह नहीं कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार के लिए कुछ किया ही न हो. उन्हें मीडिया इन दिनों लपेट जरुर रही है, पर चौथे खम्बे की जिम्मेदारी है कि वह ऐसा करे. यह जर... Read more
clicks 159 View   Vote 0 Like   3:35pm 30 Oct 2011 #न्यूज़ बर्थ
Blogger: सौरभ के.स्वतंत्र
आज आसमान सागर हैया सागर आसमान,आज हवा सर्द हैया सर्द हवा है,आज पात्तियां जामीन पर हैंया जमीं ही डालपर,आज मुस्कराहट होठ परया होठ मुस्कराहट में सराबोर,आज खुशियाँ दिल में हैंया दिल ही खुशियों में,आज जन्नत कदमों  मेंया ह़र कदम जन्नत की तरफ..पता नहीं क्योंआजऐसा सुखद अहसास ह... Read more
clicks 178 View   Vote 0 Like   2:18pm 28 Oct 2011 #कविता
Blogger: सौरभ के.स्वतंत्र
लोक आस्था का पर्व छठ काफी नजदीक है..दीपावली मेंभले ही कई घर अँधेरे में रहे हो, कई महिलाएं अपने ग़ुरबत को कोसती रही हो..पर छठ ऐसा पर्व है इससे हर तबके के लोगों में ऐसी ताकत और जूनून आ जाती है कि उसे छठ व्रत करने  से कोई रोक नहीं सकता. बिहार के एक लोक गीत की बानगी : बहिनी येसो के ... Read more
clicks 174 View   Vote 0 Like   7:16am 28 Oct 2011 #सोशल इश्यू
Blogger: सौरभ के.स्वतंत्र
लोक आस्था का पर्व छठ काफी नजदीक है..दीपावली बीत गयी..भले ही कई घर अँधेरे में रहे हो, कई महिलाएं अपने ग़ुरबत को कोसती रही हो..पर छठ ऐसा पर्व है इससे हर तबके के लोगों में ऐसी ताकत और जूनून आ जाती है कि उसे छठ व्रत करने  से कोई रोक नहीं सकता. बिहार के एक लोक गीत की बानगी : बहिनी येस... Read more
clicks 149 View   Vote 0 Like   6:01am 27 Oct 2011 #सोशल इश्यू
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3982) कुल पोस्ट (191492)