POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: live with fun

Blogger: poonam kulshrestha
आत्म विशवास का मोटे तौर पे अर्थ है अपने ऊपर भरोसा होना.या हम अपने आप को कितना या किस तरह स्वीकार करते हैं हमारा अपने प्रति जो विशवास है,जो हमारा हमारे बारे में अनुभव है और जो हमारा अपने प्रति द्रष्टिकोण है वही आत्म विशवास है .आत्मविश्वासी होने का अर्थ ये कदापि नहीं है की ... Read more
clicks 139 View   Vote 0 Like   1:17pm 26 Nov 2011
Blogger: poonam kulshrestha
आम  तौर पर बच्चे स्कूल में या घर पर कॉपी में चित्र बनाते हैं.यदि बच्चा अपनी कल्पना शक्ति से अपनी मर्जी से चित्र बनाता है तो उसके द्वारा बनाई गयी आकृति कही न कही उसके व्यक्तित्व को या उसकी  इच्छाओ को दर्शाती है आयिए जाने की केसे ------१.फूल-कॉपी पर अक्सर फूल बनाने वाले बच्... Read more
clicks 78 View   Vote 0 Like   4:00pm 22 Nov 2011
Blogger: poonam kulshrestha
मेने एक गीत सुना था की 'गम की अँधेरी रात में ,दिल को न बेकरार कर ,सुबह जरूर आएगी,सुबह का  इन्तजार  करलाख  अँधेरा हो ,पर यदि ये आस हो की हर रात की सुबह होती है और हमारे  गम से  भरी रात भी  खुशनुमा        सुबह में बदले  गी  तो  जीवन  बहुत  आसान  लगने लग... Read more
clicks 214 View   Vote 0 Like   5:35pm 21 Nov 2011
Blogger: poonam kulshrestha
हर रिश्ता विशवास पर टिका होता है.तो फिर झूट की गुंजाइश ही कहाँ है.लेकिन कई बार हम सिर्फ अपने से जुड़े व्यक्ति को खुश करने के लिए भी बिना बात झूट भी बोलते है जिसे सफ़ेद झूट कहते है.इस से किसी का कोई नुक्सान नहीं होता बस इसके पीछे किसी को ठेस न पहुच जाये ये positive सोच होती है आय... Read more
clicks 87 View   Vote 0 Like   6:49pm 20 Nov 2011
Blogger: poonam kulshrestha
जब  मेने  ये  पढ़ा   तो  बहुत  ही  अजीब  लगा, भला  dil  का  दांतों  से  क्या  लेना  देना  lekin ये सही है  असल में हमारे मसूडो में पायरिया नामक रोग एंट अमीबा जिन्जेवेलिस नाम के एक जीवाणु द्वारा फैलता  है ये जीवाणु मुह के द्वारा हिर्दय में पहुच कर वहा ... Read more
clicks 85 View   Vote 0 Like   11:32am 19 Nov 2011
Blogger: poonam kulshrestha
यूं तो इस दुनिया में जितने लोग होते हैं उतने ही तरह के व्यक्तित्व भी होते है.लेकिन किसी व्यक्ति के व्यक्तित्व को जाने बगैर उसके साथ किस तरह वर्ताव किया जाये ये बहुत ही सोच विचार का विषय है.अगर मोटे तौर पे देखा जाये तो हम व्यक्ति के व्यवहार से काफी कुछ सीख सकते है.इन्ही व्... Read more
clicks 99 View   Vote 0 Like   11:16am 19 Nov 2011
Blogger: poonam kulshrestha
महिलाओं के दिल को जीतना या उन्हें इम्प्रेस करना बहुत मुश्किल है लेकिन कई ऐसी बाते है जो अगर प्रशंसा या जिन्हें हम कोम्प्लिमेंट्स कहते है   हर महिला शायद सुन ना    चाहती होगी आये देखे वो कौन कौन सी है.१.तुम intelligent हो......हर महिला अपने को beauty  विद  ब्रेन कहलाना पसंद कर... Read more
clicks 129 View   Vote 0 Like   4:58pm 18 Nov 2011
Blogger: poonam kulshrestha
ए खुदा तेरे करम की ,नजर किधर न हुईकौन एसा है की जिस पर तेरी नजर न हुईमाना किस्मत में अँधेरा है मगर ये तो बताक्या कोई शाम है जिसकी कोई सहर न हुईवो भी क्या दिल है जो रोया न दुःख में औरो केवो भी क्या आँख है जो आंसुओ से तर न हुईअब मसीहा ही बचाए गे मुझे आ कर केइस ज़माने की दवा कोई क... Read more
clicks 92 View   Vote 0 Like   4:36pm 18 Nov 2011
Blogger: poonam kulshrestha
यह बात उस समय की है जब में घिरोर नामक कस्बे में पोस्टेड थी .यह क़स्बा up के शिकोहाबाद के पास है .जहा से छोटी लाइन की ट्रेन चलती थीआस पास के गाँव के लिए ये ट्रेन यात्रा का सुखी साधन था तो मेरे लिए वह मनोरंजन का भी साधन थी.क्योकि कभी कभी मुझे आस पास के गाँव में भी जाना पड़ता था ... Read more
clicks 104 View   Vote 0 Like   10:21am 16 Nov 2011
Blogger: poonam kulshrestha
में एक परमार्थ हॉस्पिटल में सेवार्थ जाती हूँ.ये हॉस्पिटल मुरेना शहर  के एक प्रतिष्ठित डा.साहब द्वारा संचालित है.वे शहर के प्रतिष्ठित डेंटिस्ट हैं .अतः कई मरीज निशुल्क दांत दिखने भी आते हैं.वही पर मेरा परिचय कई नियमित आने वाले मरीजो से हुआ.उनमे से एक है हीरा लाल जी.  &nb... Read more
clicks 152 View   Vote 0 Like   7:03am 6 Nov 2011
Blogger: poonam kulshrestha
यह जो भोर की पहली किरणओस से भीगे पत्तो का संबोधनझील पर तैरती तुम्हारी कुछ यादेऔर धुआं धुआं फेली दूर तलक रौशनीसुर्ख फूलो से लदे गुलमोहोरसर्द गर्म अहसास से सराबोर फिजायेतुम्हारे बिना,केवल प्रतीकों से संवेदन हीनगुलाबो के  बिखरते मनमोहनी रंगजेसे रागिनी बनते प्रीत प... Read more
clicks 95 View   Vote 0 Like   2:36am 5 Nov 2011
Blogger: poonam kulshrestha
बिहार  की  राजधानी  पटना वहा हो गई एक घटनाएक बुड्डा एक बुढियाहोतो पे लाली आँखों पे चश्मा लगायेहाथो में हाथ डाले बड़ी शान से एक रेस्टोरेंट में आयेबुड्ढे ने बड़े रोब से वेटर को बुलाया औरएक शानदार सा लंच मंगवायापहले बुड्डे ने खाया बुढिया प्यार से देखती रहीफिर बुढ... Read more
clicks 107 View   Vote 0 Like   9:09am 29 Oct 2011
Blogger: poonam kulshrestha
बेसाख्ता किसी को चाहते चले  जाने का मोसम हमने जिया है........मुहब्बत के एहसास में  भीगे हैं कई बार..........खामोश से उन लम्हों में कई ख्वाबो को खयालो से निकल कर आँखों में समाते हुए महसूस किया है हमने,जिन्हें अब तक पलकों में सहेज के रक्खा है मेने .......आओ प्यार की उन लम्हों  को दुब... Read more
clicks 99 View   Vote 0 Like   10:59am 24 Oct 2011
Blogger: poonam kulshrestha
live with fun: ghoshnae: हो रही हैं घोषणाए बस सुनाने के लिए आ गए सब औपचारिकता निभाने के लिए आर्थिक अपराध पथ पर खोजता है जीविका विवशता है चाहिए पैसे जी जाने के लिए ...... Read more
clicks 118 View   Vote 0 Like   10:20am 23 Oct 2011
Blogger: poonam kulshrestha
हो रही हैं घोषणाए बस सुनाने के लिएआ गए सब  औपचारिकता निभाने के लिएआर्थिक अपराध पथ पर  खोजता है जीविकाविवशता है चाहिए पैसे जी जाने के लिएजान देने और लेने को हैं तैयार वोन जाने कौन सी जेब है खंजर छिपाने के लिएऔर कितने संस्कारों का दमन करेगा इंसान यहाँहै खुला आकाश अपनी... Read more
clicks 119 View   Vote 0 Like   1:09am 23 Oct 2011
Blogger: poonam kulshrestha
पत्नी गुस्से में आई और आ कर चिल्लाईअजी सुनते हो देखो ये क्या कह रहा हैपति हैरान ये कौन है जो पत्नी के सामने kuch कह पाने की हिम्मत रख  रहा हैपत्नी फिर से चिल्लाई सब तुम से सीख रहा है तुम जो पूरे दिन आँखे सेकते रहते हो सुपुत्र ये नहीं कहेगा तो और  क्या कहेगाअब पति मिमयाया अ... Read more
clicks 102 View   Vote 0 Like   5:04pm 20 Oct 2011
Blogger: poonam kulshrestha
मेरे बड़े भाई हैं जो एल आइ सी में उच्च पद पर कार्यरत हैं जाहिर  है की वे बाज़ार की अच्छी जानकारी रखते हैं.अरे में शेयर बाज़ार की बात कर रही हूँ.एक बार मुझे उनके ऑफिस में जाने का मौका मिला उस वक्त वे अपने किसी दोस्त से बात कर रहे थे .मैने उनकी बाते समझने की कोशिश की लेकिन सि... Read more
clicks 82 View   Vote 0 Like   4:47pm 18 Oct 2011
Blogger: poonam kulshrestha
"जिन" में बसे जानकी '"रम" में बसे रामव्हिस्की में बसे विष्णु,और शैम्पेन में बसे श्यामकिस किस का त्याग करू मैंhar बोतल में भगवान् किस किस को याद kijiye किस किस को रोइएआराम बड़ी चीज है मुह ढक कर सोइए... Read more
clicks 107 View   Vote 0 Like   5:36pm 17 Oct 2011
Blogger: poonam kulshrestha
संता कपडे की दुकान par काम करता थाग्राहक-जरा andervear तो दिखानासंता-सॉरी"आज पहना नहीं है"                                     २संता डॉक्टर से-डॉक्टर साहब मुझे एक के दो नजर आते हैंडॉक्टर-क्या तुम दोनों को एक सी बीमारी है                                &nb... Read more
clicks 104 View   Vote 0 Like   1:18pm 16 Oct 2011
Blogger: poonam kulshrestha
माँ के लिए  स्वयं को खोजना,फिर से शिशु हो जाना है,मेने अपनी माँ की आँखों में ,अपने को इसी तरह देखा है                                               २सत्य का sparshबदलो के छटते ही दिशाएं एक दम पारदर्शी हो गयी हैं,हवा की तरह बहते,सत्य के शीतल स्पर्श से,कितने ... Read more
clicks 113 View   Vote 0 Like   12:32pm 14 Oct 2011
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3916) कुल पोस्ट (192471)