Hamarivani.com

* * * * जीवन पुष्प * * * *

है जिन्दा आज भी जज्बा    अभी मैं झुक नहीं सकता !    आरजू मुकम्मल हो या न होसफ़र ये रुक नहीं सकता !!जब तुम याद आती हो एक कसक सी जगती है...निगाहें फलक पे टिकती हैनजरे नम हो उठती है...वही तराना गाता हूँ...शबनम फिर से टपकती है ...!!...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :
  June 8, 2016, 2:26 pm
ए काश कि तुम्हे भी पता होताअपना मिलन है चंद घड़ियों का मुद्दत से जुड़े थे जिस बंधन में टूटेगा मोती अब उन लड़ियों का !ए काश कि तुम्हे भी पता होता हम गले कभी अब, मिल न सकेंगे रख के सर, तेरे कंधों पे सनम कभी सिसक कर रो न सकेंगे !ए काश कि तुम्हे भी पता होता जुदा होकर  गम नहीं  करना ...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :
  June 8, 2016, 2:17 pm
सहर्ष प्रेम पथ परहम दीपक जलाये थी चाहत उड़ने की दूर पंख फैलाये था तकदीर का दोष या तदबीर का रोष जो मुन्तजिर हुए हम और छुट गया संग गूंजती है आज भी आवाज रूहानी सी उठती है सीने में एक कसक पुरानी सी अब नीर नैनों के   स्वछन्द बह जायेएक संदेसा है उनको  वो भी दिल से भुलाये   &n...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :
  July 11, 2015, 9:33 pm
कब सुन पाउँगा फिर अम्मा की वो लोरी, खाली हो चूका है   किस्से की तिजोरी !सुनते थे दास्ताँ कभीचुप-चाप परियों की, अब सुनते है सिर्फ टिक–टिक घड़ियों की ! आधी रातों में उठकरबैठ जाते है अक्सर,कब मुमकिन होगा फिर आँचल का मयस्सर...!आ गये कितने दूरछोड़ कर वो बचपन अब छुट चुका पीछे &...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :
  July 10, 2015, 10:34 pm
पुष्पित थी अभिलाषा मेरीपर, हिस्से में तो काँटे थे भेद गये वो तन–मन कोजिसे हम प्रेम से बाँटे थे बुत बने यूँ खड़े रहे हम वर्षों से बिन प्रतिफल के प्रतीक्षा है उस आँचल का  जिसे क़द्र हो अश्रुजल के |ह्रदय धक् से धड़क रहे थेहम जीवन में सरक रहे थे खुलती और बंद होती पलकें जब गिर...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :कविता
  March 3, 2013, 8:15 pm
रूह की धरा सेमन के फलक तक  जब उठती है अदृश्य मदमस्त दिशाहीन एक भावनाओं का सैलाब !तब घटा बन, धीमें-धीमें  कलम की रगों से बरसती है बूंद - बूंद  फिर खिलता है पन्नों पेशब्दों का सुन्दर गुलाब !मैं देखा हूँ शिद्दतों से मुहब्बत में जब कलम चूमती है पन्नों कोतभी दुनिया कहती हैबह...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :कविता
  February 4, 2013, 11:19 am
कागज की बनी कश्ती कुछ देर तक ही तैरती है पन्नों की बनी चिड़ियाँ कुछ दूर तक ही उड़ती हैपर, हमें तो पार करना है मुश्किलों से भरा दरिया और, पंख फैलाये उड़ना हैफलक के उस पार तक जहाँ इंतजार में खड़ी हैजन्नत की कई परियां बनाना है दृढ़तापूर्वकविश्वास से भरी कश्ती  जो तूफा...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :कविता
  September 23, 2012, 5:33 pm
ह्रदय को लिए ह्रदय में माँतुम हो कितने संशय में माँदेने को इन्हें जीवन सरलहो रही तू कितनी विकलपता नहीं ये तुमको कलमासूमियत पे करेंगे छल...! जिनको तुम खुदा से मांगीवो भूल जायेंगे तेरा यतनशायद तुम्हारी मौत पर माँनसीब भी ना हो कफ़नतुम इनकी अरमां के खातिरअपनी खुशिया...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :कविता
  September 16, 2012, 7:55 pm
जीवन में, कई साँझ को  आँधियाँ आती रहीडाली-डाली, झूम-झूमकरराग नया गाती रही ।टूटे कई हरे पत्ते भी, संग हवा के उड़ते रहेबसते थे जिस नीड़ के अंदरतिनकों में वो बिखरते रहे ।आज थमी है आँधियाँ आहिस्ता, वो तो हवा की साजिश थी ।अब दशा कुछ बदल रहा हैये तो खुदा की ख्वाहिश थी ।।...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :कविता
  August 19, 2012, 9:17 am
ये कैसी तेरी निर्मम प्यास,ये कैसी सियासत की भूख ! जो क़त्ल करके मानवता काले रहे हो सत्ता का सुख !! लूट की भूख जब जगती हैतब खाते हो हमसब की रोटी ।बनकर दुह्शासन कलयुग काखीचते हो गाँधी की, एकलौती धोती।। हसरतों को जगने से पहलेजहर देकर, सुला देते हो हमारे आंसुओं के आगे ...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :कविता
  August 15, 2012, 1:56 pm
तुम्हे जरुरत क्या थी मेरे ख्वाब में आने की, बसकर रूह में फिर सेएक आग लगाने की...?तुम्हे जरुरत क्या थीदस्तूर निभाने की,सूखे  हुए पलकों को अश्कों में भिंगाने की...?तुम्हे जरुरत क्या थीदाग दामन में लगाने कीपरवाह तो कर लेती एक बार ज़माने की...?...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :कविता
  July 29, 2012, 9:24 pm
तू नहीं तो कुछ भी नहींइस व्यथित मन को मुक्ति भी नहीं देखो इस खंजर को ये हमसे रूठ गया है खामोश है सितार भी इसका कोई शायदतार टूट गया है...!कलाई की चूड़ीअब खनकती ही नहींऔर पावों की पायलछनकती ही नहींवक्त गुजर रहा है साँसे अटक रही है सुनसान रेगिस्तान में जिंदगी सरक रह...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :कविता
  March 4, 2012, 3:04 pm
तूफानों के मुख पर जाकरहम अपना नीड़ बना बैठे !तिनका-तिनका जीवन का  तोड़-तोड़ कर बिखरा बैठे !चाहत थी मंजिल पाने कीपर, पग-पग हम भुला बैठे ! जो ख्वाब सजे थे पलकों पेहम एक फूँक में ही उड़ा बैठे !रोये इतना हम फूट-फूटकर कि आँखों का नीर सूखा बैठे !चुन-चुनकर बिखरे तिनके कोहमें ...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :कविता
  March 2, 2012, 12:55 pm
पाँवों में घुँघरू बँधे है समाँ बँधा है ताली सेपत्ता-पत्ता टूट रहा हैमेरे जीवन की डाली से !मासूमियत उजड़ रही हैसूरत भोली-भाली सेचमक सब खो गई है मेरे होठों की लाली से !हमें बेचकर बचपन में सबमालामाल हुए दलाली सेमैं भी किसी की बेटी थी आज ज़िन्दगी भरी ह...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :
  January 19, 2012, 11:30 am
पाँवों में घुँघरू बँधे है समाँ बँधा है ताली सेपत्ता-पत्ता टूट रहा हैमेरे जीवन की डाली से !मासूमियत उजड़ रही हैसूरत भोली-भाली सेचमक सब खो गई है मेरे होठों की लाली से !हमें बेचकर बचपन में सबमालामाल हुए दलाली सेमैं भी किसी की बेटी थी आज ज़िन्दगी भरी है गाली से !धन-वर्षा ...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :कविता
  January 19, 2012, 11:30 am
जीवन के अंगारों पे चलकर उग आये फफोले पाँव में !फिर भी कहीं मैं रुका नहींकिसी पेड़ों की छाँव में !!गैरों से क्या शिकायत करते घर की आँखों ने की परिहास !सच कहता हूँ उसी समय सेहोने लगा दर्द का एहसास !!पथरीले पथ से टकराकर पाँव के फफोले फूटने लगे !मन मेरे विचलित हो-होकर उलझी स...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :कविता
  January 14, 2012, 10:13 am
तुम्हारे जाने के कुछ निशानरेत पर, और मेरे मन परएक साथ उभर गये !इसे मिटाने की कोशिश मेंना जाने कितने मोती आँसू केइस समंदर में बिखर गये !आज  आने की आहट पर इन हवाओं की छूअन सेतन-मन मेरे सिहर गये !जो पार गये थे सात समंदरआ गये सब लौटकर लेकिनना जाने तुम किधर गये...?...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :कविता
  January 10, 2012, 2:37 pm
वो दिन गए जब मैं बँधवाया करती थीलाल-लाल फीतों में अपनी अम्मा से चोटी !काजल लगवाती थीआँगन में खिले फूलों से बालों को सजाती थीफिर खिल उठती थीमेरे नैनों की ज्योति !जब, आईना देखती थी तो अम्मा से पूछती थी " अम्मा मैं कैसी लगती हूँ ?क्या मैं सचमुच की मुनिया लगती हूँ...? "अम्मा हँ...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :कविता
  January 7, 2012, 3:55 pm
लब हिले ना हिले, हमें आँखों का ईशारा कम तो नहीं !तुम मिलो ना मिलो, हमें यादो का सहारा कम तो नहीं !!...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :शायरी
  January 5, 2012, 4:26 pm
 मन में तपिश है इतनी कि समंदर सूख न जायेचल रही साँसें इतनी तेज कि हवा भी रूठ न जाये !अगर, समंदर ना रहा तोनदी को पनाह कौन देगा ?और, हवा भी रूठ गई तो जीवन को राह कौन देगा...?बच सकता है समंदर यूँ ही सूखने सेरुक सकती है हवा भी यूँ ही रूठने से...अगर, जाकर कोई  कह दे उसेएक झलक अपनी व...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :कविता
  January 2, 2012, 12:32 pm
मेरे आँसू तुमआँखों में ही रहनाअतीत की धारों मेंतुम नहीं बहना लोग हँसेंगे ताने भी देंगे कुछ अपने तो कुछ ज़माने भी देंगेबस तुम सुनना मत कुछ कहनामेरे आँसू तुम आँखों में ही रहना !मानाकि आज हमकुछ भी नहीं है पर अपनी माँ काहै हम जिगरपरवाह नहीं हैज़माने भर की पर कैसे ना करे...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :कविता
  December 27, 2011, 10:50 pm
मैं तुम्हे अपना बनाना चाहता हूँ !सात सुरों का सरगम सजाना चाहता हूँ !बनकर मैं बादल, तेरे मन की धरती परएक धीमें सावन को बरसाना चाहता हूँ !उठ रही जो लहर, मेरे दिल के दरिया मेंइसे तेरी रगों में भी, दौडाना चाहता हूँ !ना मैं कोई सँपेरा, ना मैं कोई लुटेरामैं तो तेरे हुस्न का खजाना ...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :ग़ज़ल
  December 25, 2011, 8:36 pm
मेरे मन की चौखट पेवो दस्तक देती रहीमेरी त्रुटियों पेनतमस्तक होती रही अविचल बैठी रही बनकर एक धीरवो चुपचाप बहाती रहीअपने नेत्रों से नीर !धैर्य को समेटे आँखों में अविरत न कोई विचलन और न कोई कपट मन के मंदिर मेंउपवास लिये वोगंगा किनारे कल्पवास लिये वो क्षत -विक्षत करती रह...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :कविता
  December 10, 2011, 1:54 pm
बहुत-बहुत बधाई ...! तुम्हें जन्मदिन पर मैं  क्या दे सकता हूँ स्नेह, प्यार और डांटजो देते आया हूँ बस, आज भी मैं तुमको वही दे सकता हूँ या फिर कहो तो बचपन की कुछ कशिश लिख सकता हूँ !आज तुम्हारा जन्मदिन हैहमें याद वो दिन है कितना कर्णप्रिय लगता था तेरी तोतली बोलीरोज धूल में ल...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :कविता
  December 5, 2011, 12:05 am
बेख़ौफ़ होकरआँधियां आयेगीरौंद कर ख्वाबों कोसोते में जगायेगी !कैसे संभालूँगा मैं अपने घरौंदे को ?तड़पते हुये लहू-लुहान   अरमां के परिंदे  को...?कैसे रोक पाऊंगावो कहर-जलजला ?बिखेर देगी तिनकों मेंजो प्यारा घोसला कुचल देगी पंजों से हिम्मत और हौसलाहो जाओगी तू भी दूररह ज...
* * * * जीवन पुष्प * * * *...
Tag :कविता
  November 18, 2011, 10:53 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163808)