POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: ख़तो - किताबत

Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
मुझ से आपको इतनी नफरत हो गयी थी.- अनीसा23.06.99... Read more
clicks 212 View   Vote 0 Like   1:19pm 19 Nov 2014 #
Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
शाहिद आप वहां पर अकेले हो वहां पर कोई भी आपका ख्याल रखने वाला नहीं है.- अनीसा... Read more
clicks 244 View   Vote 0 Like   1:18pm 19 Nov 2014 #
Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
मैं तुम्हें अपनी जान से भी ज्यादा प्यार करती हूँ.- अनीसा... Read more
clicks 211 View   Vote 0 Like   1:17pm 19 Nov 2014 #
Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
मुझे तो आपके गुस्से से भी प्यार है .- अनीसा... Read more
clicks 197 View   Vote 0 Like   1:15pm 19 Nov 2014 #
Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
जिस दिन मुझे आपसे जुदा होकर रहना पड़े , ऐसी ज़िन्दगी जीने से पहले ही मुझे मौत आ जाये.- अनीसा ... Read more
clicks 198 View   Vote 0 Like   10:50am 19 Nov 2014 #
Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
आप के बगैर ज़िन्दगी नहीं सिर्फ बद्दुआ बनकर रह जाएगी.- अनीसा ... Read more
clicks 220 View   Vote 0 Like   10:49am 19 Nov 2014 #
Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
जब कोई मुझे या आपको किसी और से बंधन में बाँधने की बात करता है तो ऐसा लगता है कि इस दुनिया को ही छोड़ दो.- अनीसा ... Read more
clicks 214 View   Vote 0 Like   10:39am 19 Nov 2014 #
Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
'अजनबी'हम दोनों जिस रास्ते पर चल रहे हैं, वहां मंज़िल भी है या नहीं.- अनीसा ... Read more
clicks 257 View   Vote 0 Like   10:38am 19 Nov 2014 #
Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
मुझे सपने में तुम्हारे साथ रहना बहुत अच्छा लगता है.- अनीसा ... Read more
clicks 251 View   Vote 0 Like   10:37am 19 Nov 2014 #
Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
अपनी ज़िन्दगी में कभी लड़ाई न हो , बस प्यार ही प्यार हो.- अनीसा  25.03.2000... Read more
clicks 183 View   Vote 0 Like   10:24am 19 Nov 2014 #
Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
मेरे शाहिद कितने गुस्से वाले हैं .- अनीसा  ... Read more
clicks 199 View   Vote 0 Like   10:23am 19 Nov 2014 #
Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
अब और सजा न दो बहुत हो चुका अब तो मुस्करा दो. - अनीसा ... Read more
clicks 208 View   Vote 0 Like   10:22am 19 Nov 2014 #
Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
अरे यार अब तो कह दो कि माफ़ किया. - अनीसा ... Read more
clicks 245 View   Vote 0 Like   10:22am 19 Nov 2014 #
Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
समझाना तो दूर डरा और दिया.- अनीसा  ... Read more
clicks 233 View   Vote 0 Like   10:21am 19 Nov 2014 #
Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
जैसे-जैसे हमारे प्यार में कठिनाइयाँ बढती जा रही हैं, वैसे ही हमारा प्यार और भी गहरा होता चला जा रहा है. - अनीसा ... Read more
clicks 254 View   Vote 0 Like   10:19am 19 Nov 2014 #
Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
मैं कितनी खुशकिस्मत हूँ जो आप मुझे इतना प्यार करते हो. - अनीसा ... Read more
clicks 192 View   Vote 0 Like   10:18am 19 Nov 2014 #
Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
मुझे अपने ही आप से घुटन सी महसूस होती है. - अनीसा ... Read more
clicks 205 View   Vote 0 Like   10:18am 19 Nov 2014 #
Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
जब दिल चाहे तो मिल भी नहीं सकते. - अनीसा ... Read more
clicks 190 View   Vote 0 Like   10:16am 19 Nov 2014 #
Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
मैं जानती हूँ कि आप वहां पर किस तरह तड़प रहे होंगे  मुझसे बात करने के लिए .- अनीसा ... Read more
clicks 201 View   Vote 0 Like   10:16am 19 Nov 2014 #
Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
"अनीसा"एक बार तुमने मुझसे कहा था - आपने आज तक मुझे गुलाब नहीं दिया अनीसा, आज इन हवाओं के जरिए, ये गुलाब भेज रहा हूँ . क़ुबूल कर लेना ! तुम्हारा हमेशा शाहिद 16.02.02... Read more
clicks 217 View   Vote 0 Like   4:48pm 20 Aug 2014 #
Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
अनीसा,You are my valentine.आरजू , प्यार , ज़िन्दगीअनीसा वो जो डर होता है न, पायल की छन-छन न सुन ले, दिल की गहराईयों तक जाती हुयी सांसों की आवाज़ न सुन ले.It is the first chance , we & you were one phone line in dream.Oct. 03हम अपने आपको कब तक धोखा देते रहेंगे !मुझ में इतनी ताकत , इतनी हिम्मत नहीं है कि अपनी ज़िन्दगी अपनी मुहब्बत से ज... Read more
clicks 253 View   Vote 0 Like   10:21am 20 Aug 2014 #
Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
प्यार करना आसान है, मगर उसे निभाना मुश्किल है, हम दोनों ने प्यार तो कर लिया , मगर अब निभाने की बारी है, कौन कैसा निभाता है.  कम से कम छत पे बिताये वो लम्हे याद कर लिए होते.04.05.03... Read more
clicks 201 View   Vote 0 Like   10:06am 20 Aug 2014 #
Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
कसम खाओ अनीसा तुम ऐसा कुछ भी नहीं करोगी जिससे तुम्हें दुःख पहुंचे , मुझे दुःख पहुंचे और खुसूसन अपने प्यार को ग़म पहुंचे.अनीसा मुहब्बत से लबरेज तुम्हें उन रातों की कसम जब मेरा चेहरा तुम्हारे हाथों में होता था और हम दोनों अपनी एक अलग दुनिया में खोये हुए होते थे.अनीसा उल्फत... Read more
clicks 247 View   Vote 0 Like   9:57am 20 Aug 2014 #
Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
i miss you so much since lastthree days. काश तुम्हें इस वक़्त देख पाता.अनीसा अल्लाह तआला जो भी करेगाअच्छा ही करेगा.खुद पर यक़ीन करो , मुझ पर भरोसारखो. बस हम दोनों की ज़िन्दगी मेंजो भी होगा, अच्छा ही होगा.या अल्लाह, आज तेरे आगे  , दोनों हाथफैलाकर भीख मांगता हूँ- हम दोनोंकी ज़िन्दगी में खुशियाँ भर दे.... Read more
clicks 238 View   Vote 0 Like   9:50am 20 Aug 2014 #
Blogger: मुहम्मद शाहिद मंसूरी "अजनबी"
अनीसा, रात जब घड़ी ने 12 बजाये , उस वक़्त मेरे पास सिर्फ ख़ुशी थी. यूँ तो साढ़े दस बजे ही नींद आने लगी थी. मगर यार सोचा तुम मेरा इंतज़ार करोगी. इसीलिए कुछ और करने लगा. उस वक़्त क्या बेकरारी थी , अनीसा बताया नहीं जा सकता . यहाँ मैं बेक़रार और वहां तुम बेचैन. बस फिर क्या था, हम दोनों ने फो... Read more
clicks 234 View   Vote 0 Like   9:39am 20 Aug 2014 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (4020) कुल पोस्ट (193860)