Deprecated: mysql_connect(): The mysql extension is deprecated and will be removed in the future: use mysqli or PDO instead in /home/hamariva/public_html/config/conn.php on line 13
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष : View Blog Posts
Hamarivani.com

गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष

सभी लग्‍नवाले 2013 के वर्षफल के लिए क्लिक करें .... http://gatyatmakjyotish.com/category/%E0%A4%B8%E0%A4%BE%E0%A4%AE%E0%A4%AF%E0%A4%BF%E0%A4%95/...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :
  January 9, 2013, 11:34 pm
सात वर्ष पहले जब हिन्‍दी ब्‍लाग जगत में गिने चुने लोग ही थे , मैने ब्‍लाग स्‍पाट पर अपनी पहली प्रोफाइल 2005 के अक्‍तूबर में बनायी थी और उसी वक्‍त अपना ब्‍लाग बनाकर अपनी पहली पोस्‍टकृतिदेव10 फाण्‍ट में लिखकर ही 20 अक्‍तूबर 2005 को पोस्‍ट कर दिया था। फिर काफी दिनों तक मैं न तो य...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :
  November 1, 2012, 11:18 pm
फलित ज्‍योतिष के ग्रंथों के अनुसार बृहस्पति नवग्रहों में सबसे शुभ है। यही कारण है कि गोचर में अधिकांश समय बृहस्पति की स्थिति जनसामान्‍य के लिए सुखद ही बनी होती है। 'गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष' के अनुसार भी बृहस्‍पति तबतक जातकों को परेशान नहीं करता , जबतक वह गत्‍...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :
  October 31, 2012, 8:25 am
भले ही अपने जन्‍मकालीन ग्रहों के हिसाब से ही लोग जीवन में सुख या दुख प्राप्‍त कर पाते हैं , पर उस सुख या दुख को अनुभव करने में देर सबेर करने की भूमिका आसमान में समय समय पर बन रही ग्रहों की स्थिति की ही होती हैं। जहां ढाई वर्षों के लिए शनि , एक वर्ष के लिए बृहस्‍पति , चार छह मह...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :
  October 30, 2012, 9:11 am
समाज से ज्‍योतिषीय एवं धार्मिक भ्रांतियों को दूर करने के उद्देश्‍य से पेटरवार के वन एवं पर्यावरण विभाग के सभागार में अविभाजित बिहार के वित्‍त राज्‍य मंत्री रह चुके श्री छत्रु राम महतो की अध्‍यक्षता में ‘गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिषीय अनुसंधान केन्‍द्र द्वारा ‘गत्‍यात्...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :
  October 24, 2012, 7:35 am
दिल्ली आये पंद्रह बीस दिन  हो गए  ...अब बोकारो लौटने का वक्त हो रहा है ...... आने के बाद से ही आप सबों के बहुत सारे लोगों के फ़ोन और मैसेज मिल रहे हैं --- मुझे भी आप सबसे मिलने की इच्छा है .. जिनसे नेट पर पिछले कितने वर्षों से विचारों का आदान प्रदान होता जा रहा है ... पर अलग अलग जगहों ...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :gatyatmak jyotish
  September 19, 2012, 9:20 am
कुणाल की आंखों पर उसकी सौतेली मां की नजर थी , कारण यह था कि उसकी आंखें बहुत ही खूबसूरत थी और उसकी तथाकथित मां उन आंखों पर मोहित थी। लाख कोशिश के बाद भी जब वह उन आंखों को हासिल न कर सकी तो अपने पति से उसकी शिकायत कर , उसपर छेड़खानी का इलजाम लगाकर उन आंखों को निकलवा लेने से भी ब...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :भ्रम उन्‍मूलन
  August 4, 2012, 4:23 pm
महाकालेश्‍वर के उद्भव के बारे में मान्‍यता है कि भगवान शिव के परम भक्त उज्‍जयिनी के राजा चंद्रसेन को एक बार उनके शिवगणों में प्रमुख मणिभद्र ने तेजोमय 'चिंतामणि' प्रदान की, जिसे गले में धारण देखकर दूसरे राजाओं ने उसे पाने के प्रयास में आक्रमण कर दिया। शिवभक्त चंद्रसेन ...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :उज्‍जैन
  July 31, 2012, 8:26 am
कल शाम से ही मेरे सिस्‍टम मेरा ब्‍लॉग नहीं खुल रहा , ब्राउज करने पर कभी सर्च इंजिन की राह दिखाता है , कभी बताता है कि ये साइट उपलब्‍ध नहीं है। कई पाठकों से पूछ चुकी हूं , अधिकांश लोग कह रहे हैं कि मेरा ब्‍लॉग नहीं खुल रहा , जबकि एक दो पाठकों को कहना है कि ब्‍लॉग खुल रहा है । अभ...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :
  July 20, 2012, 9:45 pm
ज्‍योतिष के बारे में जन सामान्‍य की उत्‍सुकता आरंभ से ही रही है , गणित ज्‍योतिष के क्षेत्र में हमारे ज्‍योतिषियों द्वारा की जाने वाली काल गणना बहुत सटीक है। पर इसके फलित के वास्‍तविक स्‍वरूप के बारे में लोगों को कोई जानकारी नहीं होने से भ्रम की संभावना बनी रहती है, अभी ...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :विद्यासागर महथा
  July 17, 2012, 5:30 am
पिछले लेखमें मैने लिखा था कि अर्थप्रधान युग में भविष्‍य के प्रति आशंका से अंधविश्‍वास और बढता जा रहा है। अंधविश्‍वास का मूल कारण अज्ञानता है , आग , वर्षा, बाढ , बिजली, रोग, भूकंप, चंद्रग्रहण , सूर्यग्रहण आदि घटनाओं के बारे में पर्याप्‍त जानकारी न होने से आदिम मानव के मध...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :भविष्‍यवाणी
  May 19, 2012, 5:31 am
किसी खास तरह की ग्रहस्थिति का प्राचीन ऋषि महर्षियों ने पृथ्‍वी पर कुछ खास प्रभाव देखा , तो उसे सही ढंग से समझने के लिए पूरी ताकत लगा दी और उसका ही परिणाम है कि एक सुव्‍यवस्थित ज्ञान के रूप में ज्‍योतिष शास्‍त्र विकसित हो सका। चंद्रमा के किसी खास नक्षत्र और उनके विभिन्‍...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :गत्‍यातमक ज्‍योतिष
  May 9, 2012, 4:42 pm
का खगोलीय घटनाओं और दृश्‍यों में रूचि रखने वाले लोगों के लिए 5 और 6 मई की रात कुछ खास है , क्योंकि इस वक्‍त चांद पूरे वर्ष के हिसाब से सबसे चमकीला और बड़ा नजर आएगा। ऐसे संयोग पूर्णिमा के दिन ही बनते हैं और चूंकि चांद धरती के सबसे निकट होगा , इसलिए अपनी कक्षा में घूमते हुए चां...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :सूपरमून
  May 6, 2012, 9:00 am
भारत एक कृषि प्रधान देश है , अप्रैल आते ही भारतीय मौसम विभाग द्वारा की जाने वाली मौसम की भविष्‍यवाणी का हर किसी की इंतजार रहता है। हमारे देश में मानसून न सिर्फ कृषि , बल्कि वर्षभर पूरी अर्थव्यवस्था के लिए महत्वपूर्ण होता है। मानसून का प्रदर्शन खराब होना आर्थिक सुधारो...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :अर्थव्‍यवस्‍था
  May 5, 2012, 7:02 am
‘ज्‍योतिष : सच या झूठ’नामक अपने ब्‍लॉग में जहां एक ओर ज्‍योतिष की समस्‍त कमजोरियों को स्‍वीकार किया है , वहीं दूसरी ओर इसके उज्‍जवल पक्ष की मैने वकालत भी की है। मैं इस विद्या का अंध भक्‍त नहीं हूं , फिर भी मैने पाया कि इस विद्या में वैज्ञानिकता की कोई कमी नहीं। यह वैदिकका...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :विद्यासागर महथा
  May 1, 2012, 4:44 am
 हमारे पास व्‍यक्तिगत उत्‍सुकता से भरे ज्‍योतिष प्रेमी पाठकों के पत्र नियमित तौर पर आते रहते हैं , शोध कार्यों में व्‍यस्‍तता के कारण बहुत कोशिश के बाद भी सबको जबाब दे पाना संभव नहीं होता है, हालांकि बहुतों की जिज्ञासा का मैने समाधान भी किया है। पिछले लेखमें मैने लिखा ...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :परामर्श
  April 28, 2012, 4:51 am
सभी लोगों को मालूम है कि अंधविश्‍वास का मूल कारण अज्ञानता है , जिन प्रश्‍नों का उत्‍तर विज्ञान नहीं ढूंढ पाया है , उसका जबाब ढूंढने की जनसामान्‍य की जिज्ञासा स्‍वाभाविक है और उसी का फायदा धर्म के नाम पर समाज के कुछ लोग उठाते आ रहे हैं। पिछले लेख में मैने लोगों को जानकार...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :गत्‍यातमक ज्‍योतिष
  April 23, 2012, 8:21 am
हमारे देश में तरह तरह के अंधविश्‍वास फैले हुए हैं , ताज्‍जुब है कि अंधविश्‍वासों के चक्‍कर में सिर्फ अनपढ , गरीब निम्‍न स्‍तरीय जीवन जीनेवाले ही नहीं हैं , बल्कि पढे लिखे और अमीर लोगों का तबका भी अंधविश्‍वासों से बाहर नहीं है। इसके चक्‍कर में कभी नवजात की बलि चढ़ जाती ह...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :मुफ्त सुविधा
  April 16, 2012, 4:44 am
9 अप्रैल 2012 को इस हफ्ते के पहले कारोबारी दिन में एशियाई बाजारों में जारी मुनाफावसूली के असर से भारतीय शेयर बाजारों में गिरावट दे्खने को मिला। लगभग डेढ महीने की गिरावट के बाद पिछले सप्‍ताह ही बाजार में कुछ तेजी देखने को मिली थी। पर कल पुन: विदेशी कोषों की लगातार बिकवाली ...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :गत्‍यातमक ज्‍योतिष
  April 10, 2012, 5:16 am
रंग हमारे मन और मस्तिष्‍क को काफी प्रभावित करते हैं। कोई खास रंग हमारी खुशी को बढा देता है तो कोई हमें कष्‍ट देने वाला भी होता है। जिस तरह यदि हम प्रकृति के निकट हों , तो खुद को फायदा पहुंचाने वाले वस्‍तुओं की ओर हमारा ध्‍यानाकर्षण होता है , उन वस्‍तुओं का प्रयोग हम आरंभ ...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :ग्रहीय प्रभाव
  April 7, 2012, 5:02 am
16 फरवरी 2012 को पोस्‍ट किए गए लेख में   विभिन्‍न लग्‍नवालों के लिए योगकारक और अयोगकारक ग्रहों का फलाफल तय करने की चर्चा की गयी थी।  इस हिसाब से मेष लग्‍नवालों की चंद्रमा को +2  , बुध को -5 , मंगल को +4 , शुक्र को +4 , सूर्य को +6 , बृहस्‍पति को +7 तथा शनि को 0 अंक मिलते हैं। इसलिए यदि और कोई ...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष
  April 4, 2012, 5:32 am
जीवन को देखने और समझने का सबका नजरिया भिन्‍न भिन्‍न होता है , कुछ लोग उथली मानसिकता के साथ इसे देखते हैं तो कुछ गहरी समझ के साथ। जो गहराई से जीवन के रहस्‍यों को समझने की कोशिश करते हैं , उन्‍हें हम दूरदर्शी और अनुभवी मानते हैं और उनकी सोंच के साथ चलने की कोशिश भी करते हैं। ...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :गत्‍यातमक ज्‍योतिष
  March 29, 2012, 5:03 am
पिछले माह 26 फरवरी 2012 को हमलोगों ने आसमान में बडा ही सुंदर नजारा देखा था। आसमान में नीचे शुक्र , ऊपर बृहस्‍पति और मध्‍य में 4.5 दिन का चंद्रमा , मैने इस सूचना को फेसबुक पर भी शेयर किया था , ताकि अधिक से अधिक लोग आसमान के खूबसूरत पश्चिमी भाग को देख सकें।कल 26 मार्च 2012 को पुन: इसी तर...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :ग्रहीय प्रभाव
  March 26, 2012, 5:01 am
विचित्रता से भरी इस प्रकृति में नाना प्रकार की विशेषताओं के साथ मौजूद पशु पक्षी , पेड पौधे तो अपने विकास के क्रम में सुविधाएं और बाधाएं प्राप्‍त करते ही हैं , इन सबके साथ ही साथ हानिकारक किटाणुओं विषाणुओं के साथ जीवनयापन करता मनुष्‍य भी अपनी राह में तरह तरह के मोड प्राप...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :प्रकृति
  March 25, 2012, 5:04 am
कल के अखबार में पढने को मिला कि इस वर्ष से नव संवत्सर को 'विश्व ज्योतिष दिवस' के रूप में मनाया जाएगा। इसमें कुछ गलत नहीं , जीवन के हर कमजोर संदर्भ को मजबूती देने के लिए उन्‍हें वर्ष के एक एक दिन निश्चित किए गए हैं तो ज्‍योतिष के लिए तो होने ही चाहिए। भविष्‍य को जानने की उत्...
गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष...
संगीता पुरी
Tag :गत्‍यातमक ज्‍योतिष
  March 23, 2012, 5:09 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3709) कुल पोस्ट (171411)