POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: रूप-अरूप

Blogger: रश्मि
बेहद सर्द और उदास है शाम आजदूर तक है नहीं कोई पास आजकिसका रास्ता देखूँ, कौन आएगायादों में उसकी बुझ रही है शाम आज... Read more
clicks 16 View   Vote 0 Like   11:30am 11 Feb 2020 #
Blogger: रश्मि
क्यों उदास रहते हो सर्दियों की शामों मेंजाने वाला दूर, बहुत दूर चला गया होगा ....... Read more
clicks 22 View   Vote 0 Like   3:45pm 9 Feb 2020 #
Blogger: रश्मि
वो अलगनी से सूखे कपड़े उतार कर ढेर लगाती जा रही थी...अपनी ही सोच में गुम। वो चुपचाप कपड़ों की तह लगा रहा था। जाने कौन सी व्यथा मथ रही थी अंदर-अंदर कि निढाल सी वहीं बैठ गयी। कुछ देर में पाया कि लड़के ने उसकी हथेली के ऊपरी पोरों को अपने हाथों से पकड़ रखा है। ऊँगलियाँ-ऊँगलियों ... Read more
clicks 41 View   Vote 0 Like   7:30am 27 Jan 2020 #
Blogger: रश्मि
ये डालियाँ नहींबाँहें हैं,जिन्होंने थाम रखा है सूरज कोकि, ना जाओअभी उजाले की और ज़रूरत है हमें...... Read more
clicks 41 View   Vote 0 Like   7:02am 21 Jan 2020 #
Blogger: रश्मि
बेहद सर्द और उदास है शाम आज दूर तक नहीं है कोई पास आज कि‍सका रस्‍ता देखूं, कौन आएगा यादों में उसकी बुझ रही है शाम आज ... Read more
clicks 42 View   Vote 0 Like   12:13pm 16 Jan 2020 #
Blogger: रश्मि
झरनों की बात जब होती है, तो हम गर्व से कहते हैं कि‍ झारखंड झरनों का प्रदेश है। यहां छोटे-बड़े इतने झरने हैं, और इतने खूबसूरत, कि‍ बेहद नामचीन फॉल भी इसके आगे पानी भरते नजर आएंगे। हां, यह जरूर है कि‍ पर्यटन के हि‍साब से जि‍तनी सुवि‍धाएं होनी चाहि‍ए, वह उपलब्‍ध नहीं। मगर आप व... Read more
clicks 13 View   Vote 0 Like   1:34pm 29 Dec 2019 #
Blogger: रश्मि
जाते हुए साल को अलवि‍दा कहने का इससे बेहतर तरीका कोई और नहीं हो सकता कि‍ हम उन जगहों पर एक बार फि‍र जाएं, जहां इसलि‍ए नहीं जा पाते क्‍योंकि‍ हर छुट्टि‍यों में कोई नई जगह घूमने का प्‍लान बन जाता है।हम देश-वि‍देश तो घूम आते हैं मगर अपने शहर और गांवों के रमणीय दृश्‍यों को दे... Read more
clicks 13 View   Vote 0 Like   10:13am 24 Dec 2019 #
Blogger: रश्मि
बड़ी खूबसूरत अदाएँ तुम्हारीबदन पर चमकती शुआएँ तुम्हारी!मेरे तन पे लिपटा दुपट्टा हरा येदुपट्टे में उलझी ,दुआएँ तुम्हारी!मैं तन्हा खड़ी हूँ, किसी ने पुकारायूँ हौले से आती सदाएँ तुम्हारी!हवा आई तेरा ही पैगाम लेकरमैं आई हूँ लेने बलाएँ तुम्हारी!रोशन है तन-मन,मेरे संग संग है... Read more
clicks 11 View   Vote 0 Like   6:20am 17 Dec 2019 #
Blogger: रश्मि
सूरज ने पहनाकुहासे का स्‍वेटरऔरबच्‍चों की तरहहौले-हौलेकदम रख चल पड़ा हैआकाश के पथ परसफर में अपनेएक-एक कर खोलेगा वोस्‍वेटर के सारे बटनऔरशर्माई सी धूपगुनगुना उठेगीखिलखिला उठेगी......... Read more
clicks 12 View   Vote 0 Like   7:19am 13 Dec 2019 #
Blogger: रश्मि
वक्‍त नहीं होताअबजरूरत भी नहीं रहेगी...जैसे आया था चुपचापवैसे हीचला जाएगा प्रेम भीएक दि‍न......... Read more
clicks 35 View   Vote 0 Like   11:05am 29 Sep 2019 #
Blogger: रश्मि
''प्रेम, दोनों ने कि‍या मेरे पास बची रहीं भावनाएं उसके पास शब्‍द और फि‍र एक दि‍न प्रेम मर गया '' ... Read more
clicks 59 View   Vote 0 Like   12:50pm 26 Sep 2019 #
Blogger: रश्मि
बेसबब आवाराआख़िर कब तक फिरोगेहुई शाम जोघर को ही लौटोगे !जागी रातों कीतन्हाइयों का हिसाबअब किसे देनाहै किससे लेना ?दिल की रखोअपने ही दिल मेंकह गये तो देखनाफिर एक बार फँसोगे !इतनी सी बात पे जो गयेउसे आवाज क्यों देनाकर लो किसी से भी मोहब्बतउसमें मुझको ही ढूँढा करोगे...।... Read more
clicks 112 View   Vote 0 Like   5:26am 9 Aug 2019 #
Blogger: रश्मि
तुम भूल गए कल की बातेंया याद अभी कुछ बाक़ी है !!पथरा गए एहसास सभीया प्यार अभी कुछ बाक़ी है !!जो कहना है, कह दो मुझसेयह रात अभी कुछ बाक़ी है!!वीरान हुआ दिल का उपवनपर राग अभी कुछ बाक़ी है!!... Read more
clicks 79 View   Vote 0 Like   5:12pm 27 Jul 2019 #
Blogger: रश्मि
बोसीदा मकान की दरारों सेकोई तो अंदर आएगाचढ़ने दो सूरज को फलक पर औरज़रा और ......... Read more
clicks 61 View   Vote 0 Like   3:44pm 25 Jul 2019 #
Blogger: रश्मि
“ उजड़े दयार मेंखिलने लगे हैं अबफूल भीतेरे जाने के बाद,अब तीरगी की बात कौन करे !”‘ज़िंदगी’जी भर कर तन्हा कर दे मुझेवादा है..तुझसे मोहब्बत करती रहूँगी ।... Read more
clicks 116 View   Vote 0 Like   7:10am 19 Jul 2019 #
Blogger: रश्मि
टुकड़ों में नींदमुट्ठी भर यादकुछ अधूरी सी बातऔर बेहिसाब एकांतचलो कर लूं आजयादों की जुगालीकिजिंदगी में हर दरवाजाआगे की ओर नहीं खुलता....... Read more
clicks 206 View   Vote 0 Like   12:22pm 14 Jul 2019 #
Blogger: रश्मि
ढलती शाम टिमटिमाती यादेंथमी ज़िंदगी ... Read more
clicks 100 View   Vote 0 Like   5:38pm 6 Jul 2019 #
Blogger: रश्मि
जाते हुएएक झलक देखी थी ....जैसे नींद में डूबा आदमीउठे, और बारिश की पीठ देखे ....... Read more
clicks 113 View   Vote 0 Like   7:08am 2 Jul 2019 #
Blogger: रश्मि
जाते-जातेकहीं ठहर जाते होजैसेपत्तियों में छुपी बारिश की कांपती कोई बूँददूर किसीघर के कोने मेंबजती कोई पहचानी सी धुनयादों की कतरनों मेंझिलमिलाता हैबार-बार एक चेहराजाते-जातेरुक जाने सेकितना कुछ ठहर जाता है ....... Read more
clicks 103 View   Vote 0 Like   7:03am 1 Jul 2019 #
Blogger: रश्मि
कि‍तनी बार कहा था उसने...नहीं जी पाऊंगा तुम बि‍न... कि‍ तुम बि‍न जीवन मौत बराबर है। मैंने भी कही थी यह बात..उसके सैकड़ों बार के जवाब में एक बार तो जरूर...मगर जी रहे हैं न..बेशर्मों की तरह ...यह अलग बात है कि‍ जीने के लि‍ए रोज साधन जुटाने पड़ रहे हैं। कभी प्रार्थना, कभी दवा तो कभी ख... Read more
clicks 106 View   Vote 0 Like   7:56am 10 Jun 2019 #
Blogger: रश्मि
सोचा था एक दि‍न मुट्ठि‍यों में कसकर रख लूंगी 'प्रेम' नि‍कल भागा ऊंगलि‍यों की दरार से रेत, पानी, हवा की तरह ... Read more
clicks 88 View   Vote 0 Like   3:59pm 6 Jun 2019 #
Blogger: रश्मि
“इतने सालों में कभी याद नहीं आयी?”“हर रोज़”“मिलने का सोचा एक बार भी ?”“हज़ारों बार”“फिर....?”“ फिर ......कैसे आता तुम तक?निरंतर भटकाव और उदासी...इसका अपना ही मज़ा है ...” फीकी मुस्कान थी होठों पर।टहनियों में उलझी शाम थोड़ी और गहरी हो गई। ... Read more
clicks 109 View   Vote 0 Like   8:24am 2 Jun 2019 #
Blogger: रश्मि
“है गिरफ़्त में अब ख़िजाँ, कुछ याद नहीं उनकोमैं बैचेन फ़लक ज़ाकिर, वो जाके नहीं आते....”... Read more
clicks 188 View   Vote 0 Like   4:06pm 8 Apr 2019 #
Blogger: रश्मि
महाकाल के दर्शन के लि‍ए उज्‍जैन हम अक्‍सर जाते हैं। क्‍या आपको मालूम है कि‍ इस नगरी में महादेव के 84 मंदि‍र हैं। इस श्रृखंला में 38वें नंबर पर आता है कुसुमेश्‍वर महादेव का मंदि‍र। पि‍छले दि‍नों जब हम उज्‍जैन की यात्रा पर थे, तो महाकाल के दर्शन के बाद आसपास के सभी प्रसि‍... Read more
clicks 197 View   Vote 0 Like   12:06pm 4 Mar 2019 #
Blogger: रश्मि
साथ छूट रहा ...हाथ छूट रहा ...’है’ से ‘था’ की ओर सफ़र कर रहा हमारा रिश्ता। कभी नहीं चाहा था ऐसा हो,  मगर होनी पर किसका वश है?तुम्हारी आवाज़ गूँजती है इर्द-गिर्द..... कहीं से भी चलकर कोई बात आती है और लगता है, तुम बोल रहे हो मेरे आसपास कहीं। कितना अजीब है न यह कि कोई पंक्ति ..कोई बात... Read more
clicks 34 View   Vote 0 Like   11:20am 25 Feb 2019 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3938) कुल पोस्ट (195081)