Hamarivani.com

अतिरिक्त

कुछ अनुत्तरित प्रश्न जगदीश कश्यप संपादक मिनी युग व विक्रम सोनी संपादक लघुआघात द्वारा प्रेषित किये गए थे  (बीस वर्ष से भी पहले )          प्रश्न व मेरे उत्तर निम्नानुसार है प्रश्न १ कथानक के दृष्टिकोण से लघुकथा में एक घटना या एक बिम्ब को उभारने की अवधारणा लघुकथा में कह...
अतिरिक्त...
Tag :
  June 20, 2015, 6:21 pm
      कृति एवं कृतिकार                     भगीरथ कृत पेट सबके है                                                     हितेश व्यास       जिस प्रकार शिवराम का नाम नुक्कड़नाटक के प्रारभ कर्त्ताओं में शुमार किया जाता है , उसी प्रकारभगीरथ परिहार लघु कथा के संस्थापकों और इस विधा के स्थापकों मे...
अतिरिक्त...
Tag :
  March 21, 2013, 7:18 pm
हिन्दीलघुकथाओं में दलित संघर्ष : भगीरथवर्तमानहिन्दी साहित्य में मुख्यत: तीन विमर्श लोकप्रिय है – भूमंडलीकरण , स्त्री व दलितविमर्श । भूमंडलीकरण का मुख्य आयाम आर्थिक है जबकि स्त्री एवं दलित का सामाजिक। सदियोंसे पोषित भेदभाव पूर्ण धारणाएँ हमारे सामाजिक जीवन में रच ब...
अतिरिक्त...
Tag :आलेख
  January 12, 2013, 11:36 am
y?kqdFkk dh ekU;rk        y?kqdFkkdh ekU;rk dk iz'u dqN gn rd gy gqvk gS ysfdu loZLohd`r ekU;rk bls vHkh gkflyugha gS A ;g vo'; gS fd i= & if=dkvksa us bls izdkf'kr dj ekU;rk iznku dhgS ] dqN if=dk,sa vc Hkh bls izdkf'kr djus ls ijgst djrh gS A ¼ysfdu tc bUghaif=dkvksa ds ys[kd y?kqdFkk fy[kdj Hkstrs gS rks ckr vyx gks tkrh gS ½ izdk'kux`g Hkh  y?kqdFkk lkfgR; izdkf'kr dj blsekU; fo/...
अतिरिक्त...
Tag :
  April 6, 2012, 8:45 pm
...
अतिरिक्त...
Tag :
  October 12, 2011, 7:02 pm
डा. उमेश महादोषीप्रतीक बेहद निराशा की स्थिति में पापा के बेड के पास जमीन पर बैठा हुआ था। ‘साल भर ही तो हुआ है, पापा ने कितने अरमानों के साथ अपनी तमाम जमा-पूँजी लगाकर उसका दाखिला मेडीकल में करवाया था। और पापा आज स्वयं इस स्थिति में.....। कितने ही डाक्टर्स को दिखा लिया पर बीम...
अतिरिक्त...
Tag :लघुकथाएँ
  September 5, 2011, 9:22 pm
डा. उमेश महादोषी                                                                                                         ‘नहीं सर, इतने सम्वेदनशील विषय पर मैं किसी विदेशी विश्वविद्यालय के साथ साझेदारी की सलाह नहीं दे सकता। सर मेरा अनुमान है कि इससे हमारे विश्वविद्यालय ही नहीं, देश को भी भविष...
अतिरिक्त...
Tag :लघुकथाएँ
  August 22, 2011, 5:05 pm
भगीरथप्रेमचंद के लघुकथा साहित्य के संदर्भ में समकालीन लघुकथाओं की पड़ताल करना समीचीन होगा ! प्रेमचंद ने मुश्किल से बीस लघुकथाएं लिखी हैं । जो विभिन्न कहानी संग्रहों में प्रकाशित हुई है । इन कथाओं का कलेवर कहानी से छोटा है ,इस छोटे कलेवर में मामूली लेकिन महत्वपूर्ण कथ...
अतिरिक्त...
Tag :आलेख
  July 29, 2011, 4:41 pm
भगीरथनीति एवं बोध कथाएँ जीवन के उत्कट अनुभव को सीधे-सीधे व्यक्त करने की बजाय उसके परिणामस्वरूप उत्पन्न विचार को रूपक कथाओं के माध्यम से व्यक्त करती हैं। (जबकि) समकालीन लघुकथाएँ अधिकांशतः अनुभव के बाह्य विस्तार में न जाकर अनुभवात्मक संवेदनाओं की पैनी अभिव्यक्ति करत...
अतिरिक्त...
Tag :आलेख
  July 10, 2011, 7:34 pm

...
अतिरिक्त...
Tag :
  January 1, 1970, 5:30 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3693) कुल पोस्ट (169588)