POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN

Blogger: surendra kumar shukla Bhramar5
उग गया बोया गया या उड़ के आयाफूला अब तो फल रहा विषाणु बनकरभोर को लूटा गया मिटते उजालेखींचती है भींचती अब काल रात्रि है भयंकरशिव हैं शव है औ मरुस्थल भस्म सारीरोती आंखें आंधियां तू फां बवंडरसांस अटकी थरथराते लोग सारेरेत उड़ती फड़ फड़ाते पिंड पिंजरगुल गुलिस्तां हैं हुए... Read more
clicks 9 View   Vote 0 Like   7:45am 17 Apr 2021 #कोरोनावायरस
Blogger: surendra kumar shukla Bhramar5
शीत बतास औे पाला सहे नितठूंठ बने हिय ताना सुने जगकूंच गई फल फूल मिलेतेरे साहस पे नतमस्तक सबपल्लव कोंपल है गोद हरीरस भर महुआ निर्झर झर झरसब खीझत रीझत दुलरातेसम्मोहित कुछ वश खो जातेमधु रस आकर्षित भ्रमर कभीरी होली फाग सुनावत हैंछलकाए देत रस की गागरज्यों अमृत पान करावत ... Read more
clicks 3 View   Vote 0 Like   12:20am 1 Apr 2021 #जननी
Blogger: surendra kumar shukla Bhramar5
तिरछे नैनों से संधान मत कर प्रिये-----------------------------तिरछे नैनों से संधान मत कर प्रियेछलनी दिल में भी मूरत दिखेगी तेरीढूंढता पूजता रात दिन मै जिसेप्यासा चातक निगाहें तो बरसें तेरी-----------मोम की तू बनी लेे के कोमल हियामत जला मुझको री तू पिघल जाएगीप्रेम दर्पण में तेरे है अटका जिया... Read more
clicks 22 View   Vote 0 Like   7:44am 28 Feb 2021 #प्रेम
Blogger: surendra kumar shukla Bhramar5
कांटे फूल सदा ही संगी-----------------------------मेरा मन भी भ्रमित बहुत हैगिरगिट जैसा रंग बदलतास्वागत को जब फूल बहुत हैंकैक्टस फूल उगाऊं कहता-------------------------------घर आंगन फुलवारी प्यारीखुशियों से आह्लादित सारीऔर लालसा की चाहत मेंबढ़ता जाऊं कंटक पथ में------------------------------सीधी सादी भोली भाली'तुलसी आं... Read more
clicks 27 View   Vote 0 Like   5:48pm 24 Dec 2020 #कैक्टस
Blogger: surendra kumar shukla Bhramar5
आओ कुछ मुस्का दें हम तुमबंद होंठ कुछ कह जाएंअनजाने ही सही मगरइन नैनों से बतिया जाएंजहां चलें हलचल दिल में होछाप छोड़ हम आ जाएंदेखो इन गुलाब फूलों कोकांटों संग भी खिल जाएंपांवों में जंजीर हो जैसेस्वागत को हिल डुल आएंनित अच्छा करने की कोशिशतन मन से हम जुट जाएंजहां मिले... Read more
clicks 29 View   Vote 0 Like   1:11pm 11 Dec 2020 #मुस्कान
Blogger: surendra kumar shukla Bhramar5
आओ करें प्रकाशित जग को, दीप पुंज ले बढ़ते जाएं  शांत पवन या भले आंधियां  टूटे ना लौ जल जल जाए  कितना भी शातिर वो तम हो  लौ से तेरी बच ना पाए  अंधियारे को चीर नित्य ज्यों  सूरज सब को राह दिखाए  कितनी रातें काल सरीखी ग्रसें उसे  और सुनहरी किरण लिए ... Read more
clicks 53 View   Vote 0 Like   11:38pm 7 Aug 2020 #प्रकाश
Blogger: surendra kumar shukla Bhramar5
छिट पुट रंग बिरंगे बादल,हवा बहुत मतवाली हैतरुवर से तांबे के सूरजफूल खिले हरियाली हैकूके कोयल, कलरव अद्भुतझूले अंबवा डाली हैबाग - बाग मन उड़े भ्रमरमन खिला नटी संग प्यारी हैदे ऐसा आशीष मुझे माँ आँखों का तारा बन जाऊं... Read more
clicks 47 View   Vote 0 Like   3:59pm 1 Aug 2020 #PHOOL
Blogger: surendra kumar shukla Bhramar5
हमने मिलकर थाल बजाई,शंख बजा फिर ज्योति जगाई,मंत्र जाप मन शक्ति अाई,योग ध्यान आ करें सफाई,जंग जीत हम छा जाएंगे,विश्व गुरु हम कहलाएंगे,आत्मशक्ति अवलोकन करके,एकाकी ज्यों गुफा में रह के,जन मन का कल्याण करेंगेद्वेष नहीं हम कहीं रखेंगेप्रेम से सब को समझाएंगेमानव मानवता को व... Read more
clicks 86 View   Vote 0 Like   10:59am 3 May 2020 #corona
Blogger: surendra kumar shukla Bhramar5
कल कुछ मीठे सपने आये मेरा हुआ प्रमोशन गदगद उछला खिला खिला था इतना बढ़ा इमोशन कलयुग सतयुग जैसा था कल भ्रष्ट मेरे जो अधिकारी कल'हार 'लिए थे मीठे उनके बोल 'ईमा'फल दायी होती है उछले , पीट रहे थे ढोल ----------------------------- आसमान नीचे उतरा था नीम करेला हुआ था मीठा कुत्ते सीधी पूंछ किये थे भी... Read more
clicks 117 View   Vote 0 Like   12:27am 9 Jul 2018 #bhramar 5
Blogger: surendra kumar shukla Bhramar5
क्यों मरते हो हे ! आतंकीकीट पतंगों के मानिंदहत्यारे तुम-हमे बुलातेजागें प्रहरी नहीं है नींद==============उधर काटता केक वो बैठाड्राई फ्रूट चबाता हैघोर निशा में सर्द बर्फ हिमकब्र तेरी बनवाता है===================आतातायी ब्रेनवाश करनित नए जिहाद सिखाता है'मूरख'ना बन तू भी मानवकभी सोच रे ! ... Read more
clicks 133 View   Vote 0 Like   10:41am 25 Nov 2017 #आतंकी
Blogger: surendra kumar shukla Bhramar5
खेल- खेल मै खेल रहा हूँ कितने पौधे हमने पाले नन्ही मेरी क्यारी में सुंदर सी फुलवारी में !=======================सूखी रूखी धरती मिटटी ढो ढो कर जल लाता हूँसींच सींच कर हरियाली ला खुश मै भी हो जाता हूँ !====================छोटे छोटे झूम झूम कर खेल खेल मन हर लेते बिन बोले भी पलक नैन में दिल में ये घर कर ले... Read more
clicks 177 View   Vote 0 Like   6:07am 27 Jun 2017 #bhramar5
Blogger: surendra kumar shukla Bhramar5
ऊंचेनीचेटेढ़े -मेढ़ेनागिनजैसेरस्तेहैंगहरीखांईगिरतेपत्थरबड़ेभयावहदिखतेहैं     चढ़तेजाओबढ़तेजाओसांयसांयहोकानोंमेंकुछकोधड़कन  चक्करकुछकोअजबगजबमनराहोंमेंकभीअँधेराकभीउजालाबादलबहुतडरातेहैंसौसौरूपधरेयेबादलमनखुशभीकरजातेहैंहरियालीहैफूलखिलेहैंदेवदा... Read more
clicks 146 View   Vote 0 Like   5:19am 26 Jun 2017 #bhramar5
Blogger: surendra kumar shukla Bhramar5
सभी मित्रों को बसंत पंचमी के पावन अवसर पर ढेर सारी शुभ कामनाएँ माँ शारदा सब को सद्बुद्धि और विवेक दें।या कुंदेंदु तुषारहार धवला, या शुभ्र वस्त्रावृता | या वीणावर दण्डमंडितकरा, या श्वेतपद्मासना || या ब्रह्माच्युतशंकरप्रभ्रृतिभिर्देवै: सदा वन्दिता | सा मां पातु सरस्वत... Read more
clicks 154 View   Vote 0 Like   8:05pm 5 Feb 2017 #
Blogger: surendra kumar shukla Bhramar5
शारदीय नवरात्रि की ढेर सारी हार्दिक शुभ कामनायें मित्र आप समस्त परिवार और आत्मीय जनों को माँ जगदम्बे आप सभी का सदा कल्याण करें सदा सुपथ पर हम सब को ले कर चलें माँ उँगली पकड़ा कर सदा यही तो करती रही हैं । .भ्रमर ५दे ऐसा आशीष मुझे माँ आँखों का तारा बन जाऊं... Read more
clicks 146 View   Vote 0 Like   5:44pm 9 Oct 2016 #
Blogger: surendra kumar shukla Bhramar5
खिली खिली खिलखिला उठूँ मैंजब से उसने मुझको देखा ...================कोमल गात हमारे सिहरनछुई मुई सा होता तन मनउन नयनों की भाषा उलझनउचटी नींदें निशि दिन चिंतनमूँदूँ नैना चित उस चितवन ....खुद बतियाती गाती हूँ मैं ....खिल... Read more
clicks 180 View   Vote 0 Like   7:44am 4 Jun 2016 #bhramar5
Blogger: surendra kumar shukla Bhramar5
महात्मा बुद्ध की जयंती , बुद्ध पूर्णिमा पर आप सभी मित्रों को हार्दिक शुभ कामनाएं आप सब का हर पल मंगलमय आइये महात्मा बुद्ध के जीवन से कुछ अनुसरण कर अपने जीवन को धन्य बनायें ................भ्रमर ५ ===============कोई भी व्यक्ति सिर मुंडवाने से, या फिर उसके परिवार से, या फिर एक जाति में जनम... Read more
clicks 192 View   Vote 0 Like   8:13am 21 May 2016 #buddha
Blogger: surendra kumar shukla Bhramar5
गुमशुदा हूँ  मैं तलाश जारी है अनवरत 'स्व 'कीअपना ‘वजूद’ है क्या ? आये खेले ..कोई घर घरौंदा बनाए..लात मार दें हम उनके  वे हमारे घरों को....रिश्ते नाते उल्का से लुप्त विनाश ईर्ष्या विध्वंस बस 'मैं 'ने जकड़रखा है मुझे झुकने नहीं देता रावण सा एक 'ओंकार' सच सुन्दरमैं ही हूँ - ... Read more
clicks 150 View   Vote 0 Like   1:34pm 17 May 2016 #gumshuda
Blogger: surendra kumar shukla Bhramar5
जाने क्यों आती है खुशियांहरी भरी बगिया उपवन सबगिरि कानन सब शांत खड़े थेजोह रहे ज्यों बाट क्लांत मनस्वागत आतुर बड़े खड़े थे===========================आह्लादित भी मन में तन मेंइंतजार कर ऊब  रहे थेलाखों   सपने नैना तरतेपुलकित हो बस सोच रहे थे==========================रोमांचित मन सिरहन वे पलसाँसे लम्ब... Read more
clicks 182 View   Vote 0 Like   7:09am 6 May 2016 #bhramar5
Blogger: surendra kumar shukla Bhramar5
तुम तो जिगरी यार हो ==================दोस्त बनकर आये हो तो मित्रवत तुम दिल रहो गर कभी मायूस हूँ मैंहाल तो पूछा करो ..?-------------------------------पथ भटक जाऊं अगर मैं हो अहम या कुछ गुरुर डांटकर तुम राह लाना (मित्र है क्या ........?)याद रखना तुम जरूर------------------------------ तुम हो प्रतिभा के धनी हे !  और ऊंचे तुम चढ़ो पर न स... Read more
clicks 175 View   Vote 0 Like   12:10pm 19 Apr 2016 #dost
Blogger: surendra kumar shukla Bhramar5
प्रिय मित्रों आज मेरी भार्या और जीवन संगिनी माधुरी का जन्म दिन है बड़ी मधुरता और माधुर्य से भरा रहा जीवन का हर पल  उनके साहचर्य में सहचरी हो तो ऐसी  जो जीवन के हर रंग में पति  का साथ दे, मीठी मीठी यादें सुहाना सफर सदा यादगार बना रहे  , खुशियों से गम न महसूस होने देने कि ... Read more
clicks 189 View   Vote 0 Like   10:35am 17 Apr 2016 #janm din
Blogger: surendra kumar shukla Bhramar5
नवरात्रों की शुरुआत माँ दुर्गा के प्रथम रूप माँ शैल पुत्री की उपासना के साथ होतीहै। शैलराज हिमालय की पुत्री के रूप में जन्मी माँ दुर्गा के इस रूप का नाम शैलपुत्री है। पार्वती और हेमवती इन्हीं के नाम हैं। माँ का वाहन वृषभ है और इनके दाएँ हाथ में त्रिशूल और बाएँ हाथ में ... Read more
clicks 173 View   Vote 0 Like   2:48pm 8 Apr 2016 #maa ambe
Blogger: surendra kumar shukla Bhramar5
आंगन सूना बिन तुलसी के -------------------------------भोर हुआ, थी रंग -बिरंगी आसमान में छाई बदली इंद्रधनुष था गगन-धरा मंडप पर शोभित पुष्प-अधर कलियाँ मुस्कातीं - जैसे गातीं मन-भावन हे अनुपम छटा से दिल था मोहित !--------------------------------------------------स्वर्ण झील ज्यों भारत माता उसमे अंकित स्वर्ण रश्मि बरसाते सूर... Read more
clicks 200 View   Vote 0 Like   7:26am 7 Apr 2016 #paryavaran
Blogger: surendra kumar shukla Bhramar5
अभिव्यक्तिकीआजादी=======================पढ़तेहुएबच्चेकाअनमनामनटूटतीध्यानमुद्राबेचैनीबदहवासीउलझनअच्छेबुरेकीपरिभाषाखोखलाकरतीखाएजारहीथी .......कर्मज्ञानगीतामहाभारतरामायणराम-रावणभयडरआतंकरामराज्यदेव-दानवधर्मग्रन्थमंदिरमस्जिद ..औरभीबहुतकुछ ..पीएचडीकरभीजेलजानागरीबअमी... Read more
clicks 175 View   Vote 0 Like   6:15am 5 Mar 2016 #desh
Blogger: surendra kumar shukla Bhramar5
मेरेघरकेबगलकौनहै ?=================मेरेघरकेबगलकौनहै ?सन्तमहाजनयाआतंकीमंथनआओकरलेंप्यारेभूखहैहमकोकितनीधनकी ,,,======================प्रेमक्रोधयाघृणाईर्ष्याजांचोपरखोक्याकुछ  देतेमारो-काटोलेलोबदला ??जीवनक्षणभंगुरकरदेते ..========================मानवयोनिहैदुष्करपाएसंस्कारभारतभूआयेअच्छा-अच्... Read more
clicks 149 View   Vote 0 Like   10:13am 29 Feb 2016 #bhay
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (4020) कुल पोस्ट (193859)