POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: जिंदगी बस यही है

Blogger: Yogendra Joshi
राह चलते यदाकदा ऐसा कुछ अनुभव में आ जाता है जो मेरे सामनेमानव व्यवहारसे जुड़े तमाम सवाल खड़े कर देता है । हाल ही में एक रिक्शा चालक ने उसके साथ घटी घटना की बात मुझे बताई जिसे सुन मैं सोचने लगा कि क्योंकर लोग इतने अनुदार या कठोर होते हैं।मेरी पत्नी और मैं एक वैवाहिक समार... Read more
clicks 210 View   Vote 0 Like   10:53am 16 May 2013 #अनुभव
Blogger: Yogendra Joshi
कुछएक दिनों पहले मैं अपने एक रिश्तेदार से मिला । सामान्य कुशल-क्षेम की चर्चा के बाद बातचीत के दौरान उन्होंने बताया कि कैसे ऊटपटांग की टेलीफोन कॉलेंउन्हें कभी-कभी मिल जाती हैं । अपने हालिया अनुभव का जिक्र करते हुए वे बोले कि अभी दो-चार दिन पूर्व उन्हें एक आदमी से फोन आय... Read more
clicks 171 View   Vote 0 Like   9:43am 26 Apr 2013 #अनुभव
Blogger: Yogendra Joshi
          गरमी का मौसम और दोपहर के करीब 2 बजे । चोर थानेदार साहब से मिलने पहुंचता है । इस समय बाहर और थाने में अपेक्षया सुनसानी है । साहब से मिलने का यही समय मुकर्रर हुआ है । साहब चोर को एक ओर आड़ में ले जाते हैं । चोर गुड़ी-मुड़ी हालत में कुछ नोट साहब की हथेली पर रखता है । साहब प... Read more
clicks 153 View   Vote 0 Like   5:10pm 20 Apr 2013 #कहानी
Blogger: Yogendra Joshi
          आज के औद्योगिक युग में मनुष्य बेहद आराम-तलब हो चुका है। मुझे लगता है कि कभी-कभी यह आराम-तलबी हास्यास्पद सीमा पार कर जाती है । चंद रोज पहले एक दिलचस्प और अपने किस्म का वाकया मेरे अनुभव में आया – दिलचस्प मेरी नजर में । हो सकता है लोग ऐसा न मानें ।          इससे पहले कि वाकय... Read more
clicks 267 View   Vote 0 Like   5:26pm 11 Apr 2013 #अनुभव
Blogger: Yogendra Joshi
          मैं अपने छात्र-जीवन के एक अनुभव की चर्चा यहां पर करने जा रहा हूं । किंतु उसके पहले कुछ मननीय बिंदुओं की ओर पाठक का ध्यान खींचना समीचान समझता हूं । मेरे मन में अक्सर एकसवालउठता हैः क्या प्रकृति ने सभी मनुष्यों को कमोवेश समान दिमागी क्षमता दे रखी है?ये सवाल इसलिए अह... Read more
clicks 161 View   Vote 0 Like   9:44am 30 Mar 2013 #अनुभव
Blogger: Yogendra Joshi
ढपोलशंख (या ढपोरशंख)का नाम बहुतों ने सुना होगा कुछएक ने उसकी कहानी भी पढ़ी होगी । मैंने अपने छात्र जीवन में संस्कृत विषय की किसी पुस्तक में पढ़ी थी । ठीक-ठीक याद नहीं, शायद हाईस्कूल कक्षा में पढ़ी होगी । आज के राजनैतिक-प्रशासनिक माहौल में मुझे अक्सर उस कथा का स्मरण हो आत... Read more
clicks 163 View   Vote 0 Like   5:17pm 1 Jan 2013 #कहानी
Blogger: Yogendra Joshi
बीते अगस्त माह के प्रथम सप्ताहमैं सपत्नीक दिल्ली में था । उन दिनों दिल्ली में पर्याप्त वर्षाहो रही थी, लिहाजा वहां की सड़कों के निचले हिस्सों में भारी जलजमाव की स्थिति पैदा हो रही थी । जलजमावके कारण सड़कों पर यातायात जामकी समस्या तो थी ही, साथ में कुछ जगहों पर वाहनों क... Read more
clicks 167 View   Vote 0 Like   11:27am 19 Oct 2012 #कहानी
Blogger: Yogendra Joshi
मुझे आज तक राह चलते कोई ऐसा आदमी नहीं मिला है जो पास आकर कहे,“लीजिए, मैं आपको मुफ्त में अमुक चीजदे रहा हूं ।” लेकिन ऐसा हमारे साथ हुआ, और वह भी सड़क या चौराहे पर नहीं, बरन हमारे घर के गेट पर । बात कल ही की है ।हमारे  गेट पर घंटी बजी । आवाज सुनकर मेरी अर्धांगिनी जी ने खिड़की से ... Read more
clicks 319 View   Vote 0 Like   10:57am 21 Sep 2012 #अनुभव
Blogger: Yogendra Joshi
मुझे आज तक राह चलते कोई ऐसा आदमी नहीं मिला है जो पास आकर कहे,“लीजिए, मैं आपको मुफ्त में अमुक चीजदे रहा हूं ।” लेकिन ऐसा हमारे साथ हुआ, और वह भी सड़क या चौराहे पर नहीं, बरन हमारे घर के गेट पर । बात कल ही की है ।हमारे  गेट पर घंटी बजी । आवाज सुनकर मेरी अर्धांगिनी जी ने खिड़की से ... Read more
clicks 147 View   Vote 0 Like   10:57am 21 Sep 2012 #अनुभव
Blogger: Yogendra Joshi
आजकल टीवी चैनलों पर एक समाचार चर्चा में है । हरियाणा राज्य के एक मंत्री (अब पूर्वमंत्री) पर आरोप लगे हैं कि उन्होंने एक युवती, जो उनकी विमानन कंपनी की कर्मचारी हुआ करती थी, को आत्महत्या के लिए विवश किया था ।तीन दिनों की निष्क्रियता के बाद दिल्ली पुलिस ने उनको हिरासत में ... Read more
clicks 219 View   Vote 0 Like   4:46pm 18 Aug 2012 #अनुभव
Blogger: Yogendra Joshi
प्रातःकाल का समयहै । मैं झोले साथ लेकर घर के पास की संब्जीमंडीके लिए निकल पड़ता हूं । पिछले पंद्रह-बीस साल से हर दूसरे-तीसरे दिन दो-एक रोज के लिए सब्जियां एवं फल लाने का काम मैं निभाता आ रहा हूं । मेरे कुछेक चुने हुए सब्जी एवं फल वाले हैं, जिनसे मैं लगभग सदैव ये चीजें खरीद... Read more
clicks 212 View   Vote 0 Like   2:05pm 2 Aug 2012 #अनुभव
Blogger: Yogendra Joshi
घटना बहुत पुरानी है ।ठीक-ठीक याद नहीं कि वह घटना कब घटी होगी । शायद तब से पच्चीस-छब्बीस साल बीत चुके होंगे। उस घटना के शिक्षक-पात्र तो वर्षों पहले सेवानिवृत्त हो चुके । विश्वविद्यालय छोड़े स्वयं मुझे सात-आठ साल हो चुके हैं । हां, तो वाकया क्या था वह बताता हूं ।मैं अपने वि... Read more
clicks 191 View   Vote 0 Like   5:07pm 20 Jul 2012 #अनुभव
Blogger: Yogendra Joshi
‘वीजा (Ouija) खेल’से कितने लोग परिचित होंगे मैं कह नहीं सकता । इसलिए इसका संक्षिप्त परिचय देना उपयोगी समझता हूं । इस खेल का प्रबंधक, जिसे माध्यम कहा जाता है, प्रेतात्माओं से संपर्क साधनेऔर उनसे समस्याओं के समाधान की जानकारी पाने का दावा करता है । व्यक्तिगत तौर पर मैं इसमे... Read more
clicks 176 View   Vote 0 Like   5:38pm 2 Jul 2012 #अनुभव
Blogger: Yogendra Joshi
कुछ लोगों का मत है कि अपना देश भगवान भरोसे है। अगर देश सचमुच में भगवान भरोसे है और देश के हालात इतने पतले हैं तो मैं यही कहूंगा कि भगवान भी कितना क्रूर है कि देशवासी उस पर भरोसा करें, किंतु वह है कि उनकी कोई चिंता न करे । कुछ तो उसे रहम करना ही चाहिए । भगवान वास्तव में देश को... Read more
clicks 241 View   Vote 0 Like   10:33am 15 Jun 2012 #अनुभव
Blogger: Yogendra Joshi
मनुष्य के ऐहिक जीवन में धनसंपदा की अहमियतसदा से ही स्वीकारी जाती रही है । जीवन की प्रायः तमाम आवश्यकताओं की पूर्ति उसके माध्यम से ही संभव हो पाती है । आवश्यकताएं क्या होती हैं यह अपने आप में सुपरिभाषित नहीं होती हैं ।किसी चीज को एक व्यक्ति आवश्यक कहता है, तो कोई दूसरा उ... Read more
clicks 159 View   Vote 0 Like   6:59am 7 Jun 2012 #कहानी
Blogger: Yogendra Joshi
मैं अपने कंप्यूटर डीलरके आफिस में बैठा हूं । उसके साथ मेरा संबंध कोई अढाई दशक पुराना है – उस काल से जब उसने एक युवा उद्यमी के तौर पर कंप्यूटर के क्षेत्र में कारोबार करना आरंभ किया था, और हम (मैं तथा मेरे अन्य सह-अध्यापक) अपने विश्वविद्यालय (बीएचयू)में कंप्यूटर पाठ्यक्रम... Read more
clicks 225 View   Vote 0 Like   5:01am 12 May 2012 #अनुभव
Blogger: Yogendra Joshi
मेरे पड़ोस में मेरे हमउम्र एक सज्जन रहते हैं । वे समाज के तथाकथित पिछड़े वर्ग से संबंध रखते हैं । वे निरक्षरहैं और उनकी मान्यताएं निहायत रुढ़िवादीहैं ऐसा मैं अनुभव करता आया हूं । वे यह सोचते हैं कि आर्थिक रूप से अपेक्षया संपन्न होने के कारण मुझे साइकिल जैसी ‘घटिया’ सव... Read more
clicks 186 View   Vote 0 Like   11:20am 5 May 2012 #आपबीती
Blogger: Yogendra Joshi
हाल ही में मुझे अपने घर के दरवाजों-पल्लों की मरम्मत संबंधी छोटे-मोटे काम करवाने थे । मैंने अपनी कालोनी के आसपास ही रहने वाले एक बढ़ईसे संपर्क साधा । वह सुबह-शाम घर पर आकर कार्य संपन्न करने को तैयार हो गया । तदनुसार वह रोज ही दो-एक घंटे काम कर जाता था । अपने साथ वह किसी सहाय... Read more
clicks 157 View   Vote 0 Like   7:49am 16 Oct 2011 #अनुभव
Blogger: Yogendra Joshi
आगे-आगे सड़क बनत है पीछे-पीछे होत खुदाई ।इस नगरी की रीत निराली शासन को नहि देत दिखाई ।।प्रशंसा के ये शब्द मैंने अपनी विश्वप्रसिद्ध नगरी वाराणसी (वाराणसी) के लिए लिखे हैं ।वाराणसी कुछ लोगों के लिए तीर्थस्थलीहै तो औरों के लिए यह दर्शनीय पर्यटन स्थलहै । जहां हिंदू धर्माव... Read more
clicks 164 View   Vote 0 Like   5:07pm 14 Sep 2011 #administration
Blogger: Yogendra Joshi
वाकया पांच-छः हफ्तों पहले का है । गर्मियों के दिन, दोपहर का वक्त और ऊपर से तेज धूप । मेरे मकान के गेट पर लगी घंटी घनघनाती है । मैं बाहर आता हूं । गेट पर कूरियर से आई डाक देने एक युवक अपनी साइकिल के साथ खड़ा है । मैं गेट खोलता हूं और वह मकान के अहाते में दाखिल होता है, जहां पर छा... Read more
clicks 174 View   Vote 0 Like   7:09am 12 Jul 2011 #अनुभव
Blogger: Yogendra Joshi
आजविश्व तंबाकू निषेध दिवस (World no Tobacco Day) – 31 मई– है । आम जनों से अपेक्षा की जाती है कि वे इस दिन किसी भी रूप में तंबाकू का सेवन न करने का संकल्प लें । कोई चार दशक पहले मैं भी सिगरेट पीता था, बहुत नहीं फिर भी करीब एक डिब्बी प्रतिदिन, 10 बत्तियों वाली । तब किसी दिन एक झटके के साथ मैंने ... Read more
clicks 161 View   Vote 0 Like   4:40pm 31 May 2011 #कहानी
Blogger: Yogendra Joshi
वाकया पिछले सप्ताह का है । मैं अपने नजदीकी रिश्तेदार के परिवार में आयोजित कन्या-विवाहमें सम्मिलित होने हल्द्वानीपहुंचा । हल्द्वानी देश के अपेक्षया छोटे राज्य उत्तराखंडका व्यापारिक महत्त्व का शहर है । उत्तराखंड में बिजली व्यवस्थापहले बेहतर हुआ करती थी, परंतु अब स... Read more
clicks 159 View   Vote 0 Like   11:30am 22 May 2011 #administration
Blogger: Yogendra Joshi
आजकल भ्रष्टाचार की बातेंजोर-शोर से की जा रही हैं । महज बातों से कुछ होना नहीं है, फिर भी उन पर बहसें चल रही हैं, बौद्धिक विलासके लिए ही सही । समाज अपने तरीके से चलता आया है और आगे भी चलेगा । बातें करते समय हम भूल जाते हैं किभ्रष्टाचार तो हमारे खून में घुल चुका है, उसे दूर करे... Read more
clicks 161 View   Vote 0 Like   4:45am 21 Apr 2011 #आपबीती
Blogger: Yogendra Joshi
घटना पंद्रह-बीस साल पुरानीहै, जब मैं विश्वविद्यालय मैं कार्यरत था । एक दिन अपने भौतिकी (फिजिक्स) विभाग के गलियारे से गुजरते वक्त बी.एससी. कक्षा के दो छात्र मेरे सामने आ खड़े हुए । उन्होंने मुझसे भौतिकी पाठ्यक्रम के एक प्रश्न का हल जानना चाहा । वे छात्र मेरी स्वयं की कक्... Read more
clicks 138 View   Vote 0 Like   3:50am 15 Mar 2011 #अनुभव
Blogger: Yogendra Joshi
अपने लोग कभी-कभी इस बात पर गर्वान्वित-से दिखते हैं कि अपनी भाषा हिंदी – ‘इंडिया दैट इज भारत’ की राजभाषा– विश्व की दूसरी-तीसरी सर्वाधिक बोली और समझी जाने वाली भाषाहै । यह बात शायद सही हो, लेकिन यह तो सच है ही कि यह विश्व की प्रमुख भाषाओं में सर्वाधिक तिरस्कृतहै । कोई भी ‘ह... Read more
clicks 194 View   Vote 0 Like   10:26am 4 Feb 2011 #अंग्रेजी
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3938) कुल पोस्ट (195050)