POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: Sansmaran

Blogger: Kusum Thakur
(आजु हमर पोता दर्श के जन्मदिन छैन्ह .......हुनका चन्दा मामा वाला गीत सब बड़ पसिंद पडैत छैन्ह ................कतबो कानैत  रहैत छथि गाना सुनतहि चुप्प भs जायत छथि .ई चन्दा मामा केर गीत हुनके लेल हुनकर पहिल जन्मदिन पर।)हे चन्दा आय बिसरल किया बेर"हे चन्दा आय बिसरल ... Read more
clicks 206 View   Vote 0 Like   1:43pm 9 Aug 2013 #
Blogger: Kusum Thakur
( अमेरिका प्रवास के दौरान हम एक बेर बैंक किछु काज सँ गेल रही, ओहि समय एकटा वृद्ध सज्जन हमर बगल वाला काउंटर परअपन फिक्स डिपाजिट तोराबैत छलाह । हुनका कहैत सुनलियैन्ह ई फिक्स डिपाजिट तोरा हमरा अपन कब्र के जमीन के लेल पाई जमा करबाक अछि। इ सुनि किछु काल हम क्षुब्ध&... Read more
clicks 205 View   Vote 0 Like   6:53pm 18 Jul 2013 #
Blogger: Kusum Thakur
ओना तs हमर स्वभाव अछि हम नहि लोक के उपदेश दैत छियैक आ नहि अपन मोनक भावना लोकक सोझां में प्रकट होमय दैत छियैक । हम सुनय सबकेर छियैक मुदा हमरा मोन में जे ठीक बुझाइत अछि ओतबा धरि करैत छियैक। एकर परिणाम इ होइत अछि जे हमरा सलाह देबय वाला केर कमी नहि छैक। सब के होइत छैन्ह जे ओ जे ... Read more
clicks 198 View   Vote 0 Like   11:01am 15 Jul 2012 #
Blogger: Kusum Thakur
"अछि दुर्दशा"कवि महान पर्व त मनेलहुं सौंसे ढिंढोरा फोटो त छल कोना में हेरायल अछि दुर्दशा पाग दुपटा नहि जानथि मोल मंच आसीन चंदा भेटल व्यवस्थापक हम त बूझत के ढर्रा बनल किया बदलि हम  अछि बहाना लाखक खर्च नहि अछि उद्देश्य होय कल्याण नेता &n... Read more
clicks 187 View   Vote 0 Like   7:21pm 10 Apr 2012 #
Blogger: Kusum Thakur
"अछि सन्देश"समृद्ध भाषा मैथिली मिथिलाकजायत हेरालाज होइछबाजब कोना भाषापढ़ल हमदोषारोपणनेता अभिभावकनहि कर्त्तव्यदेशक नेता  नहि जनता केरस्वार्थे डूबल करू ज्यों स्नेहमाँ आ मात्रि भाषा सँसंकल्प लियआबो तs जागूमिथिला केर लालप्रयास करूअबेर भेलतैयो विचार करू    ... Read more
clicks 193 View   Vote 0 Like   2:08pm 1 Mar 2011 #
Blogger: Kusum Thakur
"अभिलाषा"अभिलाषा छलs हमर एक ,करितौंह हम धिया सँ स्नेह ।हुनक नखरा पूरा करय मे ,रहितौंह हम तत्पर सदिखन ।सोचैत छलहुँ हम दिन राति ,की परिछ्ब जमाय लगायब सचार ।धीया तs होइत छथि नैहरक श्रृंगार ,हँसैत धीया रोएत देखब हम कोना ।कोना निहारब हम सून घर ,बाट ताकब हम कोना पाबनि दिन ।सोचैत ... Read more
clicks 218 View   Vote 0 Like   9:47am 21 Feb 2011 #
Blogger: Kusum Thakur
लल्लन जी केर बीमारिक किछुए दिन बाद पता चललैक जे प्रभाकर जी (हिनक मित्र श्री पशुपति जी केर सबस छोट भाई ) जे पहिनहिं सँ बीमार छलाह केर किडनी के बीमारी छैन्ह आ हुनका डॉक्टर वेल्लोर लs जेबाक लेल कहि देने रहथिन्ह । ओ सभ जखैन्ह वेल्लोर सs अयलाह तs पता चललैक जे प्रभाकर जी केर दोसर... Read more
clicks 184 View   Vote 0 Like   9:00pm 14 Sep 2010 #
Blogger: Kusum Thakur
"शिष्य देखल "विद्वान छथि  ओ शिष्य कहाबथि  छथि विनम्र गुरु हुनक सौभाग्य हमर ई ओ भेंटलथिइच्छा हुनक बनल छी माध्यमतरि जायब भरोस छैन्ह छी हमर प्रयासपरिणाम की ?भाषा प्रेमक नहि उदाहरण छथि व्यक्तित्व छैन्ह उद्गारदेखल उपासक  नहि उपमा कहथि नहिवि... Read more
clicks 195 View   Vote 0 Like   12:03am 6 Sep 2010 #
Blogger: Kusum Thakur
बिहारक चुनाव जँ जँ लग आयल जा रहल अछि सरगर्मी बढी रहल अछि ......कथिक सरगर्मी से तs हम आ समूचा देशक लोक बूझि रहल छथि. नेतागण आरोप प्रत्यारोप एक दोसर पर तेना लगा रहल छथि जेना आशीर्वाद  हो . लेखा जोखा भs रहल अछि मुदा अपन कार्यक नहि....दोसर नेता की नहि केलाह ताहि केर . जनता केर... Read more
clicks 180 View   Vote 0 Like   5:15am 31 Jul 2010 #
Blogger: Kusum Thakur
"मैथिली हाइकु : एक प्रयास "हाइकु छैक  विधा सरल तैयोरचि ज्यों पाबि  हमरा लेल गर्वक गप्प बस हमहू  जानि नहि बुझल इ विधाक लिखबकोन आखर सलिल जीक इ मार्ग प्रदर्शन भेटल जानी मोन प्रसन्न भेटल नव विधा छी तैयो शिष्याडेग बढ़ल सोचि नहि छोरब  ज्य... Read more
clicks 209 View   Vote 0 Like   7:34pm 24 Jun 2010 #
Blogger: Kusum Thakur
  संस्कृत साहित्य में सहस्त्रों वर्षों पूर्व त्रिपदिक छंद रचे गए जिनमें गायत्री तथा ककुप प्रसिद्ध हैं. हाइकु मूलतः त्रिपदिक (तीन पदों अर्थात पंक्तियों का ) जापानी छंद है. जापान में इस छंद में प्राकृतिक छटा का वर्णन करने की परंपरा है किन्तु हिन्दी में हाइकु किसी वि... Read more
clicks 220 View   Vote 0 Like   1:47am 23 May 2010 #
Blogger: Kusum Thakur
ओना तs हमर स्वभाव अछि हम नहि लोक के उपदेश दैत छियैक आ नहि अपन मोनक भावना लोकक सोझां में प्रकट होमय दैत छियैक । हम सुनय सबकेर छियैक मुदा हमरा मोन में जे ठीक बुझाइत अछि ओतबा धरि करैत छियैक। एकर परिणाम इ होइत अछि जे हमरा सलाह देबय वाला केर कमी नहि छैक। सब के होइत छैन्ह जे ओ ज... Read more
clicks 198 View   Vote 0 Like   2:08pm 9 May 2010 #
Blogger: Kusum Thakur
"चुल बुली कन्या बनि गेलहुँ "बिसरल छलहुँ हम कतेक बरिस सँ ,अपन सभ अरमान आ सपना ।कोना लोक हँसय कोना हँसाबय ,आ कि हँसी में सामिल होमय ।आइ अकस्मात अपन बदलल ,स्वभाव देखि हम स्वयं अचंभित ।दिन भरि हम सोचिते रहि गेलहुँ ,मुदा जवाब हमरा नहि भेंटल ।एक दिन हम छलहुँ हेरायल ,ध्यान कतय छल ... Read more
clicks 192 View   Vote 0 Like   12:29pm 19 Nov 2009 #
Blogger: Kusum Thakur
लल्लन जी हमरा सs किछु नहि नुकाबय छलाह आ नहि हम हुनका कोनो काज में बाधा दियैन्ह आ कि मना करियैन्ह। हुनका मोन में अपन माँ पिता जी भाई बहिन के प्रति अपार स्नेह छलैन्ह । माँ केर तs ओ परम भक्त छलाह , माँ किछु कहि देथिन्ह तs हुनकर प्रयास रहैत छलैन्ह जे ओ ओकरा अवश्य पूरा करैथ मुदा ए... Read more
clicks 226 View   Vote 0 Like   6:44am 10 Nov 2009 #
Blogger: Kusum Thakur
ओना त एकटा कहबी छैक "जाबैत साँस ताबैत धरि आस "मुदा हमरा तs पूर्ण विश्वास छल जे लल्लन जी के किछु नहि होयतैन्ह मात्र किछु दिनक ग्रहक चक्कर छैक, तथापि चिन्ता तs होइते छल । हम इ कोना कही जे चिन्ता नहि होइत छल । हमारा सब केर वेल्लोर सs अयालक किछु मास बाद दादा जी (हमर ससुर) अयलाह। एक... Read more
clicks 222 View   Vote 0 Like   3:08pm 22 Oct 2009 #
Blogger: Kusum Thakur
डॉक्टर प्रसाद जाँच कयलाक बाद कहलाह एहि बेर तs WBC केर काज नहीं छैक मुदा दोसर बेर परि सकैत छैक। एक बरखक दवाई आ डॉक्टर बी. एन. झा केर नाम सs सबटा रिपोर्ट बना कs देलाह आ फेर एक साल बाद आबय लेल कहलाह । वेल्लोर आबय समय एकर एको रत्ती भान नहि छल जे एतेक गंभीर बीमारी भs सकैत छैन्ह। जाहि ... Read more
clicks 206 View   Vote 0 Like   9:22am 10 Sep 2009 #
Blogger: Kusum Thakur
हम डॉक्टर कुरियन सs भेंट करि केबिन दिस जाइत छलहुँ रास्ता में हमरा चक्कर आबि गेल आ हम एक ठाम कुर्सी पर बैसि गेलहुँ। पॉँच दस मिनट केर बाद हम केबिन पहुँचलहुँ, बाबुजी आ इ हमरा लेल चिंतित छलैथ जे हम कतs चलि गेल छलहुँ, देखैत देरी पुछलाह "कतs गेल छलहुँ "। हम कहलियैन्ह "खून देबय लेल, ... Read more
clicks 209 View   Vote 0 Like   6:03am 25 Aug 2009 #
Blogger: Kusum Thakur
हमर एकटा स्वभाव अछि, जे आई धरि हम नहि बदलि सकलियैक अछि, आ आब शायद बदलि नहि सकैत छियैक। हमरा मोन में खराप बात बहुत जल्दी आबि जायत अछि। पचास तरहक आशंका तुंरत आबि जायत अछि। हम कतबो कोशिस करैत छियैक जे मोन सs निकालि दियैक मुदा कियैक ओ निकलत। चाहे कियो घर सs बाहर गेल होयथ आ समय ... Read more
clicks 252 View   Vote 0 Like   5:05am 24 Aug 2009 #
Blogger: Kusum Thakur
ओना तs जमशेदपुर में १९८१ सs श्री लल्लन प्रसाद ठाकुर केर नाटक आ सांस्कृतिक गतिविधि शुरू भs गेल छलैन्ह मुदा मैथिली केर सेवा आ हुनका अपना संतुष्टि भेंटलैन्ह१९८३में, जहिया ओ अपन लिखल पहिल मैथिली नाटक केर मंचन केलाह, मुदा ओहियो में किछु त्रुटि हुनका अपना बुझेलैन्ह।मिथिला... Read more
clicks 224 View   Vote 0 Like   9:41am 5 Aug 2009 #
Blogger: Kusum Thakur
१३ जून १९८५ के भारतीय नृत्य कला मन्दिर मे "मिस्टर नीलो काका"कs सफल मंचन के पश्चात् प्रति वर्ष अंतर्राष्ट्रीय नाट्य प्रतियोगिता मे मिथिलाक्षर आ "श्री लल्लन प्रसाद ठाकुर"जी कs नाटक सब बेर पुरस्कार लैत रहलैन्ह आ मैथिली दर्शक आ नाट्य प्रेमी के सब बेर एक टा नव सामाजिक विषय ... Read more
clicks 242 View   Vote 0 Like   10:25am 10 Jul 2009 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3991) कुल पोस्ट (194986)