POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: Lallan Prasad Thakur

Blogger: Kusum Thakur
(5 फरवरी, जन्मदिन पर )"चाहत तुम्हारी फिर से"चाहत तुम्हारी फिर से मुझको सजा दिया  सोई हुई थी आशा उसको जगा दियाकहने को जब नहीं थे, सोहबत नसीब थी खोजा जहाँ मैं दिल से, चेहरा दिखा दिया ढूँढ़े जिसे निगाहें उजडा वही चमन था देखा गुलाब सूखा लगता चिढ़ा दिया चाहत किसे कहें... Read more
clicks 215 View   Vote 0 Like   4:49am 5 Feb 2015 #जन्मदिन पर
Blogger: Kusum Thakur
"श्री लल्लन प्रसाद ठाकुर" एक बहु आयामी व्यक्तित्व की पुन्य तिथि पर भाव भीनी श्रधांजलि " गीत"सब सपना बन के मिले, कोई अपना बन के मिले ।सुख जब साथी होता है,लाख सहारे मिलते हैं,फूलों की फुलवारी में,फूल हमेशा खिलते हैं,विरानो के आँगन में ,बरसों में एक फूल खिले।सब सपना बनके ... Read more
clicks 249 View   Vote 0 Like   4:45am 27 Sep 2012 #गीत
Blogger: Kusum Thakur
"हे रे चन्दा"हे रे चन्दा लेने जो सनेस पिया परदेश रे..........चन्दा....।तोहें ने उगै छ आन्हर रातिबिसरल रहै छी पिया केर पांतितोंहे जाँ उगै छ दीया बाती दीया बातीहोइये मोन मे कलेश रे ...........चन्दा...... ।हम्मर दुःख केयो ने बुझैयाकोना ओ रहै छथि केयो ने कहैयाकहियौन्ह विकल छैन्ह हुनकर दासी ... Read more
clicks 187 View   Vote 0 Like   7:48pm 4 Feb 2012 #
Blogger: Kusum Thakur
"मधुर मधुर बाजय बाँसुरिया रे "- लल्लन प्रसाद ठाकुर -मधुर मधुर बाजय बँसुरिया रे नाचे गोपी बालागोपी बाला गोपी बाला गोपी बाला ...मधुर मधुर बाजय ............... ........कान्हा जी के बाँसुरी के तान निरालातान निराला कान्हा तान निरालामन के मोहे इ बँसुरिया रे मन के मोहे इ बँसुरिया रे नाचे गोपी... Read more
clicks 209 View   Vote 0 Like   11:59am 24 Jan 2011 #
Blogger: Kusum Thakur
"मधुर मधुर बाजय बाँसुरिया रे "- लल्लन प्रसाद ठाकुर -मधुर मधुर बाजय बँसुरिया रे नाचे गोपी बालागोपी बाला गोपी बाला गोपी बाला ...मधुर मधुर बाजय ............... ........कान्हा जी के बाँसुरी के तान निरालातान निराला कान्हा तान निरालामन के मोहे इ बँसुरिया रे मन के मोहे इ बँसुरिया रे नाचे गोपी... Read more
clicks 196 View   Vote 0 Like   11:59am 24 Jan 2011 #
Blogger: Kusum Thakur
"चंदा "एक साधारण नौकरीहारा व्यक्ति एवम उसकी पत्नी .....दरवाजे पर दस्तक प्रथम व्यक्ति (सँग में दू तीन गोटे ) - औ विजय बाबू छी यौ...... । विजय बाबू .....(विजय बाबू घर सँ निकलैत छथि , पाछू पाछू हुनक पत्नी )विजय  - जी अपने लोकनि के चिन्हल नहि ?दोसर व्यक्ति -  औ जी चन्ह्बय कोना .. । ... Read more
clicks 194 View   Vote 0 Like   10:48am 20 May 2010 #
Blogger: Kusum Thakur
"नेनाभुटकाक लेल गीत "छुक छुक छुक छुक छुक छुक छुक छुक छुक छुकरेल चलैया ....पू .......पू ...........गार्ड के हरियर झंडी , इंजिन सं पू सीटी बजैयाछुक छुक ...........................धक्कम धुक्की ,रेलम पेलाटीसन पर लागल छे मेलासेब लिय अनार लियलs लिय बाबू केरा .......हे .......छुक छुक ................इ मद्रासी इल्ले पिल्लैबंगा... Read more
clicks 203 View   Vote 0 Like   7:23am 19 Jan 2010 #
Blogger: Kusum Thakur
"दिलधड़कल आँखि फरकल "दिल धड़कल आँखि फरकलखाइते काल में सरकलभोरका गाड़ी सँ आबि रहल छथिघर वाली घर वालीभेंटत काल्हि सँ फेरोआलुक साना पाइन सन दालि सबटा रोटी झरकलदिल धड़कल ...........काल्हि सँ फेर हाथ में झोराबौआ रहता हमरे कोरादेवी जी आगू आगूचाकर हम पाछू पाछूजीप के पाछू में टेलर... Read more
clicks 191 View   Vote 0 Like   8:41am 12 Jan 2010 #
Blogger: Kusum Thakur
  " लालमुनियाँ "- लल्लन प्रसाद ठाकुर -लालमुनियाँ अगहन के राज सौंसे दुनियाँ लालमुनियाँ ------धाने बरियाती धाने सरियाती धाने बनल लोकनियाँलालमुनियाँ अगहन के..................................करिया झुम्मर खेलय धान धरती गगन के चूमय धरती गगन के चूमयबिह्वल अछि मजदूर किसान चिरइ दाना चूगय चिरइ दान... Read more
clicks 190 View   Vote 0 Like   4:41am 23 Dec 2009 #
Blogger: Kusum Thakur
"माँझीगीत "- लल्लन प्रसाद ठाकुर -हैया रे हैया रे हैया हैया रे, हैया रे हैया रे हैया हैया रे ---- लहरि उठल छमाछम हवा चलल सनन सन ,मयुर मन नाचि उठल सावन में संग संग, अहाँ आओर हम अहाँ आओर हमहैया रे हैया रे हैया रे .............................संगहमर मीत हमर माँझी के गीत हमर नदिया के जल सन निर्मल पिरी... Read more
clicks 213 View   Vote 0 Like   6:52am 22 Dec 2009 #
Blogger: Kusum Thakur
"मधुर मधुर बाजय बाँसुरिया रे "- लल्लन प्रसाद ठाकुर -मधुर मधुर बाजय बँसुरिया रे नाचे गोपी बालागोपी बाला गोपी बाला गोपी बाला ...मधुर मधुर बाजय ............... ........कान्हा जी के बाँसुरी के तान निरालातान निराला कान्हा तान निरालामन के मोहे इ बँसुरिया रे मन के मोहे इ बँसुरिया रे नाचे गोप... Read more
clicks 191 View   Vote 0 Like   4:43am 20 Dec 2009 #
Blogger: Kusum Thakur
सब एलय फगुआ में सजना ,अहाँ बिना मोर आँगन सूना ।सब एलय ............................।चतुर्थिक राति अहाँ पढिते रहलहुँ ,भोरे उठि कs अहाँ चलि देलहुँ ।चिट्ठियो नहि देलहुँ खबरियो नहि लेलहुँ ,जाइत काल एकोटा फोटुओ देलहुँ ।,इहो नहि बुझलियय हम जीबय कोना ।सब एलय ...................... ।खूब पढू खूब पढू खूब पढू यौ ,... Read more
clicks 203 View   Vote 0 Like   9:17am 24 Nov 2009 #
Blogger: Kusum Thakur
My husband Lallan Prasad Thakur was a civil engineer by profession but he was an inborn artist. We generally don't see such type of talent in a person having technical background.He use to write drama scripts, act in a leading role, write it's lyrics and direct it. Acting was his passion and he acted in many plays since his childhood. He has written several Hindi and Maithli drama scripts which are now in form of books. Apart from that he use to write songs, poems, gazals, safety slogans, safety drama scripts, all in Hindi and Maithli. He has won several awards for his scripts, his directions, for his acting and even for his stage directions. Both my sons use to act in his plays and got seve... Read more
clicks 191 View   Vote 0 Like   1:59am 7 Sep 2009 #
Blogger: Kusum Thakur
श्रीलल्लनप्रसादठाकुरअपनप्रत्येकनाटकसs पहिनेबच्चासबसs एकटाएकांकीकरबैतछलाह।ओएकांकीसेहोओअपनहिलिखैतछलाह।इओहिएकांकीमेंसs एकटाअछि।:ग्रीनरूम(परदा फुजैत अछि। मेक अप मैन लग भिखमंगाक मेक अप भs रहल अछि। एक कात मे डाँसर डाँस कs रहल छथि । एक दिस आओर कलाकार सब जे मेक अप कs ... Read more
clicks 176 View   Vote 0 Like   2:20am 2 Jun 2009 #
Blogger: Kusum Thakur
एक बार मेरे भाई बहनों ने हमें होली में आने का निमंत्रण दिया और मजाक मे मेरी बहन बिन्नी और भाई पप्पू ने उस निमंत्रण पत्र में कुछ सामानों का लिस्ट देकर लिख दिया, आते समय यह सामान लेते आइयेगा। उस निमंत्रण पत्र का जवाब मेरे पति "श्री लल्लन प्रसाद ठाकुर" ने कविता द्वारा दी। :... Read more
clicks 191 View   Vote 0 Like   3:37pm 24 May 2009 #
Blogger: Kusum Thakur
From January 15th to January 19th in 1990 a "Prakash Jha Film Festival"was organized by Mr. Lallan Prasad Thakur in Jamshedpur. A state level work shop was part of that "Film Festival" and was conducted by Mr. Prakash Jha him self and a professor of Pune Film Institute Mrs. Gayatri Chatterji.Prakash Jha and Lallan Prasad ThakurPrakash Jha and Lallan Pd. ThakurLallan Prasad Thakur and Rusi ModiRusi Modi(Then Managing Director & Chairman Tata Steel)Prakash Jha &;Lallan Pd. ThakurRusi ModiPrakash JhaLallan Prasad Thakur Prakash Jha Bhaskar &;Kusum ThakurLPT & KT With Prakash Jha and Ajit JhaInauguration Of Film FestivalMr. Prakash Jha On CameraMr. Prakash Jha during Workshop on... Read more
clicks 203 View   Vote 0 Like   3:27pm 23 May 2009 #
clicks 214 View   Vote 0 Like   6:42am 19 May 2009 #
Blogger: Kusum Thakur
ग़ज़लआज ज़िन्दगी का ऐसा एक दिन है,बदन मेरे पास है सामने मेरा दिल है।आज ज़िन्दगी ........ ।मुद्दतों से सोचा था काश ऐसा दिन आये,वो भी आये सामने साथ मेरा दिल लाये।आज ज़िन्दगी ......... ।शुक्रिया करुँ कैसे समझ नहीं आता,ऐसी कहि गैर का कोई दिल है चुराता।आज ज़िन्दगी ......... ।दिल लुटा के मुझ ... Read more
clicks 193 View   Vote 0 Like   7:21pm 1 May 2009 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3991) कुल पोस्ट (194986)