POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: Kohbar

Blogger: Kusum Thakur
हम नहि आजु रहब अहि आँगनजं बुढ होइत जमाय, गे माई।एक त बैरी भेल बिध बिधातादोसर धिया केर बाप।तेसरे बैरी भेल नारद बाभन ।जे बुढ अनल जमाय। गे माइ ।।पहिलुक बाजन डामरू तोड़बदोसर तोड़ब रुण्डमाल ।बड़द हाँकि बरिआत बैलायबधियालय जायब पराय गे माइ । ।धोती लोटा पतरा पोथीसेहो सब लेब... Read more
clicks 227 View   Vote 0 Like   2:26pm 10 Oct 2013 #
Blogger: Kusum Thakur
हिमाचल किछुओ ने केलैन्ह बिचारी ।...2नारद बभनमा सs केलैन्ह पुछारी बर बूढा लयला भिखारी । ...२हिमाचल .................२ओहि बुढ़वा के बारी नय झारीपर्वत के ऊपर घरारी..........2हिमाचल किछुओ ने केलैन्ह बिचारी।.......2भनहि विद्यापति सुनु हे मनाइनइहो थिका भंगिया भिखारी.........2हिमाचल किछुओ नय केलैन्ह... Read more
clicks 164 View   Vote 0 Like   6:55am 8 Oct 2013 #
Blogger: Kusum Thakur
आजु नाथ एक व्रत महा सुख लागल हे।तोहे सिव धरु नट भेस कि डमरू बजाबह हे। ।तोहे गौरी कहैछह नाचय हमें कोना नाचब हे।।चारि सोच मोहि होए कोन बिधि बाँचब हे।।अमिअ चुमिअ भूमि खसत बघम्बर जागत हे।।होएत बघम्बर बाघ बसहा धरि खायत हे।।सिरसँ ससरत साँप पुहुमि लोटायत हे ।।कातिक पोसल मज... Read more
clicks 175 View   Vote 0 Like   6:22am 6 Oct 2013 #
Blogger: Kusum Thakur
माँ मैं तो हारी, आई शरण तुम्हारी,अब जाऊँ किधर तज शरण तुम्हारी। दर भी तुम्हारा लगे मुझको प्यारा, तजूँ मैं कैसे अब शरण तुम्हारी। माँ .........................................मन मेरा चंचल, धरूँ ध्यान कैसे,बसो मेरे मन, मैं शरण तुम्हारी।माँ..........................................जीवन की नैया मझधार में है, पार उ... Read more
clicks 168 View   Vote 0 Like   1:07am 5 Oct 2013 #
Blogger: Kusum Thakur
दुर्गा  पूजा में किछु पातक प्रयोग होयत छहि  जाकर आते  मधुबनीपेंटिंगशैलीमेंप्रस्तुतकायलगेलअछि |दुर्गापूजामेंउपयोगहोनेवालेपत्तोंकाचित्रमधुबनीपेंटिंगशैलीमेंप्रस्तुतकियागयाहै |... Read more
clicks 216 View   Vote 0 Like   8:01pm 15 Oct 2012 #
Blogger: Kusum Thakur
मधुश्रावणी मिथिला में नवव्याहता  महिलाएं मधुश्रावणी में सिंदूर , चावल, काजल, हल्दी और मेंहदी से विषहराका चित्र बनाती है  ... Read more
clicks 269 View   Vote 0 Like   12:31pm 18 Aug 2012 #
Blogger: Kusum Thakur
A room or a bed room converted during a Maithil wedding for rituals and customs is called kohbar (कोहबर). It is decorated before the wedding and is the most important part or place of Maithil's marriage. It has a great significance during the wedding. For four five days maximum time of bride and bride groom is spent in the kohbar, doing rituals. The rituals of wedding starts from the kohbar and ends in the kohbar.The walls are decorated by the women. In previous days the kohbar walls were painted by the women and by home made natural colors. A kind of stick and cotton was used as a brush for that painting. Now a days the painting is painted on paper sheets and by the colors availab... Read more
clicks 377 View   Vote 0 Like   2:40am 11 Jul 2012 #Kohbar
Blogger: Kusum Thakur
 श्री गणेश स्तुति गाइए  गणपति जगबंदन। संकर- सुवन भवानी-नंदन। । सिद्धि-सदन गज-बदन विनायक। कृपा-सिन्धु, सुन्दर, सब-लायक । । मोदक-प्रिय, मुद-मंगल-दाता। बिद्या-बारिधि, बुद्धि-बिधाता ।। माँगत तुलसीदास कर जोरे। बसहिं रामसिय मानस मोरे । । - गोस्वामी तुलसीदास-... Read more
clicks 249 View   Vote 0 Like   9:19pm 24 Apr 2012 #तुलसीदास
Blogger: Kusum Thakur
"शिव स्तोत्र"शंकरं, सम्प्रदम, सज्जनानंददं , शैल-कन्या-वरं, परमरम्यं। काम-मद-मोचनं, तामरस-लोचनं, वामदेवं, भजे भावगम्यं।। कंबु-कुंदेंदु-कर्पूर-गौरं  शिवं, सुंदरं, सच्चिदानंदकंदं । सिद्ध-सनकादि-योगीन्द्र-वृन्दारका, विष्णु-विधि-वंद्ध चरणारविंदं।। ब्रह्म-कुल -वल्लभं, सु... Read more
clicks 213 View   Vote 0 Like   11:31am 7 Jan 2012 #शिव स्तोत्र
Blogger: Kusum Thakur
गुलाबक फूल मधुबनी चित्रकला में प्रस्तुत ... Read more
clicks 258 View   Vote 0 Like   12:17am 2 Dec 2011 #
Blogger: Kusum Thakur
तुलसी विवाह : तुलसी पौधे को हिन्दू धर्मं में एक पवित्र पौधा माना गया है और तुलसी विवाह के दिन वृंदा देवी अर्थात तुलसी जी का विवाह विष्णुदेव या उन्ही के अवतार कृष्ण देव से कराया जाता है | यह पर्व मुख्यतः प्रदोषणी एकादशी को मनाया जाता है पर इसे प्रदोषणी एकादशी से कार्तिक ... Read more
clicks 231 View   Vote 0 Like   11:39pm 21 Nov 2011 #
Blogger: Kusum Thakur
सर्दियों में पक्षी हिमालय से विस्थापित हो समतल भूमि पर आ जाते हैं, जहाँ सर्दी कम पड़ती है. इन खूबसूरत और रंग बिरंगे पक्षियों के आगमन के उपलक्ष और स्वागत में मिथिला में सामा चकेवा त्यौहार के रूप में मनाई जाती है जिसे भाई बहन के पवित्र रिश्ते को समर्पित किया जाता है. बहन... Read more
clicks 197 View   Vote 0 Like   10:52am 11 Nov 2011 #
Blogger: Kusum Thakur
दीपावली दीपावली में हर जगह दिया जलाये जाने की प्रथा है। वैसे तो आजकल बिजली के बल्ब की लड़ियों से सभी जगह रंग बिरंगी रोशनी फैली होती है पर पहले दिवाली में पूजा और दिया का ही महत्व होता था। घर में पूजा के बाद तुलसी के सामने दिया और घर के बाहर यम दिया जलाया जाता है। उसके बा... Read more
clicks 258 View   Vote 0 Like   10:54pm 2 Nov 2011 #
Blogger: Kusum Thakur
बिहार का महा पर्व छठ रविवार को नहाय खाय के साथ प्रारम्भ हो जायेगा. छठ में सूर्य भगवान की आराधना की जाती है और छठ के दिन डूबते हुए सूर्य की पूजा होती है. उसके दूसरे दिन उगते हुए सूर्य की पूजा कर पारण यानि व्रत तोड़ा जाता है. नहाय खाय को नहाकर बिलकुल सात्विक भोजन की जाती है.... Read more
clicks 182 View   Vote 0 Like   11:45am 29 Oct 2011 #
Blogger: Kusum Thakur
हिन्दुओं में किस्सा प्रचलित है कि यम की बहन यमुना थी. यमुना अपने भाई को कई बार आने का निमंत्रण दी परन्तु संयोग वश यम नहीं जा पाते. आख़िरकार एक दिन यम अपनी बहन यमुना के पास पहुँच ही गए और वह दिन कार्तिक शुक्ल द्वितिया था. यमुना ने अपने भाई का खूब स्वागत किया और खुद तरह तरह क... Read more
clicks 162 View   Vote 0 Like   9:02am 28 Oct 2011 #
Blogger: Kusum Thakur
"भय हरण कालिका"जय जय जग जननि देवीसुर नर मुनि असुर सेवीभुक्ति मुक्ति दायिनी भय हरण कालिका।जय जय जग जननि देवी।मुंडमाल तिलक भाल शोणित मुख लगे विशाल श्याम वर्ण शोभित, भय हरण कालिका।जय जय जग जननि देवी ।हर लो तुम सारे क्लेश मांगूं नित कह अशेष आयी शरणों में तेरी, भय हर... Read more
clicks 206 View   Vote 0 Like   10:32am 16 Oct 2011 #
Blogger: Kusum Thakur
अपराजिता मधुबनी पेंटिंग ... Read more
clicks 203 View   Vote 0 Like   1:25pm 6 Oct 2011 #
Blogger: Kusum Thakur
शुभ कलश : ई एकटा नब प्रयास अछि | जेना कोहवर में शुभ वस्तुक  समावेश रहैत अछि तहिना अहि में किछु शुभ वस्तुक समावेश कायल गेल अछि |अपना सब में जल स भरल कलश आ आमक पल्लव बहुत शुभ मानल जायत अछि| तकर अतिरिक्त दीप , माछ आदि के सेहो शुभ मानल जायत अछि | वीणा के सरस्वती देवी के प्रतीक मान... Read more
clicks 261 View   Vote 0 Like   10:15pm 30 Sep 2011 #
Blogger: Kusum Thakur
"अपनी बड़ाई से डरते रहोगे" भजन भोले शंकर का करते रहोगे तो संसार सागर से तरते रहोगे कृपानाथ वे शक मिलेंगे किसी दिन जो सत्संग पथ से गुजरते रहोगे तो संसार .................................चढोगे ह्रदय पर सभी के सदा तुम जो अभिमान गिरी से उतरते रहोगे तो संसार...............................न होगा कभी क... Read more
clicks 185 View   Vote 0 Like   10:01am 19 Sep 2011 #
clicks 207 View   Vote 0 Like   9:56pm 15 Sep 2011 #
Blogger: Kusum Thakur
"गणपति वंदना"गाईये गणपति जग वंदन,शंकर सुवन भवानी के नंदन.सिद्धि सदन गज बदन विनायक, कृपा सिन्धु सुन्दर सब लायक. गाईये गणपति जग वंदन,शंकर सुवन भवानी के नंदन.मोदक प्रिय मुद मंगल दाता,विद्या बारिधि बुद्धि विधाता.गाईये गणपति जग वंदन,शंकर सुवन भवानी के नंदन.मांगत तुलसी... Read more
clicks 208 View   Vote 0 Like   9:28am 18 Apr 2011 #
Blogger: Kusum Thakur
Madhubani PaintingMother Shakthi once propitiated Lord Shiva with such fervent intensity that she be part of him in body and mind. Her pleased husband through his divine powers granted her this wish. The Master then absorbed her in half of himself and thus was created the half-man half-woman aspect of Lord Shiva, symbolising the oneness of all beings.... Read more
clicks 207 View   Vote 0 Like   12:07am 17 Mar 2011 #
Blogger: Kusum Thakur
सूर्यमुखी फूल ... Read more
clicks 178 View   Vote 0 Like   8:32pm 1 Mar 2011 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (4019) कुल पोस्ट (193751)