POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: "ऐसी वाणी बोलिए..........."

Blogger: Roshan Vikshipt
अगर हम स्‍वयं ही अपना राज गुप्‍त नहीं रख सकते तो किसी और से इसे गुप्‍त रखने की अपेक्षा कैसे कर सकते है। --- फ्रास्‍वां डे ला रोशेफोकाल्‍ड  ... Read more
clicks 324 View   Vote 0 Like   3:30pm 4 May 2012 #सुक्तियां
Blogger: Roshan Vikshipt
एक बार भीष्म पितामह हस्तिनापुर में मुनि शम्पाक का सत्संग कर रहे थे। भीष्म ने प्रश्न किया, ‘मुनिवर, हम धनी और निर्धन, दोनों को किसी न किसी रूप में असंतुष्ट व दुखी देखते हैं। आपकी दृष्टि में जिसके पास अथाह धन है, जिस पर लक्ष्मी की कृपा है, वह दुखी और असंतुष्ट किस कारण रहता ह... Read more
clicks 298 View   Vote 0 Like   8:02am 9 Mar 2012 #प्रेरक प्रसंग
Blogger: Roshan Vikshipt
पुराणों, जैन ग्रंथों और अन्य प्राचीन साहित्य में तप की व्याख्या विभिन्न प्रकार से की गई है। कुछ साधु कई-कई दिन धूप में निरंतर खड़े रहते हैं और दावा करते हैं कि वे तपस्या कर रहे हैं। मुनियों का संथारा भी तपस्या का ही एक रूप है।भगवान श्रीकृष्ण तपस्या की व्याख्या करते हुए ... Read more
clicks 278 View   Vote 0 Like   8:05am 2 Mar 2012 #प्रेरक प्रसंग
Blogger: Roshan Vikshipt
Everyone has his burden. What counts is how you carry it." --Merle Miller... Read more
clicks 297 View   Vote 0 Like   11:35pm 29 Feb 2012 #सुक्तियां
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (4020) कुल पोस्ट (193793)