Hamarivani.com

बिनोद आनंद के अन्तः मन से "अंतर्कथा" !!!

सुखलाल नाम था उसका सुखलाल।पोपटी गाल.… झुरदर चेहरा ,एक पुराण कला फटा चिता कोर्ट ,चोरी मोहरी वाली पायजामा और आँखों में लटका इनक कुल यही थी कुल उसकी पहचान। अपने इनक के सबंध वह कहा करता था की एक बार गांधी जी के साथ सत्याग्रह  में भाग ले रहा था ,तो बातों-बातों में उनोहोने उन...
बिनोद आनंद के अन्तः मन से "अंतर...
Tag :
  August 15, 2014, 10:15 pm
इस शहर मेंअकुलाहट और भागम दौड़ से थका हुआ सा जब एक चौराहे पर रुकता हूँतो -----हडबडाया सा एक भीड़ गुजर जाती है मेरे सामने से देखता हूँ उस भीड़ मेंवह भाई जा रहा है मेरा जो मुझे बहुत प्यार करता था और -----जिसे तलाशते हुए मैंइस शहर आ पहुंचा था हाँ ! वह मेरा प्यारा भाई&n...
बिनोद आनंद के अन्तः मन से "अंतर...
Tag :
  April 29, 2011, 8:51 pm
विनोद लिखने में आनंद है |मैं अपने ब्लॉग के माध्यम से आप से एक ऐसा रिश्ता कायम करना चाहता हूँ जिससे हम बैचारिक रूप से समृद्ध हो सके  . मैं बिनोद आनंद पत्रकारिता से जुरा हूँ तथा अंतर्कथा नाम से एक पत्रिका का संपादन करता  हूँ बचपन से लिखने पढने ...
बिनोद आनंद के अन्तः मन से "अंतर...
Tag :
  February 27, 2011, 5:06 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163613)