Hamarivani.com

रवि शंकर पाण्‍डेय

निहुरे-निहुरे क्याखड़े-खड़े अब होती चोरी ऊंटों की!शाहों से कहेंजागने कोचोरों से कहते चोरी को,पकड़े जाने पर ऊपर से आमादा सीनाजोरी कोयसच्चाई की निगरानी में चौकस है सेना झूठों की!सबके होते हैंभाव-तावचुप रहने और बोलने के,जो दिनभरमूंदे आंख रहेंसिक्कों से उन्हें तोलने के!बस ...
रवि शंकर पाण्‍डेय...
Tag :
  June 9, 2011, 5:03 pm
ब्‍लॉग जगत के साथियो को मेरा नमस्‍कार। आज मेरी ब्‍लॉगिंग का पहला दिन है। मेरा परिचय निम्‍नानुसार है:नाम-(डा0) रवि शंकर पाण्डेयजन्म-1957ई0, जिला चित्रकूट (उ0प्र0)शिक्षा-            एम.एस.सी. (वन.वि.), डी.फिल. (इलाहाबाद वि.वि.)कृतित्व-1. अकार, आशय, कथन, कथाक्रम, कथादेश, गूंज,ज...
रवि शंकर पाण्‍डेय...
Tag :रवि शंकर पाण्‍डेय का परिचय
  April 18, 2011, 1:55 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3685) कुल पोस्ट (167942)